टीवी डिबेट में कांग्रेस की ओर से बहस करने वालों में महिलाएं हावी

नई दिल्ली,18 जुलाई (आईएएनएस)| टेलीविजन बहसों में कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता को भले ही भाजपा के पैनलिस्टों द्वारा घेर लिया जाता है, लेकिन अब हालात बदले हैं। कांग्रेस ने मीडिया पैनलिस्टों और प्रवक्ताओं का एक उग्र पैक तैयार किया है जिनको देखकर लगता है कि वो ईंट से ईंट बजाने के लिए तैयार रहती हैं।

पवन खेड़ा, रोहन गुप्ता, गौरव वल्लभ जैसे कई आक्रामक प्रवक्ता हैं, लेकिन पैनलिस्टों में अब महिलाओं की टीम हावी दिखती हैं, जो झुकने के लिए तैयार नहीं होती हैं। वो उसी भाषा में जवाब देने के लिए भी तैयार रहती हैं, जिस तरह उनसे पूछा जाता है।

पत्रकार से प्रवक्ता बनी सुप्रिया श्रीनाते, अलका लांबा, राधिका खेरा और रागिनी नायक कांग्रेस की ओर से मोर्चा लेने के लिए तैयार रहती हैं । इनमें अंतिम तीन युवा कांग्रेस से आई हैं जबकि दक्षिण भारत से दंत चिकित्सक शमा मोहम्मद से आती हैं।

खेड़ा जहां पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया समन्वयक हैं, वहीं अलका लांबा भले ही आधिकारिक प्रवक्ता नहीं हैं, लेकिन टीवी डिबेट्स में अक्सर कांग्रेस के ²ष्टिकोण पर जोर देते हुए दिखाई पड़ जाती हैं।

प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेते कहती हैं कि, भाजपा प्रवक्ता किसी विषय पर बात नहीं करना चाहते हैं और अगर वे ऐसा करते हैं, तो उनके पास अपने दावों का समर्थन करने के लिए तथ्यात्मक डेटा नहीं होता है और फिर नाम बुलाने का सहारा लेते हैं और मुद्दों से भटकाने की कोशिश करते हैं।

कांग्रेस पार्टी की ओर से शिष्टाचार का पालन करने और पार्टी की सख्ती के कारण संबित पात्रा, गौरव भाटिया जैसे भाजपा प्रवक्ताओं का मुकाबला नही कर पाती है। लेकिन अब कांग्रेस के प्रवक्ता राजीव त्यागी को खोने के बाद स्थिति बदल गई है, जिनकी टीवी पर गर्मागर्म बहस के तुरंत बाद मृत्यु हो गई थी। पार्टी के एक अंदरूनी सूत्र का कहना है कि कांग्रेस ने अब नरम होने के बजाय टेलीविजन स्टूडियो में आक्रामक होने का फैसला किया है।

मीडिया टीम और पैनलिस्ट में शामिल राधिका खेरा भी यूथ कांग्रेस से ही हैं। वह कहती हैं, हमें किसी विशेष तैयारी की आवश्यकता नहीं है। भाजपा सरकार हमें उन्हें घेरने के लिए पर्याप्त कारण बताकर हर रोज बड़ी गलतियाँ करती है । अर्थव्यवस्था को संभालने में उनकी विफलता, बढ़ती कीमतें, कोविड के टीके, बढ़ती बेरोजगारी और उनकी ‘झूठ’की क्षमता। इसलिए, जब आपके पक्ष में सच्चाई होती है, तो झूठे लोगों के पास दिखाने के लिए कुछ भी नहीं होता है। और इसलिए टीवी बहस में हर रोज उजागर होते हैं!

कांग्रेस पार्टी में वापसी करने वाली अलका लांबा सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं। वह महंगाई और ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी पर बीजेपी को घेरने के लिए गोवा भेजे जाने वाले प्रवक्ताओं में से एक थीं।

लांबा का कहना है कि अब भाजपा को नकली कारखाने के पीछे छिपना मुश्किल लगता है क्योंकि हम उन्हें बेनकाब करने के लिए हैं। उनका कहना है, भाजपा व्यक्तिगत हमले में अधिक है, मैं मुद्दों पर टिकी रहती हूं और भाजपा की डायवर्जन रणनीति में घसीटे जाने से बचती हूं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने उन मुद्दों पर बहस में भाग नहीं लेने का फैसला किया है जो भाजपा चाहती है, जैसे कि सांप्रदायिक राजनीति से संबंधित – कांग्रेस जन-केंद्रित मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करना चाहती है।

छात्रों को जल्द उपलब्ध हो सकती हैं हिंदी, उड़िया और मराठी में इंजीनियरिंग की पुस्तकें

नई दिल्ली: भारतीय भाषाओं में उच्च शिक्षा की पहल के अंतर्गत केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने इंजिनियरिंग की किताबों पर चर्चा हेतु एक खास कैलेंडर लॉन्च किया है। भारतीय भाषाओं और...

