आत्महत्या के लगातार बढ़ रहे मामले, नोएडा में बीते हफ्ते 10 लोगो ने की खुदकुशी

नोएडा:नोएडा के गोल्फ कोर्स मेट्रो स्टेशन पर 17 जनवरी की शाम मेट्रो के सामने कूदकर एक 16 वर्षीय किशोर ने अपनी जान दे दी। मूल रूप से इटावा का रहने वाला 16 वर्षीय लक्ष्य सेक्टर 36 में अपने दोस्तों के साथ रहता था।

वह मंगलवार शाम को गोल्फ कोर्स स्टेशन पर मेट्रो के सामने कूद गया। बताया जा रहा है कि वह मानसिक रूप से परेशान था। छोटी सी उम्र में ही यह मानसिक परेशानी किशोर को आत्महत्या के कगार तक खींच ले गई। वह परिवार से दूर था और अपनी बात अपने दोस्तों और परिवार को नहीं बता सका और जो परेशानी उस पर हावी थी, वह अंदर ही अंदर घुटता रहा।

वहीं दूसरी ओर 45 वर्षीय सबा अब्बास सिद्धकी अपने परिवार के साथ सेक्टर 62 के रोज अपार्टमेंट में रहती थी। उनके पति केंद्रीय गृह मंत्रालय में अधिकारी हैं। सबा डिप्रेशन की शिकार थी और उनका इलाज फोर्टिस अस्पताल में चल रहा था। उन्होंने 18 जनवरी को पांचवी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली।

अब इस मामले में उम्र मायने नहीं रखती क्योंकि 47 साल की उम्र हर तरीके के दबाव को झेलने के लिए एकदम उपयुक्त होती है। लेकिन कहीं ना कहीं यह अवसाद, मानसिक परेशानी लोगों के लिए इतना ज्यादा परेशानी का कारण बन जाता है कि वह अपनी जान देना ही आसान समझते हैं।

मानसिक तनाव जिंदगी पर इतना भारी पड़ जाता है कि किसी भी उम्र का व्यक्ति अपनी जान देने से परहेज नहीं करता। किशोर हो या युवा, लड़की हो या महिला या फिर बुजुर्ग। सभी के लिए परिवार का साथ बेहद जरूरी होता है लेकिन आजकल की न्यूक्लियर फैमिली में लोगों को अपनों का साथ कम मिल पाता है।

अगर उन्हें उनके क्षेत्र में कोई असफलता मिलती है तो वह उनके अवसाद का बड़ा-बड़ा कारण होती है। इसीलिए लगातार आत्महत्या के मामले बढ़ते जा रहे हैं। बीते 1 हफ्ते की बात करें तो करीब गौतमबुद्ध नगर जिले में ही 10 लोगों ने अलग-अलग तरीकों से खुदकुशी की है। जिसमें छात्र नौकरी पेशा लोग और महिलाएं शामिल हैं।

17 जनवरी को गोल्फ कोर्स मेट्रो स्टेशन के आगे कूदकर छात्र ने जान दे दी।

18 जनवरी को सेक्टर 62 में रहने वाली महिला ने पांचवी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली।

18 जनवरी को ही एक्सप्रेस वे स्थित सोसायटी में रहने वाले दुकानदार ने फंदा लगाकर जान दे दी।

19 जनवरी को पैरामाउंट सोसायटी में रहने वाले आईटी इंजीनियर ने आत्महत्या कर ली।

नोएडा आईएमए के पूर्व अध्यक्ष और डॉक्टर एनके शर्मा ने आईएएनस से खास बातचीत करते हुए बताया है कि एकल परिवार और पाश्चात्य सभ्यता के चलते ही इस तरीके के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और खास तौर से युवा आत्महत्या के रास्ते को अपना रहे हैं।

उनका कहना है कि आजकल के युवा और बच्चों को समय से पहले सारी चीजें चाहिए होती हैं। इसीलिए वह कई बार जब डिप्रेशन में या खराब स्थिति में आते हैं। तो उसका जिक्र अपने आसपास मौजूद लोगों से नहीं कर पाते। परिवार वालों से दूरी होती है और दोस्त समझ नहीं पाते।

इसीलिए ज्यादातर जो आत्महत्या कर रहे हैं उनमें युवाओं की संख्या ज्यादा है। पढ़ाई से लेकर सोशल जिंदगी तक में कंपटीशन इतना बढ़ गया है कि एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ बच्चों को इस रास्ते पर ले जाने के लिए मजबूर करती है।

उन्होंने यह भी बताया कि पहले गांव में एक साथ एक परिवार जब रहता था और बच्चे और युवा जब बाहर निकलते थे तो उन्हें इस बात का डर रहता था कि कोई ना कोई उनका जानने वाला उन्हें मिल जाएगा। कोई गलत काम वह करेंगे तो वह नजर में आ जाएगा लेकिन अब ऐसा कोई नहीं है।

