सेना में ज्यादा से ज्यादा स्वदेशी युद्धक प्रणाली होगी शामिल : जनरल उपेंद्र द्विवेदी

नई दिल्ली । नए थल सेनाध्यक्ष जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने सोमवार को कहा कि भारतीय सेना को ज्यादा से ज्यादा स्वदेशी युद्धक प्रणालियों से लैस किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बदलते वैश्विक समीकरण और दुनिया में जारी लड़ाइयों के मद्देनजर हमें न केवल इस दिशा में अग्रसर रहने की जरूरत है बल्कि सैनिकों को अत्याधुनिक हथियारों से लैस करके युद्ध पद्धति और रणनीतियों को बेहतर करने की भी आवश्यकता है।

जनरल द्विवेदी ने यहां बताया कि आज भारतीय थल सेना आधुनिकीकरण के पथ पर अग्रसर है। इस दिशा में आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिए भारत हमेशा तैयार है। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा स्वदेशी युद्धक प्रणालियों को शामिल किया जाएगा।

उन्होंने कहा, “मेरा प्रयास रहेगा कि भारतीय थल सेना, नौसेना और वायु सेना एवं अन्य हित धारकों के संपूर्ण समन्वय से युद्ध की स्थिति के लिए सदैव तत्पर रहें। इससे भारत के राष्ट्रीय हितों को सुरक्षित किया जा सकेगा और हम विकसित भारत 2047 की दिशा में राष्ट्र निर्माण का एक प्रमुख स्तंभ बन सकेंगे।”

जनरल द्विवेदी ने सेनाध्यक्ष की जिम्मेदारी को “अत्यंत गर्व का अवसर” बताया। उन्होंने शहीद जवानों का स्मरण किया और वीर जवानों को श्रद्धांजलि दी। इसके उपरांत नए भारतीय सेनाध्यक्ष को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

सेनाध्यक्ष ने कहा कि भारतीय सेना की गौरवशाली परंपरा हमारे सैनिकों के योगदान और बलिदान की बुनियाद पर आधारित है। उन्होंने कहा, “इस अवसर पर मैं उन वीर सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं जिन्होंने कर्तव्य पथ पर अपने प्राणों की आहुति दी है।”

जनरल द्विवेदी ने पूर्व सैनिकों के कल्याण की बात भी कही। उन्होंने कहा कि सेना के सभी रैंकस और डिफेंस सिविलियन के हितों और कल्याणों का ध्यान रखना उनकी प्राथमिकता रहेगी। उन्होंने पूर्व सैनिकों और वीरांगनाओं, तथा उनके परिवार के प्रति प्रतिबद्धता जताई और “अपने इस विस्तारित परिवार” को समर्थन का आश्वासन दिया।

सेनाध्यक्ष ने कहा, “मुझे सौंपे गए उत्तरदायित्व के प्रति मैं पूरी तरह से सचेत हूं और देश एवं भारतीय नागरिकों को विश्वास दिलाता हूं कि भारतीय सेना हर चुनौती का सामना करने के लिए पूर्णतया सक्षम और तैयार है।”

जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने रविवार को नए सेना प्रमुख का पदभार ग्रहण किया। जनरल द्विवेदी भारतीय सेना के 30वें सेना प्रमुख हैं। उनके पास देश-विदेश में महत्वपूर्ण तैनातियों के साथ-साथ चीन और पाकिस्तान से लगी भारतीय सीमाओं के विषय में गहन जानकारी और अनुभव है। जनरल द्विवेदी, टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल को लेकर भी अग्रणी रहे हैं। उन्होंने सेना की नॉर्दर्न कमांड में तकनीक को बढ़ावा देने की दिशा में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

नए सेनाध्यक्ष, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ब्लॉकचेन, बिग डेटा एनालिटिक्स, क्वांटम जैसी आधुनिकतम तकनीक के इस्तेमाल की दिशा में भी काम करते रहे हैं।इसके अलावा जनरल को अमेरिका के यूएसएडब्ल्यूसी, कार्लिस्ले में प्रतिष्ठित एनडीसी समकक्ष कोर्स में ‘विशिष्ट फेलो’ से सम्मानित किया जा चुका है। उन्होंने रक्षा और प्रबंधन अध्ययन में एम फिल और सामरिक अध्ययन एवं सैन्य विज्ञान में दो स्नातकोत्तर डिग्रियां प्राप्त की हैं।

–आईएएनएस

सुप्रीम कोर्ट में 23 जुलाई को होगी ज्ञानवापी मामले पर सुनवाई

वाराणसी । उच्चतम न्यायालय मंगलवार को वाराणसी के ज्ञानवापी मामले की अगली सुनवाई करेगा। मामले की सुनवाई उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीवाई. चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय...