घर में हुई तीसरी संतान, दो प्रधानों को गंवानी पड़ी कुर्सी, बीडीसी मेंबर ने भी दिया इस्तीफा

अल्मोड़ा: अल्मोड़ा में तीसरी संतान होने पर दो प्रधान और एक बीडीसी मेंबर को त्यागपत्र देना पड़ गया। अब इन सभी सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं। प्रदेश में पंचायत...

अधिक नहीं, अच्छे न्यायाधीशों की जरूरत : सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली: सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को उच्च न्यायालयों और निचली अदालतों में न्यायाधीशों की संख्या दोगुनी करने की मांग वाली याचिका पर विचार करने से इनकार करते हुए कहा...

छत्तीसगढ़ के इन्द्रावती टाईगर रिजर्व में बाघों की संख्या बढ़ी

रायपुर:वन्य प्राणी प्रेमियों के लिए यह अच्छी खबर है, क्योंकि छत्तीसगढ़ के बीजापुर स्थित इन्द्रावती टाइगर रिजर्व में बाघों की संख्या बढ़ कर पांच से छह हं गई है। यहां...

ब्रिटेन-चीन संबंधों का स्वर्ण युग समाप्त : सुनक

लंदन : चीन के साथ संबंधों का तथाकथित सुनहरा युग समाप्त हो गया है। हमें बीजिंग के प्रति अपने ²ष्टिकोण में बदलाव की आवश्यकता है। यह बात ब्रिटेन के प्रधान...

दिल्ली हिंसा के आरोपी सैफी की जमानत याचिका पर सुनवाई जारी रखेगा हाईकोर्ट

नई दिल्ली : वर्ष 2020 की दिल्ली हिंसा के पीछे कथित साजिश से जुड़े यूएपीए मामले में गिरफ्तार खालिद सैफी के वकील ने सोमवार को दिल्ली हाईकोर्ट में कहा कि...

केरल : पिता ने मानसिक रूप से बीमार बेटी का किया रेप, कोर्ट ने सुनाई 107 साल की सजा

तिरुवनंतपुरम: केरल के एक व्यक्ति को पथानमथिट्टा की पॉक्सो अदालत ने अपनी मानसिक रूप से बीमार छोटी बेटी के साथ रेप करने के आरोप में 107 साल जेल की सजा...

हरियाणा जिला परिषद चुनाव में बीजेपी का खराब प्रदर्शन

चंडीगढ़ : हरियाणा में हाल ही में संपन्न जिला परिषद के चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा को हार का सामना करना पड़ा। उसे सात जिलों में जिला परिषद की 102 सीटों...

दिल्ली और चंडीगढ़ में अपने देश का वीजा प्रदान करने की प्रकिया को कनाडा बनाएगा और सुव्यवस्थित

नई दिल्ली : कनाडा दिल्ली व चंडीगढ़ में अपने देश के लिए वीजा प्रदान करने की प्रक्रिया को और मजबूत बनाएगा। कनाडा में काम करने और अध्ययन करने के इच्छुक...

भारत को सालाना 1,000 से अधिक पायलटों की जरूरत है, पर ट्रेनिंग इंफ्रास्ट्रक्चर की है कमी

नई दिल्ली : उड्डयन क्षेत्र में विकास को देखते हुए उम्मीद है कि भारत को अगले पांच वर्षो में प्रतिवर्ष 1,000 से अधिक पायलटों की जरूरत होगी। हालांकि, विशेषज्ञों ने...

‘विधानसभा से इस्तीफे की घोषणा नए सैन्य नेतृत्व से जुड़ने का इमरान खान का प्रयास’

इस्लामाबाद : पीटीआई के अध्यक्ष इमरान खान की विधानसभा छोड़ने की अस्पष्ट धमकी वास्तव में राजनीतिक रूप से प्रासंगिक बने रहने का एक प्रयास है और नए सैन्य नेतृत्व को...

चीन में कोविड प्रतिबंधों के खिलाफ व्यापक विरोध, शी जिनपिंग से इस्तीफे की मांग

बीजिंग : एक अपार्टमेंट ब्लॉक में आग लगने के बाद चीन में कोविड प्रतिबंधों के खिलाफ विरोध तेज होता दिख रहा है। स्थानीय मीडिया ने यह जानकारी दी। पीड़ितों को...

editors

Read Previous

सोनिया ने संसद ग्रुप का गठन किया, अधीर रंजन चौधरी फ्लोर लीडर बने रहेंगे

Read Next

भारत में कोविड वैक्सीनेशन कवरेज 40 करोड़ के पार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com