पेट्रोल-डीज़ल ने निकाला आम आदमी का तेल, मई-जून में 32 बार बढ़े दाम

30 जून, 2021

नई दिल्ली: आज बुधवार को देश में पेट्रोल-डीज़ल क़ीमतों में इज़ाफ़ा नहीं किया गया है। कल अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की क़ीमतों में हल्की राहत देखने को मिली थी। शायद इसी वजह से आज ईंधन क़ी क़ीमतों में भी इज़ाफ़ा नहीं हुआ है। महीने के दिन सरकार ने आम लोगों को थोड़ी राहत दी है। लेकिन हक़ीक़त यह है कि पिछले दो महीनों में पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ती क़ीमतों ने आम आदमी आख़िरी का तेल निकाल कर रख दिया है।

58 दिन नें 32 बार बढ़े दाम

मई-जून में कुल 32 बार पेट्रोल डीज़ल के दाम बढ़ चुके हैं। 16 बार मई में और 16 बार जून में। इस दौरान दिल्ली में पेट्रोल की कीमत में 8.41 रुपए इज़ाफ़ा हुआ है जबकि डीज़ल की कीमत 8.45 पैसे बढ़ गई है। देश के बाक़ी हिस्सों में भी इनकी क़ीमतों में लगभग इतना ही इज़ाफ़ा हुआ है। पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के दौरान दो महीनों तक मार्च-अप्रैल में एक बार भी पेट्रोल-डीज़ल क दाम नहीं बढ़े थे। लेकिन 2 मई को चुनावी नतीजे आने के बाद 4 मई को पहल बार इनकी क़ीमतों मे इज़ाफ़ा हुआ था। उसके बाद से हर दूसरे दिन दाम बढ़ रहे हैं।

320 ज़िलों में पेट्रोल का शतक

पेट्रोल-डीज़ल के दामों लगातार हो रही बढ़ोतरी से 320 ज़िलों में पेट्रोल की क़ीमत 100 के पार पहुंच गई है। 13 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों में पेट्रोल की क़ीमत 100 रुपए से ज़्यादा हो गई है। छह राज्यों के सभी ज़िलों में पेट्रोल 100 के पार पहुंच चुका है। इनमें मध्य प्रदेश के 52, महाराष्ट्र के 36, राजस्थान के 33, तेलंगाना के 31, मणिपुर के 16, आंध्र प्रदेश के 14 और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के दोनों ज़िले शामिल हैं। अन्य राज्यों के भी ज़्यादातर ज़िलों में पेट्रोल शतक तगा चुका है। जल्द ही इन राज्यों के सभी ज़िलों में पेट्रोल 100 के पार बिकेगा। फ़िलहाल कर्नाटक के 29, बिहार के 32, तमिलनाडु के 30, ओडीशा के 15, पंजाब के 16, केरल के 5 छत्तीसगढ़ के एक और केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के 8 ज़िलों में पेट्रोल 100 के पार बिक रहा है।

नौ ज़िलों में डीज़ल क भी शतक

देश के तीन राज्यों के 9 ज़िलों में डीज़ल भी शतक लगा चुका है। इनमें राजस्थान, ओडीशा और मध्य प्रदेश के तीन-तीन ज़िले हैं। इनमें डीज़ल की क़ीमत 100 रुपए लेकर 102 रुपए से भी ज़्यदा हो गई है। जल्द ही कई और ज़िलों में भी डीज़ल सौ के पार बिकेगा।

ग़रीब और मध्यम वर्ग पर बढ़ता बोझ

देशभर में विरोध के बावजूद पेट्रोल-डीज़ल की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही है। कोरोना और लाकडाउन से बेहाल चल रही जनता पर पेट्रोल के बढ़ते दामों ने अतिरिक्त बोझ डाल दिया है। इससे हर रोज़ बढ़ने वाली महंगाई ने आम आदमी के घर का बजट बिगाड़ दिया है। पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने का सबसे ज़्यादा असर आम आदमी पर पड़ता है। ख़ास कर समाज के निचले और मध्यम वर्ग पर। पेट्रोलियम कंपनियों के एक सर्वे के मुताबिक़ पेट्रोल की सबसे ज़्यादा 61.42 प्रतिशत खपत दो पहिया वाहन में होती है। उसके बाद छोटी और मध्यम कारों में 34 फ़ीसदी खपत होती है। जबकि एसयूवी और अन्य लक्ज़री गाडियों में पेट्रोल की सिर्फ़ 2.34 फीसदी ही खपत होती है। इस लिहाज़ से देखें तो विलासितापूर्ण जीवन जीने वालों पर पेट्रोल के बढ़ते दामों का उतना असर नहीं होता जितना कि ग़रीब और मध्यम वर्ग पर पड़ता है।

