मप्र कांग्रेस में समीकरण बदलने के आसार

भोपाल: कांग्रेस में राष्ट्रीय स्तर पर चल रही गतिविधियों के बीच मध्य प्रदेश में भी कांग्रेस के भीतर समीकरण बदलने के आसार बनने लगे हैं। इसकी वजह ये है कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की सक्रियता तेजी से बढ़ी है और उनके राज्य के विभिन्न हिस्सों में दौरे भी होने लगे हैं।

कांग्रेस में कई राज्यों में खींचतान का दौर जारी है और गांधी परिवार के खिलाफ आवाजें उठी हैं। इसके साथ ही पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के विश्वस्त अहमद पटेल का निधन हो चुका है। इन हालातों में पार्टी के भीतर समन्वय बनाने की कोशिश जारी है। इसी क्रम में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के अनुभव और प्रभाव का पार्टी उपयोग करना चाह रही है। यही कारण है कि कमलनाथ की दिल्ली में सक्रियता बढ़ गई है और उन पर समन्वय की जिम्मेदारी भी पार्टी सौंप रही है। कुल मिलाकर कमलनाथ पार्टी के संकटमोचक की भूमिका में हो सकते हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की दिल्ली में बढ़ती सक्रियता के बीच मध्यप्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह सक्रिय हो चले हैं। बीते एक पखवाड़े में दिग्विजय सिंह कई जिलों का न केवल दौरा कर चुके हैं, बल्कि सड़क पर भी उतरने से नहीं चूके हैं । इसके अलावा शिवराज सरकार को घेरने की कोशिश में लगे हैं और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र भी लिख चुके हैं।

राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि दिग्विजय सिंह राज्य के 10 साल मुख्यमंत्री रहे हैं जिसके चलते उनके पास अपने समर्थकों की टीम रही है। यही कारण है कि वर्ष 2018 में हुए विधानसभा के चुनाव के दौरान उन्हें पार्टी ने समन्वय की जिम्मेदारी सौंपी थी। पार्टी को परिणाम भी सकारात्मक मिले मगर पार्टी सत्ता पर महज 15 माह ही काबिज रह पाई, सरकार गिरने और ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़ने की बड़ी वजह भी दिग्विजय सिंह को ही माना जाता है। ऐसे में कमल नाथ मध्य प्रदेश छोड़ंेगे, ये बड़ा सवाल है, क्योंकि उन्होंने भी पूरे राज्य में अपनी टीम बना ली है ।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का कहना है कि कमल नाथ पहले महाकौशल तक के नेता माने जाते थे, मगर सत्ता में आने और सत्ता से बाहर होने के बाद उनकी सक्रियता बढ़ी है, जनता में स्वीकार्यता भी बढ़ी है। इसका उदाहरण उप-चुनाव में ग्वालियर-चंबल इलाके के टिकटों का वितरण और विंध्य क्षेत्र में अपनी पसंद के नेता चौधरी राकेश सिंह चतुवेर्दी को जिम्मेदारी देना है। इससे कई नेताओं केा अपना भविष्य सताने लगा है लिहाजा अन्य नेताओं केा सक्रियता तो दिखाना ही पड़ेगी, लड़ाई जो अस्तित्व की है ।

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अजय सिंह यादव का कहना है कि कमल नाथ पार्टी के नेता है, दिग्विजय सिंह भी उन्हें अपना नेता मानते है। पार्टी के लिए हर नेता काम करता है, दिग्विजय सिंह समन्वय बनाने में सक्षम है। यही कारण है कि उन्हें जिम्मेदारी भी सौंपी जाती रही है। उनके दौरों और सक्रियता के कोई मायने नहीं खोजे जाने चाहिए, वे हमेशा पार्टी की मजबूती के लिए काम करते है।

–आईएएनएस

मैनपुरी में डिंपल यादव की दो लाख 88 हजार 461 मतों से जीत

उत्तर प्रदेश: मैनपुरी विधानसभा सीट से भारी मतों के साथ समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी डिंपल यादव ने मैनपुरी का चुनाव जीत लिया है जहां पर विपक्ष के रघुराज शाक्य को...

