घमासान दर घमासान, नीतीश कब करेंगे समाधान

नई दिल्ली, फ़ज़ल इमाम मल्लिक: बिहार में सियासी तापमान फान पर है। नीतीश कुमार समाधान यात्रा पर हैं लेकिन उनकी सरकार, दल और गठबंधन दोनों संकट में है। आम लोगों के मसलों के समाधान के लिए जिलों का दौरा कर रहे नीतीश कुमार गठबंधन और पार्टी में चल रही तनातनी का समाधान ढूंढ नहीं पा रहे हैं। राजद और जदयू में टकराव बढ़ रहा है तो जदयू के अंदर भी नीतीश कुमार की कार्यशैली को लेकर अब विरोध के स्वर उठ रहे हैं। राजद विधायक और पूर्व मंत्री सुधाकर सिंह नीतीश कुमार पर हमलावर हैं। वे लगातार नीतीश कुमार के खिलाफ बयान दे रहे हैं। फिर जयकुमार मंडल ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा फिर शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर के रामचरित मानस के दिए गण बयान के बाद पनपा और ताजा विवाद राजद के नेता और मंत्री आलोक मेहता के बयान से विवाद सामने आया है। आलोक मेहता ने सीधे-सीधे सवर्ण समाज को निशाना साधा और उन्हें अंग्रेजों का दलाल बताया था। जाहिर है कि इस पर तकरार है। फिर जदयू में पार्टी नेता उपेंद्र कुशवाहा के बयान से भी भूचाल है। इससे सरकार और महागठबंधन की फजीहत हो रही है। नीतीश कुमार पर सवाल उठ रहे हैं। पार्टी में भी उनके खिलाफ फुसफुसाहट है।

राजद अपने विधायकों पर अंकुश नहीं लगा पा रहा है और सरकार इन सबका समाधान ढूंढ नहीं पा रही है। महागठबंधन की गांठ लगातार उलझती जा रही है। दोनों दलों के नेता बयानबाजी कर रहे हैं और इससे सरकार पर भी संकट है और महागठबंधन भी। शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर रोज विवादों में घर रहे हैं। उनके बयान सरकार का संकट बढ़ा रहा है। रामचरित मानस पर दिए बयान पर जदयू ने सख्त रुख अपना रखा है, लेकिन चंद्रशेखर के ताजा बयान ने विवाद को और हवा दे डाला है। उन्होंने शिक्षित तेजस्वी, शिक्षित बिहार का नारा दिया। जाहिर है कि जदयू उनके इस नारे से बौखलाया और उसने जवाब में बढ़ता बिहार-नीतीश कुमार, ट्वीट वाली नहीं काम की सरकार और शिक्षित कुमार, शिक्षित बिहार का नारा उछाल कर चंद्रशेखर को करारा जवाब दिया और राजद को भी।

राजद नेतृत्व तय नहीं कर पा रहा है कि वह क्या करे। तेजस्वी यादव ने सुधाकर सिंह पर भी कार्रवाई की बात की थी लेकिन अब तक न तो सुधाकर सिंह पर कार्रवाई हुई और न ही चंद्रशेखर से भी जवाब तलब किया गया है। घमासान बढ़ता जा रहा है और हर आने वाले दिन में टकराव बढ़ रहा है। हालांकि राजद ने टकराव खत्म करने के लिए बुधवार को सुधाकर सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया है लेकिन क्या सचमुच कोई कार्रवाई सुधाकर सिंह पर होगी। और अगर सुधाकर सिंह पर कार्रवाई होती है तो फिर चंद्रशेखर पर क्यों नहीं। सियासी पंडितों का मानना है कि चंद्रशेखर ने तो भाजपा को बैठे-बैठाए मुद्दा दे डाला है। उनके बयान से राजद के सवर्ण नेता भी नाराज हैं। पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रशिवानंद तिवारी ने तो खुल कर बयान दिया है और प्रेस कांफ्रेंस में प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह से भिड़ गए।

लेकिन शिक्षित तेजस्वी वाली बात के बाद जदयू ने पलटवार करने में देर नहीं की और राजद को लालू राज का आईना दिखा कर शिक्षा के क्षेत्र में नीतीश कुमार की अगुआई में बिहार में क्या कुछ हुआ है उसे बयान कर राजद को बैकफुट पर ढकेल दिया है। दोनों तरफ से बयानों के तीर चल रहे हैं। तेजस्वी यादव के सामने दोहरा संकट है। सरकार को बचाने और पार्टी नेताओं पर अंकुश लगाने का। माना जारहा है कि नीतीश कुमार ने भी साफ कर दिया है कि चंद्रशेखर पर राजद को अंकुश लगाना होगा। नीतीश कुमार लोकसभा चुनाव भाजपा की पिच पर नहीं लड़ना चाहते हैं। वे भाजपा को सामाजिक न्याय के अपने पिच पर लाकर खेलना चाहते हैं। जातीय जनगणना की शुरुआत कर उन्होंने इसके संकेत भी दिए। हालांकि उनके कुछ बयानों से जदयू नेता भी आहत हैं और कहा जा रहा है कि गुटबाजी बढ़ गई है। नीतीश कुमार इससे कैसे पार पाते हैं, बड़ा सवाल यह है। सरकार सांसत में है और गठबंधन भी। घमासान बढ़ रहा है और नेताओं के बयान नहीं थम रहे हैं। गठबंधन की सेहत के लिए यह ठीक नहीं है। दोनों दल इस पर जितनी जल्दी लगाम लगाएं गठबंधन की सेहत के लिए यह जरूरी है। बड़ा सवाल जदयू को लेकर भी है। पार्टी का जनाधार सिमट रहा है। कुढ़नी उपचुनाव में मिली हार के बाद से जदयू में बवाल मचा है। उपेंद्र कुशवाहा ने कमजोर होती पार्टी की बात की तो पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह को यह बात पसंद नहीं आई। विवाद गहरा रहा है। इससे पार्टी का नुकसान हो रहा है और कार्यकर्ताओं में संदेश ठीक नहीं जा रहा है। नीतीश कुमार जितनी जल्द इसे समझ लेते हैं पार्टी के लिए उतना ही अच्छा है। क्या वे ऐसा कर पाएंगे, बड़ा सवाल यह है। 

