अपनी बढ़ती प्रतिष्ठा को प्रदर्शित करते हुए भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की ग्रहण की अध्यक्षता

संयुक्त राष्ट्र: खंडित दुनिया में एकता को बढ़ावा देने के लिए काम करने के वादे के साथ भारत ने अपनी बढ़ती वैश्विक प्रतिष्ठा को प्रदर्शित करते हुए जी20 का नेतृत्व संभालने के कुछ घंटों बाद ही उसी दिन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता भी ग्रहण की।

संयुक्त राष्ट सुरक्षा पर्षिद में भारत के स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने गुरुवार को कहा कि परिषद में भारत एकता की दिशा में काम करेगा।

प्रमुख औद्योगिक और उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं के समूह जी20 की तरह, जब दुनिया युद्धों और आर्थिक संकटों से खतरों का सामना कर रही है, भारत एक ध्रुवीकृत परिषद की अध्यक्षता करने के चुनौतीपूर्ण कार्य का सामना कर रहा है।

इन दोनों संगठनों में ही पश्चिमी देश और रूस और चीन एक-दूसरे के खिलाफ हैं।

उन्होंने कहा, भारत अंतरराष्ट्रीय संकटों में एक बहुत प्रभावी पहला उत्तरदाता रहा है और हम परिषद में भी ऐसा करना जारी रखेंग।

सुरक्षा परिषद प्रमुख का पद संभालने के बाद संवाददाता सम्मेलन में कंबोज ने कहा, यह भारत का तरीका है।

उन्होंने कहा कि भारत एक बड़ा देश है जो अपने दम पर खड़ा है और उसकी अपनी स्वतंत्र नीतियां हैं।

गौरतलब है कि विजया लक्ष्मी पंडित के महासभा की अध्यक्ष बनने के 69 साल बाद कंबोज सुरक्षा परिषद की प्रमुख बनने वाली पहली भारतीय महिला बनीं।

कंबोज ने कहा कि सुरक्षा परिषद का अध्यक्ष रहने के दौरान भारत दो सत्र आयोजित करेगा। प्रथम आतंकवाद से लड़ना और द्वितीय 1940 के दशक से अटकी सुरक्षा परिषद सहित अंतर्राष्ट्रीय प्रणाली में सुधार करना।

उन्होंने कहा, भारत यूएन मुख्यालय में महात्मा गांधी की एक प्रतिमा का अनावरण करेगा और शांति सैनिकों पर हमलों का मुकाबला करने के लिए राष्ट्रों के एक समूह का आयोजन करेगा।

सुरक्षा परिषद में रूसी वीटो के कारण यूक्रेन पर गतिरोध के प्रबंधन के बारे में पूछे जाने पर कंबोज ने कहा कि भारत के पास दोनों पक्षों के साथ बातचीत का अवसर है।

कंबोज ने कहा कि मोदी और जयशंकर ने संघर्ष के कूटनीतिक समाधान के लिए रूस और यूक्रेन दोनों के नेतृत्व से बात की है।

उन्होंने कहा, हम उन कुछ देशों में से हैं, जो यह कहने की हिम्मत करते हैं कि वे दोनों से बात कर रहे हैं।

यह पूछे जाने पर कि क्या भारत परिषद की दिशा बदल सकता है, उन्होंने संदेह व्यक्त करते हुए कहा, हम बहुत सकारात्मकता के साथ काम करना जारी रखेंगे।

उन्होंने कहा कि भारत हमेशा किसी भी विवाद के राजनयिक और शांतिपूर्ण समाधान के पक्ष में है।

देशों के तटस्थ होने पर यूक्रेन के राष्ट्रपति ब्लादिमिर की टिप्पणी के बारे में प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कम्बोज ने कहा कि वह इस पर टिप्पणी नहीं करेंगी, लेकिन भारत की स्थिति को स्पष्ट करेंगी।

अंतरराष्ट्रीय ढांचे में सुधार पर कंबोज ने कहा कि यह पुरातन है और कूटनीतिक और राजनीतिक से लेकर आर्थिक तक सभी क्षेत्रों में है।

उन्होंने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र होने के कारण अंतरराष्ट्रीय मामलों में अपनी बढ़ती भूमिका और वैश्विक संकटों के प्रति अपनी भूमिका के लिए सुरक्षा परिषद में स्थायी सीट का दावा करता है।

उन्होंने हाल के दो संकटों का उदाहरण दिया। कोविड महामारी के दौरान भारत ने दुनिया भर के देशों को 40 मिलियन से अधिक वैक्सीन खुराक प्रदान की, और यूक्रेन युद्ध के कारण हुई भोजन की कमी को दूर करने के लिए भारत ने न केवल पड़ोसियों को बल्कि अफ्रीका और मध्य पूर्व के देशों को भी खाद्यान्न भेजा।

