नासा ने अंतरिक्ष यात्रियों को चंद्रमा पर भेजने के मिशन को 2026 तक टाला

वाशिंगटन । अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने चंद्रमा पर उतारने के अपने मानवयुक्त आर्टेमिस मिशन को 2026 तक के लिए टाल दिया है, जो चंद्रमा की सतह पर पहली महिला और पहले अश्वेत व्यक्ति को भेजेगा।

नासा ने एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि उसने आर्टेमिस मिशन की समय सीमाओं में बदलाव किया है। अब आर्टेमिस 2 के लिए सितंबर 2025 को का लक्ष्य तय किया है, जिसमें अंतरिक्ष यात्री चंद्रमा की कक्ष में चक्कर लगाएँगे। आर्टेमिस 3 के लिए सितंबर 2026 का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के पास अंतरिक्ष यात्रियों को उतारने की योजना है।

चंद्रमा पर गेटवे अंतरिक्ष स्टेशन का पहला मिशन आर्टेमिस 4 के लिए 2028 के समय लक्ष्य में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

पहले आर्टेमिस 2 इस साल के अंत में होने वाला था।

नासा के प्रशासक बिल नेल्सन ने एक बयान में कहा कि उन्होंने आर्टेमिस 1 के बाद से बहुत कुछ सीखा है, और इन शुरुआती मिशनों की सफलता “हमारे सौर मंडल में मानवता के स्थान के बारे में हमारी पहुंच और समझ को आगे बढ़ाने के लिए हमारी वाणिज्यिक और अंतर्राष्ट्रीय साझेदारी” पर निर्भर करती है।”

अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि आर्टेमिस 2 के समय में बदलाव का कारण चालक दल की सुरक्षा सुनिश्चित करना है।

नासा ने कहा, “ओरियन अंतरिक्ष यान पर सवार चालक दल के साथ पहले आर्टेमिस उड़ान परीक्षण के रूप में, मिशन अंतरिक्ष यात्रियों का समर्थन करने के लिए आवश्यक महत्वपूर्ण पर्यावरण नियंत्रण और जीवन समर्थन प्रणालियों का परीक्षण करेगा।”

आर्टेमिस 1 के दौरान अंतरिक्ष यान की हीट शील्ड से चार परत के टुकड़ों की अप्रत्याशित हानि की नासा की जांच इस वसंत में समाप्त होने की उम्मीद है।

नासा ने कहा कि आर्टेमिस 3 के लिए नई समयरेखा, आर्टेमिस 2 के लिए अद्यतन कार्यक्रम के अनुरूप है, जो सुनिश्चित करती है कि एजेंसी आर्टेमिस 2 के सबक को अगले मिशन में शामिल कर सकती है।

वाशिंगटन में नासा मुख्यालय में एक्सप्लोरेशन सिस्टम डेवलपमेंट मिशन निदेशालय के एसोसिएट प्रशासक कैथरीन कोर्नर ने कहा, “हम भविष्य के चंद्रमा मिशनों के लिए जोखिम को कम करने के लिए आर्टेमिस 2 उड़ान परीक्षण और उसके बाद आने वाली प्रत्येक उड़ान का उपयोग करेंगे।”

नासा ने कहा कि उसने आर्टेमिस मानव लैंडिंग सिस्टम प्रदाताओं – स्पेसएक्स और ब्लू ओरिजिन – दोनों से कहा है कि वे अपने सिस्टम को विकसित करने में प्राप्त ज्ञान को अपने मौजूदा अनुबंधों के हिस्से के रूप में भविष्य के बदलावों के लिए लागू करना शुरू करें ताकि बाद के मिशनों पर संभावित रूप से बड़े कार्गो वितरित किए जा सकें।

नासा के चंद्रमा से मंगल कार्यक्रम कार्यालय के प्रबंधक अमित क्षत्रिय ने कहा “आर्टेमिस अंतरिक्ष यात्रियों के साथ चंद्रमा पर विज्ञान का संचालन करने और मंगल ग्रह पर भविष्य के मानव मिशन की तैयारी के लिए एक दीर्घकालिक अन्वेषण अभियान है। इसका मतलब है कि हमें अपनी मूलभूत प्रणालियों के विकास और उड़ान के समय इसे सही करना होगा ताकि हम इन मिशनों को सुरक्षित रूप से पूरा कर सकें।”

–आईएएनएस

विज्ञान और तकनीक को लेकर पीएम मोदी की अनोखी सोच

नई दिल्ली । आज राष्ट्रीय विज्ञान दिवस (नेशनल साइंस डे) है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट एक्स पर इसको लेकर पोस्ट लिखा है। उन्होंने इसमें...

