एफआरएआई ने केंद्र से की दैनिक वस्तुओं पर करों में कटौती की अपील


नई दिल्ली
: ‘मेक इन इंडिया’ उत्पादों पर उच्च कर देश भर में तस्करी और नकली उत्पादों की भारी मांग पैदा कर रहे हैं और लाखों छोटे और गरीब दुकानदारों को अपराधियों से निपटने और इस अवैध गतिविधि का हिस्सा बनने के लिए मजबूर कर रहे हैं। फेडरेशन ऑफ रिटेलर एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एफआरएआई) ने मंगलवार को यह बात कही। 42 खुदरा संघों की सदस्यता के साथ देश भर के लगभग 80 लाख सूक्ष्म, लघु और मध्यम खुदरा विक्रेताओं के एक प्रतिनिधि निकाय, एफआरएआई ने सरकार से उनके अवैध व्यापार को रोकने के लिए दैनिक उपभोग के सामानों पर उच्च करों को कम करने का आग्रह किया।

एफआरएआई के अध्यक्ष राम आसरे मिश्रा ने कहा, हमारे सदस्यों द्वारा बेचे जाने वाले दैनिक उपभोग के उत्पादों में विशेष रूप से तस्करी और नकली उत्पादों में खतरनाक वृद्धि हुई है। इस तरह के अवैध उत्पाद ग्रामीण बाजारों सहित पूरे देश में आसानी से उपलब्ध हैं और उनकी हिस्सेदारी बाजार का लगभग 25-30 प्रतिशत है।

एफआरएआई ने अपने 80 लाख खुदरा विक्रेताओं के हितों की रक्षा करने की अपील के साथ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को एक प्रतिनिधित्व दिया।

ये खुदरा विक्रेता बिस्कुट, शीतल पेय, मिनरल वाटर, कन्फेक्शनरी, सिगरेट जैसी दैनिक जरूरतों का सामान बेचकर अपनी आजीविका चलाते हैं।

छोटे रिटेलर की प्री-लॉकडाउन कमाई लगभग 6,000 – 12000 रुपये प्रति माह थी, जो मुश्किल से एक परिवार का पेट भर पाती है।

एफआरएआई के अनुसार थोड़ी बड़ी दुकानें या मध्यम खुदरा विक्रेता प्रति दिन लगभग 400 रुपये से 500 रुपये कमाते हैं, जबकि सूक्ष्म खुदरा विक्रेता प्रतिदिन 200 रुपये से कम कमाते हैं।

मिश्रा ने कहा, हमारे सदस्य ज्यादातर अशिक्षित हैं और समाज के सबसे निचले आर्थिक तबके से ताल्लुक रखते हैं। उनमें से कई ने रोजगार के लिए सरकार पर निर्भर रहने के बजाय अपनी दुकानें चलाने के लिए पैसे उधार लिए हैं।

नकली गतिविधियों में शामिल तस्कर और अपराधी हमारे लाखों सदस्यों को अपने अवैध उत्पादों को बेचने के लिए वित्तीय, मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न का कारण बनते हैं।

मीडिया रिपोटरें से पता चलता है कि भारत के बाहर स्थित चीनी कंपनियां और अन्य संदिग्ध बहुराष्ट्रीय कंपनियां इन आपराधिक और असामाजिक गतिविधियों के पीछे हैं।

चूंकि तस्करी किए गए और नकली उत्पाद पूरी तरह से करों से बचते हैं, इसलिए वे कानूनी रूप से उत्पादित वस्तुओं को आधी कीमत पर या यहां तक कि किसी विशेष वस्तु की कीमत के एक तिहाई पर बेचकर आसानी से बेच सकते हैं। एफआरएआई ने कहा कि इससे सरकार को हजारों करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हो रहा है।

एफआरएआई के सचिव विनय कुमार ने कहा, हमारे सदस्य देश के कानून का पालन करने वाले नागरिक हैं, लेकिन हमारे कुछ सदस्यों को भारी मांग के कारण तस्करी और नकली उत्पादों को बेचने के लिए मजबूर होना पड़ा है, क्योंकि वे कानूनी उत्पादों की तुलना में काफी सस्ते हैं।

एफआरएआई ने अपने सदस्यों को सलाह दी कि वे नकली या तस्करी वाले उत्पादों की बिक्री में संलग्न न हों।

–आईएएनएस

व्यावसायिक फूलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए 39 करोड़ रुपये की परियोजना को मंजूरी

श्रीनगर:जम्मू और कश्मीर सरकार ने फूलों को बढ़ावा देने के लिए केंद्र शासित प्रदेश में विभिन्न कृषि-जलवायु और पारिस्थितिक स्थितियों को ध्यान में रखते हुए फूलों की खेती की विशाल...

