आज़मगढ़ में दलित उत्पीड़न के मामला ने पकड़ा तूल, धरने प्रदर्शन जारी

आजमगढ़: उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में एक दलित महिला के साथ आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद मामला बेहद तूल पकड़ गया है। दलितों में इसके बाद काफी रोष देखा जा रहा है और वो लगातार दोषी पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी की मांग कर रहे हैं।

गांव में दो पक्षों को लेकर हुए विवाद में पहुंची पुलिस से एक पक्ष(दलित पक्ष) का विवाद हो गया। पुलिस और दलित पक्ष में कथित तौर पर मारपीट हो गई। इसके बाद कई थानों की पुलिस उस गांव पहुंची और दलित पक्ष के लोगों के साथ जमकर अभद्रता की गई ,महिलाओं पर शर्मनाक टिप्पणी के साथ ही पुलिस ने जेसीबी बुलाकर दलित पक्ष के लोगों का घर गिरवा दिया।

यह मामला आजमगढ़ के रौनापार थाना क्षेत्र के पलिया गांव का हैं। पलिया गांव के प्रधान मुन्ना पासवान हैं। मुन्ना पासवान का घर लगातार तीन बार से प्रधान का चुनाव जीतता आ रहा है। इस बार इनकी पत्नी मंजू विजयी हुई हैं। पलिया गांव के पास के ही मऊ कुतुबपुर गांव के रहने वाले आनंद स्वरूप के पुत्र लिट्टन से पलिया गांव के लोगों के बीच विवाद हुआ था।

दरअसल लिट्टन ने पलिया गांव की एक लड़की का आपत्तिजनक वीडियो बना लिया था। लिट्टन वीडियो के माध्यम से लड़की को ब्लैकमेल करता था। लड़की की शिकायत के बाद प्रधान मुन्ना पासवान के यहां सुलह समझौते की पंचायत बैठी थी। सुलह समझौते के बीच ही किसी बात को लेकर आनंद स्वरूप और उसके बेटे से प्रधान पक्ष का झगड़ा हो गया। सूचना पर रौनापार थाना से दो सिपाही मुखराज यादव और विवेक त्रिपाठी मौके पर पहुंच गए।

इसी दौरान सिपाही ने किसी बात को लेकर प्रधान मुन्ना पासवान के थप्पड़ जड़ दिए। प्रधान मुन्ना पासवान के चेहरे पर चोट आ गई, यह देख प्रधान पक्ष के लोगों ने दोनों सिपाहियों की पिटाई कर दी। दोनों सिपाही काफ़ी चोटहिल हो गए। सूचना पाकर मौके पर कई थानों की पुलिस फोर्स पहुंच गई पलिया गांव पहुंच गई।

पुलिस फोर्स ने‌ रात में दबिश मारी। दबिश के दौरान पुलिस ने गांव में दलित प्रधान मुन्ना पासवान के घर वालों और उसके समर्थकों के साथ बर्बरतापूर्ण रवैया अपनाया। आरोप है कि दलित वर्ग के लोगों को पीटा गया, महिलाओं के साथ घर में जबरन घुसकर अभद्रता की गई और पुलिस उत्पीड़न की हद तब हुई जब दलित मुन्ना पासवान के घर और उसके आसपास के दलितों के घर पर जबरन जेसीबी से तोड़फोड़ कर घरों को ढहा दिया गया।

मुन्ना पासवान की पत्नी मंजू ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने घर में घुसकर तोड़फोड़ की, महिलाओं के साथ अभद्रता, मारपीट, गाली-गलौज , यहां तक यह भी आरोप लगाया है कि पुलिस वाले घर में रखे गहने भी अपने साथ ले गए। सोशल मीडिया में पुलिस उत्पीड़न के वीडियो वायरल हो रहें हैं जिसमें ना केवल उनके मकान का धराशायी हुआ दिखता है, बल्कि घर का सामान भी बिखरा दिखाई देता है और मकान के मलबे के नीचे वाहन भी दबे दिखाई देते हैं। गांव की महिलाएं पुलिसिया ज़ुल्म के खिलाफ धरने पर भी बैठ गई।

