चुनाव में राजनीतिक दलों के खर्च की अधिकतम सीमा तय हो।सी ए जी से ऑडिट हो आर टी आई के दायरे में दलों को लाया जाए –पूर्व चुनाव आयुक्त अशोक लवासा

नई दिल्ली । पूर्व चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने चुनाव में राजनीतिक दलों के खर्चे पर अंकुश लगाने के लिए अधिकतम खर्च की एक सीमा तय करने और उन्हें आरटीआई के दायरे में लाने की मांग की है।
श्री लवासा ने आज यहां इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित अपने व्याख्यान में यह मांग की। प्रेस काउंसिल आफ इंडिया और आईईसी द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित इस कार्यक्रम में केंद्र सरकार में वित्त सचिव रह चुके श्री लवासा ने
अपने व्याख्यान में चुनाव आयोग की विश्वसनीय पर उठ रहे सवालों के मद्दे नजर चुनाव आयोग के सदस्यों की नियुक्ति के लिए गठित चयन समिति का विस्तार किये जाने और उसे अधिक स्वतंत्र बनाये जाने की वकालत की।
उन्होंने यहां तक कहा कि चयन समिति में सरकार ही नहीं बल्कि न्यायपालिका के भी किसी सदस्य को शामिल नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि कई बार चुनाव आयोग के मामले को उच्चतम न्यायालय भी सुनता है इसलिए मुख्य न्यायधीश को उसमें शामिल किए जाने से हितों का टकराव हो सकता है।
श्री लवासा ने चुनाव आयोग की कार्यप्रणालियों पर लगातार सवाल उठाते रहे हैं।गौरतलब है कि

पिछले चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनाव आचार संहिता के कथित उल्लंघन के मामले में नोटिस ना जारी किए जाने पर अपनी असमहति दर्ज की थी जिसको लेकर काफी विवाद खड़ा हुआ था और उनकी आपत्ति भी रिकार्ड में दर्ज नहीं की गई ।अंत में उन्होंने चुनाव आयोग से इस्तीफा देकर एशियाई विकास बैंक ज्वाइन कर लिया था ।

उन्होंने मुख्य चुनाव आयुक्त को एक रेफरी बताते हुए कहा कि टी एन शेषण जैसा मजबूत व्यक्ति भी कभी चुनाव आयुक्त हुआ करता था।इस का मतलब इस सिस्टम कोई व्यक्ति असरदार भूमिका निभा सकता है पर कोई नहीं निभाता।यह व्यक्ति पर निर्भर करता है।उन्होंने संकेत दिया कि अगर रेफरी मजबूत हो तो चुनाव आयोग की विश्वसनीय जनता की नजरों में बरकरार रह सकती है।
श्री लवासा ने अपने व्याख्यान के प्रारंभ में कहा कि देश जब आजाद हुआ था तो तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने घोषणा की थी कि 1950 में लोकसभा के चुनाव होंगे लेकिन देश के पहले चुनाव आयुक्त सुकुमार सेन ने कहा कि पहले मतदाता सूची को पूरी तरह ठीक कर लिया जाए उसके बाद ही चुनाव करना उचित होगा। इसके बाद प्रधानमंत्री ने मतदाता सूची पूरा होने के बाद दोबारा चुनाव की घोषणा की थी ।
श्री लवासा का इशारा इस बात की तरफ था कि कभी चुनाव आयुक्त इतना महत्वपूर्ण होता था कि प्रधानमंत्री को उसकी बात माननी पड़ती थी लेकिन आज स्थिति वैसी नहीं रह गई है।
उन्होंने अपने व्याख्यान के दौरान कई श्रोताओं के प्रश्नों के उत्तर दिए। उन्होंने कहा कि चुनाव में सबके लिए एक समान मैदान नहीं रह गया है क्योंकि राजनीतिक दलों के खर्च की अधिकतम सीमा तय नहीं की गई है ।चुनाव आयोग ने पहले भी सिफारिश की थी लेकिन सरकार ने इस संबंध में कोई कानून नहीं बनाया जिसके कारण आज राजनीतिक दल बेतहाशा चुनाव में पैसे खर्च करते हैं। अभी केवल प्रत्याशियों के चुनाव खर्च की ही अधिकतम सीमा निर्धारित की गई है ।
उन्होंने राजनीतिक दलों के चुनाव में होने वाले खर्च की जांच सी ए जी से करने की मांग की । अभी राजनीतिक दल के चुनावी खर्च की ऑडिट की जाती है और राजनीतिक दलों को हर साल अपना चुनाव खर्च का बयान आयोग के सामने पेश करना पड़ता है लेकिन सी ए जी की जांच से अधिक पारदर्शिता आएगी। उन्होंने कहा कि एक समय था कि चुनाव आयोग के कार्यों की बड़ी तारीफ भी होती रही है लेकिन बाद में जनता की आकांक्षाओं के अनुरूप चुनाव आयोग खरा नहीं उतरा ।
श्री लवासा ने भी वी वी पैट के मसले पर कहा कि 100% मतों का मिलान वीवीपीएटी से किया जाना चाहिए ताकि जनता को मतदान पर भरोसा हो सके ।
उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव आयोग आदर्श चुनाव संहिता के मामले में स्वतः संज्ञान नहीं लेता क्योंकि अगर किसी मामले में उसने संज्ञान नहीं लिया तो उस पर भेदभाव का आरोप लगा सकता है ,इसलिए चुनाव आयोग शिकायतों के आधार पर ही संज्ञान लेता है।
उन्होंने यह भी कहा कि किन शिकायतों के आधार पर क्या कार्रवाई हुई ,इसे भी पारदर्शी बनाया जाना चाहिए और इसकी सारी जानकारी चुनाव आयोग की वेबसाइट पर दी जानी चाहिए ताकि जनता को पता चल सके कि किस मामले में चुनाव आयोग ने क्या कदम उठाया।
उन्होंने चुनाव आयोग के तीनों सदस्यों को एक समान दर्जा दिए जाने की मांग की।उन्होंने चुनाव प्रक्रिया की लंबी अवधि को भी कम करने का सुझाव दिया।

