एनएचआरसी ने बंगाल चुनाव के बाद हुई हिंसा पीड़ितों से शिकायतें की आमंत्रित

27 जून, 2021

नई दिल्ली: राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) समिति के सदस्यों ने रविवार को पीड़ितों, शिकायतकर्ताओं और विभिन्न हितधारकों को पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद की हिंसा से संबंधित मुद्दों और शिकायतों पर बातचीत करने के लिए आमंत्रित किया। एनएचआरसी की टीम सोमवार को सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक स्टाफ ऑफिसर्स मेस, सेक्टर वी साल्टलेक, कोलकाता में शिकायतकर्ताओं, पीड़ितों, याचिकाकर्ताओं और अन्य हितधारकों के साथ बातचीत करने और उनकी बातों को सुनने के लिए कम से कम तीन घंटे के लिए उपलब्ध रहेगी।

एनएचआरसी ने यह स्पष्ट कर दिया है कि इसके सदस्य पीड़ितों और शिकायतकर्ताओं से मिलेंगे, चाहे उनकी जाति, पंथ, धर्म, लिंग, जातीयता और राजनीतिक संबद्धता कुछ भी हो। जो लोग आने में असमर्थ हैं उन्हें सलाह दी गई है कि वे अपनी शिकायतें, याचिकाएं, समर्थन साक्ष्य और दस्तावेज इसकी ईमेल आईडी पर भेजें, एनएचआरसीडब्ल्यूआरआईटी142एटदरेट जीमेल डॉट कॉम या 8826705906 और 8799712259 पर फोन भी कर सकते हैं।

एनएचआरसी को सुनवाई की अगली तारीख 30 जून तक अदालत के समक्ष अपनी रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है।

घंटों बाद, एनएचआरसी ने पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद की हिंसा की शिकायतों की जांच करने के लिए एक सात सदस्यीय पैनल का गठन किया और पैनल को उन लोगों की पहचान करने के लिए कहा जो प्रथम दृष्टया हिंसा के लिए जिम्मेदार थे।

पूर्व खुफिया ब्यूरो प्रमुख राजीव जैन की अध्यक्षता वाली समिति, जिन्होंने 2 जून को एनएचआरसी सदस्य के रूप में कार्यभार संभाला था, पश्चिम बंगाल में विभिन्न स्थानों का दौरा कर रही है और इन शिकायतों और आरोपों की सत्यता की जांच कर रही है।

समिति में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष आतिफ रशीद, राष्ट्रीय महिला आयोग के सदस्य राजुलबेन एल देसाई, एनएचआरसी के निदेशक जांच संतोष मेहरा और डीआईजी, जांच मंजिल सैनी, पश्चिम बंगाल मानवाधिकार आयोग के रजिस्ट्रार प्रदीप कुमार पांजा और पश्चिम बंगाल राज्य कानूनी सेवा प्राधिकरण सदस्य सचिव राजू मुखर्जी भी शामिल हैं।

सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के राज्य चुनाव जीतने के बाद भड़की हिंसा पर कई याचिकाओं पर सुनवाई करने वाले उच्च न्यायालय ने 18 जून को आदेश दिया कि एनएचआरसी को समिति का गठन करना है। राज्य सरकार अगले दिन एक समीक्षा याचिका के साथ उच्च न्यायालय पहुंची, जिसमें पांच न्यायाधीशों से अपने आदेश को वापस लेने का अनुरोध किया गया था।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ लगातार अभियान चलाते हुए आरोप लगाया है कि उसके समर्थकों को निशाना बनाया जा रहा है। साथ ही यह भी आरोप लगाया गया है कि पार्टी का समर्थन करने के लिए 30 से अधिक लोगों की हत्या कर दी गई है और महिलाओं के साथ दुष्कर्म और छेड़छाड़ की गई है।

–आईएएनएस

राजस्थान में बेटियों की नीलामी मामले पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने लिया संज्ञान

नई दिल्ल : स्टांप पेपर पर राजस्थान की लड़कियों की नीलामी की खबरों पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो ने शुक्रवार...

गाजियाबाद सामूहिक दुष्कर्म मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने गठित की टीम, परिवार से करेगी मुलाकात

नई दिल्ली : गाजियाबाद में भाई के घर जन्मदिन पार्टी मनाने आई 38 वर्षीय महिला के साथ पांच लोगों ने दरिंदगी मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने संज्ञान लेते हुए...