महिलाओं के धरने पर बैठने पर मामले ने तूल पकड़ लिया। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, बसपा प्रमुख मायावती, भीम आर्मी के चंद्रशेखर आज़ाद, समाजवादी पार्टी के नेताओ ने दलितों पर हुई पुलिस की कार्रवाई का विरोध करते हुए सरकार और पुलिस अधिकारियों को कठघरे में खड़ा कर दिया है साथ ही दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की हैं।उत्तर प्रदेश कांग्रेस के सचिव अनिल कुमार के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता पलिया में ही पुलिस उत्पीड़न के विरोध में उपवास पर बैठ गए।

लेकिन इस मामले में आजमगढ़ पुलिस की कहानी ही कुछ और हैं। आजमगढ़ पुलिस का कहना है कि मुन्ना पासवान ने पुलिस से बचने के लिए खुद ही अपने घर पर जेसीबी चलवा दी हैं। सवाल उठता है कि मेहनत मशक्कत से बनाए हुए अपने ही घर पर कोई जेसीबी क्यो चलवाएगा। आजमगढ़ के पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने अपना वीडियो बयान जारी करते हुए कहा कि पलिया बाजार में मुन्ना पासवान और उनके साथियों ने लड़कियों के साथ छेड़छाड़ करी थी, लिट्टन नामक युवक उनका वीडियो बना रहा था इसी बात पर पहले विवाद हुआ और फिर मारपीट हुई। रौनापार थानाध्यक्ष को सूचना मिली तो कांस्टेबल मुखराम यादव और विवेक त्रिपाठी को मौके पर भेजा गया।

एसपी का कहना है कि बीच बचाव के दौरान मुन्ना पासवान और उनके साथी एक पुलिसकर्मी को पीटने लगे। इस घटना की वीडियो बनाने वाले दूसरे पुलिसकर्मी विवेक को भी मारा-पीटा गया जिससे पुलिसकर्मियों को गंभीर चोटें आई हैं। आजमगढ़ पुलिस का कहना है कि घर की महिलाओं को आगे करके मुन्ना पासवान समेत अन्य आरोपी अपना बचाव करना चाहते हैं। आजमगढ़ पुलिस का कहना है कि गांव के लोगों ने पुलिस से बचने के लिए खुद ही लूट-पाट और तोड़फोड़ की है।

इस मामले में रौनापार थाना पुलिस ने तीन एफआईआर दर्ज करी हैं। प्रधान मुन्ना पासवान समेत 28 नामजद समेत 143 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करी गई है। पुलिस ने पहली एफआईआर घायल पुलिसकर्मियों की तहरीर पर और दूसरी एफआईआर लिट्टन की तहरीर पर दर्ज करी हैं। वहीं तीसरी एफआईआर मुन्ना पासवान समेत अन्य घरों में तोड़फोड़ को लेकर पुलिस ने अज्ञात में एफआईआर दर्ज करी हैं। पहली दो दर्ज एफआईआर में पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है। पुलिस का कहना है कि मुन्ना पासवान समेत अन्य आरोपी फरार चल रहे हैं।

दलितों पर पुलिस उत्पीड़न के मामले के तूल पकड़ने के बाद आजमगढ़ पुलिस अधीक्षक ने रौनापार एसओ को लाइन हाजिर कर दिया है और साथ ही इस घटना के मजिस्ट्रेट जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं। गांव वालों का कहना है कि पुलिस ने एक पक्ष की ना तो शिकायत दर्ज करी , साथ ही बर्बरता की। फिलहाल पुलिसिया कार्रवाई से गांव में दहशत का माहौल है। विपक्षी दलों ने इस मामले में योगी सरकार को दलित विरोधी क़रार दिया है। विपक्षी दलों का कहना है कि योगी राज में दलित समाज सुरक्षित नहीं है।

इस घटना के बाद आजमगढ़ के आसपास दलितों में रोष फैलता जा रहा है। खासकर दलित महिला को की गई बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद दलित समाज उबल रहा है। यह अलग बात है कि पुलिस इस टिप्पणी को बनावटी बता रही है मगर जिस तरह से महिला ने वीडियो जारी कर घटना बताई है उससे प्रशासन जांच के कटघरे में तो आता है।

26 साल बाद भी पीड़ित परिवार न्याय के दरवाजे पर दे रहे दस्तक

नई दिल्ली : नीलम और शेखर कृष्णमूर्ति व उपहार सिनेमा अग्निकांड के अन्य पीड़ितों के परिवारों को घटना के 26 साल बाद भी इंसाफ की तलाश है। कृष्णमूर्ति का घर...

