2022 के यूपी चुनाव में नए चेहरे अभियान का नेतृत्व करेंगे

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में करीब छह महीने बचे हैं, ऐसे में नेताओं की नई पीढ़ी राज्य में एक नए रूप की राजनीति का मार्ग प्रशस्त करते हुए राजनीतिक अभियान का नेतृत्व करने की तैयारी कर रही है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा सामने से नेतृत्व कर रही हैं, जिन्हें एक लगभग समाप्त हो चुकी पार्टी को पुनर्जीवित करने के कठिन कार्य का सामना करना पड़ रहा है। प्रियंका विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी, लेकिन इसमें कोई शक नहीं है कि वह अपनी पार्टी के लिए एक आक्रामक अभियान तैयार करेंगी।

एक और नई पीढ़ी के राजनेता जो चुनावी क्षेत्र में अपनी पार्टी का नेतृत्व करेंगे, राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के अध्यक्ष जयंत चौधरी हैं।

जयंत के लिए, यह उनका पहला स्वतंत्र चुनाव है, जब उनके पिता चौधरी अजीत सिंह का मार्गदर्शन नहीं होगा। अजीत सिंह की इस साल मई में कोविड की वजह से मौत हो गई थी।

किसान आंदोलन में उनकी सक्रिय भूमिका और उनके जाट समुदाय से उन्हें जो भारी समर्थन मिल रहा है, उसके कारण तराजू उनके पक्ष में झुका नजर आ रहा है।

समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता शिवपाल सिंह यादव के बेटे आदित्य यादव 2022 में अपना पहला चुनाव लड़ेंगे, हालांकि उनका निर्वाचन क्षेत्र अभी तय नहीं हुआ है।

आदित्य 2017 में चुनावी राजनीति में पदार्पण करने वाले थे, लेकिन पारिवारिक कलह ने समाजवादी पार्टी को लगभग विभाजित कर दिया, जिससे उन्होंने अपनी योजनाओं को टाल दिया।

एक शांत और विनम्र नेता, आदित्य अपने पिता शिवपाल यादव से संगठनात्मक कौशल सीख रहे हैं और उनके सबसे भरोसेमंद बैकरूम ब्वॉय हैं।

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद राज्य में अपनी शुरूआत करने वाले एक और युवा राजनेता हैं। उनकी पार्टी का नाम आजाद समाज पार्टी है।

34 वर्षीय दलित कार्यकर्ता पहले ही अभियान में उतर चुके हैं और उनकी साइकिल यात्राएं इन दिनों पूरे राज्य में चल रही हैं।

चंद्रशेखर के सहयोगियों का कहना है कि वह इस बार चुनाव नहीं लड़ेंगे, लेकिन यह सुनिश्चित करेंगे कि उनकी पार्टी को पर्याप्त दलित समर्थन मिले – एक ऐसा कदम जो सीधे तौर पर बहुजन समाज पार्टी के हितों के लिए हानिकारक हो सकता है।

जहां बीजेपी मौजूदा विधायकों को बदलने के बाद कई नए उम्मीदवार (वरिष्ठ नेताओं के बेटे और बेटियों सहित) को मैदान में उतारेगी, वहीं पार्टी अन्य दलों के युवा नेताओं के उतरने से चिंतित नहीं है।

भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक ने कहा, “नए चेहरे बदलाव नहीं ला सकते हैं। भाजपा जमीन पर काम कर रही है और लोग जानते हैं कि हमारी सरकारों ने उनके लिए क्या किया है। ये नए चेहरे लोगों का ध्यान खींच सकते हैं लेकिन वोट नहीं।”

सपा प्रवक्ता जूही सिंह ने हालांकि कहा कि बदलाव एक सतत प्रक्रिया है और नए चेहरों के आने से नए नेता राजनीतिक परिदृश्य में बदलाव लाएंगे।

–आईएएनएस

बिहार में दूसरे चरण का चुनाव नीतीश के लिए अग्नि परीक्षा से कम नहीं

पटना । बिहार में लोकसभा चुनाव 2024 के दूसरे चरण का चुनाव मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार के लिए अग्नि परीक्षा से कम नहीं माना जा रहा...

