एम्स रैंसमवेयर अटैक : प्रमुख मरीजों के डेटा लीक का खतरा, डार्क वेब पर बिक्री में शामिल

नई दिल्ली:अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नई दिल्ली, इस सप्ताह के शुरू में बड़े पैमाने पर रैंसमवेयर हमले के बाद अभी भी अपने सर्वर को ठीक करने और चलाने के लिए संघर्ष कर रहा है। साइबर-सुरक्षा शोधकर्ताओं ने शनिवार को कहा कि स्वास्थ्य सेवा उद्योग में सबसे अधिक रिपोर्ट किए गए हमले, जो महामारी के दौरान उभरा, डार्क वेब पर डेटाबेस के रिसाव या बिक्री में शामिल हैं। शोषित डेटाबेस में रोगियों और स्वास्थ्य कर्मियों की व्यक्तिगत रूप से पहचान योग्य जानकारी (पीआईआई) के साथ-साथ प्रशासनिक जानकारी जैसे रक्त दाता रिकॉर्ड, एम्बुलेंस रिकॉर्ड, टीकाकरण रिकॉर्ड, देखभाल करने वाले रिकॉर्ड, लॉगिन क्रेडेंशियल आदि शामिल हैं।

एआई संचालित साइबर सुरक्षा फर्म क्लाउडसेक के एक प्रवक्ता ने आईएएनएस को बताया, “स्वास्थ्य सेवा उद्योग में शामिल सरकारी एजेंसियों को एचआईपीएए (हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी एंड अकाउंटेबिलिटी) अनुपालन आवश्यकताओं का पालन करना चाहिए, साइबर हमलों, ऑनलाइन घोटालों और फिशिंग अभियानों के बारे में उपयोगकर्ताओं के बीच जागरूकता पैदा करनी चाहिए, सुरक्षित पासवर्ड के लिए नीतियां स्थापित करनी चाहिए और मल्टि-फेक्टर ऑथेंटिकेशन (एमएफए) सक्षम करना चाहिए।”

एम्स पर हुए साइबर हमले ने इसके मुख्य और बैक-अप सर्वर को बंद कर दिया।

हमलावरों ने ई-हॉस्पिटल सेवा को हैक कर लिया, जो पेशन्ट डेटा सिस्टम का प्रबंधन करती है, आउट पेशेंट विभाग (ओपीडी) और सैंपल कलेक्शन सेवाओं को प्रभावित करती है।

साइबर हमले के पीछे वालों ने एम्स को ‘बातचीत की तैयारी’ करने की चेतावनी दी है।

दिल्ली पुलिस साइबर हमले की जांच कर रही है।

इस बीच, एम्स के अधिकारियों ने कहा कि सभी प्रभावित ऑनलाइन रोगी सेवाएं अब मैनुअल मोड पर चलाई जा रही हैं।

क्लाउडएसईके के अनुसार, महामारी के दौरान स्वास्थ्य सेवा संगठनों पर साइबर हमले में भारी वृद्धि देखी गई है।

कंपनी के प्रवक्ता ने कहा, “हमारे शोध से पता चलता है कि 2022 के पहले चार महीनों में उद्योग पर साइबर हमलों की संख्या 2021 की समान अवधि की तुलना में 95.34 प्रतिशत बढ़ी है। जब दुनिया भर में साइबर हमले की बात आती है तो भारतीय स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र दूसरा सबसे अधिक लक्षित क्षेत्र था।”

मरीजों की चिकित्सा और वित्तीय जानकारी की रक्षा करना स्वास्थ्य सेवा संगठनों के लिए एक नई चुनौती बनकर उभरा है।

एप्लिकेशन सुरक्षा एसएएएस कंपनी इंडसफेस के अनुसार, इंडसफेस के वैश्विक स्वास्थ्य सेवा ग्राहकों में विभिन्न प्रकार के 1 मिलियन से अधिक साइबर हमले हुए।

इनमें से 278,000 हमले भारत में दर्ज किए गए, जो भारतीय स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र की कमजोरियों को उजागर करते हैं।

क्लाउडएसईके अनुसंधान ने हाल ही में खुलासा किया था कि स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के लिए तत्काल चुनौतियों में फिशिंग और बीईसी (व्यावसायिक ईमेल समझौता), रैनसमवेयर हमले, डीडीओएस (सेवा का वितरित इनकार) हमले, अंदरूनी खतरे, महत्वपूर्ण बुनियादी ढाँचे और ‘मेडजैकिंग’ आदि शामिल हैं।

इस साल अगस्त में, ब्रिटेन की राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) पर एक तीसरे पक्ष के विक्रेता के जरिए रैनसमवेयर हमले का असर हुआ था।

रिपोर्ट के अनुसार, बड़े हमले के तीन महीने बाद एनएचएस सिस्टम का सफाया हो गया, मरीजों के रिकॉर्ड अभी भी गायब हैं और सुरक्षा से समझौता किया गया है।