————- इंडिया न्यूज़ स्ट्रीम

धनबाद में आग से मरने वाले सभी 14 एक ही परिवार के, 30 जख्मी

धनबाद: धनबाद के अपॉर्टमेंट में मंगलवार की रात आग लगने से जिन 14 लोगों की मौत हुई, वे सभी एक ही परिवार के हैं। परिवार की लोग एक शादी समारोह...

विशाखापत्तनम होगी आंध्र प्रदेश की नई राजधानी

नई दिल्ली। आंध्रप्रदेश की नई राजधानी विशाखापट्टनम होगी। प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने मंगलवार ये ऐलान किया है। सीएम रेड्डी ने कहा कि मैं भी आने वाले महीनों...

आर्थिक सर्वेक्षण : वित्त वर्ष 2023-24 के लिए जीडीपी 6.5 फीसदी रहने का अनुमान

नई दिल्ली : राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के अभिभाषण के बाद मंगलवार को आर्थिक सर्वेक्षण 2022-23 जारी कर दिया गया। आर्थिक सर्वे में वित्त वर्ष 2023-24 के लिए रियल जीडीपी ग्रोथ...

पेशावर की मस्जिद में हुए आत्मघाती हमले में मरने वालों की संख्या 72 पहुंची

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के पेशावर के पुलिस लाइन इलाके में एक मस्जिद में सोमवार को हुए जोरदार बम धमाका में मरने वालों की संख्या बढ़कर 72 हो गई है। मंगलवार...

पेशावर मस्जिद विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 83 घायल

पेशावर : पाकिस्तान के पेशावर शहर में सोमवार को एक मस्जिद में हुए विस्फोट में कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई और 83 अन्य घायल हो गए।...

एनआईए ने बीजापुर मुठभेड़ मामले में वांछित महिला नक्सली को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली : छत्तीसगढ़ के बीजापुर मुठभेड़ मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने एक महिला माओवादी कैडर को गिरफ्तार किया है। 2021 में हुई मुठभेड़ में 22 पुलिसकर्मियों की...

     मुगल गार्डन का नाम अब अमृत उद्यान होगा 

 नई दिल्ली:  देशभर में ऐतिहासिक धरोहरों, स्थलों और शहरों के नाम बदलने का सिलसिला निरंतर जारी है। इसी क्रम में केंद्र सरकार ने अब फूलों की विभिन्‍न किस्‍मों के लिए...

धनबाद के निजी अस्पताल में आग से दो डॉक्टरों सहित छह की मौत

धनबाद : धनबाद शहर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में आग लगने से दो डॉक्टरों सहित छह लोगों की मौत हो गई है। शहर के बैंक मोड़ थाना क्षेत्र के टेलीफोन...

मोरबी त्रासदी : 1,262 पन्नों की चार्जशीट दाखिल, जयसुख पटेल मुख्य आरोपी

मोरबी : गुजरात पुलिस ने शुक्रवार को मोरबी पुल ढहने के मामले में 1,262 पन्नों की चार्जशीट पेश की और ओरेवा समूह के निदेशक जयसुख पटेल को मुख्य आरोपी बनाया।...

गणतंत्र दिवस परेड में स्वदेशी हथियारों की झलक, भारतीय तोप से 21 तोपों की सलामी

नई दिल्ली : 26 जनवरी को कर्तव्य पथ पर गणतंत्र दिवस परेड में स्वदेशी व आधुनिक हथियारों की बेहतरीन झलक देखने को मिली। परंपरा के अनुसार सबसे पहले राष्ट्रीय ध्वज...

बीबीसी डॉक्यूमेंट्री स्क्रीनिंग : जामिया विवि के 4 छात्र हिरासत में लिए गए 

नई दिल्ली:| जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्र संगठन स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) से जुड़े चार छात्रों को हिरासत में लिया गया है। बुधवार शाम जनसंचार विभाग में प्रधानमंत्री...

लखनऊ में जमींदोज हुई बिल्डिंग से जिंदगी बचाने की जंग जारी, जांच के लिए कमेटी गठित

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मंगलवार को अलाया अपार्टमेंट की बिल्डिंग अचानक जमींदोज हो गई। देखते ही देखते कई परिवार मलबे में दब गए हैं। बीते 16...

akash

Read Previous

ऐसे थे पेले

Read Next

श्रद्धा मर्डर केस : दिल्ली पुलिस ने आफताब के खिलाफ 6,000 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com