उमर खालिद की जमानत याचिका पर सुनवाई 24 जनवरी तक टली

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) की संवैधानिकता को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं पर सुनवाई स्थगित करने की माँग अपनी आपत्ति व्‍यक्‍त की, जिसमें पूर्व जेएनयू छात्र कार्यकर्ता उमर खालिद द्वारा दायर जमानत याचिका भी शामिल है।

सबसे पहले खालिद की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने न्यायमूर्ति बेला एम. त्रिवेदी की अध्यक्षता वाली पीठ से निर्धारित सुनवाई को अगले सप्ताह के लिए टालने का अनुरोध किया। इस पीठ में न्यायमूर्ति पंकज मिथल भी शामिल हैं।

न्यायमूर्ति त्रिवेदी ने वरिष्ठ वकील से कहा, “हम कोई स्थगन नहीं देंगे।”

सिब्बल ने बताया कि उन्‍होंने इसलिए स्थगन का अनुरोध किया कि वह संवैधानिक पीठ में सुने जाने वाले मामलों में व्यस्त हैं।

पीठ ने कहा कि मामले में सुनवाई की आवश्यकता है क्योंकि खालिद, जिस पर दिल्ली दंगों की बड़ी साजिश के मामले में सख्त आतंकवाद विरोधी कानून के तहत आरोप लगाया गया है, वह सलाखों के पीछे है।

हालांकि सिब्बल और अन्य वरिष्ठ अधिवक्ताओं द्वारा बार-बार समझाने के बाद पीठ ने स्थगन के अनुरोध को स्वीकार कर लिया और मामलों के पूरे बैच की सुनवाई 24 जनवरी को तय की। शीर्ष अदालत ने स्पष्ट किया कि वह अगली तारीख पर स्थगन के किसी भी अनुरोध पर विचार नहीं करेगी।

इससे पहले नवंबर 2023 में सुप्रीम कोर्ट ने यूएपीए की संवैधानिकता को चुनौती देने वाली याचिकाओं के साथ-साथ दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा जमानत से इनकार के खिलाफ दायर खालिद की विशेष अनुमति याचिका पर सुनवाई 10 जनवरी तक के लिए टाल दी थी।

–आईएएनएस

इनेलो हरियाणा प्रमुख हत्याकांड में सात पर एफआईआर, सीसीटीवी फुटेज आई सामने

चंडीगढ़ । इंडियन नेशनल लोकदल (आईएनएलडी) के हरियाणा अध्यक्ष नफे सिंह राठी की हत्या के मामले में पुलिस ने 7 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। इसके अलावा,...

नई आबकारी नीति मामले में सीएम केजरीवाल ने ईडी के सातवें समन को भी किया नजरअंदाज

नई दिल्ली । नई आबकारी नीति मामले में ईडी की ओर से मिले सातवें समन को भी दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने नजरअंदाज कर दिया। सूत्रों के मुताबिक आप...

1 जुलाई से देश में लागू होगा नया क्रिमिनल लॉ, जारी हो गई अधिसूचना

नई दिल्ली । केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन नए आपराधिक कानूनों को लागू करने की अधिसूचना जारी कर दी गई है। इन कानूनों को 1 जुलाई, 2024 से लागू करने...

असम सरकार ने मुस्लिम विवाह अधिनियम निरस्त किया

गुवाहाटी । असम सरकार ने लंबे समय से चले आ रहे असम मुस्लिम विवाह और तलाक पंजीकरण अधिनियम 1935 शुक्रवार को निरस्त कर दिया। यह निर्णय शुक्रवार रात मुख्यमंत्री हिमंत...

बेंगलुरु कोर्ट ने राहुल गांधी, सीएम सिद्दरामैया, डिप्टी सीएम शिवकुमार को समन जारी किया

बेंगलुरु, 24 फरवरी (आईएएनएस)। यहां की एक विशेष अदालत ने भाजपा द्वारा दायर मानहानि के मामले में शुक्रवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी, कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दरामैया और उपमुख्यमंत्री व...

कलकत्ता हाईकोर्ट ने बंगाल विपक्ष के नेता के वकील को कोलकाता पुलिस के सामने पेश होने से दी राहत

कोलकाता, 20 फरवरी (आईएएनएस)। कलकत्ता उच्च न्यायालय की एकल-न्यायाधीश पीठ ने बुधवार को मंगलवार को पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता (एलओपी) सुवेंदु अधिकारी के वकील सूर्यनील दास को...

सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सीएम के पास सीधे अपनी बात रखने के बाद हटाए गए चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को बहाल किया

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने जिला न्यायपालिका के उस चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को सेवा में बहाल कर दिया है, जिसे इलाहाबाद उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल और तत्कालीन मुख्यमंत्री...

चुनाव आयोग के फैसले से नाखुश शरद पवार ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि वो शरद पवार की याचिका को सूचीबद्ध करने पर विचार करेगा। दरअसल, पवार ने हाल ही में चुनाव आयोग के...

सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने चुनावी बांड योजना 2018 को करार दिया ‘असंवैधानिक’

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की संविधान पीठ ने गुरुवार को सर्वसम्मति से फैसले में चुनावी बांड योजना 2018 को असंवैधानिक करार दिया। भारत के मुख्य न्यायाधीश...

चुनावी बांड योजना मतदाताओं के सूचना के अधिकार का उल्लंघन करती है: सीजेआई चंद्रचूड़

नई दिल्ली । भारत के मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) डी.वाई. चंद्रचूड़ ने गुरुवार को कहा कि किसी राजनीतिक दल को वित्तीय योगदान देने से बदले में उपकार करने की संभावना बन...

तनाव बढ़ने के बाद संदेशखाली के 19 इलाकों में धारा 144 दोबारा लगाई गई

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के तनावग्रस्त संदेशखाली के 19 इलाकों में बुधवार से फिर से धारा 144 लागू कर दी गई। कलकत्ता उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति...

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरातियों पर टिप्पणी को लेकर तेजस्वी यादव के खिलाफ मानहानि का मामला क‍िया रद्द

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की 'केवल गुजराती ही ठग हो सकते हैं' वाली टिप्पणी के लिए उनके खिलाफ लंबित आपराधिक...

admin

Read Previous

गाजियाबाद में भ्रष्टाचार का आरोप लगने पर भड़कीं मेयर, बोलीं- गर्दन अलग कर दूंगी

Read Next

ओवैसी जब पढ़ते हैं नमाज तो निकलता है “राम-राम”: विनय कटियार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com