सीएम योगी ने हाथरस हादसे की न्यायिक जांच के दिए आदेश

हाथरस । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को स्पष्ट कर दिया कि हाथरस हादसे में जो भी लोग जिम्मेदार हैं, उन्हें उनकी सजा दिलाई जाएगी। कोई भी दोषी बच नहीं पाएगा। इसके लिए हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में न्यायिक जांच के भी आदेश दिए गए हैं।

हाथरस में घटनास्थल का मुआयना और समीक्षा करने के साथ-साथ घायलों से मिलने के बाद सीएम योगी ने प्रेस वार्ता के माध्यम से इस पूरी घटना की तह में जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि इस पूरे कार्यक्रम की व्यवस्था आयोजन से जुड़े सेवादारों की थी, जबकि प्रशासन द्वारा बाहर पुलिस की व्यवस्था की गई थी। लेकिन, हादसा होने के तुरंत बाद सेवादार वहां से भाग निकले। यहां तक कि उन्होंने हादसे के बाद लोगों को अस्पताल पहुंचाने के लिए भी कोई व्यवस्था नहीं की।

सीएम योगी ने कहा कि इस पूरे घटनाक्रम के लिए हमने एडीजी आगरा की अध्यक्षता में एक एसआईटी गठित की है, जिसने अपनी प्रारंभिक रिपोर्ट दी है। उन्हें इस घटना के तह में जाने के लिए कहा गया है। बहुत सारे ऐसे पहलू हैं, जिन पर जांच होना बहुत आवश्यक है।

भोले बाबा के विरुद्ध एफआईआर नहीं होने के प्रश्न पर सीएम योगी ने कहा कि प्रथम दृष्टया एफआईआर उन पर होती है जिन्होंने कार्यक्रम की परमिशन मांगी थी। इसके बाद इसका दायरा बढ़ता है। निश्चित रूप से जो लोग भी इस घटना के जिम्मेदार होंगे, वो सभी इसके दायरे में आएंगे।

सीएम योगी ने कहा कि मंगलवार को हाथरस जनपद के सिकंदराराऊ तहसील के एक गांव में दुखद और दर्दनाक घटना घटित हुई थी। इस पूरी घटना की तह तक जाने के लिए शासन स्तर पर हम लोगों ने मंगलवार को ही कदम उठाए थे। इस हादसे में 121 श्रद्धालुओं की मृत्यु हुई, जो उत्तर प्रदेश के साथ-साथ हरियाणा, राजस्थान और मध्य प्रदेश से भी जुड़े हुए हैं। उत्तर प्रदेश में हाथरस, बदायूं, कासगंज, अलीगढ़, एटा, ललितपुर, आगरा, फिरोजाबाद, गौतमबुद्ध नगर, मथुरा, औरैया, बुलंदशहर, पीलीभीत, संभल और लखीमपुर खीरी समेत 16 जनपदों के भी कुछ श्रद्धालुजन हैं, जो इस हादसे के शिकार हुए हैं। 121 में से 6 मृतक ऐसे थे, जो अन्य राज्यों से थे, जिनमें ग्वालियर (मध्य प्रदेश) से एक, हरियाणा से 4 और राजस्थान से एक थे। जो घायल हैं, उनमें 31 ऐसे हैं, जिनका हाथरस, अलीगढ़, एटा और आगरा के हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है और सभी खतरे से बाहर हैं।

सीएम योगी ने कहा कि गंभीर रूप से घायलों ने बातचीत में बताया कि हादसा उस समय हुआ जब कार्यक्रम के उपरांत कथावाचक का काफिला जीटी रोड पर आया तो उनके पैर छूने के लिए महिलाओं का एक दल उधर बढ़ गया। उनके पीछे-पीछे भीड़ गई और इसी के बाद वो एक-दूसरे के ऊपर गिरते गए। सेवादार भी लोगों को धक्का देते गए, जिसके चलते जीटी रोड के दोनों ओर हादसा घटित हुआ। इसका सबसे दुखद पहलू यह था कि इस तरह के कार्यक्रम के दौरान जो सेवादार प्रशासन को अंदर घुसने नहीं देते, दुर्घटना होने के तत्काल बाद उन्होंने मामले को दबाने का प्रयास किया। लेकिन, जब प्रशासन ने घायलों को अस्पताल ले जाने की कार्रवाई शुरू की तो उनमें से ज्यादातर सेवादार वहां से भाग गए।

सीएम योगी ने बताया कि अब तक प्रथम दृष्टया हमारी कार्रवाई ये थी कि राहत और बचाव के कार्य को आगे बढ़ाने के बाद आयोजकों को पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा। घटना के कारणों के बारे में उनसे बात की जाएगी और घटना में लापरवाही और जिम्मेदारों की जवाबदेही तय की जाएगी। हम इस बात को खारिज नहीं कर सकते कि इस प्रकार की घटना केवल एक हादसा है। अगर हादसा भी है तो उसके पीछे कौन जिम्मेदार है और अगर हादसा नहीं है तो साजिश किसकी है। इन सभी पहलुओं को देखते हुए राज्य सरकार ने तय किया है हम इस पर एक न्यायिक जांच भी करवाएंगे। न्यायिक जांच हाई कोर्ट के एक रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में होगी, जिसमें प्रशासन और पुलिस के भी रिटायर्ड सीनियर अधिकारियों को रखा जाएगा और इस पूरी घटना की तह में जाकर जो भी इसके लिए दोषी होगा, उन्हें इसकी सजा दिलाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि ज्यूडिशियल इंक्वायरी का नोटिफिकेशन आज ही जारी हो जाएगा। साथ ही इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति न हो, इसके लिए उनके माध्यम से एक सुझाव और एसओपी बनाई जाएगी, जिसे आगे इस प्रकार के आयोजनों में लागू किया जाएगा।

