मुकदमेबाजी प्रक्रिया को सरल बनाना, नागरिक केंद्रित बनाना महत्वपूर्ण: सीजेआई

नई दिल्ली: भारत के प्रधान न्यायाधीश डी.वाई. चंद्रचूड़ ने शनिवार को कहा कि मुकदमेबाजी प्रक्रिया को सरल बनाना और इसे ‘नागरिक केंद्रित’ बनाना महत्वपूर्ण है, न्यायाधीशों को न्याय, समानता और स्वतंत्रता हासिल करने की संवैधानिक ²ष्टि पर भी विचार करना चाहिए। मुख्य न्यायाधीश ने सुप्रीम कोर्ट में संविधान दिवस समारोह में बोलते हुए कहा: हम अदालतों के कामकाज में सुधार के लिए तकनीक अपना रहे हैं। यह सर्वोच्च महत्व और आवश्यकता है कि लोगों को न्याय की तलाश में अदालतों तक पहुंचने के बजाय लोगों तक पहुंचने के लिए अदालतों को फिर से तैयार किया जाए।

उन्होंने कहा, भारत में सभी अदालतों के सभी न्यायाधीशों, जिला अदालतों से लेकर सर्वोच्च न्यायालय तक को न्याय, समानता और स्वतंत्रता हासिल करने की संवैधानिक ²ष्टि पर विचार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि अदालतें लोगों तक पहुंचें, यह आवश्यक है कि मुकदमेबाजी की प्रक्रिया को सरल बनाया जाए और नागरिक केंद्रित बनाया जाए।

मुख्य न्यायाधीश ने जोर देकर कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि कानूनी पेशे और न्यायपालिका में हाशिए के समुदायों और महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ाया जाए। मुख्य न्यायाधीश ने कहा- हमें अपने कार्यों और निर्णयों पर आत्मनिरीक्षण करने और अपने स्वयं के पूर्वाग्रहों और पूर्व धारणाओं पर सवाल उठाने की आवश्यकता है। क्योंकि, जब तक हम अलग-अलग अनुभवों वाले लोगों के बारे में कई तरह के विचारों के लिए अपने दिमाग को नहीं खोलेंगे, तब तक हम न्यायाधीशों के रूप में अपनी भूमिकाओं में कमी महसूस करेंगे।

उन्होंने कहा कि जिला न्यायपालिका लोगों का न्यायिक प्रणाली से पहला संपर्क है और यह आवश्यक है कि इसे मजबूत और समर्थित किया जाए। जिला न्यायपालिका को अधीनस्थ न्यायपालिका होने की मानसिकता से ऊपर उठाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत जैसे बड़े और विविधतापूर्ण देश में एक संस्था के रूप में न्यायपालिका के सामने ‘सर्वोच्च चुनौती’ यह सुनिश्चित करना है कि न्याय वितरण प्रणाली सभी के लिए सुलभ हो।

मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि तकनीक के साथ न्यायपालिका के जुड़ाव ने कोविड-19 महामारी के दौरान व्यापकता हासिल की, और बुनियादी ढांचे को नष्ट नहीं किया जाना चाहिए बल्कि इसे बनाया जाना चाहिए। मैं उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीशों से ईमानदारी से यह सुनिश्चित करने का अनुरोध करूंगा कि जिन तकनीकी बुनियादी ढांचे पर सार्वजनिक धन खर्च किया गया है, उसे खत्म नहीं किया जाए बल्कि उसे और मजबूत किया जाए।

उन्होंने कहा कि न्याय तक पहुंच के मुख्य मुद्दे को हल करने के लिए संस्थागत सुधारों के साथ प्रौद्योगिकी को बढ़ाया जाना चाहिए। हमारा प्रयास न्याय तक पहुंच बढ़ाने का है। इसे उन लोगों के अनुभव को समृद्ध करने के संदर्भ में नहीं समझा जाना चाहिए जिनके पास पहले से ही पहुंच है, बल्कि उन समूहों और समुदायों तक पहुंच बनानी चाहिए जिन्हें बुनियादी अधिकारों से वंचित रखा गया है।

उन्होंने कहा कि औपनिवेशिक और पूर्व-औपनिवेशिक अदालतों ने नागरिकों के अधिकारों की रक्षा में अनिच्छा और निष्क्रियता के ²ष्टिकोण का पालन किया। न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने कहा कि उनका मानना है कि मुख्य न्यायाधीश के रूप में, शीर्ष अदालत में न्यायाधीशों, उच्च न्यायालयों के न्यायाधीशों, जिला न्यायपालिका के सदस्यों और संस्था के हितधारकों के साथ सहयोग और परामर्श करना उनकी जिम्मेदारी है।

उन्होंने समारोह के दौरान प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई ई-पहल- वर्चुअल जस्टिस क्लॉक, जस्टिस मोबाइल ऐप 2.0, डिजिटल कोर्ट और जिला अदालतों की 3वास वेबसाइटों पर भी बात की।

–आईएएनएस

दिल्ली में जन्मे पाकिस्तान के पूर्व सेना अध्यक्ष जनरल मुशर्रफ थे कारगिल युद्ध के लिए जिम्मेदार

नई दिल्ली:पाकिस्तान के राष्ट्रपति व सेना अध्यक्ष रह चुके जनरल परवेज मुशर्रफ का रविवार को निधन हो गया। दुबई में 79 की उम्र में उन्होंने आखिरी सांस ली। भारत-पाकिस्तान के...

