12 पैसे कमजोर होकर रूपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 79.64 पर बंद हुआ

मुंबई: कच्चे तेल की कीमतों में तेज उछाल के कारण गुरुवार को भारतीय रुपया 12 पैसे की गिरावट के साथ बंद हुआ। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में रुपया 79.52 के अपने पिछले बंद से 79.2225 पर खुलने के बाद 79.64 पर बंद हुआ।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में ब्रेंट कच्चे तेल की कीमतें तेजी से बढ़ी हैं और भारतीय बाजार के बंद होने पर यह 1.02 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 98.39 डॉलर प्रति बैरल थी।

जुलाई के अमेरिकी मुद्रास्फीति के आंकड़ों के अनुमान से नीचे आने के बाद शुरूआती कारोबार में रुपये में तेजी आई, जिससे उम्मीद बढ़ गई कि फेडरल रिजर्व अपनी अगली बैठक में ब्याज दरों में बढ़ोतरी के लिए आक्रामक कदम नहीं उठाएगा।

कम यूएस सीपीआई ने सितंबर में 75 बीपीएस की दर में बढ़ोतरी से पैदा होने वाली परेशानी को कम किया है, डीएक्सवाई 105.00 के स्तर से नीचे चला गया। लेकिन कम मुद्रास्फीति का आंकड़ा विशुद्ध रूप से पिछले महीने तेल और गैस की कीमतों में कोई भारी उछाल नहीं आने के कारण है। खान-पान की चीजें और दूसरी लागत अभी भी चिंता का सबब है।

शिनहान बैंक के ग्लोबल ट्रेडिंग सेंटर के उपाध्यक्ष कुणाल सोधानी ने कहा, इस प्रकार, आंकड़ों के विपरीत, फेड के सदस्यों ने अपना कठोर रुख जारी रखा है और अभी भी मानते हैं कि मुद्रास्फीति काफी ऊंची है।

इस बीच, सेंसेक्स 515.31 अंक या 0.88 प्रतिशत बढ़कर 59,332.60 पर, जबकि निफ्टी गुरुवार को 124.25 अंक या 0.71 प्रतिशत बढ़कर 17,659.00 पर बंद हुआ।

–आईएएनएस

editors

Read Previous

कोयला घोटाला: अब ईडी ने बंगाल के 5 आईएएस अधिकारियों को तलब किया

Read Next

बिजनेसमैन के परिसरों में छापेमारी, 100 करोड़ की बेनामी संपत्ति जब्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com