गूंज चला रही ‘खिचड़ी ढाबा’ ताकि कोई भूखा न रहे (ग्राउंड रिपोर्ट)

नई दिल्ली, 20 जुलाई (आईएएनएस)| ‘खिचड़ी ढाबा’ सामाजिक संस्था गूंज की एक खास पहल है, ताकि कि लोग भूखे न रहें और ढाबा चलाने वाले लोग अपनी आजीविका को दुबारा पटरी पर ला सकें। इस तरह के ढाबे और भी राज्यों में संचालित हैं, साथ ही इसे दूसरी जगहों पर खोलने की भी तैयारी है। गूंज की ग्राउंड रिपोर्ट बताती है कि गूंज की पूरी कोशिश है कि हम लोगों के साथ जितना संभव हो सके खड़े हों। कोरोना से पूरा देश त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रहा है। इसकी दूसरी लहर में शायद ही ऐसा कोई हो, जिसने अपनो को ना खोया हो। ऐसे में जरा सोचें, उन इलाकों में रहने वाले लोगों की क्या दशा होगी, जो कोविड के साथ ही चक्रवाती तूफान के चपेटे में हैं। हम बात कर रहे हैं ओड़िशा की, जहां के लोगों के लिए इन दोनों चुनौतियों से पार पाना आसान नहीं है। बीते दिनों, यहां पर आए भयंकर चक्रवाती तूफान यास ने बहुत कुछ चौपट कर दिया है। इस चक्रवात ने बड़े पैमाने पर खेती किसानी वाली जमीन को बर्बाद किया, पोल्ट्री फार्म, मछली फार्म और दूसरे जलस्रोतों को भी तहस-नहस किया, जिसका सीधा असर यहां के लोगों की आजीविका पर पड़ा है।

तटीय ओड़िशा के भद्रक जिले के सुदर्शनपुर की रहने वाली रंकनिधि जेना बताती हैं कि चक्रवाती तूफान ने उनका सबकुछ बर्बाद कर दिया। उनके मुताबिक, इसमें उनका कच्चा घर टूट गया है। पानी भरने से जहां उनका मिट्टी का बना चूल्हा ढह गया, वहीं उनके घर में अब कीचड़ ही कीचड़ है। अब उनके लिए दो जून की रोटी के भी लाले पड़े हैं। जल-जमाव के चलते जहां बीमारियां पैर पसार रही हैं, वहीं सांप से काटे जाने का भी डर बना हुआ है।

इस इलाके के लोगों की तकलीफ के बारे में जब सामाजिक संस्था गूंज को पता लगा तो उनके लिए एक शानदार पहल की गई। गूंज ने उनकी भूख मिटाने के लिए इस इलाके में ढाबे की शुरुआत की, जिसको नाम दिया, ‘खिचड़ी’। स्थानीय लोगों की मदद से यहां इस ढाबे का श्रीगणेश हुआ, जिसमें लोगों को मुफ्त में खाना दिया जा रहा है। इसको शुरू करने के लिए गूंज ने 250 किलो चावल, 50 किलो दाल सहित वो सारी जरूरी चीजें मुहैया कराई गईं, जिससे कि इसे शुरू किया जा सके। स्थानीय लोगों ने आलू, प्याज, टमाटर, अदरक, लहसुन सहित बर्तनों का इंतजाम किया, यहां तक कि इसे बनाने के लिए करीब 300 किलो लकड़ी भी जुटाई। अब स्थिति यह है कि यहां प्रतिदिन 250 से 300 लोग मुफ्त में खाना खा रहे हैं। हालांकि इसके रख-रखाव और संचालन में आने वाले खर्च के लिए 12 रुपये की न्यूनतम राशि भी रखी गई है, लेकिन इसकी कोई बाध्यता नहीं है।

इस ढाबे के बारे में रंकनिधि हंसते हुए कहती हैं, “चूंकि हम गांव से बाहर नहीं जा सकते थे, इसलिए ये एक बहुत बढ़िया कोशिश है। इससे हमारी खाने-पीने की समस्या खत्म हुई और अब हम लोग अपना बाकी समय अपने घर को ठीक करने में लगा पाते हैं। इसके अलावा, अब हमें अपनी आजिविका के बारे में भी कुछ सोचने और करने का मौका मिल पाता है।”

हिमालयन याक को एफएसएसएआई से मिला खाद्य पशु टैग

ईटानगर:केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के तहत आने वाले भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) से हिमालयन याक को खाद्य पशु टैग मिला है। शीर्ष अधिकारियों ने शनिवार...

