खादी ने भूटान, यूएई और मैक्सिको में ट्रेडमार्क पंजीकरण हासिल किया

नई दिल्ली: खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने भूटान, यूएई और मैक्सिको में ट्रेडमार्क पंजीकरण हासिल कर लिया है। उद्यमों ने शनिवार को यह जानकारी दी। इसके अलावा, केवीआईसी के ट्रेडमार्क आवेदन दुनियाभर के 40 देशों में लंबित हैं जिनमें अमेरिका, कतर, श्रीलंका, जापान, इटली, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, सिंगापुर, ब्राजील और अन्य शामिल हैं।

केवीआईसी ने शुक्रवार को भूटान में नवीनतम ट्रेडमार्क पंजीकरण प्राप्त किया, जबकि संयुक्त अरब अमीरात में 28 जून को ट्रेडमार्क पंजीकरण प्रदान किया गया।

इसके साथ, केवीआईसी पहली बार किसी खाड़ी देश में ट्रेडमार्क पंजीकरण हासिल करने में सफल रहा है। इससे पहले, केवीआईसी को दिसंबर 2020 में मैक्सिको में ‘खादी’ के लिए ट्रेडमार्क पंजीकरण मिला था।

अब तक केवीआईसी के पास छह देशों – जर्मनी, यूके, ऑस्ट्रेलिया, रूस, चीन और यूरोपीय संघ में ‘खादी’ शब्द के लिए ट्रेडमार्क पंजीकरण थे, जहां कुछ वर्गो में ट्रेडमार्क पंजीकरण दिए गए थे।

हालांकि, भूटान, संयुक्त अरब अमीरात और मैक्सिको में हाल ही में ट्रेडमार्क पंजीकरण के साथ, ऐसे देशों की संख्या नौ हो गई है।

इन देशों में, केवीआईसी ने खादी कपड़े, खादी रेडीमेड कपड़ों और ग्रामीण उद्योग के उत्पादों जैसे खादी साबुन, खादी सौंदर्य प्रसाधन, खादी अगरबत्ती से संबंधित विभिन्न वर्गों में पंजीकरण प्राप्त किया है।

केवीआईसी के इतिहास में यह पहली बार है कि पिछले पांच वर्षों में ब्रांड ‘खादी’ की रक्षा के लिए निरंतर प्रयास किए गए हैं। यह ब्रांड हमें महात्मा गांधी के अलावा किसी और ने नहीं दिया था।

केवीआईसी के अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना ने कहा कि ये ट्रेडमार्क पंजीकरण वैश्विक स्तर पर ‘खादी’ ब्रांड नाम के किसी भी दुरुपयोग को रोकेंगे।

“हाल के वर्षों में, खादी को अपनाने की प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के कारण भारत और विदेशों में खादी की लोकप्रियता में भारी वृद्धि देखी गई है। इसलिए, खादी की पहचान की रक्षा करने और उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा के लिए केवीआईसी के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण हो गया है और लाखों खादी कारीगर जो असली खादी उत्पादों का निर्माण कर रहे हैं।” सक्सेना ने कहा।

यह विकास बहुत महत्व रखता है क्योंकि मेक्सिको और जर्मनी जैसे देशों में कुछ निजी स्थानीय संस्थाओं द्वारा अपने-अपने देशों में ब्रांड नाम ‘खादी’ के लिए ट्रेडमार्क पंजीकरण की मांग की गई है।

मेक्सिको में, केवीआईसी ने ‘वन फाउंडेशन ओक्साका एसी’ के ट्रेडमार्क आवेदन को चुनौती दी, जिसने ‘खादी’ लोगो के लिए आवेदन किया था। हालांकि, फर्म ने केवीआईसी की आपत्तियों को चुनौती नहीं दी और केवीआईसी के पक्ष में ‘खादी’ शब्द और लोगों के लिए ट्रेडमार्क पंजीकरण प्रदान किया गया।

इसी तरह, जर्मनी में केवीआईसी ने एक स्थानीय कंपनी – बेस्ट नेचुरल प्रोडक्ट्स जीएमबीएच (बीएनपी) को चुनौती दी, जिसे 2011 में पहले से ही ‘खादी’ के निशान और यूरोपीय संघ और अन्य देशों में विभिन्न वर्गो में संबंधित अंक प्राप्त हुए थे।

