पंचायत चुनाव में भाजपा के सामने सपा का दबदबा खत्म करने की चुनौती

2021-07-03


लखनऊ: उत्तर प्रदेश में आज पंचायत अध्यक्ष के चुनाव होरहे हें प्रदेश के 75 जिलों में से 22 में निर्विरोध चुनाव होने के बाद अब बचे 53 जिलों में जिला पंचायत सदस्य अपने जिले का अध्यक्ष चुनने के लिए मतदान करेंगे।

राज्य में डेढ़ दशक बाद पूर्ण बहुमत से सत्ता में आई भाजपा ने करीब दो वर्ष तक पंचायत चुनाव की तैयारी की। ऐसे में उसके सामने सपा का पिछला रिकार्ड तोड़ने की चुनौती है।

उधर मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी भी अपना दबदबा कायम रखने की भरपूर कोशिश में है। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान पंचायत चुनाव होने के कारण जिला पंचायत सदस्य चुनाव में तो भाजपा को खास सफलता नहीं मिली। लेकिन पार्टी ने जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में उसकी भरपाई की रणनीति बनाई। पार्टी ने हालांकि घोषित तौर पर कोई लक्ष्य नहीं रखा है, लेकिन सरकार व संगठन की कोर कमेटी की बैठक में सपा के 63 सीटों के रिकार्ड को तोड़ने का मन बनाते हुए सरकार व संगठन जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में जुटे हैं।

विधानसभा चुनाव से पहले हो रहे पंचायत चुनाव को सत्ता का सेमीफाइनल माना जा रहा है। ऐसे में सत्ताधारी दल भाजपा और सपा दोंनों की जोर आजमाइश जारी है। पश्चिमी यूपी में किसान आंदोलन की आग के बीच हुए चुनाव में दोनों पार्टियों का दम खम देखा जाना है। इस बीच भाजपा के सारे बड़े नेताओं का फोकस पंचायत चुनाव ही रहा है। इसे लेकर प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री ने हर जिलों में कई कई बार मंथन किया है।

भाजपा जुलाई के मध्य से विधानसभा चुनाव के मैदान में कूदने जा रही है, उससे पहले पार्टी गांवों की सरकार में अपना कब्जा जमाकर माहौल बनाना चाहती है। पार्टी ने सपा का रिकार्ड तोड़ने के लिए पूरी ताकत लगाई है। प्रभारी मंत्रियों के साथ पार्टी की ओर से नियुक्त प्रभारी पदाधिकारियों को जिलों में तैनात कर दिया है। प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवारों के खेमे में शामिल सदस्यों को तोड़ने की पुरजोर कोशिश की जा रही है।

उधर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी पंचायत चुनाव की कमान अपने हांथों में ले रखी है। करीब 40 सीटों से अधिक सीटों पर भाजपा-सपा के बीच सीधा मुकाबला दिख रहा है। अपने कई प्रत्याशियों के दूसरे पाले में चले जाने के बावजूद सपा इस जंग में पीछे नहीं रहना चाहती है। अब बाकी जगह वह मजबूती से टक्कर देने में जुटी है।

अखिलेश खुद चुनाव वाले जिलों के प्रत्याशियों व पदाधिकारियों से फीडबैक ले रहे हैं। पार्टी के जीते पंचायत सदस्यों को समझा कर एकजुट रहने का संदेश दिया जा रहा है। साथ ही किसी प्रभाव में आने देने के लिए भी प्रेरित किया जा रहा है। विपक्ष में रहते हुए सबसे ज्यादा जिला पंचायत सदस्य जीतने को सपा अपनी बड़ी उपलब्धि मान रही है। ऐसे में जिला पंचायत अध्यक्ष भी उसी अनुपात में जिताने का भरसक प्रयास हो रहा है।

राज्य के 75 में से 53 जिलों पर जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव शनिवार को होंगे। मतदान 11 से 3 बजे तक होगा। इसके तुरंत बाद मतगणना होगी। प्रदेश के जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में 22 सीटों पर उम्मीदवार निर्विरोध जीते हैं। इटावा में सपा और बाकी 21 भाजपा में अपना दावा ठोक रही है।

शनिवार को होने वाले मतदान में सबसे कांटे की टक्कर जौनपुर जिले में है। जौनपुर में अब भाजपा के सहयोगी दल अपना दल एस के उम्मीदवार और इसके अलावा तीन अन्य उम्मीदवार जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव मैदान में उतरे हैं। जिसमें पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला भी उम्मीदवार हैं।

सपा सांसद आजम खां के गढ़ रामपुर में 34 सदस्यों वाली जिला पंचायत में अध्यक्ष पद पर भाजपा के ख्याली राम लोधी और सपा की नसरीन जहां के बीच मुकाबला कड़ा मुकाबला होने के आसार हैं। सपा के पास 11, भाजपा के पास 7, निर्दलीय 11, कांग्रेस-2, बसपा-2, और 1 संयुक्त किसान मोर्चा है, जबकि जिला पंचायत में बहुमत के लिए 18 सदस्यों का आंकड़ा चाहिए। इसके साथ ही वार्ड चार से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीते अमरजीत सिंह भी चुनाव मैदान में मौजूद रहकर मुकाबले को त्रिकोणात्मक बनाने में जुटे हुए हैं।

–आईएएनएस

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से कहा, मृत शरीर से अंग लेकर प्रत्यारोपण के नियमों में एकरूपता रखें

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को केंद्र सरकार से कहा कि वह सभी राज्यों में मृत शरीर से अंग लेकर किसी और के शरीर में प्रत्यारोपण को नियंत्रित करने...

