वाराणसी में नेत्रहीनों के स्कूल को बचाने के लिए पीएम मोदी से मांगी मदद

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ²ष्टिबाधित स्कूल के छात्र परेशान हैं, क्योंकि यहां स्थित श्री हनुमान प्रसाद पोद्दार अंध विद्यालय को बंद करने का फैसला किया गया है। एनएसयूआई के महासचिव नागेश करियप्पा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर ²ष्टिबाधित छात्रों को नि:शुल्क रहने-खाने और शिक्षा मुहैया कराने वाले स्कूल को बचाने के लिए हस्तक्षेप करने की मांग की है।

पिछले साल 17 जून को स्कूल प्रशासन की कार्यकारिणी की बैठक में नौवीं से बारहवीं कक्षा में दाखिले रोकने का फैसला लिया गया था। इसकी वजह आर्थिक तंगी बताई गई और तब से ही स्कूल के 250 छात्र विरोध कर रहे हैं।

विद्यालय में पढ़ने वाले मिजार्पुर जिले के श्रीपुर के 22 वर्षीय कक्षा दसवीं के छात्र विकास ने कहा, अब दो साल से स्कूल प्रशासन वित्तीय कारणों से संस्थान को बंद करने की कोशिश कर रहा है, भले ही उसे सरकारी धन मिल रहा हो।

नागेश करियप्पा ने आईएएनएस को बताया कि स्कूल को बंद करने की प्रक्रिया फरवरी 2019 से शुरू हुई और स्कूल द्वारा जारी एक अधिसूचना में दावा किया गया है कि छात्र अनुशासनहीन, अनियंत्रित हो गए हैं और ट्रस्टियों और स्कूल प्रबंधन की शांति भंग कर रहे हैं। हालांकि, जून 2020 तक, अधिसूचना पर कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। कृष्ण कुमार जालान की अध्यक्षता में प्रबंधन ने बैठक कर नेत्रहीन विद्यालय को बंद करने का प्रस्ताव पारित किया।

उन्होंने कहा, श्री हनुमान प्रसाद पोद्दार ब्लाइंड स्कूल उत्तर प्रदेश के चार नेत्रहीन स्कूलों में से एक है। स्कूल का संचालन और प्रबंधन वाराणसी के व्यवसायी कृष्ण कुमार जालान द्वारा किया गया था। जालान के समूह की सुपरमार्केट और रियल एस्टेट संपत्तियों में अलग-अलग रुचि है। नेत्रहीन स्कूल की संपत्ति दुगाकरुंड में शहर के मध्य में स्थित है और जालान के मॉल से कुछ कदम दूर है। जैसे-जैसे इस संपत्ति का महत्व बढ़ता गया, जालान के समूह ने इस स्कूल को बंद करने और हजारों नेत्रहीन छात्रों के भविष्य को बर्बाद करने का फैसला किया है।

श्री हनुमान प्रसाद पोद्दार अंध विद्यालय की स्थापना 1972 में स्वतंत्रता सेनानी, परोपकारी और लेखक हनुमान प्रसाद पोद्दार की स्मृति में की गई थी। वह हिंदू धार्मिक ग्रंथों के दुनिया के सबसे बड़े प्रकाशक गीता प्रेस के ट्रस्टी भी थे।

नेत्रहीनों के लिए स्कूल शुरू में पांचवीं कक्षा तक ही था। यह 1984 में एक जूनियर हाई स्कूल और 1990 में एक हाई स्कूल बन गया। 1993 में यह एक इंटरमीडिएट स्कूल बन गया था।

एनएसयूआई नेता ने कहा, हम प्रधानमंत्री से अपील करते हैं कि केंद्र सरकार को संस्थान को अपने हाथ में लेना चाहिए और इसे चलाना चाहिए। इस मुद्दे में दिव्यांग समुदाय के लिए सरकार की प्रतिबद्धता शामिल है। इसके अलावा, यह मामला उनके अपने संसदीय क्षेत्र से संबंधित है।

–आईएएनएस

पाक में राजनीतिक अस्थिरता बनी हुई है गंभीर चुनौती

इस्लामाबाद:पाकिस्तान में राजनीतिक अस्थिरता देश के भविष्य के लिए गंभीर चुनौती बनी हुई है। क्योंकि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने संघीय सरकार पर समय पूर्व चुनाव की घोषणा करने के...

