रिलायंस कैपिटल रिजॉल्यूशन प्रोसेस को झटका, कॉस्मिया-पीरामल कंसोर्टियम बोली प्रक्रिया से बाहर

मुंबई: रिलायंस कैपिटल लिमिटेड (आरसीएपी) की समाधान प्रक्रिया को एक बड़ा झटका लगा है। कॉसमिया फाइनेंशियल और पीरामल ग्रुप का कंसोर्टियम, जो आरसीएपी संपत्तियों के लिए सबसे अधिक बोली लगाने वाला था, बोली प्रक्रिया से बाहर हो गया है। लेनदारों की समिति (सीओसी) द्वारा अनुमोदित रिलायंस कैपिटल के लिए नियोजित ई-नीलामी बुधवार को होने वाली है और नीलामी की पूर्व संध्या पर उच्चतम बोली लगाने वाले के बाहर निकलने से रिलायंस कैपिटल के ऋणदाताओं को बड़ा झटका लगा है।

सूत्रों के अनुसार, कोस्मिया-पिरामल कंसोर्टियम ने समाधान प्रक्रिया से बाहर निकलने का फैसला किया है क्योंकि उसका मानना है कि बोली प्रक्रिया की रूपरेखा में काफी बदलाव किया गया है, जिसमें नीलामी प्रक्रिया में भाग लेने के लिए उच्चतम बोली के अलावा लगभग 1,500 करोड़ रुपये की वृद्धि है। सीओसी ने नीलामी के लिए फ्लोर वैल्यू 6,500 करोड़ रुपये तय की है, जो कॉस्मिया-पीरामल रेजोल्यूशन प्लान के नेट प्रेजेंट वैल्यू (एनपीवी) से 1,500 करोड़ रुपये ज्यादा है।

इसके अलावा, दूसरे और तीसरे दौर के लिए नीलामी प्रक्रिया में भी वृद्धि 1,000 करोड़ रुपये के बहुत ही उच्च स्तर पर निर्धारित की गई है। स्थिति और खराब तब हो गई जब चार राउंड के लिए 500 करोड़ रुपये और बाद के हर राउंड के लिए 250 करोड़ रुपये निर्धारित किए गए। इसका मतलब यह होगा कि आवश्यक बोलियां क्रमश: कम से कम 7,500 करोड़ रुपये, 8,500 करोड़ रुपये, 9,000 करोड़ रुपये और 9,250 करोड़ रुपये होनी चाहिए।

कंसोर्टियम को लगता है कि यह न केवल अनुचित और मनमाना है, बल्कि अवास्तविक और अव्यवहारिक भी है। बोली लगाने वालों का यह भी मत है कि उच्चतम बोली लगाने वाले की घोषणा न करने और हर दौर के बाद बोली लगाने वालों की रैंकिंग प्रदान नहीं करने की गैर-पारदर्शिता, दूरसंचार क्षेत्र और सौर और पवन ऊर्जा परियोजनाओं में स्पेक्ट्रम से संबंधित भारत सरकार और राज्य सरकारों द्वारा पूरे देश में आयोजित ई-नीलामी के विपरीत है।

सरकारों द्वारा अपनाई जाने वाली प्रथाओं को दुर्भाग्य से इस मामले में नहीं अपनाया जा रहा है। कॉस्मिया-पीरामल के बाहर निकलने के साथ, अब केवल तीन खिलाड़ी ही दौड़ में बचे हैं, यानी हिंदुजा, टोरेंट और ओकट्री। कॉस्मिया-पीरामल, 5,231 करोड़ रुपये के कुल बोली मूल्य के साथ, रिलायंस कैपिटल सीआईसी (कोर निवेश कंपनी) के लिए सबसे ऊंची बोली लगाने वाली कंपनी थी। इस ऑफर में 4,250 करोड़ रुपये का अग्रिम भुगतान शामिल था। कॉस्मिया-पीरामल ऑफर की नेट प्रेजेंट वैल्यू (एनपीवी) 5,000 करोड़ रुपये थी।

हिंदुजा की 5,060 करोड़ रुपये की बोली, जिसमें 4,100 करोड़ रुपये का अग्रिम भुगतान शामिल है, दूसरी सबसे बड़ी बोली थी। हिंदुजा की पेशकश का एनपीवी 4,800 करोड़ रुपये था। टोरेंट और ओकट्री ने क्रमश: 4,500 करोड़ रुपये और 4,200 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी। उन्होंने क्रमश: 1,100 करोड़ रुपये और 1,000 करोड़ रुपये के अग्रिम भुगतान की पेशकश की थी। टोरेंट की समाधान योजना का एनपीवी 4,200 करोड़ रुपये और ओकट्री की योजना 2,600 करोड़ रुपये की थी।

