केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, ”सेवा विवाद मामले को बड़ी बेंच को किया जाए रेफर”

नई दिल्ली: केंद्र ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट से प्रशासनिक सेवाओं पर नियंत्रण के मुद्दे पर जीएनसीटीडी बनाम भारत संघ मामले में 2018 के फैसले को बड़ी बेंच को भेजने पर विचार करने के लिए कहा। केंद्र का प्रतिनिधित्व कर रहे सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने मुख्य न्यायाधीश डी.वाइर्. चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पांच-न्यायाधीशों की पीठ के समक्ष प्रस्तुत किया, मैंने इस मामले को बड़ी बेंच को भेजने पर एक आवेदन दायर किया था और पहले ही तर्क दिया था। मुख्य न्यायाधीश ने जवाब दिया, हमने आवेदन पर तर्क नहीं सुना। यह कभी तर्क नहीं दिया गया। हम रिज्वाइंडर में हैं। मेहता ने जोर दिया कि मामले को बड़ी बेंच को भेजने की आवश्यकता है।

मामले की सुनवाई कर रही बेंच में जस्टिस एमआर शाह, कृष्ण मुरारी, हेमा कोहली और पीएस नरसिम्हा भी शामिल थे।

बेंच ने कहा कि तर्क शुरु में दिया जाना चाहिए था। साथ ही बताया कि मामले में सुनवाई समाप्त होने वाली है। दिल्ली सरकार का प्रतिनिधित्व कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता एएम सिंघवी ने मेहता की दलीलों का विरोध किया।

मेहता ने कहा, रेफर अनिवार्य रूप से इस आधार पर है कि संघ और केंद्र शासित प्रदेश के बीच संघवाद की रूपरेखा पर फिर से विचार करने की आवश्यकता है। यह मेरे तर्कों में शामिल है।

मेहता ने पीठ से अनुरोध किया कि उन्हें आवेदन जमा करने की अनुमति दी जाए। पीठ ने जवाब दिया, हम विचार करेंगे.., हालांकि, मुख्य न्यायाधीश ने मेहता से कहा कि उनके तर्कों में रेफर के पहलू को शामिल नहीं किया गया था। मेहता ने कहा कि रेफरेंस’ शब्द का उपयोग किए बिना सभी प्वाइंट्स को कवर किया गया है।

मेहता की दलीलों का विरोध करते हुए, सिंघवी ने प्रस्तुत किया कि यह मामला कम से कम 10 बार सुनवाई के लिए सूचीबद्ध था, बड़ी बेंच को रेफर करने की याचिका पहले नहीं उठाई गई थी और अंतिम सुनवाई शुरू होने से पहले पहली बार उठाई गई थी।

सिंघवी ने कहा कि रेफर करने का मुद्दा केंद्र द्वारा अपनाई गई विलंब की रणनीति है।

शीर्ष अदालत ने मेहता को ‘सेवाओं’ पर नियंत्रण को लेकर केंद्र-दिल्ली विवाद में बड़ी पीठ को रेफर करने में फाइल दाखिल करने की अनुमति दी।

शीर्ष अदालत सिविल सेवकों के तबादलों और पोस्टिंग पर प्रशासनिक नियंत्रण के संबंध में दिल्ली सरकार और केंद्र के बीच एक मामले की सुनवाई कर रही है।

जुलाई 2018 में, एक संविधान पीठ ने माना कि दिल्ली के एनसीटी के संबंध में केंद्र सरकार की कार्यकारी शक्ति अनुच्छेद 239एए की सबसेक्शन 3 के तहत भूमि, पुलिस और सार्वजनिक व्यवस्था तक सीमित है।

–आईएएनएस

व्यावसायिक फूलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए 39 करोड़ रुपये की परियोजना को मंजूरी

श्रीनगर:जम्मू और कश्मीर सरकार ने फूलों को बढ़ावा देने के लिए केंद्र शासित प्रदेश में विभिन्न कृषि-जलवायु और पारिस्थितिक स्थितियों को ध्यान में रखते हुए फूलों की खेती की विशाल...

