अफगानिस्तान में नौकरी गंवाने वालों की संख्या बढ़ी

काबुल, 18 जून (आईएएनएस)| अफगानिस्तान पुनर्निर्माण के लिए अमेरिकी सरकार के विशेष महानिरीक्षक (एसआईजीएआर) ने कहा है कि अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद से युद्धग्रस्त देश में नौकरी का नुकसान 2022 के मध्य तक 700,000-900,000 के बीच पहुंचने का अनुमान है। टोलो न्यूज के अनुसार, हाल ही में गैलप सर्वेक्षण का हवाला देते हुए, एसआईजीएआर या सिगार ने कहा, सर्वेक्षण में रिकॉर्ड उच्च 89 प्रतिशत अफगानों ने कहा है कि उनकी स्थानीय अर्थव्यवस्थाएं खराब हो रही हैं, 75 प्रतिशत ने बताया कि पिछले 12 महीनों में भोजन के लिए पर्याप्त पैसा नहीं है और 58 प्रतिशत ने बताया कि उनके पास पर्याप्त आश्रय के लिए पर्याप्त धन नहीं है।

इसने यह भी कहा कि तालिबान के शासन से पहले के स्तरों की तुलना में, 2022 के मध्य तक महिला रोजगार के स्तर में 21 प्रतिशत की कमी के साथ अफगान महिलाएं विशेष रूप से प्रभावित हुईं हैं।

बयान के अनुसार, 2020 में अफगानिस्तान की श्रम शक्ति में महिलाओं की हिस्सेदारी 17 प्रतिशत थी।

इसके अलावा पहले की एक रिपोर्ट में, सिगार ने जारी मानवीय संकट के मद्देनजर अफगानिस्तान में बढ़ती बेरोजगारी की चेतावनी दी थी।

टोलो न्यूज की रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि यह बयान तब सामने आया है, जब तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार ने घोषणा की है कि उसकी आर्थिक चुनौतियों से पार पाने की योजना है।

अर्थव्यवस्था मामलों के उप मंत्री अब्दुल लतीफ नजरी ने कहा, अर्थव्यवस्था मंत्रालय के पास रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए कुछ विशिष्ट रणनीतियां हैं, जो मानवीय सहायता को आकर्षित करने, निजी क्षेत्र और लघु और दीर्घकालिक योजनाओं में छोटे व्यवसाय को मजबूत करने के लिए हैं।

2020 में, अफगानिस्तान में बेरोजगारी दर लगभग 11.73 प्रतिशत थी।

–आईएएनएस

editors

Read Previous

जो रूट के प्रदर्शन से खुश इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन, जमकर की तारीफ

Read Next

शून्य कार्बन उत्सर्जन के लिए सक्रिय रूप से परमाणु ऊर्जा का उपयोग करेगा दक्षिण कोरिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com