दक्षिण अफ्रिका में हिंसा से बचने भारतीय मूल के निवासियों ने हथियार उठाए

डरबन, 16 जुलाई (आईएएनएस)| दक्षिण अफ्रीका में भारतीय मूल के निवासियों ने 7 जुलाई से देश में चल रही भीड़ की हिंसा के बाद अपने परिवारों और व्यवसायों की रक्षा के लिए सशस्त्र समूहों का गठन किया है।

डॉक्टर प्रीतम नायडू (सुरक्षा कारणों से नाम बदल दिया गया है) ने कहा, “हम अपनी रक्षा के लिए हथियार खरीदने और रक्षा समूहों को संगठित करने के लिए मजबूर हैं। हम व्यापार और व्यवसायों में सफल हैं और कई स्थानीय लोग हमसे ईष्र्या करते हैं। वे सिर्फ हमें लूटने का मौका चाहते हैं।”

नायडू डरबन से हैं,जो दस लाख भारतीय मूल के निवासियों का घर है।

नायडू ने कहा कि स्थानीय पुलिस सिर्फ दर्शक बनकर रह गई है और कुछ मामलों में ‘सब लूटो, जला दो’ वाली भीड़ में शामिल हो गई, जिन्होंने भारतीयों को जाने के लिए कहा है।

क्वाजुलु नटाल(केजेडएन) के साथ दो सबसे बुरी तरह प्रभावित प्रांतों में से एक, गौतेंग में किराने की दुकानों की एक श्रृंखला चलाने वाले राजेश पटेल ने कहा, “हम यहां कई पीढ़ियों से हैं। अब कुछ जुलु सतर्कतावादी हमें यह कहते हुए देश छोड़ने के लिए कह रहे हैं कि यह आपका देश नहीं है।”

अकेले डरबन में, 50,000 व्यवसायों को नष्ट कर दिया गया है, जिनमें से ज्यादातर भारतीय मूल के लोगों के स्वामित्व में हैं।

डरबन चैंबर ऑफ कॉमर्स के जानेले खोमो ने कहा कि लगभग 16 अरब रैंड का नुकसान होने का अनुमान है।

दक्षिण अफ्रीकी सरकार ने कहा कि गुरुवार रात हिंसा प्रभावित इलाकों में सेना को तैनात कर दिया गया है।

सरकार ने स्वीकार किया कि हिंसा में 117 लोगों की मौत हुई है, जिनमें ज्यादातर भारतीय मूल के लोग हैं।

इसने दावा किया कि जोहान्सबर्ग में सामान्य स्थिति लौट रही है, लेकिन डरबन में स्थिति अभी भी तनावपूर्ण थी।

व्यापारी जोसेफ कामथ (बदला हुआ नाम) ने कहा, “अगर भीड़ फिर से आती है तो हम उन्हें गोली मार देंगे।”

उन्होंने मैसेजिंग ऐप पर आईएएनएस से कहा, “उन्होंने हमारे इलाकों में लूटपाट की, हमारी दुकानें और मॉल तबाह कर दिए गए, लेकिन अगर वे अब हमारे घरों के लिए आते हैं, तो हम परिवार के सम्मान को बनाए रखने के लिए लड़ेंगे और मरेंगे।”

7 जुलाई को पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा की गिरफ्तारी के बाद से दक्षिण अफ्रीका अराजकता और अशांति की स्थिति में है।

कभी रंगभेद के खिलाफ लड़ाई के लिए जाने जाने वाले जूमा को अदालत के आदेशों की अवहेलना करने के लिए एस्टकोर्ट सुधार केंद्र में 15 महीने के लिए कैद किया गया है।

उन्होंने न्यायिक आयोग के सामने गवाही नहीं दी, जो 2009-2018 के बीच उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रहा था।

जूमा की सजा के विरोध में कई दक्षिण अफ्रीकी लोग सड़कों पर उतर आए और जल्द ही प्रदर्शन भारतीय मूल के लोगों के खिलाफ हिंसक हो गया।

गौतेंग और केजेडएन प्रांतों की सड़कों पर हिंसा के रूप में बड़े पैमाने पर आगजनी, शूटिंग और लूट की तस्वीर और वीडियो सामने आए।

कुछ तस्वीरें यह भी दिखाती हैं कि कैसे भारतीयों ने अपनी और अपनी संपत्ति की रक्षा के लिए खुद शस्त्र धारण किया था।

वे पूरी तरह से सशस्त्र और वॉकी-टॉकी से लैस रात की गश्त का आयोजन कर रहे हैं।

जैसे-जैसे हिंसा बेरोकटोक जारी रही, दक्षिण अफ्रीका के लोगों ने भारतीय समुदाय पर हमला करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया, विशेष रूप से गुप्ता ब्रदर्स पर, जो लंबे समय से जुमा के समर्थन से भ्रष्टाचार के लिए दोषी थे।

एक दक्षिण अफ्रीकी व्यक्ति को एक ट्वीट के माध्यम से हिंसा भड़काते हुए पाया गया, जिसमें उसने अपने भाइयों से यह याद रखने के लिए कहा कि कैसे ‘जैकब जुमा ने देश को इंडियन मोनॉपोली कैपिटल को बेच दिया।’