पहले कोविड, अब छंटनी : जबरदस्त तनाव, चिंता से गुजर रहे भारतीय पेशेवर

नई दिल्ली : बढ़ती छंटनी के बीच विभिन्न कंपनियों से आने वाले रोगियों की संख्या में वृद्धि हुई है - कार्यालय जाने वाले और घर से काम करने वाले दोनों...

माइक्रोसॉफ्ट छंटनी सबसे अधिक हार्डवेयर वर्टिकल को प्रभावित करेगी

सैन फ्रांसिस्को: माइक्रोसॉफ्ट छंटनी विशेष रूप से एक्सबॉक्स गेमिंग कंसोल, पीसी एक्सेसरीज, सरफेस लैपटॉप, एआर होलोलेन्स हेडसेट और अन्य जैसे हार्डवेयर वर्टिकल को प्रभावित करेगी, क्योंकि यह 'अपने हार्डवेयर पोर्टफोलियो...

क्रिप्टोकरेंसी ब्रोकर जेनेसिस दिवालिया घोषित होने के लिए दे सकती है आवेदन

लंदन:पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी ब्रोकर जेनेसिस दिवालिया घोषित होने के आवेदन कर सकती हैं। यह जानकारी अंदरूनी सूत्रों ने दी है। डेली मेल के मुताबिक, सैम बैंकमैन-फ्राइड के एफटीएक्स के बाद यह...

एफआरएआई ने केंद्र से की दैनिक वस्तुओं पर करों में कटौती की अपील

नई दिल्ली: 'मेक इन इंडिया' उत्पादों पर उच्च कर देश भर में तस्करी और नकली उत्पादों की भारी मांग पैदा कर रहे हैं और लाखों छोटे और गरीब दुकानदारों को...

बाबर आजम के निजी वीडियो सोशल मीडिया पर लीक, यूजर्स ने दी प्रतिक्रिया

नई दिल्ली: पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम खराब फॉर्म के साथ एक विवाद में पड़ गए हैं, क्योंकि उनके कथित निजी वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए...

बिहार में रामचरितमानस को लेकर अब सत्ताधारी महागठबंधन में ‘महाभारत’

पटना: हिंदू धर्मावलंबियों के पवित्र ग्रंथ श्रीरामचरित मानस को लेकर बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर द्वारा दिए गए एक बयान के बाद बिहार की सियासत में जारी सियासी महाभारत समाप्त...

दिल्ली हाईकोर्ट ने कुलदीप सेंगर को अंतरिम जमानत दी

नई दिल्ली:| दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के पूर्व भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को अंतरिम जमानत दे दी, जिन्हें 2017 में उन्नाव में एक नाबालिग लड़की...

रद्दी से खड़ी कर ली करोड़ों की कंपनी

इंदौर : कागज की रद्दी सुनते ही लोग आंख और भौंहें सिकोड़ लेते हैं क्योंकि इसे बेकार माना गया है, मगर हिंदुस्तान की एक महिला ने इसी कागज की रद्दी...

सालाना बजट की योजनाओं पर नौ महीने में मात्र 44 फीसदी राशि खर्च कर पाई झारखंड सरकार

रांची: झारखंड सरकार आगामी वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए बजट बनाने की तैयारियों में जुटी है, लेकिन चालू वित्त वर्ष में राज्य के सालाना बजट की मात्र 44.19 प्रतिशत राशि...

ग्लोबल साउथ की आवाज को बुलंद करेगा भारत: पीएम

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि जी20 अध्यक्ष पद के धारक के रूप में भारत का उद्देश्य वैश्विक दक्षिण की आवाज को बढ़ाना है। दो...

चालू वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था 7 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी : एनएसओ

नई दिल्ली : राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) ने शुक्रवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था के 7 फीसदी की दर से बढ़ने की संभावना है, जबकि 2021-22...

akash

Read Previous

राजस्थान और छत्तीसगढ़ के नेताओं को प्रधानमंत्री मोदी की नसीहत- अति आत्मविश्वास से बचें और एकजुट होकर करें काम

Read Next

राहुल गांधी के अमित शाह पर टिप्पणी से जुड़े केस में झारखंड हाईकोर्ट में 8 फरवरी को सुनवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com