पहले कोविड, अब छंटनी : जबरदस्त तनाव, चिंता से गुजर रहे भारतीय पेशेवर

नई दिल्ली : बढ़ती छंटनी के बीच विभिन्न कंपनियों से आने वाले रोगियों की संख्या में वृद्धि हुई है - कार्यालय जाने वाले और घर से काम करने वाले दोनों...

माइक्रोसॉफ्ट छंटनी सबसे अधिक हार्डवेयर वर्टिकल को प्रभावित करेगी

सैन फ्रांसिस्को: माइक्रोसॉफ्ट छंटनी विशेष रूप से एक्सबॉक्स गेमिंग कंसोल, पीसी एक्सेसरीज, सरफेस लैपटॉप, एआर होलोलेन्स हेडसेट और अन्य जैसे हार्डवेयर वर्टिकल को प्रभावित करेगी, क्योंकि यह 'अपने हार्डवेयर पोर्टफोलियो...

क्रिप्टोकरेंसी ब्रोकर जेनेसिस दिवालिया घोषित होने के लिए दे सकती है आवेदन

लंदन:पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी ब्रोकर जेनेसिस दिवालिया घोषित होने के आवेदन कर सकती हैं। यह जानकारी अंदरूनी सूत्रों ने दी है। डेली मेल के मुताबिक, सैम बैंकमैन-फ्राइड के एफटीएक्स के बाद यह...

केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, ”सेवा विवाद मामले को बड़ी बेंच को किया जाए रेफर”

नई दिल्ली: केंद्र ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट से प्रशासनिक सेवाओं पर नियंत्रण के मुद्दे पर जीएनसीटीडी बनाम भारत संघ मामले में 2018 के फैसले को बड़ी बेंच को भेजने...

बाबर आजम के निजी वीडियो सोशल मीडिया पर लीक, यूजर्स ने दी प्रतिक्रिया

नई दिल्ली: पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम खराब फॉर्म के साथ एक विवाद में पड़ गए हैं, क्योंकि उनके कथित निजी वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए...

बिहार में रामचरितमानस को लेकर अब सत्ताधारी महागठबंधन में ‘महाभारत’

पटना: हिंदू धर्मावलंबियों के पवित्र ग्रंथ श्रीरामचरित मानस को लेकर बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर द्वारा दिए गए एक बयान के बाद बिहार की सियासत में जारी सियासी महाभारत समाप्त...

दिल्ली हाईकोर्ट ने कुलदीप सेंगर को अंतरिम जमानत दी

नई दिल्ली:| दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के पूर्व भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को अंतरिम जमानत दे दी, जिन्हें 2017 में उन्नाव में एक नाबालिग लड़की...

रद्दी से खड़ी कर ली करोड़ों की कंपनी

इंदौर : कागज की रद्दी सुनते ही लोग आंख और भौंहें सिकोड़ लेते हैं क्योंकि इसे बेकार माना गया है, मगर हिंदुस्तान की एक महिला ने इसी कागज की रद्दी...

सालाना बजट की योजनाओं पर नौ महीने में मात्र 44 फीसदी राशि खर्च कर पाई झारखंड सरकार

रांची: झारखंड सरकार आगामी वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए बजट बनाने की तैयारियों में जुटी है, लेकिन चालू वित्त वर्ष में राज्य के सालाना बजट की मात्र 44.19 प्रतिशत राशि...

ग्लोबल साउथ की आवाज को बुलंद करेगा भारत: पीएम

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि जी20 अध्यक्ष पद के धारक के रूप में भारत का उद्देश्य वैश्विक दक्षिण की आवाज को बढ़ाना है। दो...

चालू वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था 7 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी : एनएसओ

नई दिल्ली : राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) ने शुक्रवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था के 7 फीसदी की दर से बढ़ने की संभावना है, जबकि 2021-22...

akash

Read Previous

‘मास्टरशेफ इंडिया’ के जजों ने कंटेस्टेंट्स को ‘फूड पिरामिड चैलेंज’ दिया

Read Next

भारत में अब एक दिन में बिजनेस शुरू करना संभव : डीपीआईआईटी सचिव

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com