1. कला और साहित्य

कला और साहित्य

कथक दिग्गज पंडित बिरजू महाराज का 83 वर्ष की आयु में निधन

नई दिल्ली, 17 जनवरी (आईएएनएस)| कथक के दिग्गज बिरजू महाराज का रविवार देर रात दिल का दौड़ा पड़ने से निधन हो गया। वह 83 वर्ष के थे। कुछ दिन पहले ही महाराज के किडनी की…

वयोवृद्ध आलोचक धनंजय वर्मा और वरिष्ठ कथाकार गीतांजलि श्री को लखटकिया वनमाली पुरस्कार

वनमाली प्रवासी भारतीय कथा सम्मान दिव्या माथुर (लंदन) को भोपाल: सुप्रसिद्ध आलोचक धनंजय वर्मा (उज्जैन)और चर्चित कथाकार गीतांजलि श्री ( दिल्ली) को एक एक लाख रुपये के वनमाली सम्मान से नवाजा जाएगा जबकि लन्दन की…

हिंदी के लिए दया प्रकाश सिन्हा, अंग्रेज़ी के लिए नमिता गोखले साहित्य अकेडमी पुरस्कार मिला

नई दिल्ली। हिंदी के प्रमुख नाटक कार दया प्रकाश सिन्हा को उनके नाटक ‘सम्राट अशोक’, प्रसिद्ध अंग्रेज़ी लेखिका नमिता गोखले को उनके उपन्यास थिंग्स टू लीव बिहाइंड पर तथा पंजाबी के लिए खालिद हुसैन को…

कोरोना के कारण साहित्य अकेडमी का पुरस्कार समारोह रद्द

विश्व पुस्तक मेले को रद्द करने की मांग नई दिल्ली । कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण साहित्य अकेडमी ने आज होने वाले अनुवाद पुरस्कार समारोह को स्थगित कर दिया है। अब राजधानी में 8…

प्रसार भारती ने भारतीय संस्कृति के प्रचार प्रसार के लिए किया आईसीसीआर से करार

नई दिल्ली । प्रसार भारती अब अपने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय चैनल पर भारतीय संस्कृति के प्रचार प्रसार के लिए कार्यक्रम करेगा। इसके लिए प्रसार उसने आज यहां भारतीय सांस्कृतिक सम्बन्ध परिषद के साथ एक करार…

चीन ने ‘वुहान डायरी’ के लेखक को साहित्यिक संस्था से निकाला

नई दिल्ली, 19 दिसंबर (आईएएनएस)| वुहान में तालाबंदी के दौरान स्थानीय निवासियों के दैनिक जीवन को रिकॉर्ड करने वाले चीनी उपन्यासकार फेंग फेंग को चीनी राइटर्स एसोसिएशन (सीडब्ल्यूए) की 10वीं राष्ट्रीय कांग्रेस की नवीनतम सदस्यों…

ज्ञानपीठ सम्मान की घोषणा : असमिया और कोंकणी के लेखक को मिला

नई दिल्ली। असमिया भाषा के प्रख्यात लेखक नीलमणि फूकन और कोंकणी के सुप्रसिद्व लेखक दामोदर मौजो को 56 वां तथा 57 वां ज्ञानपीठ पुरस्कार देने की आज यहां घोषणा की गई। दोनों लेखकों को पुरस्कार…

विधानसभा में 18 वर्ष पूर्व सर्वसम्मत प्रस्ताव के बावजूद राजस्थानी भाषा की भारी उपेक्षा

नई दिल्ली। करीब 18 वर्ष पूर्व राजस्थान विधानसभा से सर्वसम्मति से पारित संकल्प पत्र प्रस्ताव के बावजूद मातृभाषा राजस्थानी की भारी उपेक्षा हो रही है और नहीं तों भारत सरकार इसे संविधान की आठवीं अनुसूची…

गृहणियां भी बनी लेखिकाएँ आभासी साहित्य मंच से कमाया एक लाख रुपए तक

“प्रतिलिपि “के लेखकों ने पिछले माह 24 लाख रुपए कमाए। नई दिल्ली। देश के लेखकों विशेषकर नए लेखकों के लिए खुशखबरी! अब वे चाहें तो घर बैठे सैकड़ों पाठकों से न केवल जुड़ सकते हैं…

तानसेन समारोह को ‘पर्यटन’ से जोड़ने की कवायद

ग्वालियर, 28 नवंबर (आईएएनएस)| मध्य प्रदेश के ग्वालियर का राष्ट्रीय तानसेन समारोह का संगीत जगत में खासा महत्व है। अब इस समारोह को पर्यटन से भी जोड़ने की कवायद शुरू हुई है। इसके लिए विशेष…

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com