सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से कहा, मृत शरीर से अंग लेकर प्रत्यारोपण के नियमों में एकरूपता रखें

Supreme Court of India. (Photo Courtesy: Twitter)

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को केंद्र सरकार से कहा कि वह सभी राज्यों में मृत शरीर से अंग लेकर किसी और के शरीर में प्रत्यारोपण को नियंत्रित करने वाले नियमों में एकरूपता की मांग वाली याचिका पर विचार करे। याचिका ‘गिफ्ट ऑफ लाइफ एडवेंचर फाउंडेशन’ नामक एक संगठन ने दायर की है। प्रधान न्यायाधीश डी.वाई. चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ में शामिल न्यायमूर्ति पी.एस. नरसिम्हा ने कहा कि अंग प्रत्यारोपण के संबंध में नियमों में एकरूपता का अभाव है।

याचिका में मानव अंग और ऊतक प्रत्यारोपण अधिनियम, 1994 के नियमों में एकरूपता लाने के लिए दिशानिर्देश तैयार करने के लिए राज्य सरकारों को निर्देश देने की मांग की गई थी।

शीर्ष अदालत ने जनहित याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया, हालांकि वह केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय से अनुरोध मानकर याचिका पर विचार करने के लिए सहमत हुई।

पीठ ने कहा कि वह याचिकाओं को खारिज नहीं कर रही है, क्योंकि मुख्य मुद्दा अंग प्रत्यारोपण के पंजीकरण के लिए अधिवास प्रमाण पत्र को लेकर है, जो राज्यों द्वारा लगाया गया है।

पीठ ने याचिका का निस्तारण करते हुए कहा, “मामले की केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जांच की जाएगी। कार्रवाई के उचित कारण को शीघ्रता से अपनाने के लिए नीतिगत निर्णय लिया जाएगा।”

दलील में तर्क दिया गया कि मृत अंग प्रत्यारोपण के मामले में एक राज्य में अंग प्राप्तकर्ता के रूप में पंजीकरण के लिए एक अधिवास प्रमाणपत्र की जरूरत बताना मनमानी थी।

–आईएएनएस

‘मित्र काल’ बजट में कोई विजन नहीं : राहुल गांधी

नई दिल्ली: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को संसद में 2023-24 का केंद्रीय बजट पेश किया। राहुल गांधी ने केंद्रीय बजट को 'मित्र काल' बजट करार दिया है।...

माणिक भट्टाचार्य की विदेश यात्रा की जानकारी को लेकर सीबीआई को कोर्ट के गुस्से का सामना करना पड़ा

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में करोड़ों रुपये के शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की टीम को तृणमूल कांग्रेस के विधायक और पश्चिम बंगाल प्राथमिक शिक्षा...

बजट निराशाजनक और आम आदमी की उम्मीदों के विपरीत : हिमाचल सीएम

शिमला:हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने बुधवार को केंद्रीय बजट को निराशाजनक और आम आदमी की उम्मीदों के विपरीत बताया। सीएम ने कहा कि इच्छित लक्ष्यों को हासिल...

सरकार ने राजकोषीय घाटे का लक्ष्य सकल घरेलू उत्पाद का 5.9 प्रतिशत तय किया

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को 2023-24 के लिए राजकोषीय घाटे का लक्ष्य सकल घरेलू उत्पाद का 5.9 प्रतिशत निर्धारित किया, जबकि इस बात पर जोर...

रेलवे को मिला अब तक का सबसे अधिक 2.40 लाख करोड़ रुपये का पूंजी परिव्यय

नई दिल्ली : केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा बुधवार को संसद में पेश किए जा रहे केंद्रीय बजट 2023-24 से भारतीय रेलवे को बड़ी मजबूती मिली है। वित्त मंत्री...

कृषि क्षेत्र के स्टार्टअप के लिए फंड की घोषणा

नई दिल्ली : वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण बुधवार को संसद में बजट पेश करते हुए विभिन्न क्षेत्रों के विकास की बात कही। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार युवाओं को कृषि क्षेत्र...

पीएम आवास योजना का परिव्यय 66 प्रतिशत बढ़ाकर 79,000 करोड़ रुपये किया गया

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के परिव्यय को 66 प्रतिशत बढ़ाकर 79,000 करोड़ रुपये करने की घोषणा की। इस योजना में...

भारतीय अर्थव्यवस्था सही रास्ते पर : सीतारमण

नई दिल्ली : लोकसभा में केंद्रीय बजट 2023-24 पेश करते हुए, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था 'सही रास्ते पर है और उज्‍जवल भविष्य...

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा, समावेशी विकास पर है बजट का फोकस

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि सरकार का आर्थिक एजेंडा नागरिकों के लिए अवसरों को सुविधाजनक बनाने, विकास और रोजगार सृजन को मजबूत गति प्रदान...

वित्तमंत्री 11 बजे पेश करेंगी बजट

नई दिल्ली: | वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 2024 लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार के कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट आज पेश करेंगी। सुबह 11 बजे वित्त मंत्री का लोकसभा...

महाराष्ट्र का नया प्रतिष्ठित राज्यगान ‘जय जय महाराष्ट्र माझा’

मुंबई:महाराष्ट्र सरकार ने प्रतिष्ठित गाथागीत 'जय जय महाराष्ट्र माझा' को अपने राज्य गीत के रूप में मान्यता दी है। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की...

ममता ने नाम लिए बिना शुभेंदु को शिक्षक घोटाले का लाभार्थी बताया

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी को अप्रत्यक्ष रूप से पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले का लाभार्थी बताया। उन्होंने कहा...

editors

Read Previous

वीआईपी का नाम पूछ रही कांग्रेस, युवा कांग्रेस ने किया जमकर विरोध

Read Next

सुप्रीम कोर्ट ने नकली शराब की बिक्री पर पंजाब सरकार को लगाई फटकार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com