फेयरनेस क्रीम से देश में बढ़ रही किडनी की समस्या, एक अध्ययन में खुलासा

नई दिल्ली । एक नए अध्ययन के अनुसार, त्वचा की रंगत निखारने वाली क्रीमों के इस्तेमाल से भारत में किडनी की समस्याएं बढ़ रही हैं।

गोरी त्वचा को लेकर समाज में एक अलग तरह का जुनून है। फेयरनेस क्रीम्स का देश में एक आकर्षक बाजार है। हालांकि ये क्रीम्स बड़े पैमाने पर किडनी को नुकसान पहुंचती हैं।

मेडिकल जर्नल किडनी इंटरनेशनल में प्रकाशित अध्ययन से पता चला है कि फेयरनेस क्रीम के बढ़ते उपयोग से मेम्ब्रेनस नेफ्रोपैथी (एमएन) के मामले बढ़ रहे हैं। यह एक ऐसी स्थिति है जो किडनी फिल्टर को नुकसान पहुंचाती है और प्रोटीन रिसाव का कारण बनती है।

एमएन एक ऑटोइम्यून बीमारी है जिसके परिणामस्वरूप नेफ्रोटिक सिंड्रोम होता है। एक किडनी विकार जिसके कारण शरीर मूत्र में बहुत अधिक प्रोटीन उत्सर्जित करता है।

शोधकर्ताओं में से एक केरल के एस्टर एमआईएमएस अस्पताल के डॉ. सजीश शिवदास ने एक्स पर एक पोस्ट में लिखा, “पारा त्वचा के माध्यम से अवशोषित हो जाता है और गुर्दे के फिल्टर पर कहर बरपाता है, जिससे नेफ्रोटिक सिंड्रोम के मामलों में वृद्धि होती है। भारत के अनियमित बाजारों में व्यापक रूप से उपलब्ध ये क्रीम तुंरत परिणाम देने का वादा करती हैं लेकिन किस कीमत पर? यूजर बताते हैं कि इसका उपयोग बंद करने से त्वचा का रंग पहले से कहीं अधिक काला हो जाता है।”

अध्ययन में जुलाई 2021 और सितंबर 2023 के बीच रिपोर्ट किए गए एमएन के 22 मामलों की जांच की गई। एस्टर एमआईएमएस अस्पताल में इन मरीजों में अक्सर थकान, हल्के सूजन और मूत्र में झाग बढ़ने जैसे लक्षण पाये गये। इसमें केवल तीन रोगियों को गंभीर सूजन थी, लेकिन सभी के मूत्र में प्रोटीन का स्तर बढ़ा हुआ था।

एक मरीज में सेरेब्रल वेन थ्रोम्बोसिस विकसित हुआ। मस्तिष्क में रक्त का थक्का जम गया, लेकिन गुर्दे का कार्य सभी में संरक्षित था। निष्कर्षों से पता चला कि लगभग 68 प्रतिशत या 22 में से 15 तंत्रिका एपिडर्मल वृद्धि कारक-जैसे 1 प्रोटीन (एनईएल-1) के लिए सकारात्मक थे।

15 मरीजों में से 13 ने लक्षण शुरू होने से पहले ही त्वचा को गोरा करने वाली क्रीम का उपयोग करने की बात स्वीकार की। बाकियों में से एक के पास पारंपरिक स्वदेशी दवाओं के उपयोग का इतिहास था जबकि दूसरे के पास कोई पहचानने योग्य ट्रिगर नहीं था।

एक शोधकर्ताओं ने पेपर में कहा “ज्यादातर मामले उत्तेजक क्रीमों का उपयोग बंद करने पर हल हो गए। यह एक संभावित सार्वजनिक स्वास्थ्य जोखिम पैदा करता है। इस खतरे को रोकने के लिए ऐसे उत्पादों के उपयोग के खतरों के बारे में सार्वजनिक जागरूकता फैलाना और स्वास्थ्य अधिकारियों को सचेत करना जरूरी है.”

डॉ. सजीश ने सोशल मीडिया इंफ्लुएंसरों और एक्टरों पर “इन क्रीमों के चैंपियन बनने” और “अरबों डॉलर के उद्योग में उनके उपयोग को कायम रखने” का भी आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि “यह सिर्फ त्वचा देखभाल/गुर्दे के स्वास्थ्य का मुद्दा नहीं है, यह एक सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट है और त्वचा पर लगाया जाने वाला पारा इतना नुकसान पहुंचा सकता है। कल्पना कीजिए अगर इसका सेवन किया जाए तो इसके परिणाम क्या होंगे? इन हानिकारक उत्पादों को विनियमित करने और सार्वजनिक स्वास्थ्य की रक्षा के लिए तत्काल कार्रवाई का समय आ गया है।

–आईएएनएस

सपा और कांग्रेस भारत की आस्था के साथ खिलवाड़ करने वाली पार्टी : मुख्यमंत्री योगी

कुशीनगर/देवरिया । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कुशीनगर और देवरिया में चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया। कुशीनगर में सीएम योगी ने कहा कि सपा-बसपा और कांग्रेस...

