दिल्ली और हरियाणा में डायबिटीज के सबसे कम मामले

नई दिल्ली: हरियाणा, दिल्ली और असम के लोगों में डायबिटीज के मामले सबसे कम हैं, जबकि कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में सबसे ज्यादा हैं। अग्रणी हेल्थ टेक फर्म हेल्थियंस द्वारा किए गए एक बड़े अध्ययन में यह बात सामने आई है। हेल्थियंस घर बैठे स्वास्थ्य जांच की सुविधा देते हुए प्रिवेंटिव हेल्थ टेस्ट के मामले में अग्रणी कंपनी है।

पिछले कुछ महीनों में देश के 86 शहरों एवं कस्बों में 52 लाख लोगों के ब्लड टेस्ट के आंकड़ों के माध्यम से ‘हेल्थियंस डायबिटीज स्टडी’ को अंजाम दिया गया है। यह भारत में अपनी तरह का सबसे बड़ा डाटा एनालिसिस है, जिसमें डायबिटीज से जुड़े मानकों का विश्लेषण किया गया है। किसी शहर में कम स्कोर का मतलब वहां डायबिटीज के ज्यादा मामले पाए गए हैं।

हरियाणा के रोहतक ने 6.7 के स्कोर के साथ इस सूची को टॉप किया है यानी यहां डायबिटीज के मामले सबसे कम हैं। 6.6 के स्कोर के साथ हरियाणा का बहादुरगढ़ दूसरे स्थान पर रहा। नोएडा (6.4), ग्रेटर नोएडा (6.4) और गुरुग्राम (6.4) भी शीर्ष पांच शहरों में हैं। कर्नाटक का मैसुरु 3.6 के स्कोर के साथ सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला शहर रहा। गुंटूर (3.7), तिरुपति (3.9), विजयवाड़ा (4.0) और वारंगल (4.3) सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले पांच राज्यों में से हैं।

कुछ हफ्ते पहले हेल्थियंस ने दिल की सेहत को लेकर भी अध्ययन के नतीजे जारी किए थे। डायबिटीज पर किए गए अध्ययन के नतीजे भी बताते हैं कि दिल की बीमारियों की तरह ही डायबिटीज के मामले में भी दक्षिण के राज्य उत्तर के मुकाबले ज्यादा खराब स्थिति में हैं। डायबिटीज और दिल की सेहत का आपस में गहरा संबंध रहता है।

हेल्थियंस की डायबिटीज स्टडी में फास्टिंग ब्लड ग्लूकोज के साथ-साथ एचबीए1सी के नतीजों का भी विश्लेषण किया गया। फास्टिंग ग्लूकोज से जांच के दिन ब्लड शुगर के स्तर का पता चलता है। वहीं एचबीए1सी यानी हीमोग्लोबिन ए1सी जांच से पिछले 10 से 12 हफ्ते के दौरान औसत ब्लड शुगर का पता लगता है। इस जांच को ग्लाइकोसिलेटेड हीमोग्लोबिन भी कहते हैं।

डायबिटीज तब होती है, जब शरीर पर्याप्त इंसुलिन बनाने में सक्षम नहीं रह जाता है। इससे शरीर में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ने लगता है। आलस वाली जीवनशैली, ज्यादा कैलोरी, ज्यादा वसा, ज्यादा मीठा, ज्यादा शराब पीने, मोटापा, उम्र और परिवार में पहले से किसी को डायबिटीज होने जैसे कुछ कारण हैं, जिनसे कोई डायबिटीज का शिकार हो सकता है।

