दलबदल पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, केवल संसद को ही कानून बनाने का अधिकार

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को पूछा कि शीर्ष अदालत के लिए कानून बनाना कैसे संभव है, जबकि यह संसद के अधिकार क्षेत्र में है। दरअसल प्रधान न्यायाधीश एन.वी. रमन्ना की अध्यक्षता वाली पीठ एक ऐसी याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें मांग की गई थी कि शीर्ष अदालत केंद्र सरकार को निर्देश दे कि वह लोकसभा और राज्य विधानसभाओं के अध्यक्ष और राज्यसभा के सभापति को निर्देशित करे कि ये लोग दल-बदल करने वाले सांसदों/विधायकों के खिलाफ दायर अयोग्यता याचिकाओं पर समयबद्ध तरीके से फैसला सुनाए।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के सदस्य रंजीत मुखर्जी द्वारा दायर याचिका में अदालत से पूरे भारत में दलबदल के मामलों में निर्णय लेने की एक समान प्रक्रिया के लिए अध्यक्षों के दिशा-निर्देशों के निर्देश देने का भी आग्रह किया गया।

याचिकाकर्ता के वकील ने तर्क दिया कि याचिका दिशा-निर्देशों के लिए दायर की गई है, ताकि दलबदल के मामलों को तत्काल और समयबद्ध तरीके से कार्रवाई हो।

पीठ ने कहा, “हम कानून कैसे बना सकते हैं? उसके लिए एक अलग संस्था (संसद) है।”

पीठ ने वकील से कहा कि कर्नाटक के विधायकों की अयोग्यता से संबंधित मामले में भी यही मुद्दा उठाया गया था, जिसे अदालत ने खारिज कर दिया था।

मुख्य न्यायाधीश ने कहा, “मैं कर्नाटक विधायक मामले में पहले ही अपनी राय व्यक्त कर चुका हूं। इस मामले में भी यह मुद्दा उठाया गया था और वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने भी यही तर्क दिया था।”

पीठ ने कहा कि इस मुद्दे को संसद पर फैसला करने के लिए छोड़ दिया गया था, और वकील से मामले में फैसला पढ़ने और फिर अदालत में वापस आने को कहा। शीर्ष अदालत ने मामले की अगली सुनवाई दो सप्ताह बाद तय की है।

याचिका में कहा गया है, “व्यक्तिगत या राजनीतिक लाभ के लिए ये बड़े पैमाने पर और अनियंत्रित राजनीतिक दलबदल, भारतीय लोकतंत्र की जड़ पर प्रहार करते हैं, और संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत भारतीय नागरिकों के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करते हैं।”

याचिकाकर्ता ने अदालत से राजनीतिक दलबदल से संबंधित मुद्दों पर फैसला करते समय विधानसभा अध्यक्षों की ओर से दुर्भावनापूर्ण देरी की जांच करने का आग्रह किया था।

–आईएएनएस

गिरफ्तारी के खिलाफ केजरीवाल की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को सुनवाई

नई दिल्ली । दिल्ली शराब नीति मामले में ईडी द्वारा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी और रिमांड के खिलाफ याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 15 अप्रैल यानी सोमवार को सुनवाई करेगा।...

दिल्ली हाई कोर्ट ने जेएनयू की छात्रा के निष्कासन पर लगाई रोक

नई दिल्ली । दिल्ली उच्च न्यायालय ने हाल ही में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) की एक पीएचडी छात्रा के निष्कासन आदेश पर यह कहते हुए रोक लगा दी कि संस्थान...

दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे बीजेपी कार्यकर्ता हिरासत में

नई दिल्ली । नई आबकारी नीति मामले में गिरफ्तार हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के इस्तीफे की मांग को लेकर दीन दयाल उपाध्याय मार्ग पर प्रदर्शन कर रहे बीजेपी...

कलकत्ता हाईकोर्ट ने भूपतिनगर में दर्ज एफआईआर पर पुलिस को एनआईए कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई से रोका

कोलकाता । कलकत्ता हाईकोर्ट ने बुधवार को पश्चिम बंगाल पुलिस को निर्देश दिया कि वह राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के कर्मचारियों के खिलाफ पूर्वी मिदनापुर जिले के भूपतिनगर पुलिस स्टेशन...

उत्पाद शुल्क नीति मामला : सीबीआई ने अदालत को बताया, के. कविता से जेल में पहले ही पूछताछ की जा चुकी है

नई दिल्ली । केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बुधवार को दिल्ली की एक अदालत को बताया कि भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) की तेलंगाना विधान परिषद सदस्य के. कविता से कथित...

नोएडा में नकली तंबाकू फैक्ट्री का भंडाफोड़, 6 गिरफ्तार

नोएडा । नोएडा पुलिस ने नकली तंबाकू बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार किया है और तकरीबन 10,000 किलो नकली तंबाकू बरामद किया है जो...

चुनाव आयोग ने नायडू के खिलाफ टिप्पणी के लिए आंध्र प्रदेश के सीएम को भेजा नोटिस

अमरावती । आंध्र प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) ने रविवार को मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी को नोटिस जारी किया। सीएम ने रैली में अपने भाषणों के दौरान तेलुगु...

‘1984 सिख दंगा तत्कालीन सरकार द्वारा था प्रायोजित, मोदी राज में मिला इंसाफ’

नई दिल्ली । कांग्रेस के शासन काल में हुए 1984 के सिख विरोधी दंगों का दर्द अब भी सिख समाज महसूस करता है। उन दंगों का दंश झेलने वाले परिवारों...

आबकारी नीति मामले में मनीष सिसोदिया की न्यायिक हिरासत 18 अप्रैल तक बढ़ी

नई दिल्ली । दिल्ली की एक अदालत ने शनिवार को कथित आबकारी नीति घोटाले से संबद्ध एक धन शौधन मामले में आम आदमी पार्टी (आप) के नेता मनीष सिसोदिया की...

महाराष्ट्र की सांसद नवनीत राणा को जाति प्रमाणपत्र मामले में सुप्रीम कोर्ट से राहत

नई दिल्ली । महाराष्ट्र की अमरावती सीट से सांसद नवनीत राणा को गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली। शीर्ष अदालत ने बॉम्बे हाई कोर्ट के उस आदेश को...

दिल्ली हाईकोर्ट ने केजरीवाल को सीएम पद से हटाने की मांग फिर से खारिज की

नई दिल्ली । दिल्ली हाईकोर्ट ने गुरुवार को आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल को मुख्यमंत्री पद से हटाने की मांग वाली जनहित याचिका पर विचार करने से...

जमीन घोटाले में पूर्व सीएम हेमंत सोरेन सहित पांच के खिलाफ पीएमएलए कोर्ट ने लिया संज्ञान

रांची । रांची स्थित पीएमएलए की स्पेशल कोर्ट ने बड़गाईं अंचल के जमीन घोटाले और मनी लॉन्ड्रिंग के केस में ईडी की ओर से दायर चार्जशीट पर पूर्व सीएम हेमंत...

admin

Read Previous

गोपनीय जानकारी चुराने के आरोप में मंत्री के कार्यालय का कर्मचारी गिरफ्तार

Read Next

सपा 2022 के लिए ‘काम बोलता है’ के नारे के साथ फिर से शुरू करेगी चुनाव अभियान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com