पाठकों और लेखकों के जुड़ने के तरीके में क्रांति ला रहा देहरादून का बुकनर्डस


नई दिल्ली: देहरादून की एक पहल ‘बुकनर्डस’ किताबों और लेखकों के जुड़ने के तरीके में एक क्रांतिकारी बदलाव ला रही है। अगर इसकी शुरूआत के बारे में बात करें तो बुकनर्डस उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में स्थित एक साहित्यिक स्टार्टअप है, जिसकी स्थापना पुस्तक प्रेमी पति-पत्नी की जोड़ी रोहन और नेहा राज ने भारत और उसके बाहर पुस्तक प्रेमियों और लेखकों को जोड़ने के विजन के साथ की है।

हिमालय की तलहटी में बसे भारत के एक खूबसूरत शहर देहरादून में एक छोटे से पुस्तक प्रेमी समुदाय के रूप में जो शुरू हुआ, वह अब एक आंदोलन में बदल गया है, जो पूरे भारत में पुस्तक प्रेमियों को जोड़ रहा है। उनका मिशन पढ़ने के लिए अपने प्यार को फैलाना है!

रोहन को तकनीक और किताबों का शौक है, जबकि नेहा सौंदर्यशास्त्र और संगठन में शौक रखती हैं। रोहन और नेहा तकनीकी पृष्ठभूमि से होने के कारण नई मानसिकता में विश्वास रखते हैं, जो प्रकाशन परि²श्य से गायब है। जब वे किताबें नहीं पढ़ रहे होते हैं या अपने कार्यालय सह पुस्तकालय में काम नहीं कर रहे होते हैं, तो वह समय वे अपने बच्चों के साथ खेलते हुए या फिर आने वाले बुक क्लब सत्रों के लिए शहर में अगले शांत कैफे की खोज करने में बिताना पसंद करते हैं

अगर हम इनके काम की बात करें तो बुकनर्डस टीम अपने पुस्तक अनुशंसा वीडियो, बुक क्लब इवेंट, पॉडकास्ट, लाइव सत्र और बहुत कुछ के माध्यम से पुस्तकों की दुनिया से सबसे अच्छी सामग्री आपके लिए लाती है।

पिछले छह वर्षों में उत्तर भारत के सबसे बड़े लिट फेस्ट में से एक इंडिया रीडिंग ओलंपियाड द्वारा भारत के सर्वश्रेष्ठ रीडिंग क्लब के लिए नामांकित होना उनकी कुछ उपलब्धियों में से एक है।

प्रकाशन उद्योग में आधे दशक से अधिक समय तक लगातार नवाचार लाने के बाद, बुकनर्डस अब पाठकों और लेखकों के संपन्न समुदाय का पर्याय बन गया है। अपने वाचन समुदाय के माध्यम से, वे समझ गए हैं कि पाठक, लेखक और प्रकाशक क्या चाहते हैं।

बुकनर्डस ने 150 से अधिक ऑफलाइन मीटअप और साहित्यिक कार्यक्रम आयोजित किए हैं, पुस्तक लॉन्च की है और 250 से अधिक लेखकों की मेजबानी की है, जिसमें देवदत्त पटनायक, आनंद नीलकांतन, वीर सांघवी, जॉन के, एंडी ग्रिफिथ्स, मोइन मीर, मयंक शेखर, बिल ऐटकेन, विनीत बाजपेयी, केविन मिसाल और अन्य शामिल हैं।

अगर उनके सत्र या सेशन की बात करें तो वे कुछ प्रमुख ऑफलाइन सत्र इस प्रकार रहे हैं :

लिट दंगल

बेहद सफल लिट दंगल, जहां लेखक सात मिनट में एक-दूसरे के खिलाफ जाते हैं, बिना किसी रोक-टोक के गतिरोध में 300 से अधिक उपस्थित लोगों और 25 से अधिक प्रकाशित लेखकों की भागीदारी और फुटफॉल देखा गया है।

