पीएम ने अपने भाषण में चुनाव में गहलोत बनाम मोदी का दिया संदेेश

जयपुर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चित्तौड़गढ़ सभा में अपने भाषण के दौरान कई छुपे संदेश दिए। सूत्रों का कहना है कि ये बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियों के लिए हैं। भाषण के दौरान गहलोत सरकार की योजनाओं, मोदी मतलब गारंटी, चुनाव में एक ही चेहरा-कमल का फूल आदि का उल्‍लेख किया।

 कमल के फूल के जरिए उन्होंने बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं को संदेश दिया कि वे किसी एक चेहरे पर चुनाव नहीं लड़ेंगे। साथ ही उन्होंने गहलोत पर हमला बोलकर यह संदेश दे दिया कि यह चुनाव मोदी बनाम गहलोत होगा।

मोदी ने अपने भाषण के जरिए न सिर्फ छुपे संदेश दिए, बल्कि बीजेपी का एक्शन प्लान भी बताया। पीएम मोदी ने साफ किया कि राज्य में बीजेपी सरकार आने के बाद भी गहलोत सरकार की जनहित योजनाएं बंद नहीं की जाएंगी। मोदी ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कहते हैं कि भाजपा की सरकार आयी, तो उनकी योजनाएं बंद कर दी जायेंगी। मतलब साफ है कि गहलोत ने मान लिया है कि राज्य में बीजेपी की सरकार बनने जा रही है।

मोदी ने कहा, मैं राजस्थान की जनता को विश्वास दिलाता हूं कि बीजेपी सरकार बनने के बाद जनहित की कोई भी योजना बंद नहीं की जाएगी, बल्कि इसे और बेहतर बनाने का प्रयास किया जायेगा।

दरअसल, रविवार को देशभर से सरकारी कर्मचारी केंद्र सरकार के खिलाफ दिल्ली में जुटे थे। कर्मचारियों की मांग थी कि केंद्र सरकार राजस्थान, छत्तीसगढ़ और हिमाचल की तर्ज पर केंद्रीय कर्मचारियों को भी पुरानी पेंशन योजना का लाभ दे। ऐसे में केंद्र सरकार पर केंद्रीय कर्मचारियों के लिए ओपीएस लागू करने का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है। पीएम मोदी ने गहलोत की इन प्रमुख योजनाओं को जारी रखने की बात कहकर एक तरह से विधानसभा चुनाव के साथ-साथ लोकसभा चुनाव में भी श्रमिक वर्ग को लुभाने की कोशिश की है।

प्रधानमंत्री मोदी एक साल में 10 बार राजस्थान का दौरा कर चुके हैं। पिछली दो बैठकों के बाद से उन्होंने राज्य की जनता के नाम अपना संबोधन बदल दिया है। आमतौर पर मोदी आम लोगों को ‘मेरे प्यारे प्रदेशवासियों’, ‘भाइयों और बहनों’ कहकर संबोधित करते हैं। जयपुर और सांवलिया की सभाओं में मोदी ने राज्य की जनता को अपने परिवार का सदस्य कहकर संबोधित किया। इसके पीछे मंशा साफ है कि मोदी राज्य की जनता को यह संदेश देना चाहते हैं कि राजस्थान उनके लिए एक परिवार की तरह है, यहां रहने वाले लोग उनके परिवार का हिस्सा हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि कमल को भारी बहुमत से जिताना है, कमल के नेतृत्व में चुनाव लड़ना है, कमल के निशान पर बटन दबाकर राजस्थान को आगे बढ़ाना है।सूत्रों ने बताया कि उनका इशारा मंच पर बैठे नेताओं की ओर भी था। मोदी यह साफ करना चाहते हैं कि कोई भी नेता पार्टी से बड़ा नहीं हैै। हर नेता और कार्यकर्ता की पहचान कमल के फूल से होती है। यानी जब तक वह पार्टी में हैं, उनकी पहचान वहीं तक सीमित है। साथ ही उन्होंने कार्यकर्ताओं को भी साफ संदेश दिया कि वे किसी गुट में न रहें, उन्हें गुटबाजी का शिकार नहीं होना चाहिए। यह भी साफ कर दिया गया कि चुनाव में बीजेपी का कोई चेहरा नहीं होगा. चेहरा केवल कमल का फूल होगा।

— आईएएनएस

नितिन गडकरी सोमवार को करेंगे जम्मू-कश्मीर की परियोजनाओं की समीक्षा

श्रीनगर । केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी जम्मू-कश्मीर में विभिन्न विकास परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा के लिए सोमवार को यहां एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता...

