बदला लेने की खातिर तालिबान आलोचकों को बना रहा है निशाना

नई दिल्ली/न्यूयॉर्क, 1 अगस्त (आईएएनएस)| ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा कि अफगानिस्तान में तालिबानी फोर्स हमले के लिए जाने-माने आलोचकों को निशाना बना रही हैं। उनका दावा है कि उन्होंने अपने लड़ाकों को संयम से काम लेने का निर्देश दिया है। अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय वर्तमान में तालिबान सहित अफगानिस्तान में संघर्ष के सभी पक्षों द्वारा युद्ध अपराधों और गंभीर मानवाधिकारों के हनन के आरोपों की जांच कर रहा है।

ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा कि, तालिबान कमांडर जो अपने नियंत्रण में बलों द्वारा दुर्व्यवहार के बारे में जानते थे या उन्हें पता होना चाहिए था और उन्हें रोकने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की, वे कमांड जिम्मेदारी के मामले में दोषी हैं।

कंधार में, तालिबान प्रांतीय सरकार और सुरक्षा बलों के संदिग्ध सदस्यों और कुछ मामलों में उनके रिश्तेदारों को हिरासत में ले रहा है और उनकी हत्या कर रहा है।

कंधार में कार्यकतार्ओं ने कहा कि प्रांतीय राजधानी के आसपास के गांवों में तालिबान कमांडरों ने सरकार या पुलिस से जुड़े कई लोगों को हिरासत में लिया है।

एक मामले में, 16 जुलाई को, तालिबान लड़ाकों ने दो लोगों का अपहरण कर लिया, जिनके भाइयों ने एनडीएस 03 के साथ काम किया था। एनडीएस 03 सीआईए का समर्थन करने वाली एक सुरक्षा फोर्स है। डांड जिले के कासम पोल क्षेत्र में उनके घरों से एक रिश्तेदार का कहना है कि उन्होंने तब से दोनों के बारे में कोई खबर नहीं मिली है।

इसके अलावा जुलाई के मध्य में, एक रिपोर्ट में कहा गया कि तालिबान लड़ाकों ने स्पिन बोल्डक में एक पूर्व पुलिस अधिकारी अहमदुल्ला को हिरासत में लिया। उसके परिवार ने उसके बाद से नहीं सुना है। उनके चाचा ने कहा कि तालिबान ने यह कहते हुए पत्र भेजे थे कि सरकार या विदेशी बलों के साथ काम करने वाले किसी भी व्यक्ति को तब तक नुकसान नहीं होगा, जब तक वे तालिबान नेतृत्व को रिपोर्ट करते हैं।

हाल के मामलों में, तालिबान ने एक लोकप्रिय कंधारी कॉमेडियन, नजर मोहम्मद को मार डाला, जिसे खाशा ज्वान के नाम से जाना जाता है।

ह्यूमन राइट्स वॉच की एसोसिएट एशिया डायरेक्टर पेट्रीसिया गॉसमैन ने कहा, “तालिबान बलों ने स्पष्ट रूप से खाशा ज्वान को मार डाला क्योंकि उसने तालिबान नेताओं का मजाक उड़ाया था। उनकी हत्या और अन्य हालिया गालियां तालिबान कमांडरों की इच्छा को हिंसक रूप से यहां तक कि आलोचना या आपत्ति को कुचलने के लिए प्रदर्शित करती हैं।”

गॉसमैन ने कहा, “तालिबान ताकते आगे बढ़ाने के लिए अपने आलोचकों को बेरहमी से निशाना बनाने में कोई कसर नहीं रखती है। हालांकि, तालिबान नेतृत्व आमतौर पर गालियों से इनकार करता है, लेकिन उनके लड़ाके इन हमलों को अंजाम दे रहे हैं और हत्याओं को रोकने की उनकी जिम्मेदारी है।”

अंतर्राष्ट्रीय मानवीय कानून हिरासत में किसी के साथ दुर्व्यवहार को प्रतिबंधित करता है, जो युद्ध अपराध हैं। जब तक अनिवार्य सुरक्षा कारणों से बिल्कुल आवश्यक न हो, नागरिकों को हिरासत में लेना गैरकानूनी है। जवाबी हमला सामूहिक सजा का एक रूप है और निषिद्ध भी है।

छात्रों को जल्द उपलब्ध हो सकती हैं हिंदी, उड़िया और मराठी में इंजीनियरिंग की पुस्तकें

नई दिल्ली: भारतीय भाषाओं में उच्च शिक्षा की पहल के अंतर्गत केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने इंजिनियरिंग की किताबों पर चर्चा हेतु एक खास कैलेंडर लॉन्च किया है। भारतीय भाषाओं और...