पाक राष्ट्रपति ने इमरान को नए सेनाध्यक्ष की आलोचना करने पर चेताया

इस्लामाबाद : राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को नए सेनाध्यक्ष (सीओएएस) पर हमला नहीं करने का आगाह किया है। द न्यूज ने बताया, पीटीआई के एक सूत्र...

हाईकोर्ट ने तिहाड़ में बुनियादी सुविधाओं की मांग वाली याचिका पर दिल्ली सरकार से जवाब मांगा

नई दिल्ली: उच्च न्यायालय ने सोमवार को दिल्ली सरकार से तिहाड़ जेल में स्वच्छ पेयजल और उचित स्वच्छता की स्थिति के संबंध में जवाब दाखिल करने को कहा। समिति ने...

तमिलनाडु : कल्लाकुरिची में 145 दिन बाद स्कूल फिर से खुले

चेन्नई: तमिलनाडु में हिंसा प्रभावित कल्लाकुरिची में स्कूल एक बार फिर से खुल गए हैं। 145 दिनों से बंद शक्ति मैट्रिकुलेशन हायर सेकेंडरी स्कूल और शक्ति ईसीआर इंटरनेशनल स्कूल को...

स्टेट जीएसटी टीम ने यूपी के 71 जिलों में की छापेमारी, नोएडा में 72 जगहों पर हुई कर्रवाई

नोएडा: टैक्स चोरी कर राजस्व को हानि पहुंचाने की शिकायत पर स्टेट जीएसटी ने नोएडा समेत पूरे यूपी में बड़ी कार्रवाई की है। प्रदेश के 71 जिलों में एक साथ...

बिहार : कुढ़नी विधानसभा उपचुनाव में शांतिपूर्ण मतदान संपन्न, करीब 58 फीसदी मतदाताओं ने डाले वोट

मुजफ्फरपुर:बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के कुढ़नी विधानसभा उपचुनाव में सोमवार को शांतिपूर्ण मतदान संपन्न हो गया। मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे। इस उप चुनाव में...

जबरन धर्मातरण के खिलाफ याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘दान का उद्देश्य धर्मातरण नहीं होना चाहिए’

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को दोहराया कि जबरन धर्मातरण का मुद्दा एक 'बहुत गंभीर मुद्दा' है और इस बात पर जोर दिया कि दान का स्वागत है, लेकिन...

फ्रीडम ऐट मिडनाइट के लेखक डोमिनिक नेपियर नहीं रहे

नई दिल्ली: पद्म भूषण से सम्मानित मशहूर फ्रांसीसी इतिहासकार डोमिनिक लैपियर का कल निधन हो गया ।वह 91 वर्ष के थे । उनकी पत्नी ने फ्रांस के अखबार वैन मार्टिन...

इटली में हैं सर्वाधिक अनौपचारिक चीनी ‘पुलिस स्टेशन’ : रिपोर्ट

रोम: स्पेन के नागरिक अधिकार समूह की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इटली दुनिया भर में 100 से अधिक के नेटवर्क में से सबसे अधिक अनौपचारिक चीनी...

झारखंड खनन घोटाला : पंकज मिश्रा की मदद के मामले में रांची जेल सुपरिटेंडेंट से ईडी की पूछताछ

रांची:झारखंड के साहिबगंज में लगभग एक हजार करोड़ की मनी लांड्रिंग के किंगपिन पंकज मिश्रा की मदद करने के मामले में ईडी रांची के बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल के सुपरिटेंडेंट...

गुजरात चुनाव खत्म होने के बाद बीजेपी अब तेलंगाना पर करेगी फोकस

हैदराबाद: गुजरात में विधानसभा चुनाव खत्म होने के साथ ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अब अगले साल होने वाले चुनावों की तैयारी के लिए तेलंगाना पर ध्यान केंद्रित करेगी। अपनी...

फारूक अब्दुल्ला फिर से निर्विरोध नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष चुने गए

श्रीनगर:पूर्व मुख्यमंत्री और लोकसभा सदस्य डॉ. फारूक अब्दुल्ला को सोमवार को नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) पार्टी के अध्यक्ष के रूप में फिर से निर्विरोध चुन लिया गया। नेकां अध्यक्ष पद के...

editors

Read Previous

क्या ब्राह्मणों के दिन वाकई बहुरेंगे ?

Read Next

गुजरात एटीएस ने दिल्ली एयरपोर्ट से ड्रग तस्कर को किया गिरफ्तार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com