बदला लेने की खातिर तालिबान आलोचकों को बना रहा है निशाना

नई दिल्ली/न्यूयॉर्क, 1 अगस्त (आईएएनएस)| ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा कि अफगानिस्तान में तालिबानी फोर्स हमले के लिए जाने-माने आलोचकों को निशाना बना रही हैं। उनका दावा है कि उन्होंने अपने लड़ाकों को संयम से काम लेने का निर्देश दिया है। अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय वर्तमान में तालिबान सहित अफगानिस्तान में संघर्ष के सभी पक्षों द्वारा युद्ध अपराधों और गंभीर मानवाधिकारों के हनन के आरोपों की जांच कर रहा है।

ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा कि, तालिबान कमांडर जो अपने नियंत्रण में बलों द्वारा दुर्व्यवहार के बारे में जानते थे या उन्हें पता होना चाहिए था और उन्हें रोकने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की, वे कमांड जिम्मेदारी के मामले में दोषी हैं।

कंधार में, तालिबान प्रांतीय सरकार और सुरक्षा बलों के संदिग्ध सदस्यों और कुछ मामलों में उनके रिश्तेदारों को हिरासत में ले रहा है और उनकी हत्या कर रहा है।

कंधार में कार्यकतार्ओं ने कहा कि प्रांतीय राजधानी के आसपास के गांवों में तालिबान कमांडरों ने सरकार या पुलिस से जुड़े कई लोगों को हिरासत में लिया है।

एक मामले में, 16 जुलाई को, तालिबान लड़ाकों ने दो लोगों का अपहरण कर लिया, जिनके भाइयों ने एनडीएस 03 के साथ काम किया था। एनडीएस 03 सीआईए का समर्थन करने वाली एक सुरक्षा फोर्स है। डांड जिले के कासम पोल क्षेत्र में उनके घरों से एक रिश्तेदार का कहना है कि उन्होंने तब से दोनों के बारे में कोई खबर नहीं मिली है।

इसके अलावा जुलाई के मध्य में, एक रिपोर्ट में कहा गया कि तालिबान लड़ाकों ने स्पिन बोल्डक में एक पूर्व पुलिस अधिकारी अहमदुल्ला को हिरासत में लिया। उसके परिवार ने उसके बाद से नहीं सुना है। उनके चाचा ने कहा कि तालिबान ने यह कहते हुए पत्र भेजे थे कि सरकार या विदेशी बलों के साथ काम करने वाले किसी भी व्यक्ति को तब तक नुकसान नहीं होगा, जब तक वे तालिबान नेतृत्व को रिपोर्ट करते हैं।

हाल के मामलों में, तालिबान ने एक लोकप्रिय कंधारी कॉमेडियन, नजर मोहम्मद को मार डाला, जिसे खाशा ज्वान के नाम से जाना जाता है।

ह्यूमन राइट्स वॉच की एसोसिएट एशिया डायरेक्टर पेट्रीसिया गॉसमैन ने कहा, “तालिबान बलों ने स्पष्ट रूप से खाशा ज्वान को मार डाला क्योंकि उसने तालिबान नेताओं का मजाक उड़ाया था। उनकी हत्या और अन्य हालिया गालियां तालिबान कमांडरों की इच्छा को हिंसक रूप से यहां तक कि आलोचना या आपत्ति को कुचलने के लिए प्रदर्शित करती हैं।”

गॉसमैन ने कहा, “तालिबान ताकते आगे बढ़ाने के लिए अपने आलोचकों को बेरहमी से निशाना बनाने में कोई कसर नहीं रखती है। हालांकि, तालिबान नेतृत्व आमतौर पर गालियों से इनकार करता है, लेकिन उनके लड़ाके इन हमलों को अंजाम दे रहे हैं और हत्याओं को रोकने की उनकी जिम्मेदारी है।”

अंतर्राष्ट्रीय मानवीय कानून हिरासत में किसी के साथ दुर्व्यवहार को प्रतिबंधित करता है, जो युद्ध अपराध हैं। जब तक अनिवार्य सुरक्षा कारणों से बिल्कुल आवश्यक न हो, नागरिकों को हिरासत में लेना गैरकानूनी है। जवाबी हमला सामूहिक सजा का एक रूप है और निषिद्ध भी है।

टीकाकरण से लॉन्ग कोविड का जोखिम हुआ आधा : स्टडी

लंदन : कुल 860,000 से अधिक मरीजों पर किए गए नए रिसर्च के अनुसार, कोविड के खिलाफ टीका लगवाने से लोगों में लॉन्ग कोविड विकसित होने का जोखिम आधा हो...