लालटेन दिवस में सुंदर लालटेन का आनंद लें

बीजिंग: चीनी पंचांग के अनुसार पहले महीने के पंद्रहवें दिन को लालटेन दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस साल लालटेन दिवस 5 फरवरी को है। इस दिन चीनी...

कैंसर को लेकर 2021-25 के लिए अनुमानित आंकड़ा चिंताजनक : विशेषज्ञ

बेंगलुरु : इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2021-2025 के लिए कैंसर को लेकर अनुमान चिंताजनक है और 2021 में 2.67 करोड़ से बढ़कर 2025...

आरएसएस के साथ बातचीत जारी रखने के इच्छुक मुस्लिम नेता

नई दिल्ली : मुस्लिम संगठनों का मानना है कि आरएसएस के साथ बातचीत जारी रहनी चाहिए और दोनों समुदायों के बीच संघर्ष का जल्द समाधान होना चाहिए। जमात ए इस्लामी...

टीटीपी पर नियंत्रण के लिए तालिबान के शीर्ष नेता की मदद लेगा पाक

इस्लामाबाद:   आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान ने तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) आतंकी समूह को नियंत्रित करने के लिए तालिबान के सर्वोच्च लीडर मुल्ला हैबतुल्ला अखुंदजादा के हस्तक्षेप की मांग करने का...

दिल्ली विश्वविद्यालय में अब मुफ्त में पढ़ सकेंगे अनाथ बच्चे : कुलपति

नई दिल्ली, अरविंद कुमार :दिल्ली विश्विद्यालय ने अपने शताब्दी वर्ष में अनाथ बच्चों के लिए आरक्षण एवम मुफ्त शिक्षा का प्रावधान किया है।इससे हर साल उन हजारों अनाथ बच्चों को...

निर्वाचन आयोग का गीत ‘मैं भारत हूं’ सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

नई दिल्ली : इस साल होने वाले नौ विधानसभा चुनावों और अगले साल की शुरुआत में होने वाले लोकसभा चुनावों को देखते हुए चुनाव आयोग द्वारा तैयार किया गया गीत...

एसएंडपी ग्लोबल ने अडानी इलेक्ट्रिसिटी, अदानी पोर्ट्स की रेटिंग को ‘नेगेटिव’ किया

चेन्नई : वैश्विक क्रेडिट रेटिंग एजेंसी एसएंडपी ग्लोबल रेटिंग्स ने शुक्रवार को कहा कि उसने अदानी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई लिमिटेड और अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड के रेटिंग आउटलुक...

‘श्रमिकों की आवश्यक संख्या के लिए फिनलैंड को विदेशियों के आने की दर करनी होगी तिगुनी’

हेलसिंकी : फिनलैंड को देश की श्रम शक्ति की जरूरतों के लिए सालाना करीब 44,000 लोगों के आव्रजन की जरूरत है। एक रिपोर्ट में यह बात कही गई है। समाचार...

बच्चों में परीक्षा से जुड़े तनाव को दूर करने के लिए परीक्षा पर्व 5.0 का आयोजन होगा

नई दिल्ली: राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) प्रधानमंत्री के परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम से प्रेरित होकर 6 फरवरी से 31 मार्च तक परीक्षा पर्व 5.0 का आयोजित कर रहा...

देश वंचितों को प्राथमिकता देता है: पीएम मोदी

नई दिल्ली:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि राष्ट्र उन लोगों को सर्वोच्च प्राथमिकता देता है जो अब तक वंचित और उपेक्षित रहे हैं। असम के बारपेटा स्थित कृष्णगुरु...

शोधकर्ताओं ने मूत्र के माध्यम से ब्रेन ट्यूमर का पता लगाने वाला उपकरण बनाया

टोक्यो:जापान में शोधकर्ताओं की एक टीम ने मूत्र में महत्वपूर्ण प्रोटीन की पहचान करने वाला नया उपकरण बनाया है, जिससे यह पता चल जाएगा की मरीज को ब्रेन ट्यूमर है...

editors

Read Previous

एम्स रैंसमवेयर अटैक : प्रमुख मरीजों के डेटा लीक का खतरा, डार्क वेब पर बिक्री में शामिल

Read Next

पांच साल में दस गुना बढ़ गयी वाराणसी में पर्यटकों की संख्या

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com