वीआईपी का नाम पूछ रही कांग्रेस, युवा कांग्रेस ने किया जमकर विरोध

देहरादून: प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर के आह्वान पर जनपद देहरादून में युवा कांग्रेस पदाधिकारियों नें प्रदेश की बेटी अंकिता भंडारी हत्याकांड में संलिप्त वीआईपी के नाम उजागर ना...

डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी रैगिंग मामले के मुख्य आरोपी ने किया सरेंडर

डिब्रूगढ़ (असम):डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय रैगिंग मामले के मुख्य आरोपी राहुल छेत्री ने सोमवार को तिनसुकिया जिले के लेखापानी थाने में आत्मसमर्पण कर दिया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। रैगिंग की घटना...

सीमा विवाद: महाराष्ट्र के मंत्रियों ने कर्नाटक में प्रवेश की कोशिश की, तो होगी कार्रवाई: सीएम बोम्मई

हुबली (कर्नाटक) : मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने सोमवार को चेतावनी दी कि अगर महाराष्ट्र के मंत्री मौजूदा परिस्थितियों में कर्नाटक में प्रवेश करने की कोशिश करते हैं तो उनकी सरकार...

असामान्य भ्रूण के टर्मिनेशन में देरी पर हाई कोर्ट ने लगाई एलएनजेपी अस्पताल को फटकार

नई दिल्ली : दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को मस्तिष्क संबंधी असामान्यताओं से पीड़ित अपने 33 सप्ताह के भ्रूण को समाप्त करने की महिला की मांग पर चिकित्सकीय जांच में...

गुजरात चुनाव चरण -2: पीएम मोदी ने अहमदाबाद में डाला वोट

गांधीनगर : गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण के लिए सोमवार को 93 सीटों पर मतदान हो रहा है। सबसे पहले मतदान करने वालों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...

एनसीआर की हवा फिर जहरीली, निर्माण कार्यों पर रोक

नोएडा : दिल्ली-एनसीआर की हवा एक बार फिर जहरीली हो गई है। इसीलिए निर्माण कार्यों पर रोक लगा दी गई है और ग्रेप 3 के नियमों को लागू कर दिया...

ऑस्ट्रेलिया में भारतीय मूल की विज्ञान शिक्षिका को मिला पीएम पुरस्कार

मेलबर्न : ऑस्ट्रेलिया में भारतीय मूल की एक शिक्षका को माध्यमिक विद्यालयों में विज्ञान शिक्षण में उत्कृष्टता के लिए 2022 का प्रधानमंत्री पुरस्कार मिला है। मेलबर्न स्थित वीना नायर, जो...

दो महिला पुलिसकर्मियों ने किया पुरुष सहकर्मी का अपहरण

सुल्तानपुर : अदालत के आदेश पर सुल्तानपुर के महिला थाना में तैनात एक पुलिस इंस्पेक्टर और कांस्टेबल (दोनों महिलाएं) पर एक पुरुष पुलिस इंस्पेक्टर के अपहरण का मामला दर्ज किया...

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष ने जजों की नियुक्ति में खामियों की ओर किया इशारा

नई दिल्ली: वरिष्ठ अधिवक्ता और सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन (एससीबीए) के अध्यक्ष विकास सिंह ने आईएएनएस के साथ एक साक्षात्कार में न्यायाधीशों की नियुक्ति में खामियों की ओर इशारा किया।...

कांग्रेस ने कहा- हमारा होगा मेयर, सीएम ने कहा दिल्ली को चमकाएंगे, भाजपा बोली हमने की है सेवा

नई दिल्ली: दिल्ली नगर निगम चुनाव के लिए हो रहे मतदान के बीच सभी राजनीतिक दल व नेता अपनी अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का...

एम्स के बाद अब दिल्ली का सफदरजंग अस्पताल हैकिंग का शिकार

नई दिल्ली:दिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के हैकिंग हमले का शिकार होने के बाद, जहां चीनी संलिप्तता का संदेह है, वहीं राष्ट्रीय राजधानी में एक और शीर्ष अस्पताल, सफदरजंग...

admin

Read Previous

नीतीश थर्ड डिवीजन में परीक्षा पास कर सीएम बने : लालू

Read Next

आमिर खान और किरन ने एक दूसरे से अलग होने का फैसला किया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com