जेल में महिला कैदियों को मिली ‘करवा चौथ’ व्रत रखने की इजाजत

लखनऊ : लखनऊ जेल में करीब 50 महिला कैदी 'करवा चौथ' के मौके पर गुरुवार को व्रत रख रही हैं। उत्तर प्रदेश के जेल मंत्री धर्मवीर प्रजापति द्वारा इस संबंध...

जम्मू-कश्मीर : पश्चिमी पाकिस्तान के शरणार्थियों को जमीन का मालिकाना हक देगी केंद्र सरकार

जम्मू : केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में पश्चिमी पाकिस्तान के शरणार्थियों (डब्ल्यूपीआर) को जमीन का मालिकाना हक देने का फैसला किया है। अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद, केंद्र...

याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट से कहा : हिजाब फर्ज है, इसकी अनिवार्यता अदालतें नहीं समझ सकतीं

नई दिल्ली : याचिकाकर्ताओं ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट से कहा कि इस्लामी धार्मिक ग्रंथ के मुताबिक हिजाब पहनना 'फर्ज' (कर्तव्य) है और अदालतें इसकी अनिवार्यता अदालतें नहीं समझ सकतीं।...

बिलकिस बानो सामूहिक बलात्कार के दोषीयों की रिहाई, महिलाओं का अपमान: सामजिक कार्यकर्ता

भारत के 75वें स्वतंत्रा दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के निर्माण में महिलाओं की भूमिका पर दिया. लेकिन इसी दिन गुजरात सरकार ने 11, सामूहिक बलात्कार और हत्या...

मप्र सरकार की बुलडोजर कार्रवाई का विरोध करने वाले मुस्लिम एक्टिविस्ट पर एनएसए के तहत कार्रवाई

भोपाल : खरगोन में सांप्रदायिक हिंसा के बाद मध्य प्रदेश सरकार के बुलडोजर अभियान के खिलाफ आवाज उठाने वाले एक एक्टिविस्ट को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत गिरफ्तार किया...

यूपी : जेलों में विचाराधीन कैदियों की संख्या दोषियों की तुलना में तीन गुना अधिक

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की जेलों में विचाराधीन कैदियों की संख्या दोषियों की तुलना में तीन गुना अधिक है, जो बताता है कि जेलों में भीड़भाड़ क्यों है। जेल विभाग...

ग्रेड पे विवाद: भारी बारिश में धरने पर बैठी सस्पेंड पुलिसकर्मी की पत्नी, बच्चों के साथ आत्मदाह की दी धमकी

देहरादून : उत्तराखंड पुलिसकर्मियों के परिजनों ने प्रेस वार्ता कर ग्रेड पे 4600 किए जाने की मांग उठाई थी, जिसके बाद अनुशासनहीनता का हवाला देकर तीन पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर...

कर्नाटक सीरियल किलिंग मामला : मुस्लिम संगठनों ने सकार पर लगाया भेदभाव का आरोप

दक्षिण कन्नड़ : मुस्लिम संगठनों ने कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में मारे गए मुस्लिम और हिंदू युवाओं के परिवारों को मुआवजा देने के मामले में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार द्वारा...

महिलाओं और लड़कियों की जिंदगी तबाह कर रही तालिबानी सरकार

यूयॉर्क : एमनेस्टी इंटरनेशनल ने कहा कि अफगानिस्तान में महिलाओं और लड़कियों के मानवाधिकारों पर तालिबान की कार्रवाई से उनकी जिंदगी तबाह हो रही है। अगस्त 2021 में जब से...

लैंगिक समानता के मामले में पाकिस्तान विश्व का दूसरा सबसे खराब देश

जेनेवा: पाकिस्तान लैंगिक समानता के मामले में विश्व भर में दूसरा सबसे खराब देश माना गया है। पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, विश्व आर्थिक मंच (वल्र्ड इकोनॉमिक फोरम)...

admin

Read Previous

बिहार के पूर्णिया, अररिया में नदियां उफान पर

Read Next

वीआईपी कल्चर ने ली वंदना मिश्रा की जान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com