‘भारत जोड़ो’ मुहिम में जुटे राहुल नहीं बचा पा रहे कांग्रेस, पार्टी के नाव से उतर गए कई पूर्व सीएम

नई दिल्ली । एक तरफ कांग्रेस 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी में अपनी पूरी ताकत झोंक रही है। राहुल गांधी ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ लेकर देश में कांग्रेस की जमीन मजबूत करने निकल पड़े हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस के नाव की सवारी छोड़कर उनके ही वरिष्ठ नेता या तो भाजपा का दामन थाम ले रहे हैं या फिर अन्य पार्टी में चले जा रहे हैं।

मतलब साफ है कि कांग्रेस को झटके पर झटका उनकी पार्टी के नेता ही दे रहे हैं। चुनाव से ठीक पहले ही कांग्रेस के नेता पार्टी को छोड़ना शुरू कर देते हैं। कांग्रेस के कई पूर्व सीएम जैसे कि कैप्टन अमरिंदर सिंह, गुलाम नबी आजाद, एन. बिरेन सिंह, नारायण राणे, एसएम कृष्णा, शंकर सिंह वाघेला, पेमा खांडू और अशोक चव्हाण जैसे नेताओं का भी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से भरोसा समाप्त होता नजर आया।

कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता एक तरफ तो पार्टी छोड़ चुके हैं। वहीं, दूसरी तरफ कई बड़े नेताओं के पार्टी छोड़ने की अटकलें लगाई जा रही है। महाराष्ट्र में तो कांग्रेस को एक के बाद एक प्रदेश के तीन दिग्गज नेताओं ने झटका दिया है। सबसे पहले पार्टी से एक महीने पहले मिलिंद देवड़ा ने इस्तीफा दिया। इसके बाद 8 फरवरी को बाबा सिद्दीकी ने पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया और अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण भी कांग्रेस की नाव से उतर चुके हैं।

कांग्रेस के अंदर की अंतर्कलह आज से जारी नहीं है। राहुल गांधी के सबसे नजदीकी नेताओं में से जाने-जाने वाले नेता अब भाजपा के साथ हैं तो वहीं कांग्रेस में सोनिया गांधी के करीबी माने जाने वाले नेताओं में से रीता बहुगुणा जोशी, कैप्टन अमरिंदर सिंह और गुलाम नबी आजाद भी पार्टी का दामन छोड़ चुके हैं।

कांग्रेस से युवा नेताओं का भी मोह भंग होता जा रहा है। इसका उदाहरण मिलिंद देवड़ा, ज्योतिरादित्य सिंधिया, जितिन प्रसाद, अल्पेश ठाकोर, हार्दिक पटेल, सुष्मिता देव, प्रियंका चतुर्वेदी, आरपीएन सिंह, अशोक तंवर जैसे नेता हैं, जो कांग्रेस से अलग हो चुके हैं। वहीं, बिहार में अशोक चौधरी, असम के वर्तमान मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा, सुनील जाखड़ के साथ अश्वनी कुमार जैसे भी नेता हैं जो पार्टी के काम करने के तरीके से नाखुश होकर पार्टी का दामन छोड़ चुके हैं।

कांग्रेस ने पूरे देश में विपक्ष को एनडीए के खिलाफ इकट्ठा करने के लिए ‘इंडी’ गठबंधन तैयार की, तब उसे लगा था कि देश की सत्ता तक पहुंचने के लिए यह रास्ता आसान होगा। लेकिन, एक-एक कर इंडी गठबंधन से पार्टियां अलग होती चली गईं। सबसे पहले नीतीश कुमार जिन्होंने इस गठबंधन के लिए सबको इकट्ठा किया था भाजपा के साथ हो लिए। फिर ममता बनर्जी और अरविंद केजरीवाल को भी कांग्रेस का साथ रास नहीं आ रहा।

ममता कांग्रेस पर निशाना साध रही हैं तो अरविंद केजरीवाल जिस तरह से लोकसभा सीटों पर उम्मीदवार उतारने का दावा कर रहे हैं उससे साफ हो गया है कि वह एकला चलो रे की राह पर बढ़ रहे हैं। एनसीपी और शिवसेना टूटी और उनका नेतृत्व जिनके हाथ में है, वह कांग्रेस का विरोध करते रहे हैं।

अब कांग्रेस के 10 साल के समय को देखें तो आपको पता चल जाएगा कि एक तरफ पार्टी के शीर्ष नेतृत्व की तरफ से पार्टी की जमीन देश में मजबूत करने की कोशिश हो रही है, दूसरी तरफ पार्टी के दिग्गज और युवा नेताओं ने एक-एक कर पार्टी का साथ छोड़ दिया है।

इसमें जयवीर शेरगिल, हिमंता बिस्वा शर्मा, हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकोर, जितिन प्रसाद, मिलिंद देवड़ा, ज्योतिरादित्य सिंधिया, अनिल एंटनी, आरपीएन सिंह, सुनील जाखड़, अश्विनी कुमार, गुलाम नबी आजाद, कपिल सिब्बल, बाबा सिद्दीकी, अशोक चव्हाण, सुष्मिता देव, प्रियंका चतुर्वेदी, कैप्टन अमरिंदर सिंह, कुलदीप बिश्नोई, रिपुन बोरा, सुप्रिया एरोन, अदिति सिंह, इमरान मसूद, पीसी चाको, अशोक चौधरी, नारायण राणे, शंकर सिंह वाघेला, एन बिरेन सिंह, पेमा खांडू, जयंती नटराजन और अशोक तंवर जैसे नाम शामिल हैं। इसमें से बड़ी संख्या में नेताओं ने कांग्रेस को झटका देते हुए भाजपा का दामन थाम लिया।