दुपहिया वाहन वालों पर मार

पेट्रोल के बढ़ते दामों की सबसे ज़्यादा मार स्कूटी, स्कूर और मोटर साइकिल इस्तेमाल करने वालों पर होती है। डिलीवरी ब्वाय का काम करने वालों पर इसका सबसे ज़्यादा असर पड़ता है। ग़रीब और मध्यम वर्ग पर पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते दामों से दोहरी मार पड़ती है। बार-बार दाम बढ़ने पर प्रत्यक्ष रूप से उनका पेट्रोल होने वाला ख़र्च बढ़ जाता है। पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने से रोज़मर्रा के इसेतमाल की चीज़ों के दाम बढ़ने से अप्रत्क्ष रूप से उनके घर का पूरा बजट बिगड़ जाता है। हर दूसरे-तीसरे दिन पेट्रोल के 25-30 पैसे मंहगा होने से आम लोगों का तेल निकलने लगा है।

सबसे ऊंची महंगाई दर, नाकाम सरकार

मई के महीने में थोक और खुदरा महगांई दर रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच चुकी है। पेट्रोल-डीज़ल की लगातार बढ़ती क़ीमतों की वजह से जून में इसके और ऊपर पहुंचने की आशंका है। सरकार के पास फिलहाल कोई ठोस उपाय दिख भी नहीं रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण महंगाई पर पूरी तरह चुप्पी साधे हुए हैं। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ज़रूर कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दलों को सलाह दे रहे हैं कि वो अपनी राज्य सरकारों से पेट्रोल-डीज़ल पर वैट करने को कहें।

रिज़र्व बैंक की सलाह

रिज़र्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास कह रहे हैं कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद ख़राब हुए आर्थिक हालात के दुरुस्त करने के लिए हर क्षेत्र मौद्रिक नीति में बदलाव से लेकर तमाम दूसरे क़दम उठाने की ज़रूरत है। इसे विडंबना ही कहा जाएगा कि जिनके सिर पर सरकार के साथ मिलकलर महंगाई रोकने के लिए ज़रूरी क़दम उठाने की ज़िम्मेदारी है, वो सिर्फ़ सलाह दे रहे हैं। दो हफ्ते पहले उन्होंने आम जनता को महंगाई से राहत देने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों से अपने-अपने हिस्से का टैक्स कम करने की अपील की थी। लेकिन अफसोस के उनकी इस अपील पर न मोदी सरकार का दिल पसीजा और न ही किसी राज्य सरकार के कानों पर ही जूं रेंगी।

दरअसल महंगाई बढ़ने का सबसे बड़ा कारण आए दिन बढ़ने वाले पेट्रोल-डीज़ल के दाम हैं। नरेंद्र मोदी 50 रुपए प्रति लीटर से कम में पेट्रोल देने का वादा करके सत्ता में आए थे। लेकिन उनके सत्तासीन होने के साल साल में पेट्रोल 2014 में 71 रुपए प्रति लीटर के मुक़ाबले 100 के पार चला गया है। पेट्रोल तो पेट्रोल देश के कई हिस्सों में डीज़ल के दाम भी सौ रुपए का आंकड़ा पार कर चुके हैं। 2 मई को पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद से ही पेट्रोल-डीज़ल की क़ीमतों मे आग लगी हुई है और लगभग हर रोज़ बढ़ने वाली क़ीमतें आम आदमी का तेल निकाल रहीं हैं।
—-इंडिया न्युज़ इस्ट्रीम

भाजपा सरकार के बनने से पहले पूरा प्रदेश दंगाईयों के हवाले था : भूपेंद्र चौधरी

हाथरस । उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष चौधरी भूपेंद्र सिंह हाथरस से पार्टी प्रत्याशी अनूप वाल्मीकि के नामांकन में उपस्थित हुए। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने...