डायबिटीज एक लगातार बढ़ने वाला डिसऑर्डर है, जिससे आगे चलकर दिल की बीमारियों, स्ट्रोक, और हाई बीपी जैसी परेशानियां भी होने का खतरा रहता है, जो कि अंतत: परिवार, समाज, स्वास्थ्य व्यवस्था और देश पर दबाव बढ़ाते हैं। डायबिटीज को लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारी भी कहा जाता है। खराब खानपान, मोटापा और पर्याप्त व्यायाम नहीं करना जैसी आदतें इसका खतरा बढ़ा देती हैं। हेल्थियंस के संस्थापक एवं सीईओ दीपक साहनी ने कहा, ‘डायबिटीज को साइलेंट किलर कहा जाता है, क्योंकि डायबिटीज के शिकार बहुत से लोगों को तब तक इसका पता नहीं चल पाता है, जब तक कि स्वास्थ्य पर कोई गंभीर प्रभाव न दिखने लगे। समय-समय पर खून की जांच कराते रहना इस खतरे के बारे में जानने का सस्ता और आसान तरीका है।’

नतीजों में यह भी सामने आया कि जो लोग नियमित तौर पर कुछ हफ्ते या महीने में जांच कराते रहते हैं, उनके डायबिटीज के स्तर में गिरावट देखी गई। नियमित जांच कराने वालों में 61 प्रतिशत लोगों के फास्टिंग ग्लूकोज और 54 प्रतिशत लोगों के एचबीए1सी के स्तर में सुधार देखा गया। इससे यह भी पता चलता है कि जो लोग नियमित तौर पर जांच कराते हैं, वह स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा सचेत होते हैं और बचाव के कदम उठाते हैं। दीपक ने आगे कहा, ‘यह देखकर खुशी हो रही है कि बार-बार स्वास्थ्य जांच कराने वालों की रिपोर्ट बेहतर हुई है। इससे उसी बात की पुष्टि होती है, जो हम वर्षों से कह रहे हैं कि स्वस्थ जीवनशैली की ओर भारतीयों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रिवेंटिव टेस्टिंग अच्छा कदम हो सकती है।’

अध्ययन के मुताबिक, महिलाओं की तुलना में पुरुषों में डायबिटीज के मामले ज्यादा देखे गए। 46 प्रतिशत पुरुषों में शुगर का स्तर सामान्य से अलग पाया गया। वहीं 40 प्रतिशत महिलाओं में स्तर सामान्य से अलग मिला।

उम्र के हिसाब से तुलना करें तो 60 से 70 साल की उम्र वालों में सबसे ज्यादा (68 प्रतिशत) लोगों में शुगर का स्तर सामान्य से अलग मिला। 70 से 80 आयु वर्ग में 67 प्रतिशत और 50 से 60 आयु वर्ग में 63 प्रतिशत और 80 से ज्यादा के आयु वर्ग में 61 प्रतिशत लोगों में शुगर का स्तर सामान्य से अलग पाया गया। इससे यह पता चलता है कि कैसे बढ़ती उम्र के साथ सेहत संबंधी परेशानियां भी बढ़ती हैं। हालांकि 10 से 20 के आयु वर्ग में 10 प्रतिशत और 20 से 30 आयु वर्ग में 15 प्रतिशत लोगों में शुगर का स्तर सामान्य से अलग मिलना वास्तव में चिंता की बात है।

यह भी ध्यान देने की बात है कि ये आंकड़े उन लोगों के हैं, जिन्होंने जांच कराई है। निश्चित तौर पर इनमें से बहुत से लोगों ने डॉक्टर की सलाह पर जांच कराई होगी। इसलिए पूरी आबादी में स्थिति इससे भी ज्यादा गंभीर हो सकती है।

———इंडिया न्यूज़ स्ट्रीम

पीएम मोदी पर शशि थरूर का बड़ा हमला : ‘विकास का उदाहरण एक मंदिर है तो आप विकास का मतलब नहीं समझते’

जालंधर । कांग्रेस नेता शशि थरूर शनिवार को पंजाब के जालंधर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी चरणजीत सिंह चन्नी के पक्ष में मतदान करने की अपील की। वहीं, एक...

प्रधानमंत्री मोदी के बयान पर तेजस्वी बोले, बिहारी कभी भी गुजराती से नहीं डरता, भगवान कृष्ण का जन्म जेल में ही हुआ था

पटना । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'नौकरी के बदले जमीन लेने वालों का काउंटडाउन शुरू' वाले बयान पर राजद नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहारी कभी...