चंद्रमा का अध्ययन करने के लिए तैयार नासा

वाशिंगटन । अंतरिक्ष एजेंसी नासा इस बात से उत्साहित है कि उसके विज्ञान उपकरण और प्रौद्योगिकी प्रदर्शन चंद्रमा की सतह पर ठीक से काम कर रहे हैं। इंट्यूएटिव मशीन्स का...

ईरान ने अंतरिक्ष में तीन सैटेलाइट्स किए लॉन्च

तेहरान । ईरान ने रविवार को कहा कि उसने अपने अंतरिक्ष इतिहास में पहली बार एक साथ तीन घरेलू विकसित सैटेलाइट्स को अंतरिक्ष में लॉन्च किया है। ईरानी छात्र समाचार...

ओपनएआई ने चीन में जीपीटी-6, जीपीटी-7 ट्रेडमार्क के लिए किया आवेदन : रिपोर्ट

हांगकांग । चैटजीपीटी डेवलपर ओपनएआई ने कथित तौर पर चीन में "जीपीटी-6" और "जीपीटी-7" ट्रेडमार्क के लिए आवेदन किया है। दरअसल, सैम ऑल्टमैन द्वारा संचालित कंपनी लार्ज लैंग्वेज मॉडल (एलएलएम)...

गूगल ड्राइव यूजर्स की फ़ाइलें गुम होने की रिपोर्ट, कंपनी कर रही जांच

सैन फ्रांसिस्को । गूगल ने कहा है कि वह गूगल ड्राइव उपयोगकर्ताओं की उन रिपोर्टों से संबंधित मुद्दे की जांच कर रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि उनकी...

क्या ‘गुप्त एआई प्रोजेक्ट’ ने ऑल्टमैन की बढ़ाई थी मुश्किल…?

नई दिल्ली । ओपनएआई की 'पराजय' ने एक बात साबित कर दी है, एआई उद्योग को विनियमित और तेज करने की जरूरत है। सैम ऑल्टमैन द्वारा संचालित चैटजीपीटी निर्माता में...

फेफड़ों के कैंसर के उच्च जोखिम की पहचान करेगा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस उपकरण : रिसर्च

न्यूयॉर्क । भारतीय मूल के एक शोधकर्ता सहित अन्‍य शोधकर्ताओं द्वारा किए गए शोध में यह बात सामने आई है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस उपकरण चेस्‍ट के एक्स-रे से बिना धूम्रपान...

चीनी कृषि वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, धान की नई किस्म की तैयार

बीजिंग । चीन में कृषि के क्षेत्र में लगातार नए प्रयोग हो रहे हैं, साथ ही तकनीक का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। जिसकी कृषि प्रधान देश चीन की...

विंडोज 11 में अब अधिक इनबॉक्स ऐप अनइंस्टॉल कर सकेंगे यूजर

सैन फ्रांसिस्को । माइक्रोसॉफ्ट विंडोज 11 के लिए एक अपडेट जारी करने की तैयारी कर रहा है, जो यूजरों को ज्‍यादा इनबॉक्स ऐप्स को अनइंस्टॉल करने की अनुमति देगा, जिससे...

एप्‍पल ने एम3 चिप्स के साथ नया ‘मैकबुक प्रो’ और ‘आईमैक’ लैपटॉप बाजार में उतारा

क्यूपर्टिनो: एप्पल ने अपना नया मैकबुक प्रो और 'आईमैक लैपटॉप नए एम3 चिपसेट के साथ बाजार में उतारा है। एम3 प्रो और एम3 मैक्स 14 और 16 इंच के मॉडल...

मानव अंतरिक्ष मिशन के लिए परीक्षण राकेट का सफल प्रक्षेपण

श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश) । भारत के मानव अंतरिक्ष मिशन/गगनयान के पहले रॉकेट हिस्सा - परीक्षण वाहन-डी1 (टीवी-डी1) का कुछ विलंब के बाद शनिवार सुबह 10 बजे सफल प्रक्षेेपण किया गया।...

अमेज़ॅन ने किफायती इंटरनेट प्रदान करने के लिए पहला कुइपर उपग्रह किया लॉन्च

सैन फ्रांसिस्को । अमेज़ॅन ने एलन मस्क के स्टारलिंक की तरह किफायती इंटरनेट प्रदान करने के उद्देश्य से अपने पहले दो कुइपर उपग्रहों को अंतरिक्ष में लॉन्च किया है। अमेज़ॅन...

admin

Read Previous

‘बिग बॉस 17’: अरुण की बेटी से लेकर अंकिता, विक्की की मां की एंट्री के चलते फैमिली वीक होगा जबरदस्त

Read Next

बेटी आइरा की मेहंदी समारोह में आमिर खान ने हथेली पर बनवाएं डिजाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com