यूपी : भातखंडे राज्य सांस्कृतिक विश्वविद्यालय 3 और विभागों को जोड़ेगा

लखनऊ, 26 जून (आईएएनएस)| भातखंडे राज्य सांस्कृतिक विश्वविद्यालय (बीएससीयू) इस सत्र से तीन नए विभागों को जोड़ने की योजना बना रहा है। साथ ही जो छात्र कला में रुचि रखते हैं और डिग्री, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करना चाहते हैं तो उनके लिए कला विभाग को बढ़ाने की योजना बनाई जाएगी। विश्वविद्यालय जुलाई से शुरू होने वाले शैक्षणिक सत्र 2022-23 से 87 पाठ्यक्रम शुरू करेगा। तीन नए कला के विभाग हैं, जिसमें भारतीय इतिहास की संस्कृति, बुद्ध और जैन का अध्ययन हैं।

इनका संचालन विश्वविद्यालय द्वारा उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी, भारतेंदु नाट्य अकादमी, राज्य ललित कला अकादमी, जैन अनुसंधान संस्थान, बुद्ध अनुसंधान संस्थान, राष्ट्रीय कथक संस्थान, संत कबीर अकादमी और अयोध्या शोध संस्थान जैसे स्वायत्त सांस्कृतिक संस्थानों के सहयोग से किया जाएगा। पाठ्यक्रमों की अवधि एक से पांच वर्ष तक की होगी।

रजिस्ट्रार तुहिन श्रीवास्तव ने कहा, पाली, पांडुलिपि और पुरालेख, संग्रहालय, दर्शन और धर्म जैसे कई स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के लिए उम्मीदवारों को वाराणसी, गया और दिल्ली जैसी जगहों पर जाना पड़ता था। अब ऐसे सभी कोर्स लखनऊ में उपलब्ध होंगे।

उन्होंने आगे कहा, “इन कार्यक्रमों के बारे में अंतिम निर्णय सोमवार को अकादमिक परिषद की बैठक में लिया जाएगा। पाठ्यक्रम छात्रों को हमारे देश की संस्कृति और विरासत को बेहतर तरीके से सीखने में मदद करेंगे। प्रवेश प्रक्रिया जुलाई के पहले सप्ताह में शुरू होगी।”

–आईएएनएस

editors

Read Previous

झारखंड में हर साल साढ़े चार लाख बार ‘मौत’ और ‘तबाही’ लाती हैं आसमानी बिजलियां

Read Next

ध्यान भटकाने में पीएम को महारत हासिल है, पर विपदाओं को छिपा नहीं सकते : राहुल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com