मप्र कांग्रेस में समीकरण बदलने के आसार

भोपाल: कांग्रेस में राष्ट्रीय स्तर पर चल रही गतिविधियों के बीच मध्य प्रदेश में भी कांग्रेस के भीतर समीकरण बदलने के आसार बनने लगे हैं। इसकी वजह ये है कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की सक्रियता तेजी से बढ़ी है और उनके राज्य के विभिन्न हिस्सों में दौरे भी होने लगे हैं।

कांग्रेस में कई राज्यों में खींचतान का दौर जारी है और गांधी परिवार के खिलाफ आवाजें उठी हैं। इसके साथ ही पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के विश्वस्त अहमद पटेल का निधन हो चुका है। इन हालातों में पार्टी के भीतर समन्वय बनाने की कोशिश जारी है। इसी क्रम में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के अनुभव और प्रभाव का पार्टी उपयोग करना चाह रही है। यही कारण है कि कमलनाथ की दिल्ली में सक्रियता बढ़ गई है और उन पर समन्वय की जिम्मेदारी भी पार्टी सौंप रही है। कुल मिलाकर कमलनाथ पार्टी के संकटमोचक की भूमिका में हो सकते हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की दिल्ली में बढ़ती सक्रियता के बीच मध्यप्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह सक्रिय हो चले हैं। बीते एक पखवाड़े में दिग्विजय सिंह कई जिलों का न केवल दौरा कर चुके हैं, बल्कि सड़क पर भी उतरने से नहीं चूके हैं । इसके अलावा शिवराज सरकार को घेरने की कोशिश में लगे हैं और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र भी लिख चुके हैं।

राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि दिग्विजय सिंह राज्य के 10 साल मुख्यमंत्री रहे हैं जिसके चलते उनके पास अपने समर्थकों की टीम रही है। यही कारण है कि वर्ष 2018 में हुए विधानसभा के चुनाव के दौरान उन्हें पार्टी ने समन्वय की जिम्मेदारी सौंपी थी। पार्टी को परिणाम भी सकारात्मक मिले मगर पार्टी सत्ता पर महज 15 माह ही काबिज रह पाई, सरकार गिरने और ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़ने की बड़ी वजह भी दिग्विजय सिंह को ही माना जाता है। ऐसे में कमल नाथ मध्य प्रदेश छोड़ंेगे, ये बड़ा सवाल है, क्योंकि उन्होंने भी पूरे राज्य में अपनी टीम बना ली है ।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का कहना है कि कमल नाथ पहले महाकौशल तक के नेता माने जाते थे, मगर सत्ता में आने और सत्ता से बाहर होने के बाद उनकी सक्रियता बढ़ी है, जनता में स्वीकार्यता भी बढ़ी है। इसका उदाहरण उप-चुनाव में ग्वालियर-चंबल इलाके के टिकटों का वितरण और विंध्य क्षेत्र में अपनी पसंद के नेता चौधरी राकेश सिंह चतुवेर्दी को जिम्मेदारी देना है। इससे कई नेताओं केा अपना भविष्य सताने लगा है लिहाजा अन्य नेताओं केा सक्रियता तो दिखाना ही पड़ेगी, लड़ाई जो अस्तित्व की है ।

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अजय सिंह यादव का कहना है कि कमल नाथ पार्टी के नेता है, दिग्विजय सिंह भी उन्हें अपना नेता मानते है। पार्टी के लिए हर नेता काम करता है, दिग्विजय सिंह समन्वय बनाने में सक्षम है। यही कारण है कि उन्हें जिम्मेदारी भी सौंपी जाती रही है। उनके दौरों और सक्रियता के कोई मायने नहीं खोजे जाने चाहिए, वे हमेशा पार्टी की मजबूती के लिए काम करते है।

–आईएएनएस

बिहार में दूसरे चरण का चुनाव नीतीश के लिए अग्नि परीक्षा से कम नहीं

पटना । बिहार में लोकसभा चुनाव 2024 के दूसरे चरण का चुनाव मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार के लिए अग्नि परीक्षा से कम नहीं माना जा रहा...