पॉटरहेड हैंगआउट

पॉटरहेड्स का एक साथ आना पहले की तरह कॉसप्ले, बुक रीडिंग, क्विज के साथ अब दो संस्करणों के लिए दूनाइट्स के साथ पेश है, जिसमें समुदाय ने बच्चों, युवा वयस्कों और वयस्कों को भाग लेते देखा है और अपने घरों के लिए जीतने के लिए आमने-सामने हैं।

बुक हसल

एक अवधारणा, जो सह-संस्थापक जोड़ी के बीच किताबें वापस नहीं करने वाले लोगों के बारे में एक मजाक के रूप में शुरू हुई, ग्रंथ सूची के लोगों के लिए एक अद्भुत अनुभव बन गई, जहां वे एक-दूसरे को अपनी पुस्तकों की अदला-बदली, विनिमय और ऊधम मचाने के लिए समझाने के लिए बातचीत करते हैं।

कॉमिकनेर्ड

रोहन हमेशा से एक हास्य उत्साही रहा है, 90 के दशक में कभी-कभी पढ़ाई की कीमत पर किराये की कॉमिक्स खरीदता था!

अमर चित्र कथा, राज कॉमिक्स, डायमंड कॉमिक्स, मार्वल और डीसी सहित सत्रों में हिंदी और अंग्रेजी कॉमिक पुस्तकों के मिश्रण पर चर्चा की जाती है, जिसमें द सॉल्ड स्टोर, टीबीएस प्लैनेट और बहुत कुछ शामिल हैं।

महामारी

जब महामारी ने बुकनर्डस को प्रभावित किया और पुस्तक अनुशंसा वीडियो, बुक अनबॉक्सिंग वीडियो, रीडिंग व्लॉग, बुक रील, वीडियो बुक समीक्षा और बहुत कुछ बनाना शुरू कर दिया, जिसने युवा पाठकों के फैंस को आकर्षित किया।

प्रकाशन उद्योग के कुछ दिग्गज जैसे मिली अश्वरिया (प्रकाशक, पेंगुइन रैंडम हाउस), प्रिया और कपिल कपूर (रोली बुक्स), अदिति माहेश्वरी गोयल (वाणी प्रकाशन), नमिता गोखले, तृषा नियोगी (नियोगी बुक्स), समीर सोमैया (किताबखाना बुकस्टोर, मुंबई) ने वीडियो और ऑडियो पॉडकास्ट पर विशेष रुप से प्रदर्शित किया है, जो पुस्तक चर्चा, लेखक साक्षात्कार और अन्य बहुत कुछ के साथ ग्रंथ सूची के लिए सर्वोत्तम साहित्यिक सामग्री लाता है।

भविष्य

पाठकों की सभी प्रकार की जरूरतों को पूरा करना ही इनका उद्देश्य है। अगर आप पुस्तकों से प्यार करते हैं, तो बेझिझक उन्हें सोशल मीडिया पर खोजें, वे उनके बारे में अंतहीन बातचीत करना पसंद करते हैं।

–आईएएनएस

जम्मू-कश्मीर के आठ लेखकों का यूपी उर्दू अकादमी के वार्षिक सम्मान के लिए चयन

श्रीनगर : उत्तर प्रदेश उर्दू अकादमी ने हाल ही में वर्ष 2019-21 के पुरस्कारों की घोषणा की। इनमें जम्मू-कश्मीर के आठ लेखक शामिल हैं। जम्मू-कश्मीर से सम्मान के लिए चुने...

आईएफएफआई के ज्यूरी हेड ने ‘द कश्मीर फाइल्स’ को ‘अश्लील’, ‘प्रचार’ वाली फिल्म करार दिया

पणजी : आईएफएफआई के ज्यूरी प्रमुख नादव लापिड ने महोत्सव के समापन समारोह के दौरान फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' को 'अश्लील' और 'अनुचित' करार दिया और कहा कि महोत्सव की...

