बहुविवाह व ‘निकाह-हलाला’ के खिलाफ याचिकाओं पर सुनवाई के लिए संविधान पीठ बनाने पर सहमत सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को मुस्लिमों में बहुविवाह और ‘निकाह-हलाला’ की प्रथा की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई के लिए संविधान पीठ के पुनर्गठन पर सहमत हो गया।

30 अगस्त को जस्टिस इंदिरा बनर्जी, हेमंत गुप्ता, सूर्यकांत, एम.एम. सुंदरेश और सुधांशु धूलिया की पांच जजों की संविधान पीठ ने याचिकाओं पर नोटिस जारी किया था। हालांकि, दो जज जस्टिस बनर्जी और जस्टिस गुप्ता अब रिटायर हो चुके हैं।

गुरुवार को, याचिकाकर्ताओं में से एक अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय ने मुख्य न्यायाधीश डी. वाई. चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ और न्यायमूर्ति हेमा कोहली और जेबी पारदीवाला की पीठ के समक्ष मामले का उल्लेख किया, जन्होंने कहा कि वह एक नई बेंच का गठन करेगी।

बहुविवाह और ‘निकाह-हलाला’ की प्रथा की संवैधानिक वैधता को चुनौती देते हुए कुल नौ याचिकाएं दायर की गई हैं।

बहुविवाह एक मुस्लिम पुरुष को चार पत्नियां रखने की अनुमति देता है, और एक बार एक मुस्लिम महिला को तलाक दे दिए जाने के बाद, उसके पति को उसे वापस लेने की अनुमति नहीं है, भले ही उसने नशे के हालत में तलाक दिया हो। जब तक कि उसकी पत्नी निकाह-हलाला से न गुजरे, जो उसे अन्य व्यक्ति के साथ निकाह करके, फिर तलाक के बाद वापस पहले पति के साथ निकाह में शामिल होने की इजाजत देता है।

बहुविवाह और निकाह हलाला की संवैधानिक वैधता को चुनौती देते हुए मुस्लिम महिलाओं और अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय द्वारा याचिका दायर की गई है। इन मामलों को मार्च 2018 में तीन जजों की बेंच ने पांच जजों की बेंच को रेफर किया था।

अगस्त में, शीर्ष अदालत ने केंद्र, राष्ट्रीय महिला आयोग, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग, विधि आयोग आदि को नोटिस जारी किया था और मामले की सुनवाई दशहरे की छुट्टियों के बाद निर्धारित की थी।

उपाध्याय की याचिका में कहा गया है कि तीन तलाक, बहुविवाह और निकाह हलाला की प्रथा संविधान के अनुच्छेद 14, 15 और 21 का उल्लंघन है।

याचिका में मुस्लिम पर्सनल लॉ (शरीयत) एप्लीकेशन एक्ट, 1937 की धारा 2 को असंवैधानिक और संविधान के अनुच्छेद 14, 15 और 21 का उल्लंघन घोषित करने का निर्देश देने की मांग की गई है, क्योंकि यह बहुविवाह और निकाह-हलाला को मान्यता देना चाहता है।

याचिका में आगे कहा गया, यह तय है कि पर्सनल लॉ पर कॉमन लॉ की प्रधानता है। इसलिए, यह अदालत घोषित कर सकती है कि तीन तलाक आईपीसी की धारा 498ए के तहत क्रूरता है, निकाह-हलाला आईपीसी की धारा 375 के तहत बलात्कार है, और बहुविवाह आईपीसी की धारा 494 के तहत एक अपराध है।

अगस्त 2017 में, शीर्ष अदालत ने माना था कि तीन तलाक की प्रथा असंवैधानिक है और इसे 3:2 बहुमत से रद्द कर दिया था।

शीर्ष अदालत ने 2017 के अपने फैसले में तीन तलाक की प्रथा को खत्म करते हुए बहुविवाह और निकाह-हलाला के मुद्दे को खुला रखा था।

याचिका में कहा गया, धार्मिक नेता और पुजारी जैसे इमाम, मौलवी आदि, जो तलाक-ए-बिदत, निकाह-हलाला और बहुविवाह जैसी प्रथाओं का प्रचार, समर्थन और अधिकृत करते हैं, मुस्लिम महिलाओं को ऐसी घोर प्रथाओं के अधीन करने के लिए अपने पद, प्रभाव और शक्ति का दुरुपयोग कर रहे हैं। यह संविधान के अनुच्छेद 14, 15 और 21 के तहत निहित उनके मूल अधिकारों का उल्लंघन है।

–आईएएनएस

अमित शाह पर छाया सत्ता का नशा : ओवैसी

हैदराबाद : एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के इस बयान पर निशाना साधा कि बीजेपी ने 2002 में गुजरात में दंगाइयों को सबक...

