मौद्रिक नीति समीक्षा से कुछ घंटे पहले पाक रुपया की जबरदस्त धुलाई

कराची: केंद्रीय बैंक की मौद्रिक नीति की समीक्षा से कुछ घंटे पहले और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) सौदे पर चिंता के बीच इंट्राडे इंटरबैंक व्यापार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया 18.89 रुपये से अधिक गिर गया। जियो न्यूज ने बताया कि रुपया एक दिन पहले 266.11 रुपये पर बंद होने के बाद सुबह करीब 11:36 बजे (स्थानीय समय) डॉलर के मुकाबले 285 पर कारोबार कर रहा था। इस बीच, खुले बाजार में स्थानीय इकाई 292 रुपये प्रति डॉलर पर कारोबार कर रही थी।

जियो न्यूज ने बताया- ईसीएपी के महासचिव जफर पारहका ने कहा कि बाजार में मुख्य चिंता आईएमएफ के साथ समझौते में देरी को लेकर है। हालांकि, ग्रे मार्केट के साथ मुद्रा दर को कम करने के लिए ऋणदाता की स्थिति- जिसे पेशावर बाजार भी कहा जाता है- ने अनिश्चितता को जन्म दिया है।

पाराचा ने कहा, उनके विचार में, मौजूदा दर बहुत अधिक है और इसे इतना नहीं बढ़ना चाहिए था। उन्होंने कहा कि ग्रे मार्केट में एक दिन पहले डॉलर 290 रुपये पर कारोबार कर रहा था। इस बीच, मुद्रा बाजार विशेषज्ञ अदनान असगर ने कहा कि पाकिस्तान और आईएमएफ के बीच सौदे में देरी के बाद मुद्रा में गिरावट आई है। उन्होंने कहा कि इस देरी के कारण देश डिफॉल्ट स्थिति के करीब है। अनिश्चित राजनीतिक स्थिति रुपये के मूल्यह्रास के पीछे एक अन्य कारक रही है।

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष इमरान खान ने रुपये की ‘कत्लेआम’ करने के लिए सरकार की आलोचना की है। जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, रुपया खत्म हो गया- पीडीएम के 11 महीनों में 62 प्रतिशत या 110/डॉलर से अधिक की गिरावट आई है। इसने अकेले सार्वजनिक ऋण को बढ़ाकर 14.3 ट्रिलियन रुपये और ऐतिहासिक 75 साल के उच्च मुद्रास्फीति को 31.5 प्रतिशत कर दिया है।

पीटीआई प्रमुख ने आरोप लगाया कि देश पूर्व सेना प्रमुख जनरल (सेवानिवृत्त) कमर जावेद बाजवा द्वारा देश पर शासन परिवर्तन की साजिश की भारी कीमत चुका रहा है, जहां अपराधियों का एक समूह राष्ट्र पर थोपा गया था।

–आईएएनएस

एग्रोस्टार के सस्टेनेबिलिटी रिपोर्ट में एग्रीकल्चर इकोसिस्टम पर परिवर्तनकारी प्रभाव

नई दिल्ली । लीडिंग एग्रीटेक एग्रोस्टार ने गुरुवार को अपनी व्यापक पर्यावरण, सामाजिक और शासन (ईएसजी) प्रभाव रिपोर्ट 2024 जारी की। इसमें इंडियन एग्रीकल्चर इकोसिस्टम (भारतीय कृषि पारिस्थितिकी तंत्र) पर...

कैंसर के क्षेत्र में काम करने वाले अमेरिकी स्टार्टअप नवॉक्स को मिली फंडिंग

नई दिल्ली । कैंसर का शीघ्र पता लगाने की नई तकनीक विकसित करने वाले अमेरिकी स्टार्टअप नवॉक्स ने गुरुवार को ताजा फंडिंग मिलने की घोषणा करते हुए कहा कि यह...

बजट में नौ शीर्ष प्राथमिकताओं में स्वास्थ्य का न होना चिंता का विषय : विशेषज्ञ

नई दिल्ली । केंद्रीय बजट 2024-25 को लेकर विशेषज्ञों ने कहा है कि इस बजट में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय रुझानों का बेहतर तरीके से ध्यान रखा गया, लेकिन सरकार की...

