‘पेसा एक्ट आदिवासियों की जिंदगी में बदलाव लाएगा

इंदौर: यहां के नेहरू स्टेडियम में क्रांति सूर्य टंट्या मामा भील बलिदान दिवस पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें राज्यपाल मंगुभाई पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने पेसा एक्ट को जनजातीय वर्ग की जिंदगी में बदलाव लाने वाला कानून बताया। राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि जनजातीय समाज को जल, जंगल और जमीन का अधिकार दिलाने के लिए पेसा एक्ट लागू किया गया है। मुख्यमंत्री चौहान स्वयं जनता के बीच जाकर इसे सरल भाषा में समझा रहे हैं। पेसा एक्ट जनजातीय समाज को सफलता के शिखर पर ले जाएगा। उन्होंने कहा, “मध्यप्रदेश में वंचित वर्ग के कल्याण और समावेशी समाज बनाने के लिए सराहनीय प्रयास हो रहे हैं। राज्य सरकार जनजातीय समाज को सिकल सेल जैसी बीमारी से बचाने के लिए भी सराहनीय कार्य कर रही है। जनजातीय नायकों ने जल, जंगल और जमीन बचाने के लिए अंग्रेजों के खिलाफ भीषण संघर्ष किया। आज टंट्या मामा भील के बलिदान दिवस पर मैं सभी को नमन करता हूं।”

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि टंट्या मामा के बलिदान दिवस पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम कोई कर्मकांड नहीं, बल्कि सामाजिक और आर्थिक क्रांति का शंखनाद है। मध्यप्रदेश की धरती पर जनजातीय कल्याण के संकल्प को पूरा भी किया जा रहा है। प्रदेश के 89 जनजातीय बहुल विकासखंडों में पेसा एक्ट लागू किया जा चुका है, जो जनजातीय समुदाय को जल, जंगल और जमीन का हक प्रदान करता है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा, “मैं पेसा एक्ट समझाने वाला मास्टर ट्रेनर हूं। आज आप सबको ट्रेंड करने आया हूं, जिससे हमारे जनजातीय भाई-बहन अपने अधिकारों को समझे और अपना एवं अपने गांव को समृद्ध कर आत्मनिर्भर बनाए। प्रदेश में मास्टर ट्रेनर्स बना कर प्रशिक्षण देने का काम चल रहा है। प्रत्येक विकासखंड में 15-15 कोआर्डिनेटर बनाए जाएंगे। पेसा एक्ट के माध्यम से जनजातीय वर्ग की जिंदगी बदलने का काम करना है। यह महा अभियान है।” मुख्यमंत्री ने इसमें सभी को साथ मिलकर चलने का संकल्प भी दिलाया।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पेसा एक्ट में हर गांव में समितियां बनेंगी। इन समितियों में एक तिहाई सदस्य महिला होंगी। ग्राम सभाओं को अपने गांव की जल, जंगल और जमीन के उपयोग का पूर्ण अधिकार होगा। पेसा एक्ट छल-कपट से छीनी गई जमीन पर जनजातीय समाज को दोबारा अधिकार दिलवाएगा। गांव की रेत, गिट्टी, पत्थर पर पहला हक जनजातीय सहकारी समितियों का होगा।

अनुसूचित जनजाति कल्याण मंत्री मीना सिंह मांडवे ने स्वागत भाषण दिया। सांसद वी.डी. शर्मा ने कहा कि 15 नवंबर 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्यप्रदेश से राष्ट्रीय जनजातीय गौरव दिवस मनाने की शुरुआत की। मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश में जनजातीय वर्ग को अधिकार सम्पन्न बनाने के लिए ‘पेसा एक्ट’ लागू किया गया है। प्रदेश के 89 जनजातीय विकासखंडों से जो टंट्या मामा भील गौरव यात्राएं निकाली गई थीं, उनका समापन आज यहां उनके बलिदान दिवस पर हो रहा है। राज्यपाल मंगुभाई पटेल निरंतर जनजातीय वर्ग के कल्याण के लि, कार्य करते रहते हैं।

केंद्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि पूरे भारत में 10 ऐसे जनजातीय उपयोजना क्षेत्र वाले राज्य हैं, जहां वर्ष 1986 में जनजातीय अधिकार कानून बनाया गया।

–आईएएनएस

दिल्ली विश्वविद्यालय में अब मुफ्त में पढ़ सकेंगे अनाथ बच्चे : कुलपति

नई दिल्ली, अरविंद कुमार :दिल्ली विश्विद्यालय ने अपने शताब्दी वर्ष में अनाथ बच्चों के लिए आरक्षण एवम मुफ्त शिक्षा का प्रावधान किया है।इससे हर साल उन हजारों अनाथ बच्चों को...

