जम्मू-कश्मीर: राजनीतिक भविष्य को तय करेगी परिसीमन आयोग की बैठक

30 जून 2021

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक के बाद बुधवार को हो रही जम्मू-कश्मीर परिसीमन आयोग की बैठक विशेष महत्व रखती है। 

सर्वदलीय बैठक के दौरान, विधानसभा चुनाव से पहले राज्य का दर्जा बहाल करने और कैदियों की रिहाई/स्थानांतरण जैसे मुद्दों पर मतभेदों के बावजूद, प्रतिभागी एक बात को लेकर एकमत रहे कि जम्मू-कश्मीर में जल्द से जल्द एक निर्वाचित सरकार होनी चाहिए।

मोदी ने प्रतिभागियों को आश्वासन दिया कि परिसीमन आयोग को अपनी प्रक्रिया को तेज करने के लिए कहा जाएगा, ताकि निर्वाचित प्रतिनिधि जम्मू-कश्मीर के मामलों को संभालने में सक्षम हों।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, जिन्होंने सर्वदलीय बैठक में भाग लिया था, ने सभी मुख्यधारा और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों के परिसीमन आयोग के विचार-विमर्श में शामिल होने के महत्व पर जोर दिया।

नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां), पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी), पीपुल्स कॉन्फ्रेंस (पीसी), जे एंड के अपनी पार्टी और अन्य क्षेत्रीय, घाटी केंद्रित दलों ने जम्मू-कश्मीर के दोनों क्षेत्रों में एक समान सौदा करने वाले परिसीमन आयोग के बारे में संदेह व्यक्त किया था।

घाटी में क्षेत्रीय दलों के नेताओं ने आशंका व्यक्त की है कि परिसीमन आयोग जम्मू क्षेत्र को और अधिक विधानसभा सीटों के आवंटन का समर्थन करेगा, जबकि सिफारिश की गई है कि घाटी में कुछ मौजूदा सीटों को अनुसूचित जाति, कश्मीरी पंडितों, पहाड़ी आदि के लिए आरक्षित किया जाना चाहिए।

इन दलों का विरोध यह रहा है कि इसका उद्देश्य शक्ति संतुलन को जम्मू संभाग में स्थानांतरित करना है।

वर्तमान में, जम्मू-कश्मीर विधानसभा में घाटी में 46 और जम्मू संभाग में 37 सीटें हैं।

जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने से पहले, विधानसभा में 87 सीटें थीं, जिसमें से 4 लद्दाख क्षेत्र से संबंधित थीं, जो अब जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश का हिस्सा नहीं है।

आयोग की अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) रंजना देसाई ने बुधवार की बैठक में जम्मू-कश्मीर के सभी मुख्यधारा और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया है।

आयोग की बैठक से इतर शोर मचाने के बजाय, क्षेत्रीय राजनीतिक दलों के लिए अपने निर्वाचन क्षेत्रों के हितों की रक्षा करने का सबसे अच्छा तरीका यह होगा कि वे बैठक में भाग लें और आंकड़ों के आधार पर अपने विचार रखें।

पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की अध्यक्षता वाली पीडीपी ने कहा है कि उनकी पार्टी आयोग के विचार-विमर्श में शामिल नहीं होगी, क्योंकि उसके पास लोकसभा या राज्यसभा में कोई निर्वाचित सदस्य नहीं है, जबकि जम्मू-कश्मीर विधानसभा पहले ही भंग हो चुकी है।

यह आशा की जा रही है कि अन्य सभी क्षेत्रीय दल जैसे नेकां, पीसी, अपनी पार्टी, जम्मू-कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी और मुख्यधारा की पार्टियां जैसे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), कांग्रेस, सीपीआई-एम और अन्य बुधवार की बैठक में शामिल हों, ताकि यह साबित हो सके कि जम्मू एवं कश्मीर के राजनीतिक क्षितिज पर पिघलना शुरू हो गया है। 

आखिरकार, कोई भी राजनीतिक दल, चाहे वह मुख्यधारा का हो या क्षेत्रीय हो, वह एक सरकार के गठन की दिशा में पहले संवैधानिक मील के पत्थर से दूर रहते हुए जम्मू-कश्मीर में एक निर्वाचित सरकार का प्रतिनिधि होने का दावा नहीं कर सकता है।

महरौली हत्याकांड: दिल्ली की अदालत ने आफताब को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने शनिवार को अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वॉकर की हत्या के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।...