दिल्ली में पानी संकट पर वीरेंद्र सचदेवा ने केजरीवाल से किए तीखे सवाल

नई दिल्ली । राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जहां एक तरफ लोग तपिश भरी गर्मी से बेहाल हैं। वहीं दूसरी तरफ पानी की किल्लत ने भी लोगों का जीना मुहाल कर...

सेक्स वीडियो मामला : एसआईटी, एफएसएल अधिकारियों ने प्रज्वल रेवन्ना के घर की तलाशी ली

बेंगलुरु । कर्नाटक में फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) के अधिकारी और विशेष जांच दल (एसआईटी) सेक्स वीडियो मामले की जांच कर रहे हैं। टीम ने मामले के मुख्य आरोपी जेडी-एस...

हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ने के लिए तैयार विपक्षी दल : अमित शाह

महाराजगंज/देवरिया । केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को महाराजगंज और देवरिया में चुनावी सभाओं को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों ने तुष्टीकरण की राजनीति...

डॉक्टरों ने कहा, ‘टैटू गुदवाने से हेपेटाइटिस, एचआईवी और कैंसर का खतरा’

नई दिल्ली । अगर आप भी टैटू बनवाने का शौक रखते हैं तो सावधान हो जाइए। डॉक्टरों की राय है कि टैटू बनवाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्याही...

भारतीय युवाओं में बढ़ रहे हैं ब्लड कैंसर के मामले : विशेषज्ञ

नई दिल्ली । डॉक्टरों ने कहा कि भारत में 30 से 40 वर्ष की आयु के युवा वयस्कों में क्रोनिक माइलॉयड ल्यूकेमिया (सीएमएल) काफी बढ़ रहा है। डॉक्टरों ने बताया...

हरियाणा सरकार ने दिल्ली को मिलने वाले यमुना नदी के पानी में कटौती की है : आतिशी

नई दिल्ली । भीषण गर्मी के बीच दिल्ली में पानी का संकट भी खड़ा हो गया है। यमुना नदी का जलस्तर सामान्य से काफी कम है। दिल्ली सरकार ने इस...

चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद पीएम मोदी जाएंगे कन्याकुमारी, विवेकानंद रॉक मेमोरियल पर करेंगे ध्यान

नई दिल्ली । लोकसभा चुनाव के आखिरी और सातवें चरण के लिए 1 एक जून को मतदान होना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंतिम चरण के मतदान से पहले कन्याकुमारी के...

पुणे पोर्श हादसा : आरोपी के राजनीतिक संबंध सामने आने पर कांग्रेस ने सीबीआई जांच की मांग की

मुंबई । महाराष्ट्र कांग्रेस ने सत्तारूढ़ महायुति सरकार पर पुणे में दो लोगों की जान लेने वाली पोर्श कार हादसे की जांच को पटरी से उतारने का प्रयास करने का...

सपा विधायक रफीक अंसारी गिरफ्तार

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के मेरठ से समाजवादी पार्टी के विधायक रफीक अंसारी को 1995 के एक आपराधिक मामले में गैर-जमानती वारंट का पालन नहीं करने पर लखनऊ में गिरफ्तार...

राजकोट अग्निकांड : नगर निगम को हाईकोर्ट की फटकार, कहा-तीन साल से क्या कर रहे थे आप

अहमदाबाद । राजकोट गेमिंग जोन अग्निकांड का स्वत: संज्ञान लेते हुए सोमवार को गुजरात हाईकोर्ट ने राजकोट नगर निगम को जमकर फटकार लगाई। साढ़े चार घंटे चली सुनवाई के दौरान...

पोर्श दुर्घटना : नाबालिग के ब्लड रिपोर्ट में ‘हेरफेर’ के आरोप में पुणे के दो डॉक्टर गिरफ्तार

पुणे (महाराष्ट्र) । पुणे पुलिस ने शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पोर्श कार दुर्घटना में शामिल नाबालिग आरोपी की ब्लड रिपोर्ट के साथ 'छेड़छाड़' के आरोप में सोमवार को सरकारी...

admin

Read Previous

ईरानी हमले के बाद इजराइल ने शैक्षणिक संस्थान किए बंद

Read Next

चीन की मदद से सूरीनाम में बिजलीघर का निर्माण

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com