मई 2017 में वानाक्राई रैनसमवेयर हमले के बाद से अगस्त का हमला स्वास्थ्य सेवा पर सबसे विघटनकारी साइबर-सुरक्षा घटना रही है, जिसने 595 जीपी प्रथाओं सहित 80 एनएचएस ट्रस्टों और 603 एनएचएस संगठनों को बाधित किया था।

–आईएएनएस

दिल्ली में 1397 जगहों पर बनेंगे हाईटेक और मॉडर्न बस क्यू शेल्टर

नई दिल्ली: पीडब्ल्यूडी दिल्ली में बहुत सी सुविधाओं से युक्त मॉडर्न और हाईटेक बस क्यू शेल्टर बनाने जा रहा है। दिल्ली में लोग हजारों की संख्या में दफ्तरों में काम...

नहर वाली हवेली : परवेज मुशर्रफ का दिल्ली कनेक्शन

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व सैन्य तानाशाह और पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का रविवार को दुबई के एक अस्पताल में निधन हो गया। परवेज मुशर्रफ का दिल्ली से पुराना नाता...

भाषा और धर्म के आधार पर देश को बांटा जा रहा : कमलनाथ

ग्वालियर:कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई के कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने यहां रविवार को कहा कि "हमारे बुजुर्गो ने अपना जीवन जिस संस्कृति में रहकर काटा है, वही संस्कृति...

देश की संसद ने भी माना, दिल्ली की हवा की गुणवत्ता में हो रहा सुधार : अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली: कई सालों से देश की राजधानी दिल्ली प्रदूषण को झेल रही है। पिछले कुछ सालों अगर देखा जाए तो इस साल हवा की गुणवत्ता में कुछ सुधार सामने...

वारंगल को डलास के रूप में विकसित करने में विफल रहे केसीआर : शर्मिला

हैदराबाद: वाईएसआर तेलंगाना पार्टी (वाईएसआरटीपी) के नेता वाई.एस. शर्मिला ने रविवार को वारंगल को विकसित करने में विफल रहने के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव पर निशाना साधा...

पाक सरकार की इमरान को चुनौती : जो 2 दिन जेल में नहीं रह सकते, वे जेल भरो मुहिम चलाएंगे

इस्लामाबाद: पाकिस्तान की गठबंधन सरकार ने पीटीआई के अध्यक्ष इमरान खान के 'जेल भरो तहरीक' (जेल आंदोलन को भरने) की पहल करने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री को चुनौती दी है।...

इंफाल में सनी लियोनी के फैशन शो के पास ग्रेनेड ब्लास्ट

इंफाल:   इंफाल के हप्ता कांगजीबंग में शनिवार को एक फैशन शो के नजदीक ग्रेनेड ब्लास्ट हो गया। इस फैशन शो में अभिनेत्री सनी लियोनी हिस्सा लेने वाली थीं। पुलिस ने...

महेंद्र नाथ पांडेय ने पंचामृत उत्सव का किया उद्घाटन

नई दिल्ली: केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री डॉ. महेंद्र नाथ पांडे ने केंद्र सरकार की प्रमुख संस्था इंटरनेशनल सेंटर फॉर ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी सेंटर - 2 मानेसर, हरियाणा में "पंचामृत की ओर"विषय...

वंदे भारत में भोजन की खराब गुणवत्ता की शिकायत

नई दिल्ली:मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना और देशी की पहली हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस में भोजन की खराब गुणवत्ता की शिकायत का मामला समाने आया है। एक महीने...

विश्व कैंसर दिवस : डब्ल्यूएचओ ने कैंसर को रोकने, जल्द पता लगाने के लिए तेज कार्रवाई करने का अह्वान किया

नई दिल्ली:विश्व कैंसर दिवस पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कैंसर को रोकने और जल्द पता लगाने के लिए स्वास्थ्य प्रणालियों को मजबूत करने के लिए दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र...

बंगाल सरकार उनके मंत्रालय द्वारा आवंटित धन खर्च करने में विफल: स्मृति ईरानी

कोलकाता: केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने शनिवार को कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार उनके विभाग द्वारा दी गई 270 करोड़ रुपये की भारी राशि का उपयोग...

शराब घोटाले को मुख्यमंत्री केजरीवाल का संरक्षण : रामवीर सिंह विधूड़ी

नई दिल्ली:भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष वीरेन्द्र सचदेवा एवं नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी के नेतृत्व में शराब घोटाले से जुड़ी ई.डी. चार्जशीट में नाम आने पर भाजपा...

editors

Read Previous

तेलंगाना: एफआरओ की हत्या पर गुट्टी कोया आदिवासियों को निकालने का फैसला

Read Next

मुकदमेबाजी प्रक्रिया को सरल बनाना, नागरिक केंद्रित बनाना महत्वपूर्ण: सीजेआई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com