येदियुरप्पा के बेटे के साथ शाह के गर्मजोशी दिखाने पर पार्टी में छिडी़ बहस

बेंगलुरू : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का शुक्रवार को ब्रेकफास्ट के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा के बेटे बी.वाई. विजयेंद्र से मुलाकात ने राज्य के राजनीतिक हलकों में एक...

दशकों पुराने शरण समझौते पर अमेरिका व कनाडा में बनी सहमति

ओटावा/वाशिंगटन : अमेरिका और कनाडा ने दशकों पुराने शरण समझौते पर एक सहमति बनी है, जो कुछ प्रवासियों को कनाडा में सुरक्षा मांगने से प्रतिबंधित करेगा। बाइडेन, जो वर्तमान में...

यूपी में आधे स्टार्टअप की कमान संभाल रही महिलाएं

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में करीब 50 फीसदी स्टार्टअप महिलाओं के हाथों में हैं। सरकार के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स के विशेष सचिव अक्षय त्रिपाठी...

राजनीति के अंधायुग को दिखायेगा एनएसडी

नई दिल्ली 23 मार्च।(अरविंद कुमार) नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा विश्व थिएटर दिवस के मौके पर हिंदी के ऐतिहासिक एवम कालजयी नाटक "अंधायुग " का मंचन करेगा। महाभारत के युद्ध पर...

राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर पत्रकारों का उत्पीड़न बंद करो : एडिटर्स गिल्ड

नई दिल्ली : एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने बुधवार को पत्रकारों के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के इस्तेमाल पर चिंता व्यक्त की और प्रशासन से लोकतांत्रिक मूल्यों का...

अर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के लिए साथ आए आईआईटी और अमेरिका की बफेलो यूनिवर्सिटी

नई दिल्ली : आईआईटी जोधपुर और अमेरिका की बफेलो युनिवर्सिटी (यूबी) मिलकर एक 'जॉइंट सेंटर ऑफ एक्सीलेंस' बनाने जा रहे हैं। विश्व के यह दो बड़े एवं महत्वपूर्ण शिक्षा संस्थान...

एनएफ रेलवे ट्रेन-हाथी की टक्कर को रोकने के लिए एआई का उपयोग करेगा

गुवाहाटी : पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) ने रेलटेल कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के साथ एआई-आधारित घुसपैठ जांच प्रणाली (आईडीएस) की स्थापना के लिए एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए...

एच3एन2 वायरस : बच्चों की रक्षा कैसे करें?

नई दिल्ली : डॉक्टरों ने मंगलवार को कहा कि एच3एन2 वायरस के कारण फ्लू के संक्रमण की बढ़ती संख्या के बीच बच्चे विशेष रूप से प्रभावित हुए हैं। मीडिया की...

देवघर के सत्संग आश्रम ने खड़ा किया जल संरक्षण का शानदार मॉडल, इसे पूरे देश में पहुंचाएगी सरकार

देवघर:झारखंड के देवघर शहर में स्थित सत्संग आश्रम ने जल संरक्षण का बेहतरीन मॉडल खड़ा किया है। अब केंद्र का जलशक्ति मंत्रालय इस मॉडल को पूरे देश तक पहुंचाने की...

बिहार की सियासत में राम, रावण, रामचरितमानसकी चर्चा के निकाले जा रहे मायने

पटना : बिहार में जाति आधारित राजनीति कोई नई बात नहीं है, लेकिन बिहार की राजनीति में पिछले कुछ दिनों से राम, रावण और रामचरितमानस पर बहस तेज है। वैसे,...

हसीना ने भारत को चिट्टागोंग, सिलहट बंदरगाहों का उपयोग करने की पेशकश की

ढाका : व्यापार और वाणिज्य को बढ़ावा देने के लिए क्षेत्रीय संपर्क बढ़ाने की आवश्यकता पर जोर देते हुए, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने भारत को पारस्परिक लाभ के...

editors

Read Previous

2021-08-01 मारुति सुजुकी ने जुलाई में बेची 1.62 लाख गाड़ियां

Read Next

ग्वालियर में राजा मिहिर भोज की जाति पर उपजे विवाद पर साक्ष्य मांगे गए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com