अधिवक्ता नामांकन फॉर्म में मां के नाम की मांग को लेकर कलकत्ता हाईकोर्ट को मिली जनहित याचिका

कोलकाता: कलकत्ता उच्च न्यायालय की एक खंडपीठ को शनिवार को अधिवक्ता नामांकन फॉर्म में मां के नाम के प्रावधान को शामिल करने की मांग वाली एक याचिका मिली। याचिकाकर्ता मृणालिनी...

दिल्ली आबकारी नीति मामला: ईडी ने समीर महेंद्रू के खिलाफ दाखिल की चार्जशीट

नई दिल्ली: दिल्ली आबकारी नीति मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा अपनी पहली चार्जशीट दायर करने के एक दिन बाद, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को राउज एवेन्यू कोर्ट...

भारत ने इंडो-फ्रेंच सहयोगी ईओएस 6/ओशनसैट, 8 अन्य उपग्रहों की सफलतापूर्वक लॉन्चिंग की 

श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश): भारत ने शनिवार को इंडो-फ्रेंच ओशन ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट ईओएस 6 और आठ अन्य नैनो उपग्रहों को रॉकेट पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल पीएसएलवी-सी54 से सफलतापूर्वक कक्षा में स्थापित...

दिल्ली विश्वस्तरीय राजधानी बनेगी या हिंदू-मुस्लिम इलाकों में बांट दी जाएगी, भाजपा ने आप से पूछा सवाल

नई दिल्ली: दिल्ली नगर निगम चुनाव प्रचार अभियान के दौरान कांग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ मोहम्मद खान द्वारा दिल्ली के सब इंस्पेक्टर के साथ की गई बदतमीजी और उस इलाके...

26/11 आतंकी हमला : नर्ही सामने आई उच्चाधिकार प्राप्त जांच समिति की रिपोर्ट

मुंबई : मुंबई में 26 नवंबर, 2008 को 10 पाकिस्तानी बंदूकधारियों द्वारा 60 घंटे तक किए गए आतंकी हमले को आज 14 साल बीत चुके हैं, लेकिन एक उच्चाधिकार प्राप्त...

पीएसएलवी रॉकेट इंडो फ्रेंच सेटेलाइट ईओएस 6 और 8 नैनो सेटेलाइट्स के साथ लॉन्च

श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश) : भारत के ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान-सी54 (पीएसएलवी-सी54) ने शनिवार सुबह आंध्र प्रदेश में रॉकेट बंदरगाह से इंडो फ्रेंच अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट (ईओएस 6) और आठ नैनो...

सत्येंद्र जैन का एक और वीडियो आया सामने, भाजपा बोली- जेल में लग रहा शाही दरबार

नई दिल्ली : दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद केजरीवाल सरकार के मंत्री एवं आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता सत्येंद्र जैन का एक और वीडियो सामने आ गया है।...

बीएसएफ ने पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया

नई दिल्ली : सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने पाकिस्तान की नापाक साजिश को एक बार फिर विफल कर दिया। बीएसएफ जवानों ने पंजाब के अमृतसर की भारत-पाकिस्तान सीमा पर भारतीय...

राहुल और प्रियंका ने की नर्मदा आरती

खंडवा: भारत जोड़ो यात्रा पर निकले कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी बहन कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी ने ओम्कारेश्वर ज्योतिलिर्ंग की पूजा अर्चना की और नर्मदा तट...

आफताब को दोबारा पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए एफएसएल रोहिणी ले जाया गया

नई दिल्ली: आफताब अमीन पूनावाला, जिस पर अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वॉकर की हत्या करने और फिर उसके शरीर के कई टुकड़े करने का आरोप है, उसे शुक्रवार को फिर...

समलैंगिक विवाह को मान्यता देने की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया नोटिस

नई दिल्ली:सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को विशेष विवाह अधिनियम के तहत समलैंगिक विवाह को मान्यता देने की मांग वाली दो याचिकाओं पर केंद्र और अटॉर्नी जनरल को नोटिस जारी किया।...

Read Previous

जम्मू में सैन्य क्षेत्र में फिर देखे गए दो ड्रोन

Read Next

सीए परीक्षा:सुप्रीम कोर्ट ने कहा कोविड के नाम पर नियमों में बदलाव नहीं होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com