पांच साल में दस गुना बढ़ गयी वाराणसी में पर्यटकों की संख्या

वाराणसी:प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पिछले पांच सालों में पर्यटकों की संख्या तकरीबन दस गुना बढ़ गई है। पर्यटन विभाग की ओर से जनवरी 2017 से लेकर जुलाई...

मुकदमेबाजी प्रक्रिया को सरल बनाना, नागरिक केंद्रित बनाना महत्वपूर्ण: सीजेआई

नई दिल्ली: भारत के प्रधान न्यायाधीश डी.वाई. चंद्रचूड़ ने शनिवार को कहा कि मुकदमेबाजी प्रक्रिया को सरल बनाना और इसे 'नागरिक केंद्रित' बनाना महत्वपूर्ण है, न्यायाधीशों को न्याय, समानता और...

राजस्थान की एक सरपंच लड़कियों के कल्याण के लिए अपनी सैलरी दान करती है

जयपुर: राजस्थान की एक महिला सरपंच अपनी निजी सुख-सुविधाओं को दरकिनार कर लड़कियों को पढ़ाई और खेल में उत्कृष्टता हासिल करने में मदद कर उन्हें सशक्त बनाने के मिशन पर...

100 किसानों को दिया जाएगा इजराइल में प्रशिक्षण

चेन्नई : तमिलनाडु के किसान जल्द ही आधुनिक कृषि तकनीक हासिल करेंगे। राज्य सरकार 100 किसानों को प्रशिक्षण के लिए इजराइल भेजेगी। तमिलनाडु के कृषि मंत्री एम.आर.के. पन्नीरसेल्वम ने कहा...

अब बगैर फ्रिज के आठ दिनों तक ताजा रखी जा सकेंगी फल-सब्जियां

रांची: अब फलों और सब्जियों को फ्रिज में रखे बगैर आठ दिनों तक ताजा रखा जा सकेगा। रांची स्थित राष्ट्रीय कृषि द्वितीयक संस्थान ने यह तकनीक विकसित की है। इस...

एलजी के दखल के बाद जामा मस्जिद के इमाम महिलाओं के प्रवेश पर रोक के आदेश को रद्द करने पर सहमत

नई दिल्ली: दिल्ली की ऐतिहासिक जामा मस्जिद का प्रशासन मस्जिद में महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने वाले विवादास्पद आदेश को रद्द करने पर सहमत हो गया है। राज निवास...

बुद्ध के महाप्रसाद काला नमक चावल की खुशबू से महक रहा यूपी का राजभवन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के राजभवन में करीब आधा एकड़ रकबे में रोपी गई काला नमक धान की फसल पककर तैयार है। बुद्ध के महाप्रसाद के नाम से विख्यात काला नमक...

जब दिया रंज बुतों ने तो ख़ुदा याद आया

बिहार की सत्ता में शामिल राजद के लिए सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। गोपलगंज उपचुनाव में मिली हार से वह उबर नहीं पा रहा है। राजद के वोट...

सवालों से भागता बीसीसीआई

टी-20 विश्व कप अब इतिहास हो गया है। खिलाड़ियों ने भी कई इतिहास बनाए, इसे इस तरह से भी कह सकते हैं कि कई इतिहास बने, कई टूटे। लेकिन सच...

यूपी के मेडिकल कॉलेज में छात्रों को ‘हिंग्लिश’ में दी जाएगी शिक्षा

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ में लाला लाजपत राय मेमोरियल (एलएलआरएम) मेडिकल कॉलेज के फैकल्टी सदस्यों ने हिंदी और अंग्रेजी के मिश्रण 'हिंग्लिश' में एमबीबीएस छात्रों के नए बैच की...

मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा सबसे ज्यादा सफल रहेगी - कमलनाथ बुरहानपुर। मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा के स्वागत की तैयारियां पूरी कर ली गई है। यात्रा को...

editors

Read Previous

रिपोर्ट लीक होने का समय, संसद में व्यवधान, क्रोनोलॉजी समझिए : अमित शाह

Read Next

यूपी में स्वयं सहायता समूहों की महिलाएं ले रहीं मीटर रीडिंग, करा रहीं बिजली बिल का भुगतान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com