उत्तर प्रदेश में हिंदुत्व को लेकर लोगों की राय जुदा

लखनऊ, 26 जून (आईएएनएस)| भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की हिंदुत्व ब्रांडिंग को लेकर उत्तर प्रदेश में लोगों की राय अलग-अलग है। एक वरिष्ठ भाजपा नेता के मुताबिक नई भाजपा मजबूत है और इसकी व्यापक स्वीकार्यता है जबकि राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के एक वरिष्ठ पदाधिकारी का मानना है कि भाजपा ने लोगों से जो वादे किए थे, उसे पूरा नहीं कर सकी है और इसीलिए वह हिंदुत्व कार्ड खेल रही है।

भाजपा की उत्तर प्रदेश इकाई के उपाध्यक्ष विजय पाठक ने आईएएनएस से कहा, एक मजबूत भाजपा का मतलब एक मजबूत भारत है। पार्टी ने स्पष्ट रूप से रामनाथ कोविंद और अब द्रौपदी मुर्मू जैसे किसी व्यक्ति को राष्ट्रपति पद के लिए नामित करके अपनी समावेशिता का संदेश दिया है।

उन्होंने कहा कि पार्टी एक या दो वोट बैंक पर ध्यान केंद्रित नहीं कर रही है और उसने लगभग सभी जातियों और श्रेणियों को महत्वपूर्ण पद दिए हैं।

रालोद के राष्ट्रीय सचिव अनिल दुबे को हालांकि लगता है कि भाजपा मुख्य मुद्दों से दूर भाग रही है और वह नहीं चाहती कि जनता उनके बारे में बात करे।

दुबे ने कहा, जब भी विपक्ष इन मुद्दों को उठाने की कोशिश करता है, भाजपा लोगों को भ्रमित करने के लिए हिंदू-मुस्लिम एजेंडा लेकर सामने आती है। पार्टी और उसकी सरकारें बेरोजगारी, गरीबी, स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी, किसानों की समस्याओं के बारे में बात नहीं करना चाहती हैं।

भाजपा के आक्रामक हिंदुत्व ब्रांडिंग का बचाव करते हुए पाठक ने कहा, हर कोई अपने धर्म का पालन करने के लिए स्वतंत्र है। अगर योगी आदित्यनाथ सरकार ने लाउडस्पीकर हटाने का आदेश दिया, तो उन्होंने यह भी सुनिश्चित किया कि पहले लाउडस्पीकर गोरखनाथ मंदिर से हटाएं जाएं। यह साबित करता है कि यह निर्णय एक विशेष समुदाय पर लक्षित नहीं था।

पाठक ने आगे कहा, तिलक लगाना या भगवा पहनना मेरी निजी पसंद है और किसी को भी इस पर आपत्ति नहीं होनी चाहिए। अगर किसी के द्वारा गुंडागर्दी करने का कोई मामला सामने आया है तो चाहे वह पार्टी का सदस्य भी हो तब भी कार्रवाई की गई है। पार्टी या सरकार द्वारा किसी भी आधार पर कोई भेदभाव नहीं किया गया है।”

उन्होंने कहा, मुसलमानों के अलग-थलग होने की बात हो रही है, लेकिन मुस्लिम भी सरकारी योजनाओं से लाभान्वित हो रहे हैं। किसी को धर्म या जाति के आधार पर लाभ से वंचित करने का एक भी उदाहरण नहीं मिला है।

पाठक ने यह भी कहा कि पार्टी पहले से कहीं ज्यादा लोगों की सेवा करने पर ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा, हमारे कार्यकर्ता और नेता लगातार काम कर रहे हैं। हम पार्टी मशीनरी को पूरी तरह से सक्रिय रखने में विश्वास करते हैं।

दूसरी ओर दुबे ने कहा कि भाजपा अपने नए अवतार में सत्ता बनाए रखने के लिए भावनात्मक हिंदुत्व पर निर्भर है और अल्पसंख्यक इस खेल में मोहरे के रूप में इस्तेमाल होते हैं।

उन्होंने कहा, भाजपा सरकार गौ कल्याण की बात करती है और उसके लोग इस मुद्दे पर मॉब लिंचिंग में लिप्त हैं। लेकिन गौशालाओं में गायों की स्थिति को देखें? कोई भी इसके बारे में बात नहीं करता है, उन्होंने कहा।

रालोद नेता ने कहा कि भाजपा को जाहिर तौर पर लोकतांत्रिक मानदंडों में कोई विश्वास नहीं है क्योंकि उसने कृषि कानूनों की तरह ही जन भावनाओं की परवाह किए बिना अग्निपथ योजना शुरू की है।

दुबे ने कहा, कृषि कानूनों के खिलाफ साल भर विरोध किया गया था और अब युवा अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे हैं। भाजपा जनता की मांगों की अवहेलना कर रही है।”

–आईएएनएस

editors

Read Previous

महाराष्ट्र में नाटक चालू आहे

Read Next

टीम ने उपमहाद्वीप के मैदानों पर की गई गलतियों से बहुत कुछ सीखा : ख्वाजा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com