अदाणी ग्रीन ने खावड़ा रिन्यूएबल एनर्जी प्लांट में शुरू किया पवन ऊर्जा का उत्पादन

अहमदाबाद | अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) ने बुधवार को कहा कि कंपनी ने गुजरात के खावड़ा में स्थित 30,000 मेगावाट (30 गीगावाट) क्षमता वाले दुनिया के सबसे बड़े रिन्यूएबल...

बजट के बाद शेयर बाजार में रिकवरी, सेंसेक्स सपाट बंद

मुंबई । भारतीय शेयर बाजार में बजट के कारण मंगलवार को भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिला। हालांकि, बाजार के मुख्य सूचकांक सपाट बंद होने में कामयाब रहे। कारोबारी सत्र के...

इंडस्ट्री दिग्गजों ने बजट को सराहा, बताया – रोजगार सृजन और महिला विकास में निभाएगा बड़ी भूमिका

नई दिल्ली । देश के बड़े इंडस्ट्री चैंबर्स ने मंगलवार को केंद्रीय बजट 2024-25 की सराहना करते हुए कहा कि यह आम जनता केंद्रित है, जो कि राजकोषीय स्थिरता के...

भूटान के नरेश और प्रधानमंत्री ने किया अदाणी की खावड़ा परियोजना, मुंद्रा पोर्ट का दौरा

अहमदाबाद । भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक और प्रधानमंत्री शेरिंग टोबगे ने मंगलवार को अदाणी समूह की खावड़ा नवीकरणीय ऊर्जा परियोजना और मुंद्रा पोर्ट का दौरा किया। अदाणी समूह...

भारत की जीडीपी विकास दर 2024-25 में 6.5 से 7 प्रतिशत रहने का अनुमान : आर्थिक सर्वेक्षण

नई दिल्ली । वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से सोमवार को पेश किए गए आर्थिक सर्वेक्षण में अनुमान जताया गया कि वित्त वर्ष 2024-25 में भारत की जीडीपी वृद्धि...

दीर्घकालिक आर्थिक विकास के लिए ग्रीन एनर्जी को बजट में मिले पर्याप्त फंडिंग : एक्सपर्ट्स

नई दिल्ली । बजट 2024-25 में सरकार को पर्यावरण और गवर्नेंस (ईएसजी) को प्राथमिकता देनी चाहिए, जिससे दीर्घकालिक आर्थिक विकास और पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए स्थिर पहल की...

वैश्विक चुनौतियों के बीच 7 प्रतिशत जीडीपी दर भारत के लिए मुमकिन : मुख्य आर्थिक सलाहकार

नई दिल्ली । वैश्विक आर्थिक चुनौतियों के बीच भारत के लिए वित्त वर्ष 2024-25 में 7 प्रतिशत की जीडीपी वृद्धि दर हासिल करना मुमकिन है। हालांकि, इस साल की शुरुआत...

बजट: ग्रामीण इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश से अर्थव्यवस्था होगी मजबूत : विशेषज्ञ

नई दिल्ली | ग्रामीण क्षेत्रों में अर्थव्यवस्था को उभारने के लिए पारंपरिक और नए सेक्टर दोनों में निवेश करने की आवश्यकता है। यह बात विशेषज्ञों ने कही। विशेषज्ञों का मानना...

कैपिटल गुड्स, डिफेंस, इलेक्ट्रॉनिक व टूरिज्म सेक्टर पर दिख सकता है बजट का असर

नई दिल्ली । केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से आम बजट 23 जुलाई को पेश किया जाएगा। स्टॉक मार्केट एक्सपर्ट्स का मानना है कि बजट में चार सेक्टरों...

akash

Read Previous

भारत में बढ़ रहे महिलाओं में संतानोत्पत्ति की अक्षमता के मामले, 15 प्रतिशत दंपति प्रभावित

Read Next

बसपा सांसद से मिले अखिलेश, अटकलों का बाजार गर्म

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com