संसद भवन में स्थापित होगा ‘प्रेरणा स्थल’, भाजपा सांसदों ने जताई खुशी

नई दिल्ली । संसद भवन में देश के महापुरुषों और महान स्वतंत्रता सेनानियों की प्रतिमाओं के लिए 'प्रेरणा स्थल' का निर्माण किया गया है। जिसका उद्घाटन उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के...

ऋषिकेश एम्स पहुंचे सीएम योगी, अपनी मां व रुद्रप्रयाग हादसे के घायलों का जाना हाल

ऋषिकेश । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को उत्तराखंड के ऋषिकेश एम्स पहुंचे। यहां उन्होंने सबसे पहले अपनी मां से मिलकर उनका हाल जाना और डॉक्टरों से उनके...

अमित शाह ने सुरक्षा बलों को जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद को हर हाल में कुचलने की दी सलाह

नई दिल्ली । केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को सुरक्षा बलों को जम्मू-कश्मीर से आतंकवाद को हर कीमत पर खत्म करने और आगामी अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा सुनिश्चित...

‘मेलोडी’ सेल्फी वीडियो ने इंटरनेट पर मचा दिया तहलका

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इटली की प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी का कैमरे की ओर देखकर मुस्कुराते और हाथ हिलाते हुए पांच सेकेंड का सेल्फी वीडियो सोशल मीडिया पर...

भारत का इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण पांच साल में 250 अरब डॉलर पर पहुंचने की संभावना : रिपोर्ट

नई दिल्ली । भारत का इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण अगले पांच साल में लगभग 250 अरब डॉलर तक पहुंचने की संभावना है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस समय देश का इलेक्ट्रॉनिक निर्यात...

कुवैत में मारे गए 45 भारतीयों के शव विशेष विमान से आज पहुंचेंगे केरल

नई दिल्ली । कुवैत शहर में बुधवार को लगी भीषण आग में मारे गए 45 भारतीय नागरिकों के शवों को भारत विशेष विमान से वापस लाएगा। विमान आज यानि शुक्रवार...

शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मिले नीट के छात्र, कहा न्याय का मिला भरोसा

नई दिल्ली । केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मुलाकात के बाद शास्त्री भवन से निकले छात्रों ने कहा कि नीट पेपर लीक मामले को सुप्रीम कोर्ट देखेगा। उन्होंने कहा...

नीट पेपर लीक मामला : सुप्रीम कोर्ट ने एनटीए की याचिका पर जारी किया नोटिस

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की उस याचिका पर नोटिस जारी किया, जिसमें कथित नीट पेपर लीक से जुड़े दिल्ली उच्च न्यायालय में...

पीएम मोदी के नेतृत्व में एविएशन सेक्टर के 25 वर्षों के विकास का खाका तैयार हुआ

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत का सिविल एविएशन मार्केट काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है और सरकार की नीतियों से एविएशन इंडस्ट्री के अगले...

झारखंड में किसानों के दो लाख तक के लोन होंगे माफ, सरकार ने बैंकों से मांगे प्रस्ताव

रांची । झारखंड में किसानों के दो लाख रुपए तक के लोन माफ किए जाएंगे। इसके लिए सरकार ने सभी बैंकों से प्रस्ताव प्रस्तुत करने को कहा है। यह जानकारी...

जी7 शिखर सम्मेलन में यूक्रेन का मुद्दा रहेगा हावी

बारी (इटली) । जी7 देश के नेता तीन दिवसीय शिखर सम्मेलन के लिए इटली में मिल रहे हैं। माना जा रहा है इसमें रूस-यूक्रेन युद्ध का मुद्दा हावी रहेगा। साथ...

admin

Read Previous

न्यूज़क्लिक से जुड़े पत्रकारों पर छापेमारी पर अनुराग ठाकुर ने कहा, जांच एजेंसी स्वतंत्र है

Read Next

हांगकांग को 13-0 से रौंद कर सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय मह‍िला हॉकी टीम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com