राजनाथ सिंह ने सर्वदलीय बैठक में विपक्षी दलों को दी नसीहत, ‘पीएम के भाषण के समय सदन में हंगामा और व्यवधान उचित नहीं’

नई दिल्ली । संसद के बजट सत्र से पहले सरकार द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने विपक्षी दलों को नसीहत देते हुए कहा कि पिछले...

बजट: ग्रामीण इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश से अर्थव्यवस्था होगी मजबूत : विशेषज्ञ

नई दिल्ली | ग्रामीण क्षेत्रों में अर्थव्यवस्था को उभारने के लिए पारंपरिक और नए सेक्टर दोनों में निवेश करने की आवश्यकता है। यह बात विशेषज्ञों ने कही। विशेषज्ञों का मानना...

जयराम रमेश पर भड़की भाजपा, कांग्रेस पार्टी को भी दे डाली बड़ी नसीहत

नई दिल्ली । कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने रविवार को सर्वदलीय बैठक में हुई चर्चा को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जानकारी शेयर की। इस पर भाजपा ने कांग्रेस नेता...

नीट यूजी 2024 : गुमनाम शहरों से भी निकले टॉपर्स, कोटा या कोट्टायम ही नहीं लखनऊ वालों ने भी किया कमाल

नई दिल्ली । नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने 20 जुलाई को सभी छात्रों के लिए सिटी और सेंटर के हिसाब से नीट यूजी 2024 का रिजल्ट जारी कर दिया। इसमें...

कैपिटल गुड्स, डिफेंस, इलेक्ट्रॉनिक व टूरिज्म सेक्टर पर दिख सकता है बजट का असर

नई दिल्ली । केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से आम बजट 23 जुलाई को पेश किया जाएगा। स्टॉक मार्केट एक्सपर्ट्स का मानना है कि बजट में चार सेक्टरों...

दक्षिण कोरिया: सरकार को मेडिकल प्रोफेसरों की चेतावनी, जूनियर डॉक्टरों के प्रशिक्षण का करेंगे बहिष्कार

सोल । दक्षिण कोरिया में पिछले कुछ समय से चिकित्सा-व्यवस्था को लेकर उठा विवाद बढ़ता ही जा रहा है। इस विवाद के बीच दक्षिण कोरियाई मेडिकल प्रोफेसरों ने जूनियर डॉक्टरों...

ऑल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन ने दिल्ली में बांग्लादेश सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

नई दिल्ली । बांग्लादेश के छात्र आंदोलन के साथ एकजुटता दिखाते हुए ऑल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन (एआईएसए) ने शनिवार को दिल्ली में प्रदर्शन किया। एआईएसए ने पड़ोसी देश में प्रदर्शनकारी...

एलजी के प्रधान सचिव ने लिखा पत्र, जेल में डाइट चार्ट का पालन नहीं कर रहे केजरीवाल, इसलिए हो रहा वजन कम

नई दिल्ली । आम आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया था कि जेल में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का वजन लगातार कम हो रहा है। अब 'आप' के इसी आरोप के...

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद नीट यूजी परीक्षा परिणाम दोबारा जारी

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने दोबारा यूजी मेडिकल प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है। एनटीए ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर...

माइक्रोसॉफ्ट आउटेज के बाद विमानों का संचालन हुआ सामान्य, नागर विमानन मंत्रालय ने दी जानकारी

नई दिल्ली । माइक्रोसॉफ्ट के सर्वर में शुक्रवार को वैश्विक स्तर पर आई गड़बड़ी के कारण विमानन सेवा में आई बाधा अब ठीक हो गई है। नागर विमानन मंत्रालय की...

सभी प्रदेशों में मतदाता सूची से हिन्दू मतदाताओं के हटाए गए नाम : गिरिराज सिंह

पटना । केंद्रीय कपड़ा उद्योग मंत्री और बेगूसराय के सांसद गिरिराज सिंह ने देश के करीब सभी प्रदेशों में मतदाता सूची में बड़े पैमाने में योजनाबद्ध तरीके से गड़बड़ी का...

admin

Read Previous

रफा में इजरायली बमबारी में 11 फिलिस्तीनियों की मौत

Read Next

जून में मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई बढ़ा, नियुक्तियां 19 साल के उच्चतम स्तर पर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com