उनके मुताबिक अब जितने भी आत्महत्या के मामले सामने आ रहे हैं। उनमें एक चीज जरूर देखने को मिल रही है, वह है व्यक्ति का अकेलापन। आज जो भी तनावग्रस्त है या मानसिक रूप से परेशान है उसके आसपास उसकी देखभाल करने के लिए कोई भी मौजूद नहीं होता, ना उससे उसकी समस्या कोई जानता है और ना ही उसका कोई दिन और रात में हाल-चाल लेता है।

–आईएएनएस

नेपाल से अयोध्या जा रही शालिग्राम शिला का बिहार में जगह-जगह स्वागत, दर्शन के लिए उमड़ रही भीड़

गोपालगंज/ मुजफ्फरपुर:नेपाल के जनकपुर से अयोध्या जा रही शालिग्राम शिला का बिहार में जगह-जगह स्वागत हो रहा है। लोग जगह जगह आरती करते नजर आए तो कई शिला के दर्शन...

राष्ट्रपति मुर्मू पहली बार संसद की संयुक्त बैठक को करेंगी संबोधित

नई दिल्ली : द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति पद पर निर्वाचित होने के बाद पहली बार संसद की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगी। वह चालू वर्ष के लिए सरकार के ²ष्टिकोण को...

भारत में 2023 में वैश्विक व्यापार और अधिक कम होने की उम्मीद

नई दिल्ली : 2022-23 के आर्थिक सर्वेक्षण में चेतावनी दी गई है कि आक्रामक और समकालिक मौद्रिक सख्ती के कारण वैश्विक आर्थिक विकास और विश्व व्यापार धीमा होने लगा है।...

ग्रामीण अर्थव्यवस्था में वृद्धि से मनरेगा की मांग में कमी : आर्थिक सर्वेक्षण

नई दिल्ली : महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) कार्य की मासिक मांग में मजबूत कृषि विकास के कारण साल-दर-साल गिरावट आ रही है। 2022-23 के आर्थिक सर्वेक्षण...

सोशल मीडिया को होना चाहिए जिम्मेदार : इलाहाबाद हाईकोर्ट

प्रयागराज (उत्तर प्रदेश) : इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने झांसी जिले की नंदिनी सचान द्वारा दायर उस याचिका को खारिज कर दिया, जिसमें सोशल मीडिया पर अश्लील सामग्री का प्रचार करने...

बांदा के इस स्कूल ने अपने दम पर की बिजली की व्यवस्था

बांदा (उत्तर प्रदेश) : कई पत्र लिखने और सभी से अनुरोध करने के तेरह साल के बाद बांदा के इस सरकारी हाई स्कूल के शिक्षकों और प्रिंसिपल ने आखिरकार खुद...

‘हिमालय को इको सेंसिटिव जोन घोषित करें’

नई दिल्ली : आरएसएस से जुड़े स्वदेशी जागरण मंच ने संबंधित नागरिकों और विशेषज्ञों के साथ शनिवार को 'इमीनेट हिमालयन क्राइसिस' पर एक गोलमेज सम्मेलन का आयोजन किया और हिमालय...

जितने राक्षस हुए हैं, वे ही साधु-संतों को टारगेट करते हैं : मनोज तिवारी

नई दिल्ली: बीजेपी प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक के बाद बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने स्वामी प्रसाद मौर्य पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि आप देश और दुनिया का इतिहास...

तलाक के बाद पिता के नहीं आने पर हाईकोर्ट ने महिला को बच्चे के साथ ऑस्ट्रेलिया में बसने की इजाजत दी

बेंगलुरू:कर्नाटक हाईकोर्ट ने एक महिला को उसके बच्चे के साथ ऑस्ट्रेलिया में बसने की इजाजत दे दी है, क्योंकि तलाक के बाद आठ साल तक पिता अपने बच्चे को देखने...

शॉर्ट सेलिंग रिपोर्ट से बाजार में हलचल, एसबीआई ने किया एक्सपोजर का बचाव

मुंबई : भारत के सबसे बड़े ऋणदाता भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने शुक्रवार को कहा कि अडानी समूह के लिए उसका एक्सपोजर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के बड़े एक्सपोजर फ्रेमवर्क...

आरएसएस प्रमुख के खिलाफ हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस को बहुसंख्यक समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और दो पत्रिकाओं के खिलाफ शिकायत मिली है। हालांकि...

लखनऊ में गणतंत्र दिवस समारोह में दिखा ‘किस्सा कुर्सी का’

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में गणतंत्र दिवस परेड से पहले लखनऊ में 'किस्सा कुर्सी का' का खेल देखने को मिला। मंच पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ पूर्व मंत्री मोहसिन...

akash

Read Previous

दिल्ली मेंकई बार-रेस्तरां ‘उपहार’ की तरह कर रहे सुरक्षा मानदंडों का उल्लंघन

Read Next

एम्स परिसर में सीआरपीएफ ने बनाया आश्रय घर, 200 लोगों के ठहरने की व्यवस्था

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com