निर्वाचन आयोग का गीत ‘मैं भारत हूं’ सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

नई दिल्ली : इस साल होने वाले नौ विधानसभा चुनावों और अगले साल की शुरुआत में होने वाले लोकसभा चुनावों को देखते हुए चुनाव आयोग द्वारा तैयार किया गया गीत...

एसएंडपी ग्लोबल ने अडानी इलेक्ट्रिसिटी, अदानी पोर्ट्स की रेटिंग को ‘नेगेटिव’ किया

चेन्नई : वैश्विक क्रेडिट रेटिंग एजेंसी एसएंडपी ग्लोबल रेटिंग्स ने शुक्रवार को कहा कि उसने अदानी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई लिमिटेड और अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड के रेटिंग आउटलुक...

‘श्रमिकों की आवश्यक संख्या के लिए फिनलैंड को विदेशियों के आने की दर करनी होगी तिगुनी’

हेलसिंकी : फिनलैंड को देश की श्रम शक्ति की जरूरतों के लिए सालाना करीब 44,000 लोगों के आव्रजन की जरूरत है। एक रिपोर्ट में यह बात कही गई है। समाचार...

बच्चों में परीक्षा से जुड़े तनाव को दूर करने के लिए परीक्षा पर्व 5.0 का आयोजन होगा

नई दिल्ली: राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) प्रधानमंत्री के परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम से प्रेरित होकर 6 फरवरी से 31 मार्च तक परीक्षा पर्व 5.0 का आयोजित कर रहा...

देश वंचितों को प्राथमिकता देता है: पीएम मोदी

नई दिल्ली:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि राष्ट्र उन लोगों को सर्वोच्च प्राथमिकता देता है जो अब तक वंचित और उपेक्षित रहे हैं। असम के बारपेटा स्थित कृष्णगुरु...

शोधकर्ताओं ने मूत्र के माध्यम से ब्रेन ट्यूमर का पता लगाने वाला उपकरण बनाया

टोक्यो:जापान में शोधकर्ताओं की एक टीम ने मूत्र में महत्वपूर्ण प्रोटीन की पहचान करने वाला नया उपकरण बनाया है, जिससे यह पता चल जाएगा की मरीज को ब्रेन ट्यूमर है...

बीबीसी डॉक्यूमेंट्री को ब्लॉक करने के खिलाफ याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से पूछा सवाल

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को 2002 के गुजरात दंगों पर बनी बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर प्रतिबंध लगाने के केंद्र के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर नोटिस...

मार्च तक कोलकाता, पुणे, विजयवाड़ा और हैदराबाद हवाईअड्डों पर डिजी यात्रा लागू होगी

नई दिल्ली : मार्च 2023 तक कोलकाता, पुणे, विजयवाड़ा और हैदराबाद हवाईअड्डों पर डिजी यात्रा लागू की जाएगी। पहले चरण में, डिजी यात्रा 1 दिसंबर, 2022 को दिल्ली, बेंगलुरु और...

ढाई माह में जेलों से बरामद हुए 340 से अधिक फोन

नई दिल्ली:दिल्ली कारागार विभाग ने पिछले ढाई महीने में विभिन्न जेलों से 340 से अधिक मोबाइल फोन और चार्जर बरामद किए हैं, अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। जेल...

बजट से जीवन बीमा कंपनियों पर पड़ी है मार : एमके फाइनेंशियल

चेन्नई : एमके ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विसेज ने कहा है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बजट प्रस्तावों से जीवन बीमा कंपनियों पर दोहरी मार पड़ी है। यह कुछ निजी कंपनियों...

धनबाद अग्निकांड पर झारखंड हाईकोर्ट सख्त, सरकार से पूछा- आग से बचाव के क्या उपाय किए?

रांची : झारखंड हाईकोर्ट ने धनबाद के आशीर्वाद टावर और हाजरा क्लीनिक में आग लगने से 19 लोगों की मौत की घटनाओं पर संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार को सख्त...

editors

Read Previous

लिंगायत मठ कांड: पीड़ितों की मां ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र, मांगी न्याय या इच्छामृत्यु

Read Next

इस बार पीएम से अलग से मिलने की कोई संभावना नहीं : ममता

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com