इस ट्वीट के साथ जो तस्वीर थी वह गुप्ता ब्रदर्स की थी।

वे 1993 में ही दक्षिण अफ्रीका चले गए थे। अब, 10 अरब डॉलर से अधिक की कुल संपत्ति के साथ, गुप्ता बंधुओं के पास कोयला खदानें, कंप्यूटर, समाचार पत्र और अन्य मीडिया आउटलेट हैं।

एक भारतीय मूल के पत्रकार ने कहा, “उन्होंने जूमा और अन्य राजनेताओं के साथ अंडर-हैंड डील करके देश को अरबों का चूना लगाया है और सरकारी खजाने को भारी नुकसान पहुंचाया है। अब भ्रष्ट गुप्ता के साथ पूरे समुदाय को निशाना बनाया जा रहा है।”

अफ्रीकी देशों में भारतीयों को अक्सर निशाना बनाया जाता रहा है और हिंसा को सही ठहराने के लिए हवा में कारण गढ़े गए हैं।

तानाशाह ईदी अमीन ने अगस्त 1972 में युगांडा से हजारों भारतीयों को निकाल दिया था।

प्रशांत द्वीप राष्ट्र फिजी में बसने वाले भारतीयों को तरह की हिंसा का सामना करना पड़ा था।

हवाई में दुनिया का सबसे बड़ा ज्वालामुखी करीब 4 दशक बाद फटा

होनोलूलू : हवाई में दुनिया का सबसे बड़ा सक्रिय ज्वालामुखी मौना लोआ करीब 40 साल में पहली बार फटा है। यह जानकारी अधिकारियों ने दी है। समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने...

लक्ष्मी सिंह बनीं यूपी की पहली महिला पुलिस कमिश्नर

लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार आधी रात को एक बड़े फेरबदल के तहत तीन नवगठित आयुक्तालयों के लिए नए पुलिस आयुक्तों की नियुक्ति की और नोएडा व वाराणसी...

महबूबा मुफ्ती ने श्रीनगर में सरकारी आवास छोड़ा

श्रीनगर:पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में अपना सरकारी आवास खाली कर दिया और शहर के बाहरी इलाके में...

दक्षिण कोरिया ने पुराने हेलिकॉप्टरों को बदलने की योजना को दी मंजूरी

सियोल: दक्षिण कोरिया ने सोमवार को पुराने हेलिकॉप्टरों को बदलने के लिए हल्के हथियारों से लैस हेलीकॉप्टरों (एलएएच) के बड़े पैमाने पर उत्पादन की योजना को मंजूरी दे दी। देश...

प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल की घटी सुरक्षा, अब जेड की जगह मिलेगी वाई श्रेणी की सिक्योरिटी

लखनऊ: प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व जसवंत नगर से विधायक शिवपाल सिंह यादव की सुरक्षा को सरकार ने घटा दिया है। उनकी सुरक्षा को जेड से वाई...

बिहार: नीतीश के पास ललन के अलावा कोई विकल्प नहीं, जदयू अध्यक्ष बनना लगभग तय

पटना: बिहार में सत्ताधारी जनता दल (युनाइटेड) के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में फिर से उमेश सिंह कुशवाहा की औपचारिक घोषणा के बाद सबकी नजर राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाम को...

बिना सुरक्षा के बिहार के किसी गांव में पैदल नहीं चल सकते नीतीश : प्रशांत किशोर

मोतिहारी (बिहार): चर्चित चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने सोमवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जोरदार सियासी हमला बोलते हुए कहा कि आज स्थिति यह है कि मुख्यमंत्री नीतीश...

पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए एफएसएल रोहिणी पहुंचा आफताब पूनावाला

नई दिल्ली : अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाल्कर की बेरहमी से हत्या करने वाला आफताब अमीन पूनावाला पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए सोमवार को रोहिणी स्थित फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) पहुंचा।...

इटावा रेलवे स्टेशन के पूछताछ कार्यालय से गूंजा डिंपल भाभी जिंदाबाद!

इटवा : इटावा रेलवे स्टेशन पर यात्री उस समय हैरान रह गए, जब उन्होंने पूछताछ कार्यालय के पब्लिक एड्रेस सिस्टम से एक असामान्य घोषणा सुनी। इसमें मैनपुरी लोकसभा सीट से...

अल-शबाब के आतंकवादियों ने मोगादिशु के होटल पर किया हमला

मोगादिशु : अल-शबाब के आतंकवादियों ने मोगादिशु में भारी सुरक्षा वाले विला रोजा होटल पर धावा बोल दिया है। सोमालिया की राजधानी पुलिस ने यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी शिन्हुआ...

सोमालिया में अल-शबाब के 100 से अधिक आतंकवादी मारे गए

मोगादिशु : अल-शबाब के 100 से अधिक आतंकवादी मारे गए। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने स्थानीय मीडिया से इसकी पुष्टि की। मध्य सोमालिया के मध्य शबेले और हिरान क्षेत्रों की...

एम्स रैंसमवेयर अटैक : प्रमुख मरीजों के डेटा लीक का खतरा, डार्क वेब पर बिक्री में शामिल

नई दिल्ली:अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नई दिल्ली, इस सप्ताह के शुरू में बड़े पैमाने पर रैंसमवेयर हमले के बाद अभी भी अपने सर्वर को ठीक करने और चलाने के...

editors

Read Previous

सानिया मिर्जा, पति शोएब को यूएई सरकार ने दिया गोल्डन वीजा

Read Next

तृणमूल में शामिल हो सकते हैं शत्रुघ्न सिन्हा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com