–आईएएनएस सचिव ने पर्यटन स्थलों वाले 8 राज्यों को चेताया, दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने शनिवार को पर्यटन स्थलों और हिल स्टेशनों वाले आठ राज्यों को सतर्कता बरतते हुए वायरस के प्रसार से बचने के लिए सख्त कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन करने को कहा। केंद्रीय गृह सचिव भल्ला ने यहां आयोजित एक बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें हिल स्टेशनों और पर्यटन स्थलों पर कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकारों द्वारा उठाए गए विभिन्न कदमों की समीक्षा की गई।

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि कोविड-19 की दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है, इसलिए सावधानी बरतनी जरूरी है।

इस बैठक के दौरान गोवा, हिमाचल प्रदेश, केरल, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति के समग्र प्रबंधन एवं लोगों के टीकाकरण की ताजा स्थिति पर चर्चा की गई।

केंद्रीय गृह सचिव ने हिल स्टेशनों और अन्य पर्यटन स्थलों में कोविड-उपयुक्त व्यवहार की घोर अवहेलना को दर्शाने वाली मीडिया रिपोटरें के मद्देनजर लोगों से सावधानी बरतने को कहा।

उन्होंने विशेष जोर देते हुए कहा कि कोविड की दूसरी लहर का कहर अभी खत्म नहीं हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि राज्यों को अपनी ओर से पहल करते हुए लोगों द्वारा मास्क पहनने, सामाजिक दूरी, और अन्य सुरक्षित व्यवहार के संबंध में निर्दिष्ट प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करना चाहिए।

यह पाया गया कि कोविड की दूसरी लहर के कमजोर पड़ने की गति देश के विभिन्न राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में एक जैसी नहीं है। इसके साथ ही यह भी पाया गया कि वैसे तो कोविड पॉजिटिव मामलों की समग्र दर संभवत: घटती जा रही है, लेकिन राजस्थान, केरल, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के कुछ जिलों में कोविड पॉजिटिव मामलों की दर 10 प्रतिशत से अधिक है, जो निश्चित तौर पर चिंता का विषय है।

राज्यों से टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-टीकाकरण और कोविड उपयुक्त व्यवहार की पांच सूत्री रणनीति का पालन करने के लिए भी कहा गया, जैसा कि गृह मंत्रालय के 29 जून, 2021 के आदेश में निर्धारित किया गया है। भविष्य में कोविड के मामलों में किसी भी संभावित वृद्धि से निपटने के लिए स्वास्थ्य संबंधी पर्याप्त बुनियादी ढांचागत सुविधाओं (विशेषकर ग्रामीण, उपनगरीय और आदिवासी या जनजातीय क्षेत्रों में) की तैयारी करने की भी सलाह दी गई।

बैठक में डॉ. वी. के. पॉल, सदस्य (स्वास्थ्य), नीति आयोग; सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार; महानिदेशक, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद; और आठ राज्यों के मुख्य सचिवों, पुलिस महानिदेशकों और प्रधान सचिवों (स्वास्थ्य) ने भी हिस्सा लिया।

–आईएएनएस

रोजगार पर फोकस के साथ समावेशी रहा भारत का विकास: आर्थिक सर्वेक्षण

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा मंगलवार को संसद में पेश किए गए 2022-23 के आर्थिक सर्वेक्षण में रेखांकित किया गया है कि भारत का विकास समावेशी रहा...

आर्थिक सर्वेक्षण में ग्रामीण विकास पर जोर

नई दिल्ली: ग्रामीण विकास पर सरकार का फोकस मंगलवार को संसद में पेश किए गए आर्थिक सर्वेक्षण 2022-23 में दिए गए जोर से समझा जा सकता है। सर्वेक्षण में कहा...

रात 2 बजे अपने शिशु को दूध पिलाते समय मुझे छंटनी की सूचना मिली : बर्खास्त गूगल कर्मचारी

नई दिल्ली: गूगल द्वारा बर्खास्त किए गए 12,000 कर्मचारियों में से एक कर्मचारी ने कहा कि वह रात को 2 बजे अपने नवजात शिशु को दूध पिला रहा था, जब...

