19 मई से ज्यादा लू चलने की संभावना

नई दिल्ली, 18 मई (आईएएनएस)| दक्षिण-पश्चिम मानसून एक तरफ प्रायद्वीपीय भारत के लिए करीब है, जबकि दूसरी तरफ मध्य और उत्तर-पश्चिम भारत लू की चपेट में है, हालांकि तीव्रता और स्थानिक वितरण, दोनों के लिहाज से काफी कम है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि यह एक अल्पकालिक खुशी है, क्योंकि 19 मई से उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में गर्मी की लहर की संभावना है।

मंगलवार को उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, विदर्भ, बिहार और महाराष्ट्र में अलग-अलग स्थानों पर लू की स्थिति का अनुभव किया गया। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में 46.9 डिग्री सेल्सियस तापमान देश में सबसे अधिक अधिकतम तापमान दर्ज किया गया।

जम्मू और कश्मीर में कुछ स्थानों पर अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर (3.1 डिग्री सेल्सियस से 5 डिग्री सेल्सियस तक) था। उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में अलग-अलग स्थानों पर और झारखंड में अधिकांश स्थानों पर, विदर्भ, मध्य प्रदेश और बिहार में कई स्थानों पर और हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और ओड़िशा में कुछ स्थानों पर तापमान सामान्य से ऊपर (1.6 डिग्री सेल्सियस से 3-डिग्री सेल्सियस) था।

आईएमडी ने भविष्यवाणी की है कि बुधवार को जम्मू संभाग, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कुछ हिस्सों में लू की स्थिति होने की संभावना है, जबकि गुरुवार को उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और गुजरात के अलग-अलग हिस्सों में भी इसी तरह की स्थिति रहने की संभावना है।

आईएमडी की चेतावनी में कहा गया है, 19 मई को उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में लू चलने की संभावना है, 20 और 21 मई को मध्य प्रदेश और विदर्भ में, 19 और 20 मई को पंजाब और हरियाणा में और राजस्थान में 18 से 21 मई को लू चलने की संभावना है।

–आईएएनएस

editors

Read Previous

नोएडा के रेस्टोरेंट में रोबोट परोसेंगे खाना

Read Next

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की लीगल कमेटी – ज्ञानवापी मस्जिद मामले में मुस्लिम पक्ष की करेगा मदद

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com