वॉलेट सेवाओं के लिए अब यूपीआई लाइट पर ध्यान केंद्रित करेगा पेटीएम

नई दिल्ली । पेटीएम का संचालन करने वाली कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड (ओसीएल) ने सोमवार को कहा कि वे अब उन उपयोगकर्ताओं को स्थानांतरित करने के लिए यूपीआई लाइट वॉलेट पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, जो कम मूल्य के रोजमर्रा के भुगतान के लिए वॉलेट का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं।

पेटीएम यूपीआई लाइट एक ऑन-डिवाइस वॉलेट है, जिसमें ग्राहक आसानी से फंड जमाकर भुगतान कर सकते हैं। इसका फायदा यह है कि आपको छोटे लेन-देन को पूरा करने के लिए पिन दर्ज करने की आवश्यकता नहीं होती है।

पेटीएम के प्रवक्ता ने कहा, “हम वॉलेट को एक काफी महत्वपूर्ण भुगतान प्रणाली के तौर पर देख रहे हैं। पेटीएम लाइट इस अनुभव को और बढ़ाता है। पेटीएम लाइट यूजर्स को बेहतरीन अनुभव प्रदान करता है और इसके माध्यम से लोकल स्टोर, दुकानों आदि पर रोजमर्रा के भुगतान को आसानी से किया जा सकता है। हम एनपीसीआई के साथ साझेदारी में भारत के हर कोने में यूपीआई इकोसिस्टम को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

यूपीआई लाइट वॉलेट को शुरू करने के लिए आपको पेटीएम ऐप पर जाना होगा। इसके लिए ‘यूपीआई लाइट एक्टिवेट’ के बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद यूपीआई लाइट में जिस बैंक खाते का आप उपयोग करना चाहते हैं, उसका चयन करें। इसके बाद अपने यूपीआई लाइट वॉलेट में राशि जमा करें। अब आप आसानी से भुगतान करने के लिए यूपीआई लाइट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

यूपीआई लाइट वॉलेट में एक बार में 2,000 रुपये जोड़ सकते हैं और दिन में अधिकतम दो बार राशि जमा कर सकते हैं। पेटीएम की ओर से एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और यस बैंक के साथ साझेदारी की गई है, जिससे ग्राहकों को यूपीआई लेन-देन करते समय अच्छी सेवाएं मिले।

–आईएएनएस

एलआईसी के शेयर में बंपर तेजी, एक साल में दिया करीब 80 प्रतिशत का रिटर्न

मुंबई । देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (एलआईसी) के शेयर में बीते एक वर्ष में बंपर 78 प्रतिशत की तेजी देखने को मिली है। शेयर में...

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, दो आतंकी ढेर

श्रीनगर । जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास गुरुवार को सुरक्षा बलों ने घुसपैठ की कोशिश नाकाम कर दी और दो आतंकवादियों को...

ओएनजीसी के शेयर में आई तेजी पर हरदीप सिंह पुरी ने दी बधाई

नई दिल्ली । दस साल बाद ओएनजीसी के शेयर में आई तेजी पर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने अपने सोशल मीडिया एक्स हैंडल पर अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा,...

आम बजट : इंफ्रास्ट्रक्चर विकास जारी रखे सरकार, ढांचागत सुधारों पर हो जोर, इंडस्ट्रीज की मांग

नई दिल्ली । भारत सरकार चालू वित्त वर्ष के लिए आम बजट 23 जुलाई को संसद में पेश करेगी। इस बजट से इंडस्ट्री को काफी उम्मीदें हैं। इंडस्ट्री लीडर्स का...

सेंसेक्स पहली बार 80,000 के पार बंद, निफ्टी 24,300 के ऊपर

मुंबई । भारतीय शेयर बाजार के लिए गुरुवार का कारोबारी सत्र काफी उतार-चढ़ाव वाला रहा। बाजार के मुख्य सूचकांक हल्की बढ़त के साथ बंद हुए हैं। दिन के दौरान सेंसेक्स...

गठबंधन सरकार में भी जारी रहेगी भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी : रिधम देसाई

नई दिल्ली । मॉर्गन स्टेनली इंडिया के प्रबंधक निदेशक (एमडी) रिधम देसाई ने कहा है कि गठबंधन सरकार बनने के बाद भी भारतीय अर्थव्यवस्था की तेज वृद्धि दर जारी रहने...

लंदन से 100 टन सोना वापस लाने से अर्थव्यवस्था पर नहीं पड़ेगा कोई फर्क : पी चिदंबरम

नई दिल्ली । कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा ब्रिटेन के बैंक में रखे अपने करीब 100 टन सोने को...

पीएम मोदी के मजबूत और निर्णायक नेतृत्व के कारण बैंकिंग क्षेत्र में हुआ सुधार : निर्मला सीतारमण

नई दिल्ली । वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के मतदान से एक दिन पहले शुक्रवार को पूर्ववर्ती यूपीए सरकार पर बैंकिंग सेक्टर को "भ्रष्टाचार और...

शेयर बाजार की तेजी पर लगा ब्रेक, 117 अंक फिसला सेंसेक्स

मुंबई । भारतीय शेयर बाजार के लिए बुधवार का कारोबारी सत्र नुकसान वाला रहा। बाजार के बड़े सूचकांक लाल निशान में बंद हुए हैं। सेंसेक्स 117 अंक या 0.16 प्रतिशत...

सीमित दायरे में बाजार; निफ्टी 22,000 के करीब

मुंबई । भारतीय शेयर बाजार में शुक्रवार को करीब सपाट खुला है और एक सीमित दायरे में कारोबार कर रहा है। बाजार के बड़े सूचकांक हल्की बढ़त के साथ हरे...

गिरावट के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, मिड कैप और स्मॉल कैप इंडेक्स 2 फीसदी तक फिसले

मुंबई । भारतीय शेयर बाजार में मंगलवार के कारोबारी सत्र में चौतरफा गिरावट हुई। मंदी का असर लार्ज कैप की अपेक्षा स्मॉल कैप और मिड कैप शेयर पर सबसे ज्यादा...

नकली नोट को खत्म करने का मोदी सरकार का प्रयास कितना लाया रंग?

नई दिल्ली । 8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पहले कार्यकाल के दौरान नोटबंदी की घोषणा की थी। सरकार ने 500 और 1000 के नोटों को तब...

admin

Read Previous

भारत में जेनएआई सेवाओं के प्रसार के लिए एयरटेल व गूगल क्लाउड के बीच समझौता

Read Next

टी20 विश्व कप से पहले अपनी फॉर्म हासिल कर लेंगे रोहित और हार्दिक : मूडी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com