भारत जोड़ो यात्रा, कार्यकर्ताओं का दिल जीत रहे राहुल गांधी

खरगोन। मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा का आज तीसरा दिन है। प्रदेश में इस ऐतिहासिक यात्रा को भरपूर समर्थन मिल रहा है। वहीं राहुल गांधी के साथ प्रियंका की...

मारे गए भारतीय मूल के किशोर के पिता को कनाडा जाने का अफसोस

टोरंटो : सरे के एक स्कूल की पाकिर्ंग में चाकू मारकर मौत के घाट उतारे गए 18 वर्षीय महकप्रीत सेठी के पिता ने एक समाचार चैनल से कहा है कि...

राहुल गांधी का सिंधिया पर हमला, कहा- भाजपा ने विधायकों को करोड़ों में खरीदा

खंडवा:कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा मध्यप्रदेश में दूसरे दिन भी जारी रही। पदयात्रा के अलावा उन्होंने एक जनसभा को संबोधित किया, जिसमें केंद्रीय मंत्री...

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पूर्व भाजपा विधायक की याचिका खारिज की

2022-11-24 प्रयागराज: इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 2013 के मुजफ्फरनगर दंगा मामले में बीजेपी विधायक विक्रम सैनी की दोषसिद्धि पर रोक लगाने वाली याचिका खारिज कर दी है। न्यायमूर्ति समित गोपाल...

नशामुक्ति केंद्र से लौटने पर, मां, बाप, बहन और दादी को बेरहमी से मार डाला

नई दिल्ली : दिल्ली के पालम इलाके में एक व्यक्ति ने अपने परिवार के चार लोगों की धारदार हथियार से हत्या कर दी। घटना मंगलवार की रात साढ़े दस बजे...

मप्र में दाखिल हुई भारत जोड़ो यात्रा, जोरदार स्वागत

2022-11-23 .बुरहानपुर: कांग्रेस के पूर्व राष्टीय अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा बुधवार सुबह मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले में दाखिल हुई। इस यात्रा के बोदरली गांव पहुंचने पर जोरदार...

असम-मेघालय सीमा के पास पुलिस फायरिंग में पांच नागरिकों समेत वन रक्षक की मौत

शिलॉन्ग/गुवाहाटी, 22 नवंबर (आईएएनएस)| मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड के संगमा ने कहा कि असम पुलिस और राज्य के वन रक्षकों द्वारा मंगलवार को 'अकारण' गोलीबारी के बाद मेघालय के पांच...

नेता, न्यायाधीश और सरकारी कर्मचारियों को ऑनलाइन लेनी होगी विदेशी आतिथ्य की अनुमति

नई दिल्ली : केंद्रीय गृह मंत्रालय ने विधायिकाओं के सदस्यों, राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों, न्यायाधीशों, सरकारी अधिकारियों और निगमों के कर्मचारियों द्वारा विदेशी आतिथ्य की स्वीकृति से जुड़े अपने दिशानिर्देशों...

चीन के संयंत्र में आग लगने से 36 की मौत, 2 लापता

बीजिंग : चीन के हेनान प्रांत में एक संयंत्र में आग लगने से 36 लोगों की मौत हो गई और दो अन्य लापता हैं। स्थानीय अधिकारियों ने मंगलवार को यह...

  पीएम मोदी  का कांग्रेस पर तंज, वो राज खानदान से और हम सेवादार

गुजरात : गुजरात के सुरेंद्र नगर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनसभा को संबोधित किया । इस दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा । पीएम मोदी ने कहा...

मिस्र में आयोजित सीओपी27 क्लाइमेट समिट में 200 देशों के बीच हुआ ऐतिहासिक समझौता

शर्म अल-शेख : लगभग 200 देशों के प्रतिनिधियों के बीच रविवार को मिस्र में दो सप्ताह तक चले संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (सीओपी27) में महत्वपूर्ण समझौता हुआ। इसके तहत...

editors

Read Previous

जब दिया रंज बुतों ने तो ख़ुदा याद आया

Read Next

विहिप ने जामा मस्जिद में लड़कियों की एंट्री पर बैन लगाने को बताया गलत- कांग्रेस, आप, लेफ्ट और ओवैसी की चुप्पी पर उठाया सवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com