कोटा की सड़कों पर उतरे छात्रों को  राहुल गॉधी ने कहा   आई लव यू

कोटा। कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा' इन दिनों राजस्थान में है। यात्रा के 92वें दिन गुरुवार को राजस्थान के कोटा शहर से राहुल गांधी ने पदयात्रा शुरू की। यात्रा के...

कर्नाटक: परिवहन का खर्च वहन करने में असमर्थ व्यक्ति ने पत्नी के शव को कंधे पर उठाया

चामराजनगर: कर्नाटक के चामराजनगर जिले में बुधवार को एक व्यक्ति द्वारा अपनी पत्नी के शव को बोरे में रखकर कंधे पर ले जाने की दिल दहला देने वाली घटना सामने...

शिकारियों ने बाघ की हत्या की, फंदे से लटका मिला शव

पन्ना। टाइगर स्टेट मध्य प्रदेश में टाइगर हंट की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। आए दिन यहां बाघों की संदिग्ध मौत हो रही है। बुधवर सुबह पन्ना...

दिल्ली के लाल-अरविंद केजरीवाल, भाजपा को ललकार

नई दिल्ली: दिल्ली नगर निगम के 250 वार्डों के लिए मतगणना पूरी हो गई है। आम आदमी पार्टी ने बहुमत हासिल कर लिया है। आप के 134 उम्मीदवारों ने जीत...

जेएनयू के पूर्व कुलपति और पूर्व केंद्रीय मंत्री वाई के अलघ नहीं रहे

अहमदाबाद । योजना आयोग के पूर्व सदस्य सुप्रसिद्ध अर्थ शास्त्री एवं जवाहरलाल नेहरू विश्विद्यालय के पूर्व कुलपति योगेंद्र कुमार अलघ का कल रात यहांअपने निवास पर निधन हो गया।वह 83...

ट्रंप ने राष्ट्रपति रहते देवू से मिले 1.98 करोड़ डॉलर के कर्ज के बारे में खुलासा नहीं किया

वाशिंगटन : अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सार्वजनिक रूप से यह खुलासा नहीं किया कि उन्हें उत्तर कोरिया से जुड़ी कंपनी देवू से 19.8 मिलियन डॉलर का कर्ज...

हिमाचल में कांग्रेस नए विधायकों को खरीद-फरोख्त से बचाने की तैयारी में

नई दिल्ली: हिमाचल विधानसभा चुनाव में बहुमत हासिल करने को लेकर आश्वस्त कांग्रेस निर्वाचित होने वाले विधायकों को खरीद-फरोख्त से बचाने की तैयारी कर रही है। पार्टी ने अपने विधायकों...

पाकिस्तान वित्तीय आपातकाल में

इस्लामाबाद: पाकिस्तान बिजनेस फोरम (पीबीएफ) ने कहा कि पाकिस्तानी रुपये की लगातार गिरावट देश में आर्थिक संकट को गहरा रही है। पीबीएफ के सीईओ अहमद जवाद ने एक बयान में...

बाबरी मस्जिद के ढहाए जाने के बाद बढ़ा आतंक और दंगा

मुंबई: भारत में आज अयोध्या में बाबरी मस्जिद को गिराए जाने की 30वीं वर्षगांठ है। इसने व्यावहारिक रूप से देश के राजनीतिक परि²श्य को हमेशा के लिए बदल दिया। बाबरी...

अफगानिस्तान में आतंकी नेटवर्क बना रहना चिंता का विषय : अजीत डोभाल

नई दिल्ली : भारत पहली बार मंगलवार को कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों के एक सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है। इस सम्मेलन में अफगानिस्तान में...

इस बार पीएम से अलग से मिलने की कोई संभावना नहीं : ममता

कोलकाता:पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि वह अपनी दिल्ली यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री से अलग से नहीं मिलेंगी। मुख्यमंत्री ने सोमवार दोपहर राष्ट्रीय राजधानी के लिए...

editors

Read Previous

प्रधानमंत्री मोदी ने विश्व युवा कौशल दिवस पर किया युवाओं को संबोधित किया

Read Next

बेंगलुरु में कर्नाटक पुलिस ने विदेशी नागरिकों के घरों पर की छापेमारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com