दिल्ली में बांटे जाएंगे 25 लाख तिरंगे, हाथ में तिरंगा लेकर एक साथ राष्ट्रगान गाने की अपील

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार लोगों में 25 लाख तिरंगे बांटेगी। सरकारी स्कूलों में हर बच्चे को तिरंगा दिया जाएगा। 14 अगस्त को दिल्ली में तरह-तरह के करीब 100 जगहों पर कार्यक्रम होंगे। सीएम अरविंद केजरीवाल दिल्लीवासियों से अपील की है कि सभी दिल्लीवासी 14 अगस्त की शाम पांच बजे अपने हाथ में तिरंगा लेकर एक साथ राष्ट्रगान गाएं। सीएम ने कहा कि जब हम तिरंगा हाथ में लेकर राष्ट्रगान गाएंगे, तब हमें प्रण करना है कि हमें भारत को दुनिया का नंबर वन राष्ट्र बनाना है। हमें यह भी याद रखना है कि जब तक हर बच्चे को अच्छी शिक्षा, हर भारतवासी को अच्छा इलाज, हर घर को बिजली, गांव-गांव तक सड़क, हर बेरोजगार को रोजगार और हर महिला को सुरक्षा नहीं मिलेगी, तब तक भारत दुनिया का नंबर वन देश नहीं बन सकता।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज मैं दिल्ली के लोगों से अपील करना चाहता हूं कि 14 अगस्त को हमारे स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर शाम पांच बजे हर भारतवासी अपने हाथ में तिरंगा लेकर पूरी देशभक्ति के साथ राष्ट्रगान गाए। हम सब मिलकर तिरंगा फहराएंगे, हम सब मिलकर राष्ट्रगान गाएंगे और हर हाथ में तिरंगा होगा। दिल्ली में हम इसके आयोजन के लिए बहुत बड़े स्तर पर लोगों को तिरंगे बांटने वाले हैं। जो लोग अपने से तिरंगा ले सकते हैं, वो अपने से तिरंगा का इंतजाम कर लें। बच्चे पेंटिंग करके तिरंगा बना लें। जो लोग तिरंगा खरीद सकते हैं, वो खरीद लें। दिल्ली सरकार दिल्ली में 25 लाख तिरंगे लोगों में बांटेगी। सरकारी स्कूलों में हर बच्चे को तिरंगा दिया जाएगा, ताकि वो अपने घर ले जाकर अपने परिवार के साथ हाथ में तिरंगा लेकर राष्ट्रगान गा सके और अपने घर पर तिरंगा लगा सके। इसके अलावा, दिल्ली के गली, मोहल्ले, चौक पर तिरंगे बांटे जाएंगे।

सीएम ने सभी दिल्लीवासियों से अपील करते हुए कहा कि स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर 14 अगस्त को शाम पांच बजे अपने हाथ में तिरंगा लेकर एक साथ राष्ट्रगान गाएं। सीएम ने कहा कि जब तक हर बच्चे को अच्छी शिक्षा नहीं मिलेगी, तब भारत दुनिया का नंबर वन राष्ट्र नहीं बन सकता। हमें इंतजाम करना पड़ेगा कि देश के हर बच्चे को अच्छी शिक्षा मिले। हमें यह भी याद रखना है कि जब तक हर भारतवासी को अच्छा इलाज नहीं मिलेगा, उसके लिए अच्छी मेडिकल सुविधाएं नहीं होंगी, तब तक भारत नंबर वन राष्ट्र नहीं बन सकता है। मेडिकल सुविधाएं हमें गांव-गांव तक पहुंचानी है।

हमें याद रखना है कि हमें गांव-गांव तक सड़क पहुंचानी है, हर घर के लिए बिजली का इंतजाम करना है। हर भारतवासी के लिए पानी का इंतजाम करना है। हर बेरोजगार के लिए इज्जत वाली रोजगार का इंतजाम करना है।

–आईएएनएस

editors

Read Previous

बिहार में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 9 पहुंची, 17 लोगों की गई आंखों की रोशनी

Read Next

कोई पार्टी बदले तो चुनाव लड़ने पर लगे 6 साल का प्रतिबंध, ‘आप’ सांसद का प्राइवेट मेंबर बिल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com