हिरासत में युवक की मौत पर सीएम ने पुलिसकर्मियो को निलंबित करने का दिया निर्देश

मैसूरु, (कर्नाटक) । कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने पुलिस हिरासत में युवक की मौत के मामले में शनिवार को एक पुलिस उपाधीक्षक (डिप्टी एसपी) और पुलिस निरीक्षक को निलंबित करने...

राजकोट में टीआरपी मॉल के गेमिंग जोन में लगी भीषण आग, 17 की मौत, कई लोगों के फंसे होने की आशंका

राजकोट । गुजरात के राजकोट जिले के कालावड में शनिवार की शाम आग लगने की एक बड़ी घटना सामने आई है। जानकारी के अनुसार सयाजी होटल के पीछे बने टीआरपी...

बिहार की सियासत में अब ‘ट्रेंड’ का प्रवेश, तेजस्वी व चिराग आमने-सामने

पटना । लोकसभा चुनाव के तहत शनिवार को छठे चरण का चुनाव होना है। इसके एक दिन पहले शुक्रवार को यहां की सियासत में 'ट्रेंड' को लेकर राजद के नेता...

देश के युवाओं में बढ़ रहा हाइपरटेंशन : एम्स

नई दिल्ली । अगर आप भी हाइपरटेंशन बीमारी के शिकार हैं, तो आज ही अपना चेकअप करवा लें, क्योंकि यह गंभीर बीमारी आपके लिए खतरे की घंटी हो सकती है।...

पोर्शे दुर्घटना : पुणे के बिल्डर विशाल अग्रवाल 14 दिन की न्यायिक हिरासत में

पुणे । पुणे के बिल्डर विशाल एस. अग्रवाल को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। अग्रवाल को नाबालिग बेटे द्वारा पोर्शे कार चलाते हुए दुर्घटना के सिलसिले...

पहली बार सुल्तानपुर की जनसभा में नजर आए वरुण गांधी, मां मेनका के समर्थन में मांगे वोट, हुए भावुक

नई दिल्ली । भाजपा नेता वरुण गांधी गुरुवार को सुल्तानपुर से भाजपा प्रत्याशी अपनी मां मेनका गांधी के लिए चुनाव प्रचार करने पहुंचे। टिकट कटने के बाद पहली बार वह...

ठाणे में केमिकल फैक्ट्री में विस्फोट के बाद लगी आग, 6 की मौत और 48 घायल

ठाणे (महाराष्ट्र) । ठाणे के डोंबिवली में एमआईडीसी परिसर में स्थित एक केमिकल फैक्ट्री में गुरुवार को तीन विस्फोटों के बाद भीषण आग लग गई। इस घटना में छह लोगों...

बांग्लादेश के सांसद की मौत के मामले में कैब ड्राइवर हिरासत में

कोलकाता । पश्चिम बंगाल पुलिस की आपराधिक जांच (सीआईडी) एजेंसी ने कोलकाता के न्यू टाउन के पॉश आवासीय परिसर में किराए के फ्लैट में रहने वाले बांग्लादेश के सांसद अनवारुल...

शरीफ सरकार के लिए मुश्किलें बढ़ीं, विपक्ष की इस्लामाबाद तक लंबे मार्च की योजना

इस्लामाबाद । पाकिस्तान में शहबाज शरीफ सरकार के लिए कठिन समय आने वाला है। देश में एक बड़ा विपक्षी गठबंधन बन रहा है। यह बड़े पैमाने पर रैलियां, विरोध प्रदर्शन...

सुप्रीम कोर्ट ने पीएफआई के आठ संदिग्धों की जमानत रद्द की

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को मद्रास हाई कोर्ट के उस फैसले को पलट दिया जिसमें प्रतिबंधित पीएफआई के आठ संदिग्ध सदस्यों को जमानत दे दी गई थी।...

editors

Read Previous

केजरीवाल ने आईबी रिपोर्ट का दिया हवाला, बोले- ‘आप गुजरात में सरकार बनाएगी’

Read Next

विजय सेतुपति की अगली फिल्म ‘गांधी वार्ता’ होगी बेआवाज

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com