कथक केवल देह की भाषा नहीं वह विचार का भी माध्यम है

नई दिल्ली : कथक सिर्फ देह की भाषा औरअभिव्यक्ति का माध्यम नहीं है बल्कि वह विचार का भी माध्यम है ।यह बात कल हिंदी के प्रख्यात कवि संस्कृति कर्मी अशोक...

अयोध्या दीपोत्सव : रेत पर उकेर जीवंत किये जा रहे रामायण कालीन प्रसंग

अयोध्या : अयोध्या में इस बार दीपोत्सव को ऐतिहासिक बनाने की कवायद जोरों पर है। रामायणकालीन 15 स्वागत द्वार दीपोत्सव की आभा बढ़ा रहे हैं। राम परिवार, निषादराज व अहिल्या...

सांसारिक और महाकाव्य के बीच की रेखा पतली है : गीतांजलि श्री

कसौली : 'रेत समाधि' के लिए अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार प्राप्त करने वाली लेखिका गीतांजलि श्री ने साफ किया है कि उनका वास्तव में 'प्रमुख विषय' (विभाजन) के बारे में एक...

लता मंगेशकर की याद में इंदौर में बनेगा संग्रहालय : शिवराज

इंदौर : मध्य प्रदेश की प्रमुख नगरी इंदौर में बुधवार की रात को आयोजित राष्ट्रीय लता मंगेशकर अलंकरण समारोह में कला जगत की हस्तियों को यह सम्मान प्रदान किया गया।...

जानिए हिन्दी प्रकाशन जगत की युवा महिला प्रकाशक के संघर्ष की कहानी

मात्र 14 साल की उम्र में अपने दादा द्वारा शुरू किए गए प्रकाशन समूह में छोटी से छोटी- छोटी ज़िम्मेदारियों को पूरी ईमानदारी से निभाने वाली अदिति माहेश्वरी को भला...

कितना सार्थक है हिंदी दिवस ?

सितंबर का महीना आते ही हवा में हिंदी की खुशबू बिखरने लगती है और हर साल 14 सितंबर को पूरे देश में हिंदी दिवस धूम धाम से मनाया जाता है...

अज्ञेय हिंदुत्व के समर्थक नहीं थे संघ के आलोचक थे

नई दिल्ली: हिंदी के यशस्वी साहित्यकार सच्चिदानंद हीरानंद वात्सायन अज्ञेय हिंदुत्व के समर्थक नहीं थे बल्कि उन्होंने दिनमान में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की कड़ी आलोचना की थी । यह जानकारी...

उर्दू के मशहूर स्कॉलर गोपीचंद नारंग नहीं रहे

नई दिल्ली। उर्दू में मशहूर नक़्क़ाद और स्कॉलर गोपीचंद नारंग नहीं रहे। कल उनका इंतकाल अमरीका के न्यूयार्क में हो गया। वह 92 वर्ष के थे। परिवार में पत्नी के...

यशस्वी लेखक अज्ञेय की जीवनी अंग्रेजी में

नई दिल्ली। अंग्रेजी के प्रसिद्ध पत्रकार अक्षय मुकुल ने हिंदी के यशस्वी लेखक एवं प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी सच्चिदानंद हीरानंद वात्सायन "अज्ञेय" की पहली प्रमाणिक जीवनी अंग्रेजी में लिखी है। टाइम्स...

सोनल मान सिंह, जाकिर हुसैन, जतिन गोस्वामी रत्न सदस्यता ग्रहण करने नहीं आये, 43 कलाकारों को मिला संगीत नाटक एकेडमी पुरस्कार

नई दिल्ली। प्रख्यात ग़ज़ल गायिका शांति हीरानंद ,मधुप मुदगल और मालिनी अवस्थीतथा संजय उपाध्यय समेत 43 कलाकारों को संगीत नाटक अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। जबकि प्रख्यात नृत्यांगना सोनल...

admin

Read Previous

टीवी से पहले ओटीटी पर 6 हफ्ते स्ट्रीम होगा ‘बिग बॉस’

Read Next

54 % ने कहा हर्षवर्धन को बलि का बकरा बना गया : आईएएनएस-सी वोटर स्नैप पोल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com