उन्होंने कहा कि सितंबर में महासभा की उच्च स्तरीय बैठक में 73 देशों के नेताओं ने परिषद में सुधार की मांग की।

कंबोज ने कहा, यह एक आकस्मिक संयोग नहीं है बल्कि व्यापक सदस्यता की सोच का प्रतिबिंब है।

उन्होंने कहा, भारत आतंकवाद से लड़ने पर वैश्विक सहमति प्राप्त करने की परिषद की घोषणा को आगे बढ़ाने का प्रयास करेगा।

–आईएएनएस

सुप्रीम कोर्ट ने चाइल्ड कस्टडी मामलों में अमेरिका के साथ आपसी समझौते की संभावना पर केंद्र से जवाब मांगा

नई दिल्ली,: सुप्रीम कोर्ट ने मामलों की संख्या में वृद्धि के कारण बाल हिरासत विवादों से जुड़े मामलों में अमेरिका के साथ आपसी समझौते करने की संभावना पर केंद्र से...

सरकार की प्रमुख पहलों : जल जीवन, स्वच्छ भारत मिशनों को प्रमुख बजट प्रोत्साहन मिला

नई दिल्ली:| 2024 के लोकसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने बुधवार को केंद्रीय बजट पेश किया, जिसमें सरकार की महत्वाकांक्षी जल जीवन मिशन के लिए आवंटन को...

यह बजट मोदी सरकार के आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को और गति देगा: अमित शाह

नई दिल्ली: केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने बजट 2023 को सर्वसमावेशी और दूरदर्शी बताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को बधाई दी है।...

केंद्रीय बजट सबके लिए फायदेमंद : हरियाणा सीएम

चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने समाज के हर वर्ग को ध्यान में...

12 फरवरी को बंगाल में अमित शाह की दो रैलियां

कोलकाता:पश्चिम बंगाल में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 12 फरवरी को पश्चिम बंगाल के दो जिलों में दो रैलियों में शामिल होंगे।...

50 अतिरिक्त हवाईअड्डे, वाटर एयरोड्रोम और हेलीपोर्ट बनाए जाएंगे : वित्त मंत्री

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को घोषणा की कि क्षेत्रीय हवाई-संपर्क में सुधार के लिए 50 अतिरिक्त हवाई अड्डे, जल हवाईअड्डे और हेलीपोर्ट बनाए जाएंगे। उन्होंने...

बजट सत्र में कांग्रेस अदानी, चीन सीमा विवाद और महंगाई का मुद्दा उठाएगी : खड़गे

नई दिल्ली : कांग्रेस पार्टी अन्य दलों के साथ मिलकर बजट सत्र में अदानी, चीन सीमा विवाद और महंगाई का मुद्दा उठाएगी। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने बुधवार को कहा...

आम बजट 2023-24 : गोबर बनेगा कमाई का जरिया

नई दिल्ली : लोकसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अपना पांचवां बजट पेश कर रही हैं। वित्तमंत्री ने बजट में वैकल्पिक उर्वरकों को बढ़ावा देने के लिए पीएम प्रणाम योजना...

अनुभवी कप्तान पीएम मोदी ने महामारी के दौर में भी अर्थव्यवस्था को सुचारु रूप से चलाया : अमित शाह

नई दिल्ली: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के अभिभाषण के बाद मंगलवार को आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट को जारी किया गया। इसको लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि आर्थिक सर्वेक्षण बताता...

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने इलाहाबाद, गुजरात हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीशों के लिए सिफारिश की

नई दिल्ली: सर्वोच्च न्यायालय के कॉलेजियम ने मंगलवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल और गुजरात उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश अरविंद कुमार को शीर्ष अदालत का...

सरकारी शिक्षकों की फिनलैंड में ट्रेनिंग के लिए सरकार ने फिर भेजा उपराज्यपाल को पत्र

नई दिल्ली:दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने एक बार फिर उपराज्यपाल को पत्र लिखकर सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को ट्रेनिंग के लिए फिनलैंड भेजे जाने के प्रस्ताव को तत्काल...

पाकिस्तान की मस्जिद में आत्मघाती हमला : मृतकों की संख्या 96 पहुंची

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पेशावर प्रांत की एक मस्जिद में हुए आत्मघाती हमले में मरने वालों की संख्या मंगलवार को बढ़कर 96 हो गई, हमले की जगह से और शव बरामद...

editors

Read Previous

असम डीजीपी ने भारतीय सेना के तहत पुलिस प्रशिक्षण का उद्घाटन किया

Read Next

अफगान लड़कियों की कम उम्र में शादी में बढ़ोतरी हो रही : रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com