— इंडिया न्यूज स्ट्रीम

सपा विधायक रफीक अंसारी गिरफ्तार

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के मेरठ से समाजवादी पार्टी के विधायक रफीक अंसारी को 1995 के एक आपराधिक मामले में गैर-जमानती वारंट का पालन नहीं करने पर लखनऊ में गिरफ्तार...

राजकोट अग्निकांड : नगर निगम को हाईकोर्ट की फटकार, कहा-तीन साल से क्या कर रहे थे आप

अहमदाबाद । राजकोट गेमिंग जोन अग्निकांड का स्वत: संज्ञान लेते हुए सोमवार को गुजरात हाईकोर्ट ने राजकोट नगर निगम को जमकर फटकार लगाई। साढ़े चार घंटे चली सुनवाई के दौरान...

पोर्श दुर्घटना : नाबालिग के ब्लड रिपोर्ट में ‘हेरफेर’ के आरोप में पुणे के दो डॉक्टर गिरफ्तार

पुणे (महाराष्ट्र) । पुणे पुलिस ने शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पोर्श कार दुर्घटना में शामिल नाबालिग आरोपी की ब्लड रिपोर्ट के साथ 'छेड़छाड़' के आरोप में सोमवार को सरकारी...

बिहार : राहुल गांधी के पहुंचते ही मंच धंसा, सभी ने एक-दूसरे को संभाला

पटना । कांग्रेस नेता राहुल गांधी सोमवार को बिहार में तीन चुनावी सभाओं को संबोधित करने वाले हैं। राहुल गांधी पाटलिपुत्र क्षेत्र के अंतर्गत पालीगंज में रैली को संबोधित करने...

पीएम मोदी पर शशि थरूर का बड़ा हमला : ‘विकास का उदाहरण एक मंदिर है तो आप विकास का मतलब नहीं समझते’

जालंधर । कांग्रेस नेता शशि थरूर शनिवार को पंजाब के जालंधर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी चरणजीत सिंह चन्नी के पक्ष में मतदान करने की अपील की। वहीं, एक...

प्रधानमंत्री मोदी के बयान पर तेजस्वी बोले, बिहारी कभी भी गुजराती से नहीं डरता, भगवान कृष्ण का जन्म जेल में ही हुआ था

पटना । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'नौकरी के बदले जमीन लेने वालों का काउंटडाउन शुरू' वाले बयान पर राजद नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहारी कभी...

हिरासत में युवक की मौत पर सीएम ने पुलिसकर्मियो को निलंबित करने का दिया निर्देश

मैसूरु, (कर्नाटक) । कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने पुलिस हिरासत में युवक की मौत के मामले में शनिवार को एक पुलिस उपाधीक्षक (डिप्टी एसपी) और पुलिस निरीक्षक को निलंबित करने...

राजकोट में टीआरपी मॉल के गेमिंग जोन में लगी भीषण आग, 17 की मौत, कई लोगों के फंसे होने की आशंका

राजकोट । गुजरात के राजकोट जिले के कालावड में शनिवार की शाम आग लगने की एक बड़ी घटना सामने आई है। जानकारी के अनुसार सयाजी होटल के पीछे बने टीआरपी...

बिहार की सियासत में अब ‘ट्रेंड’ का प्रवेश, तेजस्वी व चिराग आमने-सामने

पटना । लोकसभा चुनाव के तहत शनिवार को छठे चरण का चुनाव होना है। इसके एक दिन पहले शुक्रवार को यहां की सियासत में 'ट्रेंड' को लेकर राजद के नेता...

देश के युवाओं में बढ़ रहा हाइपरटेंशन : एम्स

नई दिल्ली । अगर आप भी हाइपरटेंशन बीमारी के शिकार हैं, तो आज ही अपना चेकअप करवा लें, क्योंकि यह गंभीर बीमारी आपके लिए खतरे की घंटी हो सकती है।...

पोर्शे दुर्घटना : पुणे के बिल्डर विशाल अग्रवाल 14 दिन की न्यायिक हिरासत में

पुणे । पुणे के बिल्डर विशाल एस. अग्रवाल को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। अग्रवाल को नाबालिग बेटे द्वारा पोर्शे कार चलाते हुए दुर्घटना के सिलसिले...

पहली बार सुल्तानपुर की जनसभा में नजर आए वरुण गांधी, मां मेनका के समर्थन में मांगे वोट, हुए भावुक

नई दिल्ली । भाजपा नेता वरुण गांधी गुरुवार को सुल्तानपुर से भाजपा प्रत्याशी अपनी मां मेनका गांधी के लिए चुनाव प्रचार करने पहुंचे। टिकट कटने के बाद पहली बार वह...

admin

Read Previous

रियलमी का 10 हजार से कम में सबसे तेज एंट्री-लेवल 5जी स्मार्टफोन ‘सी65’ होगा लॉन्च!

Read Next

लोकसभा चुनाव का पहला चरण : शाम 5 बजे तक सबसे ज्यादा पश्चिम बंगाल और सबसे कम बिहार में मतदान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com