घर में हुई तीसरी संतान, दो प्रधानों को गंवानी पड़ी कुर्सी, बीडीसी मेंबर ने भी दिया इस्तीफा

अल्मोड़ा: अल्मोड़ा में तीसरी संतान होने पर दो प्रधान और एक बीडीसी मेंबर को त्यागपत्र देना पड़ गया। अब इन सभी सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं। प्रदेश में पंचायत...

अधिक नहीं, अच्छे न्यायाधीशों की जरूरत : सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली: सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को उच्च न्यायालयों और निचली अदालतों में न्यायाधीशों की संख्या दोगुनी करने की मांग वाली याचिका पर विचार करने से इनकार करते हुए कहा...

छत्तीसगढ़ के इन्द्रावती टाईगर रिजर्व में बाघों की संख्या बढ़ी

रायपुर:वन्य प्राणी प्रेमियों के लिए यह अच्छी खबर है, क्योंकि छत्तीसगढ़ के बीजापुर स्थित इन्द्रावती टाइगर रिजर्व में बाघों की संख्या बढ़ कर पांच से छह हं गई है। यहां...

ब्रिटेन-चीन संबंधों का स्वर्ण युग समाप्त : सुनक

लंदन : चीन के साथ संबंधों का तथाकथित सुनहरा युग समाप्त हो गया है। हमें बीजिंग के प्रति अपने ²ष्टिकोण में बदलाव की आवश्यकता है। यह बात ब्रिटेन के प्रधान...

दिल्ली हिंसा के आरोपी सैफी की जमानत याचिका पर सुनवाई जारी रखेगा हाईकोर्ट

नई दिल्ली : वर्ष 2020 की दिल्ली हिंसा के पीछे कथित साजिश से जुड़े यूएपीए मामले में गिरफ्तार खालिद सैफी के वकील ने सोमवार को दिल्ली हाईकोर्ट में कहा कि...

केरल : पिता ने मानसिक रूप से बीमार बेटी का किया रेप, कोर्ट ने सुनाई 107 साल की सजा

तिरुवनंतपुरम: केरल के एक व्यक्ति को पथानमथिट्टा की पॉक्सो अदालत ने अपनी मानसिक रूप से बीमार छोटी बेटी के साथ रेप करने के आरोप में 107 साल जेल की सजा...

हरियाणा जिला परिषद चुनाव में बीजेपी का खराब प्रदर्शन

चंडीगढ़ : हरियाणा में हाल ही में संपन्न जिला परिषद के चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा को हार का सामना करना पड़ा। उसे सात जिलों में जिला परिषद की 102 सीटों...

दिल्ली और चंडीगढ़ में अपने देश का वीजा प्रदान करने की प्रकिया को कनाडा बनाएगा और सुव्यवस्थित

नई दिल्ली : कनाडा दिल्ली व चंडीगढ़ में अपने देश के लिए वीजा प्रदान करने की प्रक्रिया को और मजबूत बनाएगा। कनाडा में काम करने और अध्ययन करने के इच्छुक...

भारत को सालाना 1,000 से अधिक पायलटों की जरूरत है, पर ट्रेनिंग इंफ्रास्ट्रक्चर की है कमी

नई दिल्ली : उड्डयन क्षेत्र में विकास को देखते हुए उम्मीद है कि भारत को अगले पांच वर्षो में प्रतिवर्ष 1,000 से अधिक पायलटों की जरूरत होगी। हालांकि, विशेषज्ञों ने...

‘विधानसभा से इस्तीफे की घोषणा नए सैन्य नेतृत्व से जुड़ने का इमरान खान का प्रयास’

इस्लामाबाद : पीटीआई के अध्यक्ष इमरान खान की विधानसभा छोड़ने की अस्पष्ट धमकी वास्तव में राजनीतिक रूप से प्रासंगिक बने रहने का एक प्रयास है और नए सैन्य नेतृत्व को...

चीन में कोविड प्रतिबंधों के खिलाफ व्यापक विरोध, शी जिनपिंग से इस्तीफे की मांग

बीजिंग : एक अपार्टमेंट ब्लॉक में आग लगने के बाद चीन में कोविड प्रतिबंधों के खिलाफ विरोध तेज होता दिख रहा है। स्थानीय मीडिया ने यह जानकारी दी। पीड़ितों को...

editors

Read Previous

2021-08-01 मारुति सुजुकी ने जुलाई में बेची 1.62 लाख गाड़ियां

Read Next

ओलंपिक (पुरुष हॉकी) : आस्ट्रेलिया, जर्मनी, बेल्जियम सेमीफाइनल में पहुंचे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com