अधिकार से वंचित होने पर व्हाट्सएप से प्रॉक्सी सर्वर के जरिए जुड़ें

2023-01-06 .नई दिल्ली: मेटा के स्वामित्व वाले व्हाट्सएप ने गुरुवार को दुनियाभर के उपयोगकर्ताओं के लिए एक प्रॉक्सी समर्थन शुरू किया, जैसे ईरान और अन्य जगहों पर लाखों लोग स्वतंत्र...

राजस्थान में बेटियों की नीलामी मामले पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने लिया संज्ञान

नई दिल्ल : स्टांप पेपर पर राजस्थान की लड़कियों की नीलामी की खबरों पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो ने शुक्रवार...

गाजियाबाद सामूहिक दुष्कर्म मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने गठित की टीम, परिवार से करेगी मुलाकात

नई दिल्ली : गाजियाबाद में भाई के घर जन्मदिन पार्टी मनाने आई 38 वर्षीय महिला के साथ पांच लोगों ने दरिंदगी मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने संज्ञान लेते हुए...

जेल में महिला कैदियों को मिली ‘करवा चौथ’ व्रत रखने की इजाजत

लखनऊ : लखनऊ जेल में करीब 50 महिला कैदी 'करवा चौथ' के मौके पर गुरुवार को व्रत रख रही हैं। उत्तर प्रदेश के जेल मंत्री धर्मवीर प्रजापति द्वारा इस संबंध...

जम्मू-कश्मीर : पश्चिमी पाकिस्तान के शरणार्थियों को जमीन का मालिकाना हक देगी केंद्र सरकार

जम्मू : केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में पश्चिमी पाकिस्तान के शरणार्थियों (डब्ल्यूपीआर) को जमीन का मालिकाना हक देने का फैसला किया है। अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद, केंद्र...

याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट से कहा : हिजाब फर्ज है, इसकी अनिवार्यता अदालतें नहीं समझ सकतीं

नई दिल्ली : याचिकाकर्ताओं ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट से कहा कि इस्लामी धार्मिक ग्रंथ के मुताबिक हिजाब पहनना 'फर्ज' (कर्तव्य) है और अदालतें इसकी अनिवार्यता अदालतें नहीं समझ सकतीं।...

बिलकिस बानो सामूहिक बलात्कार के दोषीयों की रिहाई, महिलाओं का अपमान: सामजिक कार्यकर्ता

भारत के 75वें स्वतंत्रा दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के निर्माण में महिलाओं की भूमिका पर दिया. लेकिन इसी दिन गुजरात सरकार ने 11, सामूहिक बलात्कार और हत्या...

मप्र सरकार की बुलडोजर कार्रवाई का विरोध करने वाले मुस्लिम एक्टिविस्ट पर एनएसए के तहत कार्रवाई

भोपाल : खरगोन में सांप्रदायिक हिंसा के बाद मध्य प्रदेश सरकार के बुलडोजर अभियान के खिलाफ आवाज उठाने वाले एक एक्टिविस्ट को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत गिरफ्तार किया...

यूपी : जेलों में विचाराधीन कैदियों की संख्या दोषियों की तुलना में तीन गुना अधिक

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की जेलों में विचाराधीन कैदियों की संख्या दोषियों की तुलना में तीन गुना अधिक है, जो बताता है कि जेलों में भीड़भाड़ क्यों है। जेल विभाग...

ग्रेड पे विवाद: भारी बारिश में धरने पर बैठी सस्पेंड पुलिसकर्मी की पत्नी, बच्चों के साथ आत्मदाह की दी धमकी

देहरादून : उत्तराखंड पुलिसकर्मियों के परिजनों ने प्रेस वार्ता कर ग्रेड पे 4600 किए जाने की मांग उठाई थी, जिसके बाद अनुशासनहीनता का हवाला देकर तीन पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर...

कर्नाटक सीरियल किलिंग मामला : मुस्लिम संगठनों ने सकार पर लगाया भेदभाव का आरोप

दक्षिण कन्नड़ : मुस्लिम संगठनों ने कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में मारे गए मुस्लिम और हिंदू युवाओं के परिवारों को मुआवजा देने के मामले में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार द्वारा...

admin

Read Previous

करिश्मा कपूर ने ‘द लेजेंडरी तिकड़ी’ की थ्रोबैक फोटो पोस्ट की

Read Next

बदल गया मोदी सरकार का चेहरा, क्या चाल और चरित्र भी बदलेगा?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com