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में बंगाल के रायगंज में सीएपीएफ की सबसे अधिक होगी तैनाती

कोलकाता । पश्चिम बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर जिले के रायगंज लोकसभा क्षेत्र में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) कर्मियों की सबसे अधिक तैनाती होगी, जहां 26 अप्रैल को दूसरे चरण...

रांची में इंडिया गठबंधन की न्याय उलगुलान महारैली आज, नेताओं-कार्यकर्ताओं के पहुंचने का सिलसिला शुरू

रांची । रांची में रविवार को होने वाली इंडिया गठबंधन की महारैली के लिए नेताओं-कार्यकर्ताओं और समर्थकों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। झारखंड मुक्ति मोर्चा की मेजबानी...

यूपी के इस गांव को 76 साल बाद मिला नल का पानी

मिर्जापुर (उत्तर प्रदेश) । उत्तर प्रदेश के एक गांव में पिछले साल अगस्त में गर्मियों में छह वर्षीय शिवांश ने पहली बार पानी में उछल-कूद की और खुशी का अनुभव...

झारखंड में 10वीं बोर्ड का रिजल्ट जारी, 90.39 फीसदी परीक्षार्थी उत्तीर्ण

रांची । झारखंड में 10वीं बोर्ड का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। परीक्षा में कुल 90.39 फीसदी परीक्षार्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए हैं। झारखंड एकेडमिक काउंसिल के ऑफिस में...

बसपा ने 11 उम्मीदवार किए घोषित, वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ बदला प्रत्याशी

लखनऊ । लोकसभा चुनाव के लिए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने शुक्रवार को 11 उम्मीदवारों की एक और सूची जारी कर दी। बसपा ने वाराणसी से पीएम नरेंद्र मोदी के...

सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव की याचिका पर सुनवाई की स्थगित

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को योग गुरु बाबा रामदेव की उस याचिका पर सुनवाई स्थगित कर दी, जिसमें कोविड-19 महामारी के दौरान एलोपैथिक दवाओं के इस्तेमाल के...

विदिशा सीट से शिवराज सिंह चौहान ने दाखिल किया नामांकन

रायसेन । मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रायसेन कलेक्ट्रेट पहुंचकर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इस दौरान उनके साथ उनकी धर्मपत्नी, चुनाव प्रभारी महेंद्र सिंह, सांसद...

हम ना कभी आरक्षण के साथ छेड़खानी करेंगे, ना किसी को करने देंगे : गृह मंत्री अमित शाह

गांधीनगर । केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को लोकसभा चुनाव के लिए गुजरात की गांधीनगर सीट से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। नामांकन करने के बाद अमित शाह...

चुनाव में राजनीतिक दलों के खर्च की अधिकतम सीमा तय हो।सी ए जी से ऑडिट हो आर टी आई के दायरे में दलों को लाया जाए –पूर्व चुनाव आयुक्त अशोक लवासा

नई दिल्ली । पूर्व चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने चुनाव में राजनीतिक दलों के खर्चे पर अंकुश लगाने के लिए अधिकतम खर्च की एक सीमा तय करने और उन्हें आरटीआई...

सपा-बसपा और कांग्रेस के लोग चलाते थे दंगा पॉलिसी : सीएम योगी

बुलंदशहर । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुलंदशहर के सिकंदराबाद में आयोजित जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने गौतम बुद्ध नगर से भाजपा प्रत्याशी डॉ. महेश शर्मा...

सिद्दारमैया का दावा, कांग्रेस कर्नाटक में 20 लोकसभा सीटें जीतेगी

बेंगलुरु । कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया ने गुरुवार को दावा किया कि कांग्रेस इस लोकसभा चुनाव में 20 सीटों पर जीत का परचम लहराएगी। संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने...

editors

Read Previous

भारत में अप्रैल 2021 में 6.24 अरब अमेरिकी डॉलर एफडीआई आया

Read Next

क्राइम ब्रांच ने की शिल्पा से पूछताछ, कुंद्रा को वापस जेल भेजा गया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com