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में बंगाल के रायगंज में सीएपीएफ की सबसे अधिक होगी तैनाती

कोलकाता । पश्चिम बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर जिले के रायगंज लोकसभा क्षेत्र में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) कर्मियों की सबसे अधिक तैनाती होगी, जहां 26 अप्रैल को दूसरे चरण...

रांची में इंडिया गठबंधन की न्याय उलगुलान महारैली आज, नेताओं-कार्यकर्ताओं के पहुंचने का सिलसिला शुरू

रांची । रांची में रविवार को होने वाली इंडिया गठबंधन की महारैली के लिए नेताओं-कार्यकर्ताओं और समर्थकों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। झारखंड मुक्ति मोर्चा की मेजबानी...

यूपी के इस गांव को 76 साल बाद मिला नल का पानी

मिर्जापुर (उत्तर प्रदेश) । उत्तर प्रदेश के एक गांव में पिछले साल अगस्त में गर्मियों में छह वर्षीय शिवांश ने पहली बार पानी में उछल-कूद की और खुशी का अनुभव...

झारखंड में 10वीं बोर्ड का रिजल्ट जारी, 90.39 फीसदी परीक्षार्थी उत्तीर्ण

रांची । झारखंड में 10वीं बोर्ड का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। परीक्षा में कुल 90.39 फीसदी परीक्षार्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए हैं। झारखंड एकेडमिक काउंसिल के ऑफिस में...

बसपा ने 11 उम्मीदवार किए घोषित, वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ बदला प्रत्याशी

लखनऊ । लोकसभा चुनाव के लिए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने शुक्रवार को 11 उम्मीदवारों की एक और सूची जारी कर दी। बसपा ने वाराणसी से पीएम नरेंद्र मोदी के...

सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव की याचिका पर सुनवाई की स्थगित

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को योग गुरु बाबा रामदेव की उस याचिका पर सुनवाई स्थगित कर दी, जिसमें कोविड-19 महामारी के दौरान एलोपैथिक दवाओं के इस्तेमाल के...

विदिशा सीट से शिवराज सिंह चौहान ने दाखिल किया नामांकन

रायसेन । मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रायसेन कलेक्ट्रेट पहुंचकर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इस दौरान उनके साथ उनकी धर्मपत्नी, चुनाव प्रभारी महेंद्र सिंह, सांसद...

हम ना कभी आरक्षण के साथ छेड़खानी करेंगे, ना किसी को करने देंगे : गृह मंत्री अमित शाह

गांधीनगर । केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को लोकसभा चुनाव के लिए गुजरात की गांधीनगर सीट से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। नामांकन करने के बाद अमित शाह...

चुनाव में राजनीतिक दलों के खर्च की अधिकतम सीमा तय हो।सी ए जी से ऑडिट हो आर टी आई के दायरे में दलों को लाया जाए –पूर्व चुनाव आयुक्त अशोक लवासा

नई दिल्ली । पूर्व चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने चुनाव में राजनीतिक दलों के खर्चे पर अंकुश लगाने के लिए अधिकतम खर्च की एक सीमा तय करने और उन्हें आरटीआई...

सपा-बसपा और कांग्रेस के लोग चलाते थे दंगा पॉलिसी : सीएम योगी

बुलंदशहर । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुलंदशहर के सिकंदराबाद में आयोजित जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने गौतम बुद्ध नगर से भाजपा प्रत्याशी डॉ. महेश शर्मा...

सिद्दारमैया का दावा, कांग्रेस कर्नाटक में 20 लोकसभा सीटें जीतेगी

बेंगलुरु । कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया ने गुरुवार को दावा किया कि कांग्रेस इस लोकसभा चुनाव में 20 सीटों पर जीत का परचम लहराएगी। संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने...

editors

Read Previous

सीए परीक्षा:सुप्रीम कोर्ट ने कहा कोविड के नाम पर नियमों में बदलाव नहीं होगा

Read Next

हरियाणा के बाद राजस्थान में सबसे ज्यादा बेरोजगार लोग

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com