–आईएएनएस

अवैध खनन मामले में हरियाणा कांग्रेस विधायक पंवार को ईडी ने किया गिरफ्तार

चंडीगढ़ । प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने हरियाणा के सोनीपत से कांग्रेस विधायक सुरेंद्र पंवार को अवैध खनन मामले में गिरफ्तार किया है। ईडी ने उनको गुरुग्राम से गिरफ्तार किया। ईडी...

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद नीट यूजी परीक्षा परिणाम दोबारा जारी

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने दोबारा यूजी मेडिकल प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है। एनटीए ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर...

कार्य में लापरवाही बरतने वाले पुलिस अधिकारियों पर हो कार्रवाई : नीतीश कुमार

पटना । विपक्ष जहां प्रदेश में कानून व्यवस्था की गिरती स्थिति को लेकर 20 जुलाई को जहां पूरे प्रदेश में प्रदर्शन करने वाला है, उससे एक दिन पहले शुक्रवार को...

झारखंड के सहायक पुलिसकर्मियों का आंदोलन हुआ उग्र, बैरिकेडिंग तोड़ सीएम हाउस पहुंचे

रांची । सेवा स्थायी करने की मांग पर झारखंड के सहायक पुलिसकर्मियों के आंदोलन ने शुक्रवार दोपहर उग्र रूप ले लिया। राज्य सरकार के साथ वार्ता विफल होने के बाद...

ट्रेनी आईएएस पूजा खेडकर के खिलाफ यूपीएससी का बड़ा एक्शन, एफआईआर दर्ज

नई दिल्ली । दस्तावेजों में फर्जीवाड़े के आरोपों से घिरी ट्रेनी आईएएस पूजा खेडकर ने नाम, माता-पिता का नाम, हस्ताक्षर, ईमेल, मोबाइल नंबर और पता बदलकर अपनी फर्जी पहचान बनाई।...

उत्तराखंड हाई कोर्ट का यह फैसला यूसीसी को गलत कहने वालों के लिए सबक, लिव-इन रिलेशनशिप में रहने वालों के लिए राहत

देहरादून । उत्तराखंड देश में यूसीसी (समान नागरिक संहिता) लागू करने वाला पहला प्रदेश बन गया है। ऐसे में इसके अंदर शादी से लेकर जमीन-जायदाद में हिस्सेदारी और लिव-इन रिलेशनशिप...

दो नए जजों के शपथ लेने के बाद सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों की संख्या हुई पूरी

नई दिल्ली । चीफ जस्टिस डी.वाई. चंद्रचूड़ ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के दो नए न्यायाधीशों को पद की शपथ दिलाई। जस्टिस एन. कोटिश्वर सिंह और आर. महादेवन ने सुप्रीम...

सीबीआई पटना एम्स से चार छात्रों को पूछताछ के लिए ले गई है : जीके. पॉल

पटना । केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कथित तौर पर नीट-यूजी प्रश्नपत्र लीक मामले में पटना एम्स के चार एमबीबीएस छात्रों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। अखिल...

शंभू बॉर्डर खुलते ही किसान करेंगे दिल्ली कूच, अंबाला एसपी ऑफिस का करेंगे घेराव

चंडीगढ़ । किसान आंदोलन के दौरान गिरफ्तार किसानों की रिहाई की मांग को लेकर 17 और 18 जुलाई को किसान हरियाणा के अंबाला एसपी ऑफिस का घेराव करेंगे। किसान नेता...

भोजशाला की सर्वे रिपोर्ट एएसआई ने हाई कोर्ट में की पेश

इंदौर । मध्य प्रदेश के धार जिले में स्थित भोजशाला वाकई में सरस्वती देवी का मंदिर था या मस्जिद, इसके परीक्षण के लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने सर्वे किया और...

जनजाति कल्याण बोर्ड घोटाला: 18 जुलाई तक ईडी हिरासत में भेजे गए पूर्व मंत्री बी नागेंद्र

बेंगलुरु । स्पेशल कोर्ट ने शनिवार को कर्नाटक के पूर्व मंत्री बी. नागेंद्र को 18 जुलाई तक प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत में भेज दिया। कर्नाटक महर्षि वाल्मीकि अनुसूचित जनजाति...

कर्नाटक सरकार को एमयूडीए घोटाले में ईडी की जांच पर कोई आपत्ति नहीं : एमबी पाटिल

विजयपुरा । कर्नाटक में महर्षि वाल्मीकि अनुसूचित विकास निगम लिमिटेड में हुए घोटाले को लेकर बयानबाजी का दौर जारी है। बीजेपी के आरोपों पर और ईडी की जांच को लेकर...

admin

Read Previous

गाजा में जलापूर्ति के लिए बिजली बहाली का काम शुरू : इजराइली सूत्र

Read Next

2012 से 2024 तक कुछ भी तो नहीं बदला, मां सोनिया ने संसद में जो किया था, राहुल गांधी ने उसी को दोहराया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com