कांग्रेस को छोड़ते समय इनमें से ज्यादातर नेताओं ने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व और खासकर राहुल गांधी पर उनकी अनदेखी के आरोप लगाए। इनमें से जिन्होंने भी भाजपा का दामन थामा, उन्हें भाजपा ने अपनी पार्टी में जगह भी दी। कांग्रेस ने आचार्य प्रमोद कृष्णम को बाहर का रास्ता दिखाया तो अब उनके भी भाजपा में शामिल होने की बात कही जा रही है। पार्टी के नेताओं के असंतोष पर ध्यान दें तो पता चलेगा कि बड़े-छोटे देशभर के हर प्रदेश से कुल मिलाकर 400 से ज्यादा की संख्या में अलग-अलग स्तर के नेता कांग्रेस का दामन छोड़ चुके हैं।

–आईएएनएस

चंद्रमा का अध्ययन करने के लिए तैयार नासा

वाशिंगटन । अंतरिक्ष एजेंसी नासा इस बात से उत्साहित है कि उसके विज्ञान उपकरण और प्रौद्योगिकी प्रदर्शन चंद्रमा की सतह पर ठीक से काम कर रहे हैं। इंट्यूएटिव मशीन्स का...

अमित शाह और जेपी नड्डा ने की यूपी नेताओं संग बैठक, सीएम योगी और दोनों डिप्टी सीएम भी रहे मौजूद

नई दिल्ली । भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को उत्तर प्रदेश भाजपा कोर ग्रुप के नेताओं के साथ बैठक कर लोकसभा चुनाव...

हरित ऊर्जा आधारित बेड़े के विस्तार के लिए संयुक्त उद्यम बना सकते हैं अदाणी समूह और उबर

नई दिल्ली । सरकार के हरित ऊर्जा लक्ष्यों को आगे बढ़ाते हुए अडाणी समूह और उबर जल्द ही एक संयुक्त उद्यम (जेवी) की घोषणा कर सकते हैं, जो वैश्विक राइड...

मध्य गाजा पट्टी पर इजरायली हमले में 22 की मौत

गाजा, 24 फरवरी (आईएएनएस)। मध्य गाजा पट्टी में एक घर पर इजरायली हवाई हमले में 22 फिलिस्तीनियों की मौत हो गई और अन्य घायल हो गए। दीर अल-बलाह का यह...

दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया-रूस सैन्य सहयोग पर जताई चिंता

वाशिंगटन, 24 फरवरी (आईएएनएस)। दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्री चो ताए-यूल ने उत्तर कोरिया और रूस के बीच बढ़ते सैन्य सहयोग पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि इससे...

अनुराग ठाकुर की किसानों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- सरकार सदैव बातचीत के लिए तैयार

नई दिल्ली । केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने गुरुवार को प्रदर्शन कर रहे किसानों से शांति बनाए रखने की अपील की। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सभी...

किसानों के विरोध मार्च के कारण दिल्ली में सुस्त पड़ी यातायात की रफ्तार

नई दिल्ली । हरियाणा और उत्तर प्रदेश के साथ सीमा पर दिल्ली के प्रवेश और निकास बिंदुओं पर बुधवार को ट्रैफिक जाम देखा गया। किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च को...

बेट द्वारका तक राह आसान करने वाले ब्रिज का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी, जानिए इसकी खासियत

नई दिल्ली । 978 करोड़ रुपये की लागत से गुजरात में बने ओखा-बेट सिग्नेचर ब्रिज का उद्घाटन 25 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इस सिग्नेचर ब्रिज की लंबाई 2.5...

महाराष्ट्र विधानसभा ने सर्वसम्मति से 10 प्रतिशत मराठा कोटा विधेयक किया पारित

मुंबई । महाराष्ट्र विधानसभा ने मंगलवार को यहां शिक्षा और सरकारी नौकरियों में समुदाय को 10 प्रतिशत कोटा देने वाले मराठा आरक्षण विधेयक को सर्वसम्मति से पारित कर दिया। विधेयक...

सोशल मीडिया पोस्ट में सिखों को मुसलमानों के साथ भ्रमित करने के लिए यूके विश्वविद्यालय की आलोचना

लंदन । ब्रिटेन में सिख समुदाय के सदस्यों ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में उन्हें मुसलमानों के साथ भ्रमित करने के लिए बर्मिंघम विश्वविद्यालय की आलोचना की है और कहा...

न्यूरालिंक ब्रेन चिप प्रत्यारोपित पहला शख्स केवल सोच कर माउस को नियंत्रित करने में सक्षम : मस्क

नई दिल्ली । एलन मस्क ने कहा है कि उनकी ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफ़ेस कंपनी न्यूरालिंक की ओर से ब्रेन चिप प्रत्यारोपित पहला मानव पूरी तरह से ठीक हो गया है और...

अमेरिकी सीनेट द्वारा इज़राइल के लिए 14 अरब डॉलर के सहायता पैकेज को मंजूरी की ईरान ने की निंदा

तेहरान । ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नासिर कनानी ने इजरायल के लिए 14 अरब डॉलर के सहायता पैकेज को मंजूरी देने के लिए अमेरिकी सीनेट की निंदा की...

admin

Read Previous

पेशाब गेट विवाद: शंकर मिश्रा ने वेल्स फ़ार्गो पर किया केस, मामले की सुनवाई 14 को

Read Next

कोटा में एक और छात्र ने दी जान, इस साल चौथी आत्महत्या

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com