नीलामी के लिए 6,500 करोड़ रुपये का फ्लोर प्राइस 1,500 करोड़ रुपये या कॉस्मिया-पीरामल बोली के एनपीवी मूल्य से 30 प्रतिशत अधिक है। अब, कोस्मिया-पीरामल के बाहर निकलने के साथ, हिंदुजा की 4,800 करोड़ रुपये की सबसे ऊंची बोली बन गई, और उच्चतम बोली और नीलामी के न्यूनतम मूल्य के बीच का अंतर भी बढ़कर 1,700 करोड़ रुपये हो गया है।

ऑक्शन फ्लोर प्राइस और टोरेंट और ओकट्री की बिड वैल्यू के बीच का अंतर क्रमश: 2,300 करोड़ रुपये और 3,900 करोड़ रुपये है।

–आईएएनएस

एसएंडपी ग्लोबल ने अडानी इलेक्ट्रिसिटी, अदानी पोर्ट्स की रेटिंग को ‘नेगेटिव’ किया

चेन्नई : वैश्विक क्रेडिट रेटिंग एजेंसी एसएंडपी ग्लोबल रेटिंग्स ने शुक्रवार को कहा कि उसने अदानी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई लिमिटेड और अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड के रेटिंग आउटलुक...

अमूल ने प्रति लीटर तीन रुपये बढ़ाई दूध की कीमत

अहमदाबाद : गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन लिमिटेड (जीसीएमएमएफ) ने तत्काल प्रभाव से अमूल पाउच दूध (सभी वेरिएंट) की कीमतों में 3 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की है। दिल्ली,...

बजट से जीवन बीमा कंपनियों पर पड़ी है मार : एमके फाइनेंशियल

चेन्नई : एमके ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विसेज ने कहा है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बजट प्रस्तावों से जीवन बीमा कंपनियों पर दोहरी मार पड़ी है। यह कुछ निजी कंपनियों...

बजट में विकास व घाटे के बीच संतुलन बनाने की कोशिश : फिच रेटिंग्स

चेन्नई : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा संसद में पेश 2023-24 का बजट में विकास व घाटे के बीच संतुलन बनाने पर जोर दिया गया है। यह बात फिच रेटिंग्स...

बजट में वित्तमंत्री ने की कई बड़ी घोषणाएं, जानिए बजट की 10 प्रमुख बातें

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को बजट पेश किया। यह मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट था। ऐसे में निर्मला सीतारमण ने टैक्स...

सरकार ने राजकोषीय घाटे का लक्ष्य सकल घरेलू उत्पाद का 5.9 प्रतिशत तय किया

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को 2023-24 के लिए राजकोषीय घाटे का लक्ष्य सकल घरेलू उत्पाद का 5.9 प्रतिशत निर्धारित किया, जबकि इस बात पर जोर...

नई कर व्यवस्था में 7 लाख रुपये तक की आय पर कोई टैक्स नहीं : वित्त मंत्री

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को 2023-24 के लिए नए टैक्स स्लैब की घोषणा की, जिसके तहत नई आयकर व्यवस्था के तहत सालाना 7 लाख रुपये...

‘सार्वजनिक पूंजीगत खर्च बढ़ने पर बजट ने निराश नहीं किया’

चेन्नई : एक्यूट रेटिंग्स एंड रिसर्च के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बजट 2023-24 सरकार द्वारा सार्वजनिक पूंजीगत व्यय की प्रतिबद्धता के संबंध में निराशाजनक नहीं है। "बाजार सरकार...

आम बजट 2023-24 : गोबर बनेगा कमाई का जरिया

नई दिल्ली : लोकसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अपना पांचवां बजट पेश कर रही हैं। वित्तमंत्री ने बजट में वैकल्पिक उर्वरकों को बढ़ावा देने के लिए पीएम प्रणाम योजना...

पीएम आवास योजना का परिव्यय 66 प्रतिशत बढ़ाकर 79,000 करोड़ रुपये किया गया

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के परिव्यय को 66 प्रतिशत बढ़ाकर 79,000 करोड़ रुपये करने की घोषणा की। इस योजना में...

भारतीय अर्थव्यवस्था सही रास्ते पर : सीतारमण

नई दिल्ली : लोकसभा में केंद्रीय बजट 2023-24 पेश करते हुए, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था 'सही रास्ते पर है और उज्‍जवल भविष्य...

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा, समावेशी विकास पर है बजट का फोकस

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि सरकार का आर्थिक एजेंडा नागरिकों के लिए अवसरों को सुविधाजनक बनाने, विकास और रोजगार सृजन को मजबूत गति प्रदान...

editors

Read Previous

एम्बर हर्ड कानूनी लड़ाई के निपटारे के लिए जॉनी डेप को देंगी बड़ी रकम

Read Next

जल्द आएगी अच्छी खबर- राहुल गांधी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com