चेन्नई में बनेगा कोविड मेमोरियल पार्क

चेन्नई, 2 अगस्त (आईएएनएस)| ग्रेटर चेन्नई कॉरपोरेशन उन लोगों की याद में एक स्मारक पार्क स्थापित कर रहा है, जिनकी कोविड के कारण मौत हो गई थी। यह पार्क रॉयपुरम जोन में मिंट फ्लाईओवर के नीचे की जमीन पर बन रहा है और इसका क्षेत्रफल लगभग तीन एकड़ है।

मार्च 2020 में महामारी फैलने के बाद से चेन्नई निगम में कोविड -19 के कारण कुल 8,316 लोगों की मौत हो चुकी है।

नागरिक निकाय कोविड पीड़ितों के परिवार के सदस्यों को मेमोरियल पार्क में एक-एक पौधा लगाने के लिए आमंत्रित करेगा। ग्रेटर चेन्नई कॉरपोरेशन के अधिकारियों के अनुसार, कोविड -19 मेमोरियल पार्क के लिए अनुमानित 5 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है।

सभी दिवंगत व्यक्ति के लिए एक निर्दिष्ट स्थान बनाया जाएगा और एक अद्वितीय संख्या दी जाएगी, जिसे परिवारों के साथ साझा किया जाएगा। सरकारी नर्सरी से पौधरोपण किया जाएगा।

परिवार को पौधे लगाने के लिए आमंत्रित किया जाएगा। सभी परिवार को एक विशिष्ट समय आवंटित किया जाएगा और उन्हें उनके निर्धारित स्थान पर पौधे लगाने की अनुमति दी जाएगी। पार्क का रखरखाव ग्रेटर चेन्नई कॉरपोरेशन (जीसीसी) द्वारा किया जाएगा।

जीसीसी के अधिकारियों की देखरेख में पार्क में सभी देशी किस्मों के पौधे और पेड़ लगाए जाएंगे।

बच्चों के लिए खेलने की जगह, पैदल रास्ते, बैठने की जगह और बगीचे कोविड-19 मेमोरियल पार्क का हिस्सा होंगे।

ग्रेटर चेन्नई कॉरपोरेशन के आयुक्त गगन सिंह बेदी ने आईएएनएस को बताया कि, “यह उन लोगों को श्रद्धांजलि है, जिनका कोविड-19 महामारी के कारण निधन हो गया है और हम उनकी स्मृति को इस तरह से जीवित रखेंगे।”

सड़क पर लावारिस मिले 3 वर्षीय अर्जित को मिले अमरिकी माता-पिता, लिया गोद

पटना:कहा जाता है कि व्यक्ति की किस्मत में जो लिखा होता है, वह उसे देर सबेर जरूर मिल जाता है। ऐसा ही कुछ देखने को मिला बिहार की राजधानी पटना...

भारत जोड़ो यात्रा में बढ़ते हुजूम से कांग्रेसी उत्साहित

भोपाल :भारत जोड़ो यात्रा का काफिला धीरे-धीरे मध्य प्रदेश से बढ़ते हुए राजस्थान की तरफ जा रहा है। इस यात्रा में शुरूआती तौर पर मिली निराशा के बाद इंदौर से...

भोपाल गैस त्रासदी: वारेन एंडरसन कैसे देश छोड़कर भागा, राजीव गांधी पर लगे थे मदद के आरोप

नई दिल्ली:मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 2-3 दिसंबर 1984 यानी आज से 38 साल पहले एक दर्दनाक हादसा हुआ था। इतिहास में जिसे भोपाल गैस त्रासदी का नाम दिया गया।...

जेएनयू में ब्राह्मणों के खिलाफ लिखी गई अभद्र टिप्पणी मामले की होगी जांच : वीसी

नई दिल्ली : जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) की कुलपति प्रोफेसर शांतीश्री डी. पंडित ने जेएनयू में अज्ञात तत्वों द्वारा दीवारों और संकाय कक्षों को विकृत करने की घटना को गंभीरता...

सुअर और बंदर के बाद, न्यूरालिंक मानव परीक्षण से 6 महीने दूर: मस्क

सैन फ्रांसिस्को: एलन मस्क ने गुरुवार को कहा कि उनका ब्रेन-कंप्यूटर न्यूरालिंक की डिवाइस मानव परीक्षण के लिए तैयार है और वह अब से लगभग छह महीने में ऐसा करने...

तेलंगाना में दो ट्रांसजेंडर डॉक्टरों को सरकारी नौकरी मिली

हैदराबाद:दो ट्रांसजेंडर डॉक्टरों ने सरकार द्वारा संचालित उस्मानिया जनरल अस्पताल में चिकित्सा अधिकारी के रूप में नौकरी पाकर तेलंगाना में इतिहास रच दिया है। प्राची राठौड़ और रूथ जॉन पॉल...

झारखंड में हर रोज मिल रहे हैं तीन एचआईवी संक्रमित, दस महीने में 1042 मरीजों की पहचान रांची, )| झारखंड में एचआईवी संक्रमितों की संख्या हर रोज बढ़ रही है।...

किसानों को 25,186 करोड़ के प्रीमियम के मुकाबले अब तक 1,25,662 करोड़ रुपये मिले : मंत्रालय

नई दिल्ली: कृषि मंत्रालय ने गुरुवार को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी फसल बीमा योजना करार दिया और बताया कि योजना के तहत किसानों...

मुस्लिम कॉलेज विवाद: भाजपा ने लिया यू-टर्न, कहा कि मामले पर चर्चा ही नहीं हुई

बेंगलुरू : कर्नाटक में सत्तारूढ़ भाजपा ने मुस्लिम लड़कियों के लिए 10 नए कॉलेज बनाने के फैसले के बाद गुरुवार को यू-टर्न ले लिया। इस बारे में पूछे जाने पर...

भारतीय मूल के ब्रिटिश पुलिस अधिकारी ने की प्रवासियों पर गृह सचिव के विचार की आलोचना

लंदन : भारतीय मूल के एक वरिष्ठ ब्रिटिश पुलिस अधिकारी नील बसु ने प्रवासियों पर गृह सचिव सुएला ब्रेवरमैन की टिप्पणियों की आलोचना करते हुए कहा कि यह अविश्वसनीय और...

बेंगलुरु में स्कूल बैग में मिले कंडोम और गर्भनिरोधक गोलियां

बेंगलुरू: बेंगलुरू के स्कूलों में स्कूल बैग की नियमित जांच के दौरान छात्रों के पास से कंडोम, गर्भनिरोधक गोलियां, सिगरेट और व्हाइटनर जैसी सामग्री मिलने के मामले ने सभी को...

मास्टर प्लान 2041 में बढ़ी हुई एफएआर के प्रावधान के साथ मौजूदा कॉलोनियों के पुनर्जनन के लिए बनेंगी नीतियां

नई दिल्ली : मास्टर प्लान 2041 में मौजूदा कॉलोनियों के पुनर्जनन के लिए नीतियां, लैंड पूलिंग के जरिए ग्रीनफील्ड विकास और फ्लोर एरिया रेशियो (एफएआर) के प्रावधान के साथ हरित...

editors

Read Previous

ओलंपिक (महिला हॉकी) : भारत इतिहास रचते हुए सेमीफाइनल में, अब अर्जेंटीना को हराने के बारी

Read Next

पत्रकारों ने बनाई कोविड काल में मीडिया छंटनी को दर्शाती शॉर्ट फिल्म ‘द लिस्ट’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com