नकली नोट को खत्म करने का मोदी सरकार का प्रयास कितना लाया रंग?

नई दिल्ली । 8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पहले कार्यकाल के दौरान नोटबंदी की घोषणा की थी। सरकार ने 500 और 1000 के नोटों को तब...

घोषणा पत्र में यूसीसी को शामिल करने पर सीएम धामी ने जताया पीएम मोदी का आभार

देहरादून/खटीमा । लोकसभा चुनाव 2024 के लिए रविवार को डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर बीजेपी ने अपना घोषणा पत्र जारी किया। इसमें बीजेपी ने यूसीसी को शामिल किया है,...

भाजपा के संकल्प पत्र पर सीएम योगी बोले, देश का एंबिशन ही मोदी का मिशन है

लखनऊ । लोकसभा चुनाव 2024 के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजदूगी में अपना 'संकल्प पत्र' जारी किया। पार्टी ने अपने संकल्प पत्र...

गिरफ्तारी के खिलाफ केजरीवाल की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को सुनवाई

नई दिल्ली । दिल्ली शराब नीति मामले में ईडी द्वारा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी और रिमांड के खिलाफ याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 15 अप्रैल यानी सोमवार को सुनवाई करेगा।...

राजद के एक करोड़ नौकरी देने के वादे पर भाजपा सहित एनडीए के घटक दलों ने उड़ाई खिल्ली

पटना । राष्ट्रीय जनता दल के घोषणापत्र पर भाजपा सहित एनडीए के घटक दलों ने पलटवार किया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने राजद के घोषणा पत्र पर...

ईडी ने सीएम विजयन की बेटी की कंपनी से जुड़े मामले में सीएमआरएल अधिकारी को किया तलब

कोच्चि । प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन की बेटी वीणा विजयन की आईटी कंपनी और कोचीन स्थित खनन फर्म सीएमआरएल से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में...

आंध्र प्रदेश कांग्रेस प्रमुख वाई.एस. शर्मिला रेड्डी बेंगलुरु में कर्नाटक के डिप्टी सीएम शिवकुमार से मिलीं

बेंगलुरु । आंध्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष वाई.एस. शर्मिला रेड्डी ने बुधवार को कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी (केपीसीसी) के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम डी.के. शिवकुमार से बेंगलुरु में उनके...

कांग्रेस के घोषणापत्र में ‘मुस्लिम लीग की छाप’ बताने पर राहुल गांधी ने दिया जवाब

नई दिल्ली । कांग्रेस के घोषणापत्र को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) लगातार हमला कर रही है। भाजपा कांग्रेस के घोषणापत्र को मुस्लिम लीग से प्रभावित बता रही है। इसी...

सूखा राहत पर सुप्रीम कोर्ट को धोखा देने की कोशिश कर रहा केंद्र : कर्नाटक के सीएम

बेंगलुरु । कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारामैया ने सोमवार को कहा कि यह निंदनीय है कि केंद्र ने राज्य को मिलने वाली उचित सूखा राहत पर धोखा देने के लिए सुप्रीम...

एनडीए ने आंध्र प्रदेश में चुनावी घोषणापत्र के लिए जनता की राय मांगी

अमरावती । आंध्र प्रदेश में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) ने राज्य में 13 मई को लोकसभा चुनाव के साथ होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों के लिए 'प्रजा घोषणापत्र' या लोगों...

पीलीभीत पहुंचे पीएम मोदी, सीएम योगी और भूपेंद्र चौधरी ने किया स्वागत

पीलीभीत । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को पीलीभीत में चुनावी जनसभा करने पहुंचे हैं। 10 साल के कार्यकाल में यह पहला मौका है जब पीएम मोदी यहां पहुंचे हैं। मुख्यमंत्री...

admin

Read Previous

एप्पल ने आईफोन 13 के लिए भारत में रिकॉर्ड प्री-ऑर्डर हासिल किए

Read Next

रामनगरी अयोध्या में आत्मनिर्भता की नजीर बनेगी कान्हा गौशाला

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com