बजट इच्छा सूची : कुशल कार्यबल, स्वच्छ ऊर्जा, भू-स्थानिक मानचित्रण

नई दिल्ली: केंद्रीय बजट 2023 बस कुछ ही दिन दूर है और सभी को उम्मीद है कि यह चुनावी पूर्व बजट विकास के लिए एक बूस्टर शॉट प्रदान करेगा। इससे...

गेहूं के आटे की बढ़ती कीमतों व बढ़ते राष्ट्रीय कर्ज पर सरकार को घेरेगी कांग्रेस

नई दिल्ली:गेहूं के आटे की कीमतें 10 साल के उच्च स्तर पर पहुंचने और अन्य आवश्यक वस्तुओं के भी उत्तर की ओर बढ़ने के साथ, विपक्ष को उम्मीद है कि...

उच्चतम स्थान पर प्रीमियम सेगमेंट, भारत में 32 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी पर 5जी फोन

नई दिल्ली:प्रीमियम सेगमेंट (30,000 रुपये और उससे अधिक) ने भारत के स्मार्टफोन शिपमेंट में 11 प्रतिशत और 2022 में कुल बाजार राजस्व में 35 प्रतिशत का योगदान दिया, जो अब...

वित्तवर्ष 2022-23 की तीसरी तिमाही में आधार ई-केवाईसी लेनदेन 18.53 फीसदी बढ़ा

नई दिल्ली:| आधार आधारित ई-केवाईसी को अपनाने में लगातार प्रगति देखी गई है। वित्तवर्ष 2022-23 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में आधार का उपयोग करके 84.8 करोड़ से अधिक ई-केवाईसी लेनदेन किए...

5 रेत उत्पादन संयंत्र स्थापित करेगी कोल इंडिया

नई दिल्ली:कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) ने मई 2023 और जुलाई 2024 के बीच पांच ओवरबर्डन (ओबी) से निर्मित रेत (एम-सैंड) संयंत्र स्थापित करने की योजना बनाई है। इन संयंत्रों की...

व्यावसायिक फूलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए 39 करोड़ रुपये की परियोजना को मंजूरी

श्रीनगर:जम्मू और कश्मीर सरकार ने फूलों को बढ़ावा देने के लिए केंद्र शासित प्रदेश में विभिन्न कृषि-जलवायु और पारिस्थितिक स्थितियों को ध्यान में रखते हुए फूलों की खेती की विशाल...

जीटीए ऑनलाइन गेम में नए फीचर्स से परेशान हुए गेमर्स, डेवलपर्स ने मांगी माफी

सैन फ्रांसिस्को:रॉकस्टार गेम्स के लोकप्रिय मल्टीप्लेयर एक्शन-एडवेंचरगेम ग्रैंड थेफ्ट ऑटो (जीटीए) ऑनलाइन खरीदने वालों ने कई खामियों की सूचना दी है, जिसमें गेम खेलते-खेलते अचानक रुक जाना, गेम के दौरान...

केंद्र ने विरोध के बीच फैक्ट चैक नियम को टालने का लिया फैसला

नई दिल्ली, 26 जनवरी (आईएएनएस)| आईटी नियमों में प्रस्तावित संशोधनों पर हंगामे के बीच केंद्र सरकार ने फैक्ट चैक नियम को टालने का फैसला किया है। ये प्रस्तावित नियम प्रेस...

एआई की नई शराब नीति- फ्लायर को ‘शराबी’ न कहें, उन्हें विनम्रता से बताएं कि उनका व्यवहार अस्वीकार्य है

नई दिल्ली:एयर इंडिया द्वारा अपनी शराब सेवा नीति की समीक्षा करने के साथ, नए दिशानिर्देशों में कहा गया है कि केबिन क्रू को बिना आवाज उठाए सम्मानपूर्वक कार्य करना चाहिए...

admin

Read Previous

सचिव ने पर्यटन स्थलों वाले 8 राज्यों को चेताया, दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है

Read Next

असम की दो बच्चों की नीति का असर सभी समुदायों पर होगा, केवल मुस्लिमों पर नहीं : कुरेशी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com