हरदीप पुरी ने चेताया : कच्चे तेल की बढ़ती कीमतें 2008 जैसी वैश्विक मंदी का कारण बन सकती हैं

नई दिल्ली : पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बुधवार को कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों पर गंभीर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि इससे 2008 की विनाशकारी स्थिति दोहराई जा सकती है, जब तेल कीमतें आसमान छू गईं और मांग घटने पर गिर गईं।

पुरी ने ब्लूमबर्ग टीवी पर कहा, “वैश्विक अर्थव्यवस्था में मुद्रास्फीति की मात्रा के साथ जहां ब्याज दरों में बढ़ोतरी अतिरिक्त तरलता को खत्म करने में सक्षम नहीं है, आपके सामने ऐसी स्थिति होगी, जब तेल की कीमतें 2008 के परिदृश्य को दोहराएंगी।”

उन्होंने आश्चर्य जताया कि क्या वैश्विक अर्थव्यवस्था फिर से 2008 की आर्थिक उथल-पुथल जैसी स्थिति का गवाह बनने जा रही है, जो एक स्व-पूर्ति की भविष्यवाणी बन गई थी। ब्रेंट की कीमतें शुरुआत में जनवरी 2008 में 93.60 डॉलर प्रति बीबीएल से बढ़कर जुलाई 2008 में 134.3 डॉलर प्रति बीबीएल हो गई थीं, जिससे वैश्विक आर्थिक मंदी में तेजी आई, जिससे अंततः मांग कम हो गई, तब तेल की कीमतें बहुत कम हो गईं।

मंत्री ने कहा कि कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के कारण पिछले 18 महीनों में दुनियाभर में लगभग 10 करोड़ लोग घोर गरीबी में फंस गए हैं।

हाल के सप्ताहों में कच्चे तेल की कीमतें 90 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर कारोबार कर रही हैं, क्योंकि सऊदी अरब और रूस के नेतृत्व में प्रमुख तेल उत्पादक देशों ने कीमतें बढ़ाने के लिए आपूर्ति में कटौती की है।

भारत के मंत्री ने कहा कि कच्चे तेल की कीमतें लगभग 80 डॉलर प्रति बैरल या उससे थोड़ा कम देशों के लिए सुविधाजनक मूल्य सीमा होगी।

उन्होंने कहा, “उचित मूल्य बैंड के गठन पर स्वस्थ चर्चा करना तेल उत्पादक और उपभोक्ता सहित सभी देशों के हित में है।”

पुरी ने मंगलवार को वार्षिक अबू धाबी अंतर्राष्ट्रीय पेट्रोलियम प्रदर्शनी और सम्मेलन (एडीआईपीईसी) 2023 के मौके पर ओपेक महासचिव हैथम अल-घैस से मुलाकात की और उनसे तेल बाजारों में व्यावहारिकता, संतुलन और सामर्थ्य की भावना पैदा करने के लिए अपने कार्यालय का उपयोग करने का आग्रह किया। .

चर्चा के दौरान, भारत के मंत्री ने इस बात पर प्रकाश डाला कि अगस्त 2022 के बाद से ओपेक प्‍लस देशों द्वारा किए गए उत्पादन में कटौती के कारण, प्रभावी रूप से कुल वैश्विक तेल उपलब्धता का लगभग 5 प्रतिशत बाजार से हटा दिया गया है, जिससे कच्चे तेल की कीमत में पिछले 3 महीनों में 34 प्रतिशत वृद्धि हुई है।

ऊर्जा की बढ़ती मांग के बावजूद ये कटौती की गई है। ब्रेंट कच्चे तेल की कीमतें जून में 72 डॉलर प्रति बैरल (बीबीएल) से बढ़कर सितंबर 2023 में 97 डॉलर प्रति बैरल हो गईं, जिससे अधिकांश तेल आयात करने वाले उपभोक्ता देशों की क्षमताओं पर गंभीर दबाव पड़ा।

आईएएनएस

आरबीआई ने भारत बिल भुगतान प्रणाली को किया सुव्यवस्थित, ग्राहकों को मिली अधिक सुरक्षा

मुंबई । आरबीआई ने एक संशोधित नियामक ढांचा - भारत बिल भुगतान प्रणाली दिशानिर्देश, 2024 लागू किया है। यह एनपीसीआई भारत बिल पे लिमिटेड (एनबीबीएल-भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम की पूर्ण...

मजबूत जीडीपी आंकड़ों से सेंसेक्स 1,200 अंक से अधिक उछला

मुंबई । बीएसई सेंसेक्स में शुक्रवार को 1,200 अंकों का भारी उछाल आया। ऐसा मजबूत जीडीपी आंकड़ों के कारण हुआ। इंट्रा-डे कारोबार में सेंसेक्स 73,819.21 के नए ऑल टाइम हाई...

पेटीएम पेमेंट्स बैंक ग्राहकों की शिकायतों का कम समय में करता है कुशल समाधान

नई दिल्ली । लगातार विकसित हो रहे वित्तीय क्षेत्र में पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (पीपीबीएल) ने ग्राहकों की शिकायतों के त्वरित समाधान के माध्यम से ग्राहक-संतुष्टि के प्रति उल्लेखनीय प्रतिबद्धता...

एक दशक में दो लाख करोड़ डॉलर तक पहुंच जाएगा देश का खुदरा बाजार: रिपोर्ट

मुंबई । भारत दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के बीच एक चमकीला सितारा बना हुआ है और इसके खुदरा बाजार का आकार अगले 10 साल में दो लाख करोड़ डॉलर तक...

तीसरी तिमाही में देश की विकास दर 6.7-6.9 प्रतिशत रहने का अनुमान: एसबीआई

चेन्नई । भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के एक शीर्ष अर्थशास्त्री ने कहा कि देश का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वित्त वर्ष 2023-24 की तीसरी तिमाही के दौरान 6.7 प्रतिशत से...

चालू वित्तीय वर्ष के समापन तक सरकार को चार लाख करोड़ रुपये की बिक्री करेगा जीईएम : पीयूष गोयल

नई दिल्ली | गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस (जीईएम) अपने संचालन के पहले वर्ष में 422 करोड़ रुपये के कारोबार से सरकार को 4 लाख करोड़ रुपये की बिक्री के साथ मार्च में...

मध्यप्रदेश में जुटेंगे उद्योगपति, खुलेंगे रोजगार के अवसर

भोपाल । मध्यप्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में एक एवं दो मार्च को रीजनल इंडस्ट्री कॉन्क्लेव 2024 का आयोजन किया जा रहा है। इस मौके पर 169 उद्योगपतियों को 6774...

एसबीआई की रिपोर्ट में खुलासा, देश में गरीबी के आंकड़ों में आई गिरावट, ग्रामीण एवं शहरी आय के अंतर में भी आई कमी

नई दिल्ली | मंगलवार को जारी उपभोक्ता व्यय सर्वेक्षण के एसबीआई रिसर्च विश्लेषण के अनुसार, भारत में गरीबी में तेज गिरावट के साथ-साथ देश में ग्रामीण-शहरी आय विभाजन में भी...

किसान सम्मान निधि योजना के 5 साल : किसानों के आर्थिक उन्नयन पर मोदी सरकार का फोकस

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमेशा से किसानों के विकास के लिए तत्पर नजर आते हैं। किसानों की आय कैसे दोगुनी हो इसके लिए सरकार की तरफ से कई...

यूपी में लगने वाले उद्योगों से बदल रही तस्वीर : प्रधानमंत्री मोदी

लखनऊ । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर हमला बोला और कहा कि सात-आठ साल पहले हम सोच भी नहीं सकते थे कि निवेश को लेकर यूपी में भी इस...

जापान को पछाड़कर जर्मनी बना तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

नई दिल्ली । जर्मनी 2023 में जापान के पीछे छोड़ते हुए दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के खुदरा अनुसंधान प्रमुख दीपक जसानी ने यह बात...

बैंक शेयरों में खरीददारी से बाजार में तेजी

मुंबई । जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि बुधवार को बैंकिंग शेयरों में नए सिरे से खरीददारी के कारण घरेलू बाजार में दिन के निचले...

admin

Read Previous

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने कहा, एआई से ऊपर ‘आई’ है

Read Next

वैश्विक स्तर पर चौथा सबसे अधिक वित्तपोषित फिनटेक स्टार्टअप इकोसिस्टम बना भारत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com