वैश्विक स्तर पर चौथा सबसे अधिक वित्तपोषित फिनटेक स्टार्टअप इकोसिस्टम बना भारत

बेंगलुरु । भारत के फिनटेक क्षेत्र में पिछली तिमाही की तुलना में जुलाई-सितंबर अवधि (तीसरी तिमाही) के दौरान फंडिंग में 68 प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिली। इससे देश वैश्विक स्तर पर चौथा सबसे अधिक वित्तपोषित फिनटेक स्टार्टअप इकोसिस्टम बन गया।

कुल मिलाकर, अमेरिका और चीन के बाद भारत लगभग एक लाख स्टार्टअप के साथ विश्व स्तर पर तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र है।

तीसरी तिमाही में कोई नया यूनिकॉर्न नहीं बना, जबकि इसमें 7 अधिग्रहण और 2 आईपीओ देखे गए। मार्केट इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म ट्रैक्सन की रिपोर्ट के अनुसार, फिनटेक क्षेत्र में फंडिंग में बेंगलुरु सबसे आगे है, उसके बाद मुंबई और नोएडा हैं।

पीक एक्सवी पार्टनर्स, वाई कॉम्बिनेटर और एक्सेल फिनटेक क्षेत्र में अग्रणी निवेशक के रूप में उभरे।

इस क्षेत्र में वैकल्पिक ऋण, बैंकिंग तकनीक और रेगटेक के साथ विशिष्ट क्षेत्रों में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई, जो इस वर्ष की पहली छमाही में शीर्ष प्रदर्शन करने वालों के रूप में उभरे।

वैकल्पिक ऋण में, विशेष रूप से, 2023 की दूसरी तिमाही की तुलना में 259 प्रतिशत की उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई, जो कि 305 मिलियन डॉलर की फंडिंग तक पहुंच गई।

बीएनपीएल (अभी खरीदें, बाद में भुगतान करें) क्षेत्र में महत्वपूर्ण वृद्धि देखने को मिली है। देश के भीतर इसे अपनाया गया है, जिसने इस क्षेत्र के विकास में योगदान दिया है।

ट्रैक्सन की सह-संस्थापक नेहा सिंह ने कहा, “वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता के समय में, भारत के फिनटेक क्षेत्र ने असाधारण मजबूती और विकास का प्रदर्शन किया है।”

उन्होंने कहा कि यह उछाल उद्योग की गतिशीलता और नवीनता को दर्शाता है, जो भारत को एक अग्रणी वैश्विक फिनटेक खिलाड़ी के रूप में स्थापित करता है।

बैंकिंग टेक को 2023 की तीसरी तिमाही में 282 मिलियन डॉलर की फंडिंग प्राप्त हुई, जो कि दूसरी तिमाही की तुलना में 396 प्रतिशत और 2022 की तीसरी तिमाही की तुलना में 81 प्रतिशत ज्‍यादा है।

रेगटेक (नियामक प्रौद्योगिकी) को तीसरी तिमाही में 229 मिलियन डॉलर की फंडिंग प्राप्त हुई, जो पिछली तिमाही की तुलना में 100 प्रतिशत की वृद्धि है।

भुगतान, एम्बेडेड वित्त और इंटरनेट-फर्स्ट बीमा प्लेटफार्मों में क्रमशः 91 प्रतिशत, 99 प्रतिशत और 64 प्रतिशत की गिरावट देखी गई।

2023 की तीसरी तिमाही में लेट-स्टेज राउंड में भी महत्वपूर्ण फंडिंग देखी गई। एक वास्तविक समय क्रेडिट-निर्णय मंच परफियोस ने केदारा कैपिटल के नेतृत्व में श्रृंखला डी राउंड में उल्लेखनीय 229 मिलियन डॉलर हासिल किए।

इस तिमाही में सात अधिग्रहण हुए, जो 2022 की तीसरी तिमाही में आठ अधिग्रहणों से 12 प्रतिशत की मामूली गिरावट है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि दो कंपनियां, जैगल और वीफिन, तीसरी तिमाही में सार्वजनिक हुईं।

आईएएनएस

अर्थव्यवस्था में तेजी का असर, दुनिया में तीसरे नंबर पर पहुंचा भारत का एनबीएफसी सेक्टर

नई दिल्ली । भारत का नॉन-बैंकिंग फाइनेंसियल (एनबीएफसी) सेक्टर अब दुनिया में तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। फिलहाल यूएस और यूके का एनबीएफसी क्षेत्र क्रमश: पहले और दूसरे स्थान...

डिफेंस शेयरों में तूफानी तेजी, सेंसेक्स 308 अंक बढ़कर बंद

मुंबई । भारतीय शेयर बाजार के लिए मंगलवार का कारोबारी सत्र काफी मुनाफे वाला रहा। दिन के दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ने 77,366 और 23,579 का नया ऑल-टाइम हाई...

डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग में आत्मनिर्भर बन रहा भारत, एचएएल को मिला नया ऑर्डर

नई दिल्ली । भारत की डिफेंस कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को रक्षा मंत्रालय की ओर से 156 लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर का ऑर्डर मिला है। नया ऑर्डर मिलने के साथ...

दक्षिण कोरिया में 2,900 ग्राहकों के निजी डाटा लीक

सोल । दक्षिण कोरिया में लक्जरी सामान बनाने वाली दिग्गज कंपनी एलवीएमएच के स्वामित्व वाली टीएजी ह्यूअर के लगभग 2,900 ग्राहकों के निजी डेटा लीक हो गये हैं। देश के...

वैश्विक रेटिंग एजेंसियों की राय, एक साल में नई ऊंचाइयों पर होगा शेयर बाजार

नई दिल्ली । नई सरकार के गठन के बाद से भारतीय शेयर बाजारों में जोरदार तेजी देखी गई है। पिछले सप्ताह शेयर बाजार अपने सर्वकालिक उच्च स्तर पर बंद हुए।...

भारत का इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण पांच साल में 250 अरब डॉलर पर पहुंचने की संभावना : रिपोर्ट

नई दिल्ली । भारत का इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण अगले पांच साल में लगभग 250 अरब डॉलर तक पहुंचने की संभावना है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस समय देश का इलेक्ट्रॉनिक निर्यात...

चिपमेकिंग उपकरण कंपनियां अब कर रहीं भारत का रुख

नई दिल्ली । चिपमेकिंग उपकरण उद्योग अब भारत की ओर रुख कर रहा है। चीन और पश्चिम देशों के बीच तनाव के चलते ये कंपनियां अब भारत को चीन के...

2024 में एशिया-प्रशांत क्षेत्र में भारत ही रहेगा सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था : मूडीज

नई दिल्ली । भारत 2024 में एशिया-प्रशांत क्षेत्र की सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बनी रहेगी। ग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज की ओर से ताजा रिपोर्ट में ये दावा किया...

पीएम मोदी के नेतृत्व में एविएशन सेक्टर के 25 वर्षों के विकास का खाका तैयार हुआ

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत का सिविल एविएशन मार्केट काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है और सरकार की नीतियों से एविएशन इंडस्ट्री के अगले...

जेप्टो 3.5 अरब डॉलर के वैल्यूएशन पर जुटाएगी 650 मिलियन डॉलर की पूंजी

नई दिल्ली । क्विक कॉमर्स कंपनी जेप्टो ने मौजूदा और नए निवेशकों से 650 मिलियन डॉलर की पूंजी जुटाने का फैसला किया है। सूत्रों की ओर से बताया गया कि...

एआई में इनोवेशन और स्टार्टअप के लिए भारत एक अच्छा हब : गूगल क्लाउड सेल्स हेड

नई दिल्ली । भारत स्टार्टअप शुरू करने और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में इनोवेशन के लिए एक अच्छा हब है। ये दावा गूगल क्लाउड के शीर्ष अधिकारी की ओर से किया गया...

जीएसटी परिषद की बैठक 22 जून को

नई दिल्ली | वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में जीएसटी परिषद की बैठक 22 जून को होगी। इस बैठक में उत्पादों और सेवाओं पर लगने वाले गुड्स एंव सर्विसेज...

admin

Read Previous

हरदीप पुरी ने चेताया : कच्चे तेल की बढ़ती कीमतें 2008 जैसी वैश्विक मंदी का कारण बन सकती हैं

Read Next

प्रवासियों के आगमन पर च‍िंंता जताने पर ब्रिटिश-भारतीय गृह सचिव की आलोचना

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com