बीएचयू ने पहली बार गेहूं में आनुवंशिक प्राइमिंग का पता लगाया

नई दिल्ली:काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) स्थित वनस्पति विज्ञान विभाग के शोधकतार्ओं ने एक महत्वपूर्ण अध्ययन किया है। विभाग ने ट्राइकोडर्मा को एक प्राइमिंग एजेंट के रूप में पहचाना और पहली बार गेहूं में आनुवंशिक प्राइमिंग का पता लगाया। इस खोज को प्रतिष्ठित शोध पत्रिका (क्यू1), फ्रंटियर्स इन प्लांट साइंस (आईएफ 6.63)में प्रकाशित किया गया है।

विश्वविद्यालय के सहायक आचार्य डॉ. प्रशांत सिंह और उनके मार्गदर्शन में शोध कर रही छात्रा मेनका तिवारी तथा स्नातकोत्तर छात्र रजत सिंह इस नई खोज में शामिल रहे हैं। डॉ. सिंह ने बताया कि प्लांट डिफेंस प्राइमिंग एक जानबूझकर, विनियमित और ऑन-डिमांड रक्षात्मक रणनीति है क्योंकि पौधे को जानबूझकर तनाव की एक छोटी खुराक के अधीन किया जाता है जो रक्षा प्रतिक्रिया को तभी चालु करता है जब पौधे पर जीवाणु द्वारा हमला किया जाता है। ‘डिफेंस प्राइमिंग’ की अवधारणा उल्लेखनीय रूप से उसी तरह है जैसे मानव रोगों के लिए टीके विकसित किए जाते हैं। इस के तहत प्रतिरक्षा प्रणाली को यह एहसास कराया जाता है कि उस पर हमला हुआ है, जबकि वास्तव में ऐसा नहीं होता है। इसके परिणामस्वरूप एंटीबॉडी उत्पादन जैसे रक्षा प्रतिक्रियाएं आरंभ होती हैं। यह एक रक्षात्मक प्रवृत्ति स्थापित करता है। डॉ. सिंह के समूह ने इसे ‘हरित टीकाकरण’ का नाम दिया है। इस समूह की खोज में सबसे महत्वपूर्ण पहलु आनुवांशिक प्राइमिंग का पता लगाया जाना है, अर्थात यह क्षमता एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक भी पंहुचती है, जो कृषि उत्पादकता व गुणवत्ता के लिहाज से महत्वपूर्ण है।

शोध समूह ने पहली बार गेहूं की किस्म में एक प्राइमिंग एजेंट के रूप में ट्राइकोडर्मा का इस्तेमाल किया। टीम ने बताया कि प्राइमेड बीज बाइपोलारिस सोरोकिनियाना के कारण होने वाले स्पॉट-ब्लॉच रोग से अधिक सुरक्षित थे। एक बार इसके प्रयोग के बाद, गेहूं के पौधों के जीवन भर प्राइमिंग को बनाए रखी गई और अगली पीढ़ी को भी मिली। उन्होंने इसे ‘इंटरजेनरेशनल इम्यून प्राइमिंग’ का नाम दिया है। इस अध्ययन के निष्कर्ष स्थायी खाद्य सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि आईजीआईपी के एक कुशल समावेश से गरीब किसान अधिक प्रतिरोधी फसल किस्मों के अपने स्वयं के बीज भंडार एकत्र कर सकेंगे, जिससे उनका खाद्य उत्पादन कीटों और बीमारी के प्रकोप के प्रति कम संवेदनशील हो जाएगा।

विश्वविद्यालय का कहना है कि फसलों को खेतों में विभिन्न प्रकार की जैविक चुनौतियों कासामना करना पड़ता है, जिसकी वजह से अक्सर उपज पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। रिसर्च में जुटे छात्रों एवं प्रोफेसर के मुताबिक लगातार बढ़ती वैश्विक आबादी के वर्तमान परि²श्य में, फसल उत्पादकता को बढ़ाने और खाद्यान्न की मांग से जूझने के लिए स्थायी ²ष्टिकोण का उपयोग करके पौधों के स्वास्थ्य की रक्षा करने की तत्काल आवश्यकता है।

–आईएएनएस

केरल की ‘रोल मॉडल’ कार्तियानी अम्मा गुजारे के लिए कर रहीं संघर्ष

तिरुवनंतपुरम : भारत में गुरुवार को 74वां गणतंत्र दिवस मनाया गया। नारी शक्ति पुरस्कार की विजेता कार्तियानी अम्मा की केरल की झांकी ने नई दिल्ली में गणतंत्र दिवस परेड में...

निजी स्कूल में पढ़ रही दो बहनों में से एक की फीस देगी राज्य सरकार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि यदि दो बहनें किसी निजी स्कूल में पढ़ती हैं तो एक की फीस राज्य सरकार भरेगी। इसके लिए अगले...

सुखोई, राफेल सहित 45 लड़ाकू विमानों ने किया कर्तव्य पथ पर ‘फ्लाई पास्ट’

नई दिल्ली : गणतंत्र दिवस परेड का एक बड़ा रोमांच वायु सेना के जहाजों का फ्लाई पास्ट रहा। सुखोई और राफेल जैसे आधुनिकतम लड़ाकू विमान कर्तव्य पथ पर बेहतरीन फॉरमेशन...

479 कलाकारों ने भरा गणतंत्र दिवस परेड में रंग, अधिकांश झांकियों का शीर्षक ‘नारी शक्ति’

नई दिल्ली : दिल्ली में कर्तव्य पथ पर आई विभिन्न झांकियों में से अधिकांश का शीर्षक इस वर्ष 'नारी शक्ति' रहा। वंदे भारतम नृत्य प्रतियोगिता के माध्यम से चुने गए...

आरएसएस नेताओं की मुस्लिम बुद्धिजीवियों, उलेमाओं संग हुई बैठक; काशी-मथुरा, गौ-हत्या और काफिर शब्द पर हुई चर्चा

नई दिल्ली : देश के हिंदुओं और मुस्लिमों को एक मंच पर लाने की कवायद के तहत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा देश के मुस्लिम बुद्धिजीवियों के साथ संपर्क और संवाद...

इमारत गिरने के दौरान ‘डोरेमोन’ पाठ ने इस लड़के को बचाया

लखनऊ : छह साल का मुस्तफा लखनऊ में इमारत गिरने के हादसे में बाल-बाल बच गया, लेकिन उसने अपनी मां उजमा और दादी बेगम हैदर को खो दिया। बचे 14...

गणतंत्र दिवस पर बिजली कटौती मुक्त होगा उत्तर प्रदेश

लखनऊ:उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) के अवसर पर प्रदेश को विद्युत कटौती से मुक्त रखने का निर्देश दिया है। निर्देश के अनुसार...

बाबा बैद्यनाथ को न्योता देने उनकी ससुराल से देवघर पहुंचे डेढ़ लाख श्रद्धालु

देवघर:26 जनवरी को वसंत पंचमी पर जब पूरे देश में हर जगह देवी सरस्वती की पूजा-अर्चना होगी, तब झारखंड के देवघर में बाबा बैद्यनाथ का तिलक-अभिषेक करने के बाद लाखों...

महाराष्ट्र : पहली महिला दलित आत्मकथाकार शांताबाई के. कांबले का 99 की उम्र में निधन

पुणे:प्रख्यात लेखिका शांताबाई कृष्णाजी कांबले, जिन्हें पहली महिला दलित आत्मकथाकार के रूप में जाना जाता है, का यहां बुधवार सुबह 99 साल की उम्र में निधन हो गया। उनके एक...

अमेरिका भविष्य के मंगल अभियानों के लिए परमाणु इंजन का परीक्षण करेगा

लॉस एंजिलिस : नासा और यूएस डिफेंस एडवांस्ड रिसर्च प्रोजेक्ट्स एजेंसी (डीएआरपीए) ने अंतरिक्ष में एक परमाणु थर्मल रॉकेट इंजन का परीक्षण करने के लिए एक सहयोग की घोषणा की...

मेट्रो में मंजुलिका और मनी हाइस्ट के कॉस्ट्यूम पहने वीडियो आया सामने

नोएडा: नोएडा मेट्रो के अंदर का एक वीडियो सामने आया है। इसमें एक लड़की भूलभुलैया फिल्म की मंजुलिका जैसा कास्ट्यूम पहने हुए है और मेट्रो में सफर कर रहे मुसाफिरों...

जम्मू-कश्मीर में दूसरों के लिए प्रेरणा बन रही गांदरबल जिले की दो महिलाएं

श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर के युवा, खासकर महिलाएं अब स्वरोजगार में विश्वास करने लगी हैं। पिछले कुछ वर्षों में कई ऐसी महिलाएं सामने आई हैं जिन्होंने रूढ़ियों को तोड़कर अपने...

editors

Read Previous

पार्टी का नाम और चिन्ह फ्रीज करने के खिलाफ याचिका पर उद्धव ठाकरे को दिल्ली हाई कोर्ट से राहत नहीं

Read Next

‘एन्हांस’ सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला एआर, भारत में